myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मैस्लो के सिद्धांत के अनुसार सैक्स की ज़रूरत भोजन और पानी के जैसे बुनियादी शारीरिक जरूरत है। यौन जरूरतो की पूर्ति खुश और संतुष्ट जीवन जीने के लिए बहुत जरूरी है। इसकी पूर्ति ना होना व्यक्ति के काम के प्रदर्शन में भी अवरोध उत्पन्न करता है। सैक्स सिर्फ खुशी के लिए ही नहीं है, बल्कि यह अपने साथी को अपना स्नेह दिखाने और प्यार का इज़हार करने का भी एक रास्ता है। लेकिन सैक्स अनुभव को अधिक मनोरंजक बनाने के लिए यौनशक्ति का होना अनिवार्य है। सभी व्यक्ति प्राकृतिक यौनशक्ति के साथ पैदा नही होते हैं या कुछ उम्र बढ़ने के साथ यौनशक्ति को खो देते हैं। यौन जीवन शक्ति मूल रूप से यौन रूप से सक्रिय और मज़बूत होने की स्थिति को कहते हैं। पुरुषों में अपेक्षाकृत अधिक कामेच्छा होती है और वह आम तौर से जल्दी उत्तेजित हो जाते हैं। लेकिन सबका यौन प्रदर्शन एक जैसा नही होता है और कुछ पुरुषों को कई कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। ये बाधा कई कारकों की वजह से हो सकती है -

(और पढ़ें - सेक्स के बारे में जानकारी)

  1. यौनशक्ति कम होने का कारण है बुढ़ापा - Ageing affects sexual vitality
  2. रक्त का कम प्रवाह भी कर सकता है यौन इच्छा को कम - Poor blood flow results in low sex drive
  3. यौनशक्ति को प्रभावित कर सकती हैं कुछ बीमारियाँ - Certain diseases impact sexual vigour
  4. असामान्य यौन क्रोमोज़ोम भी कर सकते हैं यौनशक्ति को प्रभावित - Abnormal sexual chromosomes can affect sexual vitality
  5. यौन शक्ति कम होने का कारण है तनाव - Stress causes low sexual desire and vitality
  6. सेक्स ड्राइव कम होने की ये भी हैं वजहें, आप भी जान लीजिये

बुढ़ापा कम यौन शक्ति और जीवन शक्ति के पीछे का सबसे आम कारण है। महिलाओं की उम्र के साथ उनकी योनि का आकार सिकुड़ता है और योनि दीवारें पतली हो जाती हैं। पुरुषों को इरेक्शन (शिश्न) प्राप्त करने में कठिनाई का सामना करना पड़ता है। यौन हार्मोन के स्तर में भी गिरावट आती है।

(और पढ़ें - बढ़ती उम्र के साथ ये समस्याएं कर सकती हैं परेशान, पुरुष रहें इनसे सावधान)

अवरुद्ध रक्त वाहिकाओं या श्रोणि क्षेत्र या जननांग अंगों में रक्त का कम प्रवाह भी कामेच्छा को कम कर सकता है और जब आप यौन गतिविधियों में लिप्त होते हैं, तब आपको सिहरन उत्तेजना के अनुभव से रोक सकता है। 

(और पढ़ें - पुरुषों के योन (गुप्त) रोग और उनके समाधान)

मधुमेह, मूत्र मार्ग में संक्रमण, स्नायु दुर्बलता, हाई बीपी और यौन विकार जैसे यौन संचारित रोग, शीघ्रपतन, स्तंभन दोष, बढ़ी हुई प्रोस्टेट ग्रंथियाँ आदि की तरह कुछ बीमारियाँ आपके यौन सुख में बाधा के रूप में कार्य कर सकती हैं और गंभीर रूप से आपकी यौन शक्ति और जीवन शक्ति को भी प्रभावित कर सकती हैं। मोटापा भी आपके यौन सुख को कम कर सकता है। 

(और पढ़ें – शीघ्रपतन के कारण)

भ्रूण के प्रजनन अंगों में कोई असामान्यता या प्रसव के दौरान किसी प्रकार का दोष भी यौन समस्याओं का कारण हो सकता है। निषेचन प्रक्रिया (fertilization process) के दौरान असामान्य यौन क्रोमोज़ोम भी यौन विकार के पीछे का कारण हो सकते हैं।

(और पढ़ें - सेक्स पावर कैसे बढ़ाएं और सेक्स करने के तरीके)

तनाव आपके हार्मोन के साथ छेड़छाड़ कर कम यौन शक्ति को उत्पन्न कर सकता है। तनाव जोड़े के बीच एक दरार पैदा कर सकता है जिससे उनमें यौन रुचि कम हो सकती है।

आयुर्वेद सूचित करता है कि एक व्यक्ति त्रिदोष - वात, कफ और पित्त - में से किसी में भी असंतुलन की वजह से अपनी यौन शक्ति खो सकता हैं। यह असंतुलन यौन व्यवहार को बदल देता है और यौन इच्छाओं से संबंधित समस्याओं का कारण बनता है। खराब आहार, शराब या निकोटीन की खपत, व्यायाम की कमी और तनाव दोषों के बीच असंतुलन पैदा कर सकते हैं। आयुर्वेद के अनुसार, यौन गतिविधियों में अधिक लिप्त रहना भी दोषों को बिगाड़ देता है और यौन समस्याओं का कारण बनता है।

कम यौन जीवन शक्ति या यौन शक्ति के खो जाने के कारण निराशा महसूस करने की आवश्यकता नहीं है। उचित निर्धारित औषधि, सही आहार और एक संपूर्ण जीवन शैली अपनाकर आप बहुत अच्छी तरह से इसका इलाज कर सकते हैं।

(और पढ़ें - हली बार सेक्स और सेक्स पोजीशन)

और पढ़ें ...