myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कई वजहों से वजन बढ़ता है जैसे आनुवांशिक वजह, हार्मोन में असंतुलन, जीवनशैली में बदलाव मसलन खानपान सही न होना, नियमित एक्सरसाइज न करना और तनाव आदि। आप अपने वजन को नियंत्रित करने के लिए कई तरह के उपाय भी आजमाते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि वजन को कम करने के लिए अपनी शेप का जानना भी जरुरी है? आप अपने बाॅडी के शेप को जानकर भी फिट और हेल्दी भी रह सकते हैं। साथ ही यह भी जान पाएंगे कि किस तरह की बाॅडी शेप ज्यादा बेहतर होती है। नतीजतन आप अपनी जीवनशैली और खानपान में सभी जरूरी बदलाव कर पाएंगे।

(और पढें - वजन कम करने के उपाय)

क्या कहते हैं शोध
एक समय तक माना जाता था कि पियर यानी नाशपाती आकार की महिलाएं हृदय रोग और डायबिटीज से बची रहती हैं क्योंकि उनके शरीर में मौजूद वसा शरीर के निचले हिस्से जैसे जांघ, कूल्हे में मौजूदा होती है। नतीजतन उनके शरीर को कम नुकसान पहुँचता है। लेकिन यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया द्वारा किए गए नए अध्ययन में पता चला कि यह महज एक मिथ है। पियर शेप की महिलाओं को स्वास्थ्य समस्याएं जैसे हृदय रोग और डायबिटीज हो सकता है। दरअसल एप्पल शेप और पियर शेप दोनों तरह की महिलाओं पर किए गए अध्ययन में यह पुष्टि हुई है कि दोनों आकार की महिलाओं को डायबिटीज और हृदय रोग समान रूप से हो सकते हैं।

(और पढ़ें - हृदय रोग से बचने के उपाय)

जब हो एप्पल शेप बॉडी 
अगर आप एप्पल शेप के हैं तो आपका सारा वजन निचले हिस्से के बजाय ऊपरी हिस्से में होता है। बढ़ती उम्र में पुरूष इस शेप में ज्यादा नजर आते हैं। एप्पल शेप से यह पता चलता है कि आपकी जीवनशैली असंतुलित है, तनाव उच्च स्तर का है, डाइट बहुत खराब है और शरीरिक गतिविधियां भी बहुत कम हैं। खासकर पुरूषों की बात करें तो शराब का सेवन करने की वजह से भी शारीरिक आकार ऐसा हो जाता है। विशेषज्ञों के मुताबिक पेट में वसा का जमना हृदय रोग के जोखिम को बढ़ा देता है।

इन उपायों को आजमाएं: 
एप्पल शेप के लोगों को चाहिए कि ज्यादा से ज्यादा शारीरिक गतिविधियां करें। उनके लिए कार्डियो वर्कआउट, वेट ट्रेनिंग काफी फायदेमंद रहती है। स्विमिंग, साइकिलिंग, जाॅगिंग और वेट ट्रेनिंग करने से फैट घटता है और आप स्वस्थ रहते हैं। अगर आप ज्यादातर समय काम करते रहते हैं, तो बेहतर है कि बीच-बीच में ब्रेक लें और स्ट्रेच एक्सरसाइज करें या फिर सीढ़ियां चढ़ें। इससे भी आपके स्वास्थ्य को फायदा पहंचेगा। इसी तरह अपने खानपान को भी संतुलित रखें। अपनी डाइट में प्रोटीन और फाइबर की मात्रा बढ़ाएं जबकि कार्बोहाइड्रेट कम करें। इससे आपके शरीर में मौजूद फैट संतुलित होगा।

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए एक्सरसाइज)

जब हो पियर शेप बॉडी 
अगर आप पियर शेप के हैं, तो आपका आकार एप्पल शेप के बिलकुल उलट होगा। आप शरीर के निचलने हिस्से से भारी होते हैं। आपके कूल्हे और शरीर का निचला हिस्सा ऊपरी हिस्से से ज्यादा चौड़ा होता है। इस शेप में वसा कूल्हे, जांघ के इर्द-गिर्द ज्यादा होता है। माना जाता है कि यह शेप एप्पल शेप की तुलना में कम जोखिम भरा है। इस शेप के लोगों में हृदय रोग, स्ट्रोक, डायबिटीज की आशंका कम होती है। हालांकि शरीर के निचले हिस्से में मौजूद वसा की वजह से आपको ऑस्टियोपोरोसिस होने की आशंका बढ़ जाती है। पुरूषों की तुलना में महिलाएं इस शेप की ज्यादा नजर आती हैं। उनमें एस्ट्रोजेन का स्तर ज्यादा होता है जिससे ब्रेस्ट कैंसर के जोखिम बढ़ जाते हैं।

इन उपायों को आजमाएं: 
इस शेप के लोगों को नियमित रनिंग, वाॅकिंग और स्ट्रेंथ ट्रेनिंग करनी चाहिए जिससे मांसपेशियां मजबूत हो सकें। इसी तरह अपनी डाइट में हाई प्रोटीन फूड शामिल करें ताकि वजन संतुलित रह सके। 

कुल मिलाकर कहने की बात ये है कि सबसे पहले अपनी बाॅडी शेप के बारे में जानें। इसके बाद आपके लिए क्या सही है और क्या नहीं, यह जानकर अपनी जीवनशैली में बदलाव करें। यहां बताए गए उपाय आपके लिए निश्चित रूप से कारगर होंगे।

और पढ़ें ...