myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

स्ट्रेच मार्क्स बहुत ही भद्दे होते हैं और कभी कभी हमारे कपडे पहनने की चाह पर भी लगाम लगा देते हैं। ये बदसूरत दाग आमतौर पर पेट, जांघ और हाथों पर देखे जाते हैं। स्ट्रेच मार्क्स पड़ने के कई कारण होते हैं जैसे एकदम से वजन कम हो जाना या बढ़ जाना, शरीर के आकार में बदलाव आना, अनुवांशिक कारक, तनाव, गर्भावस्था में वजन बढ़ना आदि। जब त्वचा स्ट्रेच करती है तो त्वचा के कोलाजेन कमज़ोर पड़ने लगते हैं। जिसकी वजह से त्वचा पर फाइन लाइन्स दिखने लगती हैं, जिसे स्ट्रेच मार्क्स कहा जाता है। शुरू में स्ट्रेच मार्क्स रंग में लाल या गुलाबी होते हैं।

(और पढ़ें - गर्भावस्था के स्ट्रेच मार्क्स हटाने के उपाय और प्रेग्नेंट होने के उपाय)

लेकिन इसमें आपको चिंता करने की ज़रूरत नहीं है। क्योंकि स्ट्रेच मार्क्स के लिए बहुत से घरेलू उपाय है जो इन्हे कम करने में मदद करेंगे। घरेलू उपायों की मदद से आप नए या पुराने स्ट्रेच मार्क्स को दूर कर सकते हैं। घरेलू उपायों के इस्तेमाल से आप हफ्तों के अंदर ही देखने लगेंगे कि आपकी त्वचा पर भद्दी लाइन्स बहुत ही कम हो गयी हैं और धीरे धीरे गायब हो रही हैं।

(और पढ़ें - चेहरे को गोरा करने के घरेलू उपाय)

तो आइये आपको बताते हैं स्ट्रेच मार्क्स के घरेलू उपाय -

  1. स्ट्रेच मार्क्स को हटाने के उपाय में करें जैतून तेल का उपयोग - Olive oil removes stretch marks in Hindi
  2. स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू नुस्खे हैं बादाम का तेल - Almond oil reduces stretch marks in Hindi
  3. स्ट्रेच मार्क्स हटाने का तरीका है बेबी तेल - Baby oil help to get rid of stretch marks in Hindi
  4. स्ट्रेच मार्क्स हटाने का नुस्खा है बेकिंग सोडा - Benefits of baking soda on stretch marks in Hindi
  5. टी ट्री तेल से करें पेट के निशान हटाने के उपाय - Tea tree oil cures stretch marks in Hindi
  6. स्ट्रेच मार्क्स से छुटकारा पाने के लिए है आर्गन तेल लाभदायक - Argan oil treats stretch marks in Hindi
  7. नींबू से करें स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू उपाय - Lemon for stretch marks in Hindi
  8. पेट के निशान मिटाने के उपाय में करें सेब के सिरके का उपयोग - Benefits of apple cider vinegar for stretch marks in Hindi
  9. स्ट्रेच मार्क्स को हटायें हल्दी से - Turmeric for stretch marks in Hindi
  10. स्ट्रेच मार्क्स कम करने के उपाय करें जोजोबा तेल से - Jojoba oil good for stretch marks in Hindi
  11. स्ट्रेच मार्क्स ट्रीटमेंट करें शिया बटर से - Shea butter for stretch marks in Hindi
  12. स्ट्रेच मार्क्स को हटाने का उपाय है एलो वेरा जेल - Aloe vera good for stretch marks in Hindi
  13. विक्स वेपोरब से करें स्ट्रेच मार्क्स हटाने के घरेलू नुस्खे - Vicks vapor rub for stretch marks in Hindi
  14. स्ट्रेच मार्क्स दूर करने का उपाय है अरंडी का तेल - Castor oil treatment for stretch marks in Hindi
  15. विटामिन ई तेल से स्ट्रेच मार्क्स को हटायें - Vitamin e oil benefits for stretch marks in Hindi

सामग्री –

  1. जैतून का तेल। (और पढ़ें - जैतून के तेल के गुण)

विधि –

  1. सबसे पहले तेल को गर्म कर लें।
  2. फिर तेल को प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं और लगाने के बाद कुछ मिनट तक मसाज करें।
  3. मसाज के बाद तेल को त्वचा पर ऐसे ही लगा हुआ रहने दें।

