myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

ब्रा आमतौर पर लड़कियों और महिलाओं द्वारा पहने जाने वाला अंडरगारमेंट है। यह मुख्य रूप से स्तन के ऊतकों को सहारा देने के उद्देश्य से पहना जाता है ताकि उनमें ढीलापन न हों। ब्रा पहनने के अपने फायदे हैं, लेकिन उसके लिए सही साइज की ब्रा पहनना बहुत महत्वपूर्ण है। हालांकि, इस विषय पर हाल के कुछ अध्ययनों में ब्रा पहनने से जुड़े कुछ दिलचस्प तथ्यों पर प्रकाश डाला गया है। जिनके बारे में इस लेख में चर्चा की गयी है।

(और पढ़ें - ब्रा साइज कैसे नापे)

इस लेख में ब्रा पहनने के फायदे, ब्रा पहनने के नुकसान और ब्रा नहीं पहनने के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से बताया गया है।

  1. ब्रा पहनने के फायदे - Bra pahanane ke labh in Hindi
  2. ब्रा पहनने के नुकसान - Bra pahanane ke nukshan in Hindi
  3. ब्रा नहीं पहनने के फायदे - Bra na pahanne ke labh in Hindi
  4. ब्रा न पहनने के नुकसान - Bra na pahanne ke nuksan in Hindi

ब्रा को पहनने के फायदों को लेकर कई तरह के अध्ययन किए गए हैं। ब्रा पहनने के कुछ फायदे निम्नलिखित हैं:

  1. स्तनों को सपोर्ट प्रदान करना: 
    महिलाओं के स्तन वसायुक्त ऊतकों से बने होते हैं। इनमें मांसपेशियां नहीं होती हैं। इसलिए ब्रा को पहनने से स्तनों को सपोर्ट मिलता है और वह नीचे की ओर अनावश्यक लटकते नहीं हैं। स्तनों की त्वचा में नीचे की ओर खिंचाव होने से यह ढीले हो जाते हैं। त्वचा के इस खिचाव से बचने के लिए आपको नियमित ब्रा पहननी चाहिए।
     
  2. शारीरिक मुद्रा (posture) का सही होना: 
    ब्रा पहनने से महिलाओं को शारीरिक मुद्रा सही रखने में मदद मिलती है। सेहतमंद रहने के लिए शारीरिक मुद्रा का सही होना बेदह जरूरी होता है। आपकी खराब शारीरिक मुद्रा आपको सुस्त व बीमार दिखाती है, इससे बचने के लिए आपको ब्रा को पहनना चाहिए। किशोरावस्था में शरीर के विकास के लिए लड़कियों की शारीरिक मुद्रा का सही होना जरूरी माना जाता है। बड़े आकार के स्तनों वाली महिलाओं और लड़कियों के द्वारा ब्रा ना पहनने से पीठ में दर्द की समस्या शुरू हो जाती है। (और पढ़ें - ब्रेस्ट बढ़ाने के घरेलू उपाय)
     
  3. आकर्षक दिखना: 
    स्तनों का सही आकार आपको आकर्षक बनाता है। इससे महिला का पूरा शरीर आकर्षक दिखाई देता है। ब्रा पहनने से महिलाओं के स्तनों के आकार में बदलाव होता है। वह पहले की अपेक्षा अधिक आकर्षक और सुडौल लगते हैं। इसके अलावा सही आकार की ब्रा पहनने से महिलाएं स्तनों के कम आकार होने पर भी उभार ला सकती है।
     
  4. आराम पाने के लिए जरूरी: 
    सही आकार की ब्रा पहनने से महिलाओं को काफी आराम मिलता है। इसके साथ ही यह आपके पसीने को भी सोखने में मदद करती है। कई बार पसीने के कारण महिलाओं को काफी असुविधा होती है। जबकि पसीने के कारण स्तनों में संक्रमण होने की संभावनाएं भी बढ़ जाती है। एक्सरसाइज और अधिक परिश्रम के दौरान आरामदायक ब्रा का ही चयन करना चाहिए, ताकि आपको किसी तरह की असहजता महसूस न हो।
     
