myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

नीम के फायदे और औषधीय गुणों के बारे में भारतीयों को कई सौ साल पहले से ही जानकारी है। नीम का फल, बीज, तेल, पत्तियां, जड़ और छाल- ये सारी ही चीजें बेहद फायदेमंद मानी जाती हैं और इनमें से प्रत्येक का उपयोग भारतीय आयुर्वेदिक और यूनानी चिकित्सा पद्धति में किया जाता है। थकान, खांसी, बुखार, भूख न लगना, संक्रमण आदि समस्याओं को दूर करने के साथ ही नीम, कफ, उल्टी, त्वचा रोग, मधुमेह के घाव, नेत्र विकार आदि में भी फायदेमंद माना जाता है। 

इतना ही नहीं कई बीमारियों जैसे- हीट-रैश, फोड़े, घाव, पीलिया, कुष्ठ रोग, त्वचा विकार, पेट के अल्सर, चिकन पॉक्स आदि के इलाज में भी नीम को लाभकारी माना जाता है। सिर्फ आयुर्वेद और पारंपरिक चिकित्सा में ही नहीं बल्कि आधुनिक शोध भी कई बीमारियों के मामले में नीम की उपचारात्मक शक्तियों की पुष्टि करते हैं और व्यापक रूप से नीम के उपयोग की बात कहते हैं।

(और पढ़ें- नीम के तेल के फायदे और नुकसान)

लेकिन बड़ा सवाल ये है कि आखिर नीम का उपयोग कैसे करना चाहिए? तो हम आपको बता दें कि सुबह खाली पेट नीम की ताजी पत्तियां चबाना आपकी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकता है। इस आर्टिकल में हम आपको खाली पेट नीम खाने के फायदे और नुकसान के बारे में ही बता रहे हैं।

  1. खाली पेट नीम की पत्तियों के फायदे - Khali pet neem ki patti khane ke fayde
  2. खाली पेट नीम की पत्तियां खाने के नुकसान - Khali pet neem ki patti khane ke nuksan

यह तो आपने भी जरूर सुना होगा और मानते भी होंगे कि वो चीजें जो जुबान को कड़वी लगती हैं वो चीजें सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होती हैं जैसे- करेला और नीम। नीम की पत्तियों का कड़वा स्वाद भले ही आपकी जीभ को पसंद न हो और नीम का जूस पीना या नीम की पत्तियां खाना आपके लिए किसी चैलेंज की तरह हो, लेकिन यह जान लीजिए की यह पत्तियां आपकी सेहत के लिए कई तरह से फायदेमंद हैं और अगर आप रोजाना खाली पेट नीम की पत्तियों का सेवन करें तो आप कई बीमारियों से बचे रह सकते हैं। 

(और पढ़ें- खाली पेट क्या खाना चाहिए और क्या नहीं, जानें)

  1. खाली पेट नीम के फायदे कैंसर से बचने के लिए - Khali pet neem ke fayde cancer ke liye
  2. खाली पेट नीम के फायदे इम्यूनिटी के लिए - Khali pet neem ke fayde immunity ke liye
  3. खाली पेट नीम के फायदे मुंह की सफाई के लिए - Khali pet neem ke fayde oral health ke liye
  4. खाली पेट नीम के फायदे पाचन के लिए - Khali pet neem ke fayde digestion ke liye
  5. खाली पेट नीम के फायदे डायबिटीज के लिए - Khali pet neem ke fayde diabetes ke liye
  6. खाली पेट नीम के फायदे त्वचा और बालों के लिए - Khali pet neem ke fayde skin aur hair ke liye

खाली पेट नीम के फायदे कैंसर से बचने के लिए - Khali pet neem ke fayde cancer ke liye

