myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

हम सब पनीर को बहुत पसंद करते हैं और यह भारत में सबसे व्यापक रूप से सेवन किया जाने वाला डेयरी उत्पाद है। पनीर अपने विभिन्न स्वास्थ्य लाभों के लिए जाना जाता है। यह प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है, इसमें कैल्शियम भी पाया जाता है। पर धीरे-धीरे टोफू भी भारतीय रसोई में अपनी जगह बनाते जा रहा है। टोफू को वसा वाले सोयाबीन दूध से बनाया जाता है और पनीर के समान दिखता है। पनीर को बहुत आसानी से घर में दूध से बनाया जा सकता है पर टोफू बनाना उतना आसान नहीं है। टोफू बनाने की परिश्रम प्रक्रिया इसे पोषक तत्वों और प्रोटीन में समृद्ध बनाती है और यह कैंसर जैसे रोगों से प्रभावी ढंग से लड़ने में मदद करता है।

  1. टोफू और पनीर में प्रोटीन की मात्रा - Protein in tofu and paneer in hindi
  2. टोफू और पनीर में वसा की मात्रा - Fat in paneer and tofu in hindi
  3. टोफू और पनीर में कैलोरी की मात्रा - Calories in tofu and paneer in hindi
  4. टोफू और पनीर में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा - Carbohydrates in paneer and tofu in hindi
  5. टोफू और पनीर में कैल्शियम की मात्रा - Paneer a source of calcium in hindi
  6. टोफू और पनीर में आयरन की मात्रा - Tofu a good source of iron in hindi
  7. स्वास्थ्य के लिए क्या अच्छा है टोफू या पनीर - Which is healthier paneer or tofu in hindi
  8. अपने आहार में कैसे शामिल करें टोफू और पनीर को - How to incorporate tofu and paneer in diet in hindi

पनीर में प्रोटीन की मात्रा बहुत अधिक होती है और यह बात आम तौर से सब जानते हैं। 100 ग्राम पनीर में 18.3 ग्राम प्रोटीन होता है। यह शाकाहारियों के लिए प्रोटीन का बहुत अच्छा स्रोत है। यह जो वजन बढ़ाना चाहते हैं और जो वेट ट्रेनिंग (weight training) करते हैं, उनके लिए बहुत अच्छा आहार है। क्योंकि यह मांसपेशियों को बनाने और उनकी संरचना में मदद करता है। वहीँ टोफू में केवल 6.9 ग्राम प्रोटीन पाया जाता है क्योंकि इसे सोया दूध से बनाया जाता है।

(और पढ़ें – प्रोटीन युक्त भारतीय आहार)

100 ग्राम पनीर में 20.8 ग्राम वसा होता है जो टोफू से अधिक है क्योंकि 100 ग्राम टोफू में 2.7 ग्राम वसा पाया जाता है। टोफू दिखने में और स्वाद में बिलकुल पनीर की तरह होता है इसलिए यदि कोई अपना वजन घटा रहा है तो वो पनीर की जगह टोफू का सेवन कर सकता है।

टोफू की तुलना में पनीर में कैलोरी अधिक होता है। 100 ग्राम पनीर के सेवन से आपको 265 कैलोरी मिलती है, वहीं 100 ग्राम टोफू में केवल 62 कैलोरी ही हैं जो वजन घटाने के लिए बहुत अच्छा माना जाता है।

(और पढ़ें - वजन कम करने के घरेलू उपाय)

हालांकि पनीर दूध से बना है इसलिए टोफू की तुलना में पनीर में कम कार्बोहाइड्रेट पाया जाता है। पनीर मधुमेह रोगियों के लिए टोफू की तुलना में अच्छा होता है। 100 ग्राम पनीर में 1.2 ग्राम कार्बोहाइड्रेट की मात्रा होती है, वहीं टोफू में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा पनीर की तुलना में दुगनी होती है।

(और पढ़ें – यह कम कार्बोहाइड्रेट वाला भारतीय भोजन है वजन कम करने में बेहद असरदार)

टोफू भी कैल्शियम का एक समृद्ध स्रोत माना जाता है लेकिन इसमें पनीर की तुलना में कम कैल्शियम होता है। 100 ग्राम पनीर के सेवन से आपको 208 मिलीग्राम कैल्शियम प्राप्त होता है, वहीं 100 ग्राम टोफू के सेवन से 130 मिलीग्राम कैल्शियम प्राप्त होता है।

(और पढ़ें – कैल्शियम युक्त भारतीय आहार)

टोफू आयरन में समृद्ध है जबकि पनीर आयरन की बायोअवेलेबिलिटी (bioavailability) को कम करता है। रक्त में लाल रक्त कोशिकाओं को बनाए रखने के लिए आयरन बहुत आवश्यक होता है। एनीमिया से पीड़ित व्यक्ति को अपने आहार में टोफू को शामिल करना चाहिए

(और पढ़ें – शलगम बेनिफिट्स बचाएँ एनीमिया से)

टोफू और पनीर दोनों की पोषण संबंधी जानकारी से ऐसा लगता है कि वजन घटाने के लिए पनीर की जगह टोफू का सेवन उचित रहेगा। हालांकि पनीर का सेवन भी आपके लिए बहुत जरुरी है क्योंकि इसमें उच्च मात्रा में प्रोटीन और कैल्शियम पाया जाता है। पनीर बिलकुल ही खाना छोड़ना अच्छा नहीं है, अगर चाहें तो इसकी मात्रा कम कर लें। टोफू में कार्बोहाइड्रेट की मात्रा पनीर से अधिक होती है। इसलिए मधुमेह रोगी टोफू की जगह पनीर का सेवन कर सकते हैं। हालांकि ऐसा करने से पहले आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करना उचित होगा।

(और पढ़ें – मधुमेह रोगियों के लिए नाश्ता)

टोफू आजकल बाजार में आसानी से मिल जाता है, आप टोफू स्टिर फ्राई (stir fry) बना सकते हैं। टोफू स्टिर फ्राई बनाने के लिए आप अपनी पसंदीदा सब्जियां भी उपयोग कर सकते हैं। आप अपनी जरूरत के मुताबिक इसमें मसाला और नमक मिला सकते हैं। आप इसमें शिमला मिर्चआलूगाजर आदि भी मिला सकते हैं। जब टोफू का रंग सुनहरा हो जाए तो उसे एक बर्तन में निकाल कर उसके ऊपर कुछ नींबू का रस और धनिया के पत्तों के साथ गार्निश करें। यह बहुत स्वादिष्ट होता है। हालांकि पनीर भारत के घरों में प्रसिद्ध होने के कारण पालक पनीर या मटर पनीर जैसे कई व्यंजन के रूप में उपयोग किया जाता है। पालक पनीर आयरन से समृद्ध और प्रोटीन का अच्छा स्रोत होता है।

(और पढ़ें – क्या KFC या मैकडॉनल्ड्स में कुछ हेल्दी खाया जा सकता है?)

और पढ़ें ...