जैतून के तेल को इस्तेमाल कैसे करें –

इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो बार दोहराएं।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए तेल)

जैतून के तेल को इस्तेमाल करने के फायदे –

जैतून का तेल पोषक तत्वों, विटामिन्स और एंटीऑक्सीडेंट्स से समृद्ध होता है। ये त्वचा के लिए बेहद स्वस्थ होता है और त्वचा सम्बन्धी समस्याओं का इलाज करने में मदद करता है, जैसे स्ट्रेच मार्क्स। इसके सूजनरोधी गुण भी स्ट्रेच मार्क्स के लिए बहुत लाभदायक हैं।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए क्रीम)

सामग्री –

  1. एक या दो चम्मच बादाम का तेल। (और पढ़ें - बादाम के तेल के गुण)
  2. कुछ बूँदें आवश्यक तेल की।

विधि –

  1. सबसे पहले बादाम के तेल में अपने पसंदीदा आवश्यक तेल को मिलाएं।
  2. अच्छे से मिश्रण को मिलाने के बाद इसे कुछ सेकेण्ड के लिए गर्म होने को रख दें।
  3. गर्म होने के बाद मिश्रण को स्ट्रेच मार्क्स पर लगा लें।
  4. इसके बाद कुछ मिनट तक मसाज करें और सूखने के लिए ऐसे ही छोड़ दें।

बादाम के तेल को इस्तेमाल कैसे करें –

इस प्रक्रिया को पूरे दिन में दो बार दोहराएं।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए घरेलू उपाय)

बादाम के तेल को इस्तेमाल करने के फायदे –

बादाम के तेल में विटामिन ई और अन्य आवश्यक पोषक तत्व होते हैं जो त्वचा को पोषित करते हैं और उसका तेज़ी से इलाज करते हैं। ये साबित हो चूका है कि ये मिश्रण दाग को दूर करता है, त्वचा को मुलायम बनाता है और रंगत को सुधारता है।

(और पढ़ें - सर्दियों में रूखी त्वचा का इलाज)

सामग्री –

  1. बेबी ऑयल।

विधि –

  1. गर्म पानी से नहाने के बाद अपनी त्वचा को अच्छे से सूखा लें और फिर प्रभावित क्षेत्र पर बेबी तेल को लगाएं।
  2. लगाने के बाद त्वचा पर मसाज करें जिससे तेल अच्छे से अवशोषित हो जाए।
  3. फिर प्राकृतिक तरीके से तेल को सूखने दें।

बेबी तेल को इस्तेमाल कैसे करें –

इस तेल का इस्तेमाल रोज़ाना नहाने के बाद करें।

(और पढ़ें - त्वचा को निखारने के लिए जूस रेसिपी)

बेबी तेल को इस्तेमाल करने के फायदे –

बेबी तेल में कई पोषक तत्व होते हैं जो त्वचा को पोषण देते हैं और उन्हें कोमल और मुलायम बनाते हैं। ये भविष्य में होने वाले स्ट्रेच मार्क्स से बचाता है।

(और पढ़ें - खूबसूरत त्वचा के लिए आहार)

सामग्री –

  1. एक चम्मच बेकिंग सोडा। (और पढ़ें - बेकिंग सोडा के लाभ)
  2. एक नींबू का जूस।
  3. क्लिंग रेप।

विधि –

  1. सबसे पहले बेकिंग सोडा को नींबू के जूस के साथ मिला दें जिससे कि एक पेस्ट तैयार हो सके।
  2. अब इस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं और फिर क्लिंग रेप से उस क्षेत्र को ढक दें।
  3. 20 से 30 मिनट के लिए इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।
  4. अब रेप को हटा लें और फिर उस क्षेत्र को गर्म पानी से साफ़ कर लें।

बेकिंग सोडा को इस्तेमाल कैसे करें –

तेज़ी से स्ट्रेच मार्क्स हटाने के लिए इस उपाय को रोज़ाना आजमाएं।

(और पढ़ें - चमकदार त्वचा पाने के लिए गाइड)

बेकिंग सोडा को इस्तेमाल करने के फायदे –

बेकिंग सोडा त्वचा को एक्सफोलिएट करता है और मृत कोशिकाओं को हटाता है जिससे स्ट्रेच मार्क्स हल्के होने लगते हैं।

(और पढ़ें - दमकती त्वचा पाने के लिए योगासन)