नीम की पत्तियां बिना किसी प्रतिकूल प्रभाव के शरीर से फ्री रैडिकल्स यानी मुक्त कणों को नष्ट करने में मदद करती हैं। इसका मतलब है कि नीम की पत्तियां खून को साफ करने में मदद करती हैं और ऐसे में अगर आप खाली पेट नीम की पत्तियों का सेवन करें तो कैंसर से बचने में मदद मिल सकती है। वैज्ञानिकों ने पाया है कि नीम की पत्तियों में मौजूद पॉलिसैकेराइड्स और लिमोनॉयड्स ट्यूमर और कैंसर को कम करते हैं और लिम्फोसाइटिक ल्यूकेमिया के खिलाफ प्रभावी माने जाते हैं। नीम की पत्तियों का खाली पेट सेवन करने से स्किन कैंसर को भी दूर करने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें- खून को साफ करने के घरेलू उपाय)

खाली पेट नीम के फायदे इम्यूनिटी के लिए - Khali pet neem ke fayde immunity ke liye

एंटीमाइक्रोबियल, एंटीवायरल और एंटीऑक्सिडेंट गुणों से भरपूर, नीम की पत्तियों को सुबह खाली पेट चबाना आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाने और रोगों से लड़ने की आपकी क्षमता (इम्यूनिटी) को भी बेहतर बनाने में मदद करता है। खाली पेट नीम की पत्तियां खाने से सामान्य फ्लू से लेकर कैंसर और हृदय रोग जैसी कई बीमारियों का खतरा कम हो सकता है। इतना ही नहीं नीम की पत्तियां बैक्टीरिया को भी नष्ट करती हैं और इम्यून सिस्टम यानी प्रतिरक्षा प्रणाली को उत्तेजित करने में मदद करती हैं। 

(और पढ़ें- इम्यूनिटी बढ़ाने के आसान उपाय)

 

खाली पेट नीम के फायदे मुंह की सफाई के लिए - Khali pet neem ke fayde oral health ke liye

आपने गांवों में या पुराने जमाने में लोगों को दांतों को साफ करने के लिए टूथब्रश की जगह नीम के दातुन का इस्तेमाल करते जरूर देखा होगा। इसका कारण ये है कि नीम मौखिक स्वास्थ्य (ओरल हेल्थ) को बेहतर बनाकर दांत, मसूड़े और मुंह की सभी तरह की बीमारियों को दूर रखने में मदद करता है। नीम का दातुन इस्तेमाल करने के अलावा अगर आप सुबह खाली पेट नीम के पत्तियों को चबाकर खाएं तो यह भी आपकी मुंह की सफाई के लिए फायदेमंद हो सकता है। जीवाणुरोधी होने के कारण नीम की पत्तियां कीटाणुओं से लड़ती हैं, प्लाक (पट्टिका) निर्माण और मसूड़ों में संक्रमण के खिलाफ प्रभावी हैं और दांतों को चमकदार बनाने में भी मदद कर सकती हैं।

(और पढ़ें- बच्चों के मुंह की सफाई कैसे करें जानें)

खाली पेट नीम के फायदे पाचन के लिए - Khali pet neem ke fayde digestion ke liye

नीम की तासीर ठंडी होती है और इसलिए यह पेट में ऐसिडिटी, सीने में जलन और पाचन से जुड़ी कई और समस्याओं को भी दूर करने में मदद करता है। सुबह खाली पेट रोजाना नीम की पत्तियां चबाकर खाने से पाचन अच्छा रहता है, पेट साफ होता है, कब्ज की समस्या नहीं होती, मलत्याग में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं आती। इसके अलावा नीम की पत्तियां पाचन तंत्र में मौजूद हानिकारक विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालकर पेट से जुड़ी बीमारियां होने से रोकने में मदद करती हैं। नीम की पत्तियों को लिवर के लिए भी बेहतरीन माना जाता है।

(और पढ़ें- पेट साफ करने के आसान तरीके)

