myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कभी कभी हमारे आसपास के लोग हमारे मन में इतनी उलझने पैद कर देते हैं कि हमारे लिए उन्हें बर्दाश्त करना मुश्किल हो जाता है। कुछ ऐसा ही 24 साल की अदिति के साथ था। अदिति अपने रिश्तेदारों और दोस्तों से स्कूल व कॉलेज के दौरान अपने मोटापे को लेकर बहुत कुछ सुना करती थी। अधिक वजन के साथ-साथ, वो पीसीओएस से भी लड़ रही थी, जिसकी वजह से उनके लिए वजन कम करना और भी ज्यादा मुश्किल हो गया था।

(और पढ़ें - वजन घटाने के उपाय)

आइए इस लेख में जानते हैं कि कैसे अदिति ने अपना 58 किलो वजन कम किया:

आपने वजन घटाने का फैसला कब लिया?

जब मेरा वजन बहुत अधिक था, तो मुझसे बात करने के लिए हर कोई कतराता था। मेरे कोई दोस्त नहीं थे और इसकी वजह से मेरा आत्म विश्वास भी टूट गया था। मेरे अधिक वजन की वजह से हर कोई मेरा मजाक बनाता था। सबसे दुख की बात तब होती थी, जब मेरे रिश्तेदार मेरे मोटापे को देखकर हंसा करते थे। मुझे पीसीओएस भी था जिसकी वजह से वजन कम कर पाना और ज्यादा मुश्किल हो गया था। मैं अपने मोटापे को लेकर बेहद परेशान हो गयी थी और आखिर में मैंने चुनौती लेकर वजन कम करने का फैसला लिया। 

(और पढ़ें - संतुलित आहार चार्ट)

आप क्या खाती थी?

  • मेरा नाश्ता: 
    म्यूस्ली और एक कप दूध
     
  • मेरा दोपहर का खाना: 
    दो रोटी और एक कटोरी सब्जी या एक कटोरी दाल और कुछ चावल।
     
  • मेरा रात का खाना: 
    दो रोटी और एक कटोरी सब्जी या एक कटोरी दाल और कुछ चावल।
     
  • चीट डेस के समय: 
    मैं चीट डेस के दौरान पूरा दिन बाहर का खाना खाने पर विश्वास नहीं करती। मैं एक ही समय अपना पसंदीदा खाना चिली चिकन और फ्राइड राइस खाती थी।
     
  • कम कैलोरी वाला खाना: 
    अंडे की सफेद जर्दी जो बटर में बनाती थी और पालक की स्मूथी बनाकर पीती थी।

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए डाइट टिप्स)

क्या आप वर्कआउट करती थीं?

शरीर के प्रत्येक अंग के लिए मैं रोजाना कार्डियो और वेट ट्रेनिंग मिलाकर व्यायाम किया करती थी और कभी-कभी सिर्फ 10 से 15 मिनट कार्डियो करती थी।

(और पढ़ें - फिट कैसे रहें)

आप इस दौरान कैसे प्रेरित रहीं?

जब भी मुझे महसूस होता था कि मेरी हिम्मत डगमगा रही है, तभी मैं अपनी पुरानी फोटो देख लिया करती थी। पुरानी फोटो देखकर मुझे प्रेरणा मिलती थी और यही सोचती थी कि मैंने अभी तक अपना इतना लक्ष्य तो हासिल कर लिया है, इसलिए मुझे अपनी इस मेहनत को बीच में नहीं छोड़ना है।

(और पढ़ें - पेट कम करने के लिए डाइट चार्ट)

आपने ये कैसे सुनिश्चित किया कि आप कभी अपने लक्ष्य से भटकेंगी नहीं?

प्रोत्साहन एक ऐसी चीज है जिसकी आपको हमेशा जरूरत होती है। तो मैं हमेशा अपने आपको प्रोत्साहित करती थी जिससे मैं अपने लक्ष्य से कहीं भटक न पाऊं।

(और पढ़ें - पेट कम करने के उपाय)

अधिक वजन की वजह से आपके लिए कौन सा हिस्सा सबसे मुश्किल भरा था?

जब लोग आपके ऊपर हँसते हैं और आपका मजाक बनाते हैं तो आपको बहुत दुःख होता है। लेकिन सबसे ज्यादा दुःख तब महसूस होता है जब आपके रिश्तेदार आपके बारें में बातें बनाते हैं। मेरे मोटापे की वजह से मैं लोगों के बीच कम बैठा करती थी।

(और पढ़ें - कमर पतली करने के योगासन)

आप खुद को कुछ सालों में किस आकार में देखना चाहती हैं?

मैं हमेशा फिट और इसी वजन को बनाए रखना चाहती हूं। मैं फिर से उसी आकार में नहीं जाना चाहती।

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए क्या खाएं)

जीवनशैली में बदलाव लाने के लिए आपने क्या-क्या किया?

वजन कम करने के लिए, मैंने पूरी तरह से अपनी जीवनशैली बदली। पहले मैं कुछ भी खा लिया करती थी, लेकिन अब मैं कुछ भी खाने से पहले कैलोरी गिनती हूं क्योंकि मुझे स्वस्थ जीवनशैली की अहमियत पता है।

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए एक्सरसाइज)

आपके लिए सबसे निराशाजनक बात क्या थी?

अधिक परिश्रम करने के बाद भी मेरा वजन उतना ही रहता था। तब मैंने महसूस किया कि रोजाना आपकी बॉडी को बदलाव की जरूरत होती है, इस तरह मैं अपने वर्कआउट रूटीन में रोज बदलाव करती थी। मैंने अपने वर्कआउट में स्विमिंग को भी शामिल किया और इस तरह मुझे अपने में बदलाव दिखने लगे।

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए योग)

वजन घटाने के बाद आपने क्या सीखा?

मैंने वेट लॉस के दौरान ये सीखा कि खुशहाल जीवन जीने के लिए स्वस्थ जीवनशैली को बनाए रखना बेहद जरूरी है।

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट)

--------------

आशा करते हैं कि आपको अदिति के बारे में पढ़ कर प्रेरणा मिली होगी और अब आप अपना वजन घटाने का सफर ज़रूर शुरू करें। 

अगर आपके पास भी अपनी या अपने किसी मित्र, परिवार के सदस्य या परिचित की कोई ऐसी ही प्रेरणा देने वाली कहानी है, तो हमसे ज़रूर शेयर करें। आप अपनी कहानी हमें [email protected] पर ईमेल कर सकते हैं।

और पढ़ें ...