सामग्री –

  1. चार से पांच बूँद टी ट्री तेल की। (और पढ़ें - टी ट्री ऑयल के फायदे और नुकसान)
  2. एक या आधा चम्मच जैतून का तेल या नारियल का तेल

विधि –

  1. सबसे पहले दोनों मिश्रण को एक साथ मिला लें।
  2. अब इस मिश्रण को स्ट्रेच मार्क्स पर लगाने के बाद मसाज करें।
  3. तब तक अच्छे से मसाज करें जब तक त्वचा पर ये मिश्रण अवशोषित न हो जाये।
  4. फिर इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।

टी ट्री तेल को इस्तेमाल कैसे करें –

इस उपाय को पूरे दिन में दो बार दोहराएं।

(और पढ़ें - चेहरे पर चमक लाने के उपाय)

टी ट्री तेल को इस्तेमाल करने के फायदे –

टी ट्री तेल के लाभ तो कई हैं। लेकिन ज़्यादातर लोग ये नहीं जानते कि ट्री तेल के इस्तेमाल से स्ट्रेच मार्क्स और दाग गायब हो जाते हैं। इसमें सूजनरोधी गुण पाए जाते हैं जो इस समस्या का इलाज करने में प्रभावी है।

(और पढ़ें - शहनाज़ हुसैन के टिप्स ग्लोइंग स्किन पाने के लिए)

सामग्री –

  1. ऑर्गन तेल। (और पढ़ें - आर्गन के तेल के फायदे और नुकसान)

विधि –

  1. इस तेल को हाथों में लेकर स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं।
  2. लगाने के बाद कुछ मिनट तक मसाज करें।
  3. फिर त्वचा को पानी से न धोएं या पोछे नहीं।

आर्गन तेल को इस्तेमाल कैसे करें –

स्ट्रेच मार्क्स से छुटकारा पाने के लिए इस उपाय को पूरे दिन में दो बार दोहराएं।

(और पढ़ें - आंखों के नीचे की झुर्रियों के लिए घरेलू उपाय)

आर्गन तेल को इस्तेमाल करने के फायदे –

ऑर्गन तेल को ज़्यादातर कॉस्मेटिक उत्पादों में इस्तेमाल किया जाता है। इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं और ये विटामिन ई से समृद्ध होता है। ये त्वचा को पोषित करता है और इसका इलाज करने में मदद करता है। इसी के साथ ये दाग और स्ट्रेच मार्क्स को भी कम करता है।

(और पढ़ें - चेहरे की झुर्रियों के कारण और हटाने के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. एक या दो चम्मच ताज़ा नींबू का जूस। (और पढ़ें - नींबू के गुण)

विधि –

  1. सबसे पहले नींबू के जूस को स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं।
  2. दस मिनट तक इसे लगाकर ऐसे ही मसाज करते रहें और तब तक करें जब तक नींबू का जूस अवशोषित न हो जाए।
  3. फिर गर्म पानी से त्वचा को धो लें।
  4. इसके बाद त्वचा पर मॉइस्चराइज़र लगाएं।
  5. इसके अलावा आप एक चम्मच नींबू के जूस में में एक या दो चम्मच बेसन मिलाकर एक पेस्ट तैयार कर सकते हैं। और फिर उस पेस्ट को प्रभावित क्षेत्र पर लगा लें। दस मिनट तक उसे ऐसे ही सूखने दें और फिर गर्म पानी से त्वचा को धो लें।

नींबू को इस्तेमाल कैसे करें –

इस उपाय को पूरे दिन में एक या दो बार दोहराएं।

(और पढ़ें - काले दाग हटाने के घरेलू उपाय)

नींबू को इस्तेमाल करने के फायदे –

नींबू का जूस स्ट्रेच मार्क्स को कम करने का एक और प्रभावी उपाय है। नींबू का जूस प्राकृतिक रूप से एसिडिक है, जो कि स्ट्रेच मार्क्स, मुहांसो के दाग और अन्य दाग का इलाज करने में और उसे दूर करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - झुर्रियों के लिए फेस पैक)

सामग्री –

  1. एक कप सेब का सिरका। (और पढ़ें - सेब के सिरके के लाभ)
  2. एक स्प्रे बोतल।

विधि –

  1. सबसे पहले स्प्रे बोतल में सेब के सिरके को दाल दें।
  2. फिर रात को सोने से पहले स्ट्रेच मार्क्स पर उस बोतल को स्प्रे करें।
  3. फिर सूखने के लिए उसे ऐसे ही छोड़ दें।
  4. अब अगली सुबह अच्छे से त्वचा को साफ़ कर लें इसके बाद मॉइस्चराइज़र का इस्तेमाल करें।

सेब के सिरके को इस्तेमाल कैसे करें –

इस प्रक्रिया को रात को सोने से पहले दोहराएं।

(और पढ़ें - झाइयां हटाने के घरेलू उपाय)

सेब के सिरके को इस्तेमाल करने के फायदे –

सेब का सिरका एसिटिक और मलिक एसिड (malic acid) से समृद्ध होता है जो दाग को कम करने में मदद करता है।

(और पढ़ें - चेहरे के दाग धब्बे हटाने के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. एक चम्मच हल्दी पाउडर। (और पढ़ें - हल्दी के गुण)
  2. एक चम्मच ताज़ा क्रीम या दही

विधि –

  1. सबसे पहले हल्दी को क्रीम या दही के साथ मिला दें जिससे कि एक पेस्ट तैयार हो सके।
  2. अब इस पेस्ट को स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं और 10 से 15 मिनट के लिए इसके सूखने का इंतज़ार करें।
  3. फिर त्वचा को गर्म पानी से धो लें और फिर मॉइस्चराइज़र लगा लें।

हल्दी को इस्तेमाल कैसे करें –

स्ट्रेच मार्क्स को खत्म करने के लिए इस पेस्ट को पूरे दिन में दो बार दोहराएं।

(और पढ़ें – सन टैन दूर करने के घरेलू उपाय)

हल्दी को इस्तेमाल करने के फायदे –

स्ट्रेच मार्क्स से छुटकारा दिलाने में हल्दी बहुत ही अच्छा तरीका है। हल्दी में एंटीऑक्सीडेंट, सूजनरोधी और त्वचा को निखारने के गुण मौजूद होते हैं। रोज़ाना हल्दी के इस्तेमाल से आपको कुछ ही हफ्तों में फर्क दिखाई देने लगेगा।

(और पढ़ें - गोरा होने के उपाय)

सामग्री –

  1. शुद्ध जोजोबा तेल। (और पढ़ें - जोजोबा तेल के लाभ)

विधि –

  1. सबसे पहले जोजोबा तेल की कुछ बूँदें लें और फिर उसे स्ट्रेच मार्क्स पर लगा लें।
  2. अब कुछ मिनट तक मसाज करें और फिर मसाज के बाद तेल को त्वचा पर ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।

जोजोबा तेल को इस्तेमाल कैसे करें –

इस तेल को पूरे दिन में दो या तीन बार दोहराएं।

(और पढ़ें – सनबर्न से छुटकारा पाने के उपाय)

जोजोबा तेल को इस्तेमाल करने के फायदे –

जोजोबा तेल में सूजनरोधी और त्वचा का इलाज करने के गुण मौजूद होते हैं। जब आपको स्ट्रेच मार्क्स दिखाई देने शुरू हो जाएँ तो तभी इस तेल का इस्तेमाल करना शुरू कर दें। इससे स्ट्रेच मार्कस को रोकने में मदद मिलेगी। ये त्वचा को पोषित करता है और उसका इलाज करता है और नई स्वस्थ कोशिकाओं को उत्तेजित करता है।

(और पढ़ें – सिर्फ़ 5 दिन में चेहरे और शरीर से सन टैन को हटायें)

सामग्री –

  1. शिया बटर।

विधि –

  1. सबसे पहले शिया बटर लें।
  2. अब उसे अपने प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।

शिया बटर को इस्तेमाल कैसे करें –

पूरे दिन में कई बार इस प्रक्रिया को दोहराने की कोशिश करें।

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा के लिए क्रीम)

शिया बटर को इस्तेमाल करने के फायदे –

त्वचा पर मॉइस्चराइज़िंग के अलावा, शिया बटर में एन्टिओक्सीडेंट और सूजनरोधी गुण भी मौजूद होते हैं। इस उपाय को रोज़ाना इस्तेमाल करने से त्वचा स्वस्थ होगी और खराब हुई कोशिकाएं ठीक होंगी।

(और पढ़ें – पिम्पल्स हटाने के घरेलू उपाय)

सामग्री –

  1. ताज़ा एलो वेरा जेल। (और पढ़ें - एलोवेरा के लाभ)
  2. पांच विटामिन ए कैप्सूल्स।
  3. 10 विटामिन ई कैप्सूल्स।

विधि –

  1. सबसे पहले एलो वेरा से उसका जेल निकाल लें और अब जेल में विटामिन ए और विटामिन ई के कैप्सूल्स में मौजूद तेल को भी मिलाएं।
  2. अब इस मिश्रण को अच्छे से मिला दें और अब इसे त्वचा पर लगाएं।
  3. लगाने के बाद अच्छे से मसाज करें और तब तक करें जब तक ये मिश्रण अच्छे से अवशोषित न हो जाए।
  4. त्वचा को पानी से न धोएं।
  5. आप सिर्फ एलो वेरा जेल को भी त्वचा पर लगा सकते हैं। 15 मिनट के लिए जेल को त्वचा पर ऐसे ही लगा हुआ रहने दें और फिर त्वचा को गुनगुने पानी से धो दें।

एलो वेरा जेल को इस्तेमाल कैसे करें –

इस उपाय को पूरे दिन में एक या दो बार दोहराएं और तब तक दोहराएं जब तक स्ट्रेच मार्क्स पूरी तरह से चले ना जाएँ।

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा से छुटकारा पाने के घरेलू उपाय)

एलो वेरा जेल को इस्तेमाल करने के फायदे –

एलो वेरा जेल शरीर के लिए बहुत ही बेहतरीन जड़ी बूटी है, खासकर त्वचा के लिए। ये त्वचा को आराम देता है और इलाज करने की प्रक्रिया में तेज़ी लाता है। ये इसलिए क्योंकि इसके ग्लुकोमन्नान (glucomannan) और गिबेरेल्लिन (gibberellin) गुण कोलाजेन को बढ़ाते हैं और स्ट्रेच मार्क्स को दूर करते हैं। इसमें आवश्यक विटामिन, खनिज और एन्ज़ाइम्स होते हैं जिनमे एंटीऑक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं।

(और पढ़ें - तैलीय त्वचा के लिए क्लीन्ज़र)

सामग्री –

  1. विक्स वेपोरब।
  2. क्लिंग रेप।

विधि –

  1. सबसे पहले थोड़ी मात्रा में उँगलियों पर विक्स वेपोरब लें।
  2. फिर इसे प्रभावित क्षेत्रों पर लगाएं और लगाने के बाद एक या दो मिनट तक मसाज करें।
  3. फिर उस क्षेत्र को क्लिंग रेप की मदद से ढक दें और रातभर के लिए उसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें।

विक्स वेपोरब को इस्तेमाल कैसे करें –

इस उपाय को हर रात को दोहराएं जब तक स्ट्रेच मार्क्स चले नहीं जाते।

(और पढ़ें – ब्लैक हेड्स हटाने के घरेलू नुस्खे)

विक्स वेपोरब को इस्तेमाल करने के फायदे –

विक्स वेपोरब आवश्यक तेल से बना होता है जैसे नीलगिरी तेल, तारपीन तेल और सीडर (cedar) की पत्तियों के तेल से। इसमें कपूर और पेट्रोलाट्म (petrolatum) भी मिला होता है। ये सभी त्वचा को मॉइश्चराइज़ करने में मदद करते हैं और उन्हें मुलायम बनाते हैं। लेकिन अभी तक इस उपाय को इस्तेमाल करने का कोई वैज्ञानिक तथ्य पता नहीं चल पाया है। पर तब भी महिलाओं को इसके इस्तेमाल से 60% से 80% तक फर्क देखने को मिलेगा है।

(और पढ़ें - जानिए विक्स वेपोरब के फायदे स्ट्रेच मार्क्स हटाने और वज़न घटाने के लिए)

सामग्री –

  1. अरंडी का तेल। (और पढ़ें - अरंडी के तेल के फायदे और नुकसान)

विधि –

  1. सबसे पहले अरंडी के तेल को गर्म कर लें।
  2. फिर इस तेल से स्ट्रेच मार्क्स पर 15 से 20 मिनट तक मसाज करें।

अरंडी का तेल को इस्तेमाल कैसे करें –

इस प्रक्रिया को रोज़ाना रात को सोने से पहले दोहराएं।

(और पढ़ें - व्हाइट हेड्स को दूर करने के फेस पैक)

अरंडी का तेल को इस्तेमाल करने के फायदे –

अरंडी का तेल त्वचा की बीमारियाँ और झड़ते बालों का इलाज तेज़ी से करता है। इसमें रिसिनोलिक एसिड होता है, जो कि त्वचा को कंडीशनिंग करता है और स्ट्रेच मार्क्स का इलाज करता है और उन्हें हल्का करने में मदद करता है।

(और पढ़ें – चेहरे और नाक के ब्लैकहेड्स और व्हाइटहेड्स को दूर करने का तरीका)

सामग्री –

  1. विटामिन ई के कैप्सूल्स। (और पढ़ें - विटामिन ई के लाभ)

विधि –

  1. सबसे पहले कैप्सूल्स को काट लें जिससे उसके अंदर का तेल निकल आये।
  2. अब इस तेल को स्ट्रेच मार्क्स पर लगाएं और कुछ मिनट तक मसाज करें।
  3. मसाज करने के बाद इसे ऐसे ही लगा हुआ छोड़ दें। 
  4. इसके अलावा आप रोज़ाना विटामिन ई के कैप्सूल्स भी खा सकते हैं।

विटामिन ई तेल को इस्तेमाल कैसे करें –

इस उपाय को पूरे दिन में एक या दो बार दोहराएं।

(और पढ़ें - विटामिन ई के बेमिसाल फायदे त्वचा के लिए)

विटामिन ई तेल को इस्तेमाल करने के फायदे –

विटामिन ई को आमतौर पर क्रीम और लोशन में इस्तेमाल किया जाता है जिससे दाग और स्किन एजिंग से बचा जा सके। इसके सूजनरोधी और एन्टिओक्सीडेंट गुण त्वचा को पोषण देते हैं, उन्हें स्वस्थ बनाते हैं साथ ही दाग और स्ट्रेच मार्क्स का इलाज करने की प्रक्रिया में भी मदद मदद करते हैं। ये सूरज की किरणों से भी आपको सुरक्षित रखता है।

(और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए फेस पैक)

और पढ़ें ...

References

  1. Oakley AM, Patel BC. Stretch Marks (Striae). [Updated 2018 Dec 28]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2019 Jan-.
  2. American Academy of Dermatology. Rosemont (IL), US; Stretch marks: Why they appear and how to get rid of them
  3. Uwe Wollina, Alberto Goldman. Management of stretch marks (with a focus on striae rubrae) . J Cutan Aesthet Surg. 2017 Jul-Sep; 10(3): 124–129. PMID: 29403182
  4. Mohamed L. Elsaie et al. Striae Distensae (Stretch Marks) and Different Modalities of Therapy: An Update. American Society for Dermatologic Surgery: 06 April 2009
  5. Kang S, Kim KJ, Griffiths CEM, et al. Topical Tretinoin (Retinoic Acid) Improves Early Stretch Marks. Arch Dermatol. 1996;132(5):519–526.
  6. S. Manjula Jegasothy, Valentina Zabolotniaia, Stephan Bielfeldt. Efficacy of a New Topical Nano-hyaluronic Acid in Humans . J Clin Aesthet Dermatol. 2014 Mar; 7(3): 27–29. PMID: 24688623
  7. American Society for Dermatologic Surgery. LASER/LIGHT THERAPY FOR STRETCH MARKS. [Internet]
  8. Dong-Hye Suh et al. Treatment of striae distensae combined enhanced penetration platelet-rich plasma and ultrasound after plasma fractional radiofrequency. Journal of Cosmetic and Laser Therapy, Volume 14, 2012 - Issue 6
  9. Cătălina Bogdan et al. Preliminary study on the development of an antistretch marks water-in-oil cream: ultrasound assessment, texture analysis, and sensory analysis . Clin Cosmet Investig Dermatol. 2016; 9: 249–255. PMID: 27660478
  10. Amar Surjushe, Resham Vasani, D G Saple. ALOE VERA: A SHORT REVIEW. Indian J Dermatol. 2008; 53(4): 163–166. PMID: 19882025
  11. Hajhashemi M et al. The effect of Aloe vera gel and sweet almond oil on striae gravidarum in nulliparous women. J Matern Fetal Neonatal Med. 2018 Jul;31(13):1703-1708. PMID: 28521546
  12. S. Ud‐Din, D. McGeorge, A. Bayat. Topical management of striae distensae (stretch marks): prevention and therapy of striae rubrae and albae . J Eur Acad Dermatol Venereol. 2016 Feb; 30(2): 211–222. PMID: 26486318
  13. Wiesława Bylka et al. Centella asiatica in cosmetology . Postepy Dermatol Alergol. 2013 Feb; 30(1): 46–49. PMID: 24278045