खाली पेट नीम के फायदे डायबिटीज के लिए - Khali pet neem ke fayde diabetes ke liye

कई सालों से, नीम की पत्तियों के अर्क का उपयोग डायबिटीज के लिए एक प्रभावी इलाज के रूप में किया जा रहा है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की एक सिफारिश के मुताबिक नीम के पत्तों का रस एक बड़ा चम्मच (5 मिली) रोज सुबह खाली पेट तीन महीने तक लेना चाहिए, इससे डायबिटीज की समस्या में सुधार हो सकता है। इसके अलावा आप चाहें तो नीम की पत्तियों से बना पाउडर या फिर नीम की 10 ताजी पत्तियों का प्रतिदिन सुबह खाली पेट सेवन कर सकते हैं। कुछ अध्ययनों से पता चला है कि नीम की पत्तियों का मौखिक सेवन करने से डायबिटीज के मरीज की इंसुलिन आवश्यकताओं को 30 से 50 प्रतिशत तक कम करने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें- डायबिटीज के मरीजों के लिए अमृत समान है यह पौधा)

खाली पेट नीम के फायदे त्वचा और बालों के लिए - Khali pet neem ke fayde skin aur hair ke liye

आयुर्वेद में त्वचा से जुड़ी समस्याओं को दूर करने के लिए नीम के तेल की जगह नीम की पत्तियों का ही इस्तेमाल किया जाता है क्योंकि नीम का एंटीबैक्टीरियल और ऐंटी-इन्फ्लेमेटरी गुण नीम के तेल से ज्यादा उसकी पत्तियों में होता है। नियमित रूप से अगर खाली पेट नीम की पत्तियों का सेवन किया जाए तो इससे खून साफ होता है और खून साफ हो जाए तो इसका स्पष्ट रूप से आपकी त्वचा पर असर दिखने लगता है। इससे त्वचा में खुजली, लालिमा, त्वचा संक्रमण, पिग्मेंटेशन जैसी कई समस्याओं को दूर करने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें- नीम के फायदे स्किन के लिए)

स्किन के साथ ही बालों के लिए फायदेमंद है नीम की पत्तियां। इसका पेस्ट बनाकर बालों में लगाने के साथ ही अगर आप नीम की पत्तियों को चबाकर खाएं तो इससे भी रूसी और बालों में खुजली जैसी कई समस्याओं को दूर करने में मदद मिल सकती है।

वैसे तो औषधीय गुणों से भरपूर नीम की पत्तियों को सीमित मात्रा में खाने से कोई नुकसान नहीं होता है। लेकिन अगर आप इसका बहुत ज्यादा सेवन कर लें तो इस कारण भी कुछ दिक्कतें आ सकती हैं। इसके अलावा किन लोगों को नीम का सेवन नहीं करना चाहिए यहां जानें:

  • गर्भवती महिलाएं, वैसी महिलाएं जो गर्भवती होने की कोशिश कर रही हैं और वे महिलाएं जो बच्चे को अपना दूध पिलाती हैं उन सभी को नीम की पत्तियां खाने से बचना चाहिए। इस बात के प्रमाणित सबूत अभी मौजूद नहीं हैं कि नीम की पत्तियां इन महिलाओं के लिए पूरी तरह से सुरक्षित है या नहीं इसलिए बेहतर यही होगा कि आप नीम का सेवन न करें।
  • छोटे बच्चों को भी नीम की पत्तियां नहीं खिलानी चाहिए क्योंकि उन पर भी नीम का क्या असर होता है इस बारे में बहुत अधिक रिसर्च या जानकारी मौजूद नहीं है तो बेहतर यही होगा कि बच्चों को नीम की पत्तियां न खिलायी जाएं।
  • वैसे तो डायबिटीज की समस्या दूर करने में नीम की पत्तियां फायदेमंद माना जाती हैं लेकिन अगर आप डायबिटीज के मरीज हैं तो नीम की पत्तियों या नीम के जूस का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह मशविरा जरूर कर लें।
  • वैसे तो रोजाना ताजी नीम की पत्तियों का सेवन करना पूरी तरह से सुरक्षित माना जाता है। लेकिन अगर आप लगातार नीम की पत्तियां खा रहे हों तो बीच में 1 महीने का गैप करना आपके लिए फायदेमंद हो सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि नीम की पत्तियों की अधिक खुराक लिवर और किडनी पर प्रतिकूल असर डाल सकती है।
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें