myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

एनीमिया एक ऐसी बीमारी है जो खून में मौजूद लाल रक्त कोशिकाओं और हीमोग्लोबिन को प्रभावित करती है। हीमोग्लोबिन, लाल रक्त कोशिकाओं में मौजूद वह प्रोटीन है जो फेफड़ों से ऑक्सीजन को लेकर शरीर के सभी अंगों और ऊत्तकों तक उसे पहुंचाने का काम करता है। एनीमिया होने का सबसे सामान्य कारण शरीर में आयरन की कमी है और शरीर को आयरन की जरूरत होती है हीमोग्लोबिन का निर्माण करने के लिए। अब जब शरीर में हीमोग्लोबिन की कमी हो जाएगी तो शरीर को पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं मिल पाएगा। 

(और पढ़ें - हीमोग्लोबिन बढ़ाने के घरेलू उपाय और आहार)

एनीमिया को आमतौर पर एक सामान्य समस्या माना जाता है और भारत में हर साल एनीमिया के करीब 1 करोड़ मामले सामने आते हैं। वैसे तो एनीमिया होने के कई कारण हैं जैसे- खून की कमी, लाल रक्त कोशिकाओं का दोषपूर्ण होना, बोनमैरो और स्टेम सेल में समस्याएं, हॉर्मोन की कमी आदि। इसके अलावा एनीमिया होने का एक और कारण हेवी पीरियड्स यानी मासिक धर्म के दौरान बहुत ज्यादा रक्तस्त्राव होना भी है।

(और पढ़ें - मासिक धर्म में दर्द)

तो क्या मासिक धर्म के दौरान बहुत ज्यादा ब्लीडिंग होने की वजह से एनीमिया की समस्या हो सकती है, अगर हां तो इसका इलाज क्या हो सकता है, इन सबके बारे में हम आपको इस आर्टिकल में बता रहे हैं।

हेवी पीरियड्स और एनीमिया के बीच लिंक?
मासिक धर्म के दौरान अत्यधिक रक्तस्त्राव होना जिसे मेनोरेजिया भी कहते हैं अमेरिका में हर 5 में से 1 महिला को प्रभावित करता है। दरअसल, मासिक धर्म के दौरान जब शरीर से बहुत ज्यादा खून की हानि होने लगती है तो हो सकता है कि इस दौरान शरीर जितने लाल रक्त कोशिकाओं का निर्माण कर सकता है आप उससे ज्यादा लाल रक्त कोशिकाओं को खोने लगें। नतीजतन, शरीर को हीमोग्लोबिन बनाने में मुश्किल आने लगती है जिससे