  5. महिलाओं का आत्मविश्वास बढ़ता है: 
    कई महिलाएं इस बात को मानती है कि वे ब्रा पहनने के बाद खुद में ज्यादा आत्मविश्वास महसूस करती हैं। कई तरह के अध्ययन भी इस बात को साबित करते हैं। इसलिए ऐसी महिलाओं के लिए ब्रा पहनना जरूरी होता है।

(और पढ़ें - स्तनों को कसने के घरेलू उपाय)

समय-समय पर आपके शरीर में होने वाले बदलाव के कारण आपके स्तनों के आकार में भी परिवर्तन होता रहता है। इसलिए एक ही साइज की ब्रा को पहनने से आपको कई तरह की परेशानियों का भी सामना करना पड़ सकता है, जैसे:

  1. ब्रा से गर्दन, कंधें और पीठ में दर्द: 
    यदि आप गलत साइज की ब्रा पहनती हैं, तो यह आपको आराम देने की बजाय आपकी परेशानी का कारण बन सकती है। टाइट ब्रा पहनने से कई बार महिलाओं की गर्दन, कंधे और पीठ में दर्द होने लगता है। (और पढ़ें - क्या टाइट ब्रा से होता है सीने में दर्द
     
  2. लसिका प्रणाली पर असर होना: 
    एक अध्ययन में पाया गया कि ब्रा पहनने से महिलाओं की लसिका प्रणाली प्रभावित होती है। लसिका प्रणाली शरीर से विषाक्त तत्वों को बाहर निकालने का कार्य करती है। इसके प्रभावित होने से महिलाओं में कैंसर होने की संभावनाएं बढ़ जाती है। 
     
  3. सांस लेने में परेशानी: 
    सही ब्रा न पहनना या टाइट ब्रा पहनने से महिलाओं की हड्डियों और मांसपेशियों पर दबाव पड़ता है। इतना ही नहीं इससे सांस लेने में भी मुश्किल होती है। 
     
  4. त्वचा पर रैशेज होना: 
    कई बार टाइट ब्रा पहने से आपके कंधों पर इसकी रगड़ से रैशेज हो जाते हैं। रैशेज के कारण महिलाओं के कंधों पर जलन होने लगती है। (और पढ़ें - ब्रेस्ट में खुजली के कारण)

ब्रा पहनने के फायदों और नुकसान के बारे में जानने के बाद आइए एक नजर डालते हैं कि ब्रा न पहनने के फायदे और नुकसान के विषय पर नवीनतम शोध क्या कह रहे हैं। अमेरिका में एक प्रसिद्ध मेडिकल सेंटर के प्लास्टिक सर्जन द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार, कम उम्र की महिलाओं में, ब्रा नहीं पहनने से स्तनों के विकास में सुधार हो सकता है और यह स्तनों के उभार में भी मदद कर सकता है। 

(और पढ़ें - ब्रेस्ट से जुड़ें सच और मिथक)

अध्ययन में बताया गया है कि कम उम्र की महिलाओं या लड़कियों में ब्रा नहीं पहनने से कोलेजन का उत्पादन बढ़ सकता है और स्तनों की प्राकृतिक लोच भी बढ़ सकती है, जिससे विकसित हो रहे स्तनों के उठाव में सुधार हो सकता है। ब्रा न पहनने के कारण स्नायुबंधन और संयोजी ऊतकों में होने वाला तनाव वास्तव में बढ़ती उम्र की लड़कियों में स्तनों का ढीलापन रोकने के लिए फायदेमंद हो सकता है।

इसी अध्ययन में यह भी बताया गया है कि ब्रा नहीं पहनने का प्रभाव वृद्ध और गर्भवती महिलाओं के मामले में समान नहीं है, क्योंकि बड़ी उम्र की महिलाओं के स्तनों में कोलेजन की मात्रा पहले से कम होती है और सहायक ऊतक जवान लड़कियों की तुलना में पहले से ही कमजोर होते हैं। इसलिए ब्रा उन ऊतकों को आवश्यक सहारा प्रदान कर सकती है, जो उम्र के कारण ढीले हो गए हैं। इससे स्तनों के उचित आकार को बनाए रखने और झुकाव को रोकने में मदद मिलती है।

