myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

45 साल के टी.वी और फिल्म एक्टर राम कपूर ने 'कसम से', 'बड़े अच्छे लगते हैं', 'क्योंकि सास भी कभी बहू थी' जैसे कई जाने-माने टी.वी सीरियल में काम करके अपनी पहचान बनाई है। आज उन्हें टी.वी ही नहीं फिल्म जगत के लोग भी जानते हैं।

अपने करियर की शुरुआत में राम काफी पतले हुआ करते थे लेकिन समय के साथ उनका वजन काफी बढ़ गया था। आपको 'बड़े अच्छे लगते हैं' के राम कपूर तो याद  ही होंगें जिनकी काफी बड़ी तोंद हुआ करती थी। इस समय अपने वजन को लेकर राम कपूर सोशल मीडिया पर छाए हुए हैं।

इन दिनों राम कपूर की सोशल मीडिया में खूब चर्चा हो रही है। उन्होंने हाल ही में अपना 30 किलो वजन घटाया है। 

(और पढ़ें - क्या है इंटरमिटेंट फास्टिंग)

इन दिनों एक्टर राम कपूर की इंस्टाग्राम पोस्ट देखकर आप उन्हें बिल्कुल पहचान नहीं पाएंगें। उनके इस तरह फैट से फिट होने का राज इंटरमिटेंट फास्टिंग है। जी हां, इंटरमिटेंट फास्टिंग और स्ट्रिक्ट जिम रूटीन की वजह से ही राम कम समय में अपना वजन घटाने में सफल हो पाए हैं।

(और पढ़ें - मोटापा कम करने के लिए डाइट चार्ट)

राम कपूर ने अपनी फिटनेस रूटीन को साझा करते हुए बताया कि वह रोजाना सुबह खाली पेट एक घंटा वेट लिफ्टिंग करते थे और रात को सोने से पहले कुछ कार्डियो एक्सरसाइज करते थे। उन्होंने आगे बताया कि वह आठ घंटे के अंतराल में सीमित मात्रा में भोजन करते थे जबकि बाकी के 16 घंटे तक व्रत रखते थे।

आप भी सोच रहे होंगें कि आखिर कैसे राम कपूर ने इंटरमिटेंट फास्टिंग के ज़रिए 30 किलो वजन घटा लिया। तो आइए जानते हैं इंटरमिटेंट फास्टिंग से जुड़ी कुछ जरूरी बातें।

(और पढ़ें - वजन कम करने के लिए कितना पानी पीना चाहिए)

क्या है इंटरमिटेंट फास्टिंग?

असल में इंटरमिटेंट फास्टिंग भोजन और व्रत रखने का एक चक्र है। इंटरमिटेंट फास्टिंग में दिन के 24 घंटों में से 8 घंटे के भीतर थोड़े-थोड़े समय में आप कुछ खा सकते हैं लेकिन बाकी के 16 घंटे व्रत रखना पड़ता है। इंटरमिटेंट फास्टिंग के कई प्रकार हैं जिनके आधार पर यह तय किया जाता है कि क्या खाना है और किन चीज़ों से दूर रहना है।

16/8 इंटरमिटेंट फास्टिंग

इंटरमिटेंट फास्टिंग में आठ घंटे तक व्यक्ति थोड़ा-थोड़ा भोजन करता है जबकि बाकी के 16 घंटे व्रत रहना होता है। हालांकि, 8 घंटे के दौरान क्या खाना चाहिए, इस बात को लेकर कोई सख्त नियम नहीं है लेकिन इंटरमिटेंट फास्टिंग में पौष्टिक और हैल्दी चीज़ें खाने की सलाह दी जाती है। इस चक्र को सप्ताह में एक या दो बार फाॅलो किया जा सकता है।

वजन कम करने के साथ-साथ यह ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित, मस्तिष्क के कार्यों में सुधार और दीर्घायु बनाता है।

(और पढ़ें - नार्मल ब्लड शुगर लेवल कितना होना चाहिए)

किस तरह फाॅलो करें इंटरमिटेंट फास्टिंग

इंटरमिटेंट फास्टिंग आसान नहीं है क्‍योंकि शरीर को इस प्रक्रिया की आदत डालने में समय लगता है। वैसे भी वजन कम करने में समय, धैर्य और समर्पण की जरूरत होती है। इंटरमिटेंट फास्टिंग को अमल में लाने से पहले यह ध्यान रखें कि एक्टर राम कपूर ने वजन कम करने के लिए अपनी व्यस्त दिनचर्या से समय निकाला था। राम के मुताबिक उन्हें 30 किलो वजन घटाने में 6 माह से साल भर का समय लगा।

इस बात को समझें कि इंटरमिटेंट फास्टिंग से रातों-रात वजन कम नहीं हो सकता है। इससे किसी तरह के चमत्कार की उम्मीद भी न करें। ध्यान रखें कि इस प्रक्रिया के ज़रिए वजन कम करने में समय लगता है। इंटरमिटेंट फास्टिंग करते हुए बीच राह में ही हिम्मत न हारें। देर से ही सही, लेकिन आपको अपनी मनचाही मंजिल जरूर मिलेगी।

तो इस तरह इंटरमिटेंट फास्टिंग की मदद से कभी फैट दिखने वाले राम कपूर फिट एंड हैल्दी बन गए। हालांकि, उनके कुछ फैन्स उनका मजाक उड़ाते हुए कह रहे हैं कि उन्हें पुराना वाला राम कपूर ही ज्यादा पसंद था लेकिन राम अपने इस वेट से काफी खुश हैं।

(और पढ़ें - वजन कम करने के उपाय)

और पढ़ें ...