myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

चीन के बाद विश्व भर में भारत मूंगफली का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक है। सर्दियों के मौसम में इसे अपने आहार में लगभग हर कोई शामिल करता है। ठंड में मूंगफलियां एक बेहतरीन स्नैक मानी जाती हैं। इसके कई लाभ होते हैं, जिसके सेवन का अधिक मजा केवल ठंड भरे मौसम में ही आता है। ऐसा नहीं है कि मूंगफलियों को गर्मियों में खाना गलत होता है या इसके गर्मी के मौसम में कोई फायदे नहीं मिल पाते हैं। दरअसल सर्दियों में हमारे शरीर को गर्मी की आवश्यकता होती है जो हमें अधिक वसा (फैट) वाले खाने से प्राप्त होती है। मूंगफलियां अच्छी वसा के साथ-साथ अधिक कैलोरी का भी स्रोत होती हैं। इनके सेवन से शरीर को गर्मी मिलती है, इसीलिए इसे गर्म मौसम में खाना बेहतर नहीं माना जाता है। 

मूंगफलियां कई मल्टी-न्यूट्रिएंट्स से भरपूर होती हैं, जिसके कारण यह कई स्वास्थ्य संबंधित लाभ भी पहुंचाती हैं जैसे -

  • ब्लड शुगर को संतुलित रखना
  • सर्दी जुकाम से छुटकारा दिलाना
  • खराब कोलेस्ट्रॉल को बेहतर करना
  • बालों को स्वस्थ रखना
  • त्वचा को बेहतर बनाना
  • वजन कम करने में मदद करना
  • अवसाद (डिप्रेशन) को खत्म करना
  • प्रजनन शक्ति को बढ़ाना
  • अल्जाइमर रोग में मदद करना

मूंगफली का कई प्रकार से सेवन किया जा सकता है, जिसमें मुख्य रूप से पीनट बटर, पीनट ऑयल, मिठाई, भुनी  हुई मूंगफली, स्नैक्स, सूप आदि शामिल हैं। मूंगफलियों की ही तरह इससे बने उत्पाद भी प्रोटीन, तेल, पॉलीफेनोल, एंटीऑक्सीडेंट, विटामिंस, मिनरल्स और फाइबर से भरपूर होते हैं। 

मूंगफली में मौजूद अन्य फायदेमंद पोषक तत्व 

मूंगफली से जुड़े स्वास्थ्य संबंधी फैक्ट्स
मूंगफली में मौजूद मैंगनीज रक्त में कैल्शियम के अवशोषण में मदद करता है। वसा और कार्बोहाइड्रेट्स से चयापचय (मैटाबोलिज्म) में मदद मिलती है। मूंगफली ब्लड रेशियो बढ़ती है और साथ ही मांसपेशियां और लिवर मजबूत करती हैं। मूंगफली का सेवन मधुमेह के 21 फीसदी जोखिम को कम करता है। कुछ लोगों का मानना है कि मूंगफली खाने से खांसी बढ़ जाती है, जबकि डॉक्टर की मानें तो इसके सेवन से फेफड़े मजबूत होते हैं व खांसी ठीक हो जाती है। इसमें  मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड्स बालों को विकसित और बढ़ने में मदद करते हैं, वही इसके अन्य पोषक तत्व गंजेपन से भी बचाते हैं।

मूंगफली के तेल को एक औषधि की तरह इस्तेमाल किया जा सकता है इससे सोरायसिस और एक्जिमा जैसे त्वचा विकार ठीक किए जाते हैं। जिम ट्रेनर और डायटीशियन वजन कम करने के लिए मूंगफलियों के सेवन की सलाह देते हैं, क्योंकि इससे शरीर को जरूर पोषक तत्व प्राप्त होने के साथ-साथ भूख भी कम हो जाती है। मूंगफली को कैंसर तक के लक्षण कम करने में प्रभावशाली माना जाता है, इसके सेवन से पेट के कैंसर का जोखिम कम हो सकता है।

रोजाना 2 चम्मच पीनट बटर या 25 से 50 ग्राम मूंगफलियां खाना स्वास्थ्य के लिए लाभदायी माना जाता है। हालांकि, डॉक्टर और डायटीशियन व्यक्ति के वजन अनुसार कम या अधिक सेवन की सलाह दे सकते हैं।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें