दूध को संतुलित आहार का महत्त्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है. दूध में कैल्शियम, प्रोटीन और विटामिन-डी जैसे कई आवश्यक पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में होते हैं. हालांकि उम्र के साथ पोषक तत्वों की जरूरी मात्रा में अन्तर आता है, लेकिन दूध हर उम्र के व्यक्तियों के लिए आवश्यक है. गाय या भैंस से प्राप्त बिना मलाई हटाए उसी रूप में मिलने वाले दूध को फुल क्रीम मिल्क कहते हैं. इसे वैक्यूम कप्स से भी निकाला जाता है.

(और पढ़ें - दूध पीने के फायदे)

आज हम इस लेख के जानेंगे कि फुल क्रीम दूध क्या है, कैसे बनता है और इसके फायदे क्या-क्या हैं.

  1. फुल क्रीम दूध क्या है?
  2. फुल क्रीम दूध कैसे बनता है?
  3. फुल क्रीम दूध के फायदे
  4. सारांश
क्या है फुल क्रीम दूध और इसके फायदे के डॉक्टर

गाय या भैंस से प्राप्त बिना मलाई हटाए उसी रूप में मिलने वाले दूध को फुल क्रीम मिल्क कहते हैं. फुल क्रीम मिल्क को कई लोग होल मिल्क भी कहते हैं, क्योंकि इस दूध में औसतन 87% पानी, 4-5% लैकटोल, 3% प्रोटीन, 3-4% वसा, 0.8% मिनरल और 0.1% विटामिन होता है. इसमें से लगभग 3-4% सैचूरेटेड फैट होता है.

विशेषज्ञों की मानें तो एक साल से बड़े बच्चों के लिए यह बहुत ही महत्त्वपूर्ण होता है, क्योंकि दूध में उन्हें सभी जरूरी पोषक तत्व प्राप्त होते हैं, जो उनके विकास के लिए महत्त्वपूर्ण हैं. साथ ही 70 वर्ष से अधिक आयु के कमजोर और कम वजन वाले लोगों के लिए भी उत्तम माना जाता है. हमारे देश में पहले से ही दिन के पहले भोजन में दूध को शामिल करने पर जोर देना भी इस बात का सबूत है कि यह दूध लेना स्वास्थ्य के लिए अच्छा है.

(और पढ़ें - रोजाना कितना दूध पीना चाहिए)

दूध की यात्रा डेरियों से शुरू होती है, जहां दूध गाय-भैंस से निकाला जाता है. कहीं-कहीं दूध निकालने के लिए वैक्यूम कप्स का प्रयोग किया जाता है. आइए, इस पूरी प्रक्रिया के बारे में विस्तार से जानते हैं-

  • इस दूध को अधिकतम 5 डिग्री सेल्सियस के तापमान पर स्टेनलेस स्टील के बर्तनों में भरकर आगे की प्रक्रिया एवं पैकिंग के लिए फैक्ट्री या केंद्रों पर भेज दिया जाता है.
  • दूध निकालने से लेकर पैंकिंग तक 48 घंटे का समय होता है. दूध के रोगजनक बैक्टीरिया को मारने के लिए दूध को पाश्चुरीकरण की प्रक्रिया से गुजारा जाता है. पाश्चुरीकरण के दौरान इसे 72 डिग्री सेल्सियस पर अधिकतम 15 सेकंड तक गर्म किया जाता है. ऐसा करने से दूध रोगजनक बैक्टीरिया मुक्त हो जाता है. 
  • इसके बाद दूध को समरूप बनाने के लिए होमोजिनाइजेशन की प्रक्रिया से गुजारा जाता है. इस प्रक्रिया के दौरान, मौजूद वसा के कणों के आकार को छोटा कर दिया जाता है ताकि वे दूध में समान रूप से फैल सकें. इससे दूध को एक अच्छा सफेद रंग और चिकनी बनावट मिलती है, लेकिन इस प्रक्रिया के नुकसान भी हैं. वसा के कण छोटे होने के कारण पाचन प्रक्रिया के दौरान सीधे रक्त में अवशोषित हो जाते हैं, जिससे स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ सकता है. ऐसे में सीधा डेयरी से या दूधवाले से दूध लेकर इससे बचा जा सकता है.

(और पढ़ें - दूध में पाए जाने वाले पोषक तत्व)

कई शोधों से यह साबित हुआ है कि फुल क्रीम दूध हमारे शरीर के लिए उत्तम ही नहीं, बल्कि दिल के रोग, हाई ब्लड प्रेशर, टाइप 2 डायबिटीज एवं कुछ कैंसर जैसे रोगों में भी लाभदायक है. इस दूध को सभी पोषक तत्वों से युक्त एक संतुलित एवं सुपाच्य आहार माना जाता है. आइए विस्तार से जानते हैं फुल क्रीम दूध के कुछ फायदों के बारे में-

(और पढ़ें - गर्म दूध पीने के फायदे लाभ)

अच्छे कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ाता है

शोध के द्वारा यह प्रमाणित किया गया है कि फुल क्रीम दूध शरीर में हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन नाम के अच्छे कोलेस्ट्रॉल का स्तर बढ़ाता है, जो शरीर को शक्ति प्रदान करने में सहायता प्रदान करता है. साथ ही हृदय संबंधी बीमारियों का खतरा भी कम होता है.

(और पढ़ें - कच्चा दूध पीने के फायदे)

पोषक तत्वों से भरपूर

आम दूध की तुलना में फुल क्रीम दूध में कई पोषक तत्व, जैसे - विटामिन ए, विटामिन बी12, विटामिन-डी, कैल्शियम, पोटेशियम, मैग्निशीयम, जिंक, प्रोटीन एवं फैटी एसिड पाए जाते हैं, जो शरीर को स्वस्थ रखने में सहायक होते हैं.

(और पढ़ें - टोंड दूध के फायदे)

मोटापा नहीं बढ़ाता

एक मिथक है कि फुल क्रीम दूध पीने से फैट बढ़ता है, जबकि इसके विपरीत दूध में उपस्थित लिनोलेनिक एसिड शरीर में वसा को तोड़ने और उसके निर्माण को रोकने का काम करता है. इससे मोटापे का खतरा भी कम होता है.

(और पढ़ें - सोया मिल्क के फायदे)

गंभीर बीमारियां होती हैं कम

शोधों के अनुसार, फुल क्रीम मिल्क पीने से कई गंभीर बीमारियों जैसे टी-2 डायबिटीज व उच्च रक्तचाप आदि का खतरा 20 प्रतिशत तक कम हो जाता है. साथ ही ये बोन डेंसिटी बढ़ाने में मदद करता है.

(और पढ़ें - बकरी के दूध के फायदे)

दूध हमारे खान-पान का अहम हिस्सा है, जिसे अपने में एक पूर्ण आहार माना जाता है. गाय-भैंस और अन्य प्रक्रियाओं से निकलने वाले फुल क्रीम मिल्क से मिलने वाले पोषण तत्व हड्डियों, मांसपेशियों व शरीर को स्वस्थ बनाते हैं और ताकत प्रदान करते हैं.

(और पढ़ें - नारियल के दूध के फायदे)

Dt. Sonal jain

Dt. Sonal jain

आहार विशेषज्ञ
5 वर्षों का अनुभव

Dt. Rajni Sharma

Dt. Rajni Sharma

आहार विशेषज्ञ
7 वर्षों का अनुभव

Dt. Neha Suryawanshi

Dt. Neha Suryawanshi

आहार विशेषज्ञ
10 वर्षों का अनुभव

Dt. Ayushi Shah

Dt. Ayushi Shah

आहार विशेषज्ञ
2 वर्षों का अनुभव

ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