(और पढ़ें - ब्रैस्ट की देखभाल कैसे करें)

क्या ब्रा न पहनने के कोई नुकसान होते हैं? इसका सबसे आसान उत्तर है, नहीं। ब्रा नहीं पहनने से कोई नुकसान नहीं होते हैं। तो फिर, हम महिलाएं ब्रा क्यों पहनती हैं? हम में से अधिकांश महिलाओं के लिए सच्चाई सिर्फ यही है कि हमने सबसे पहले ब्रा पहनना शुरू किया था, जब हमारी माँ ने हमें ऐसा करने के लिए कहा। हम में से अधिकांश उन्हें पहनने के लिए कर्तव्य-बोध महसूस करती हैं। जबकि वास्तव में, ब्रा पहनने का निर्णय हमारे आराम और बेहतर दिखने तथा महसूस करने से जुड़ा एक व्यक्तिगत विकल्प होना चाहिए।

इसलिए, यहाँ हम ब्रा पहनने के कुछ सही कारण बता रहें हैं, जब ब्रा पहनना ठीक है। आप ब्रा पहन सकती हैं, यदि:

  • आपको उनसे अलग अलग कपड़ों में शरीर को मिलने वाला आकार और लुक पसंद हैं।
  • एक निश्चित उम्र के बाद, लड़कियों को गुरुत्वाकर्षण से लड़ने और ढीलेपन से बचने के लिए अगर ब्रा के सहारे की आवश्यकता है। (और पढ़ें - ब्रैस्ट टाइट करने के उपाय)
  • सही ब्रा का सहारा लेने का मतलब है कि दिन भर की भारी गतिविधि (खेल, आसपास घूमना या घर के बाहर जाना) के बाद कोई पीठ दर्द या स्तनों में दर्द न होना।
  • भले ही आपका टॉप खिसक जाए या नेकलाइन स्लिप हो जाए, किसी भी वॉर्डरोब मालफंक्शन से बचाने के लिए आपकी ब्रा वहां हो।
  • हम में से कुछ महिलाओं के निपल्स संवेदनशील होते हैं और एक पैडेड ब्रा हमें असहज क्षणों से बचाने में मदद करती है।
  • आप अपने कपड़ों और जूतों के संग्रह के साथ-साथ लिंगरी के संग्रह के अनुभव का आनंद लेना चाहती हैं।

निम्नलिखित स्थितियों में ब्रा न पहने:

  • रात में, क्योंकि सोते समय कुछ घंटों के लिए अपनी छाती को मुक्त छोड़ना आरामदायक होता है। यदि आप सुडौल हैं और आपके स्तन नींद में परेशानी बनते हैं, तो आप घर पर पहनने वाली ब्रा का उपयोग करने के बारे में सोच सकती हैं। ये बिना रक्त-प्रवाह को बाधित किए या बिना किसी असुविधा के सोते समय आपके स्तनों को सहारा देती है। (और पढ़ें - क्या रात को सोते समय ब्रा पहननी चाहिए या नहीं)
  • यदि आप अकेली रहती हैं या उन लोगों के साथ हैं, जिनके साथ आप सहज महसूस करती हैं तथा पूरे दिन आराम करते हुए बिता रही है। फिर से, यदि आप पूरी तरह से ब्रा को छोड़ने से शर्माती हैं, तो घर पर पहनने वाली ब्रा एक अच्छा विकल्प है। 
  • अगर आपका मन खुद को ब्रा-हॉलिडे देने का करता है।
  • यदि यह सर्दी का मौसम है और आप वैसे भी मोटी वूलन जैकेट में लिपटी हुई हैं।

अंत में चुनाव पूरी तरह से आपका है। आप क्या पहना चाहती है और क्या नहीं इसके बारे में किसी अन्य को आपकी पसंद को परिभाषित न करने दें।

और पढ़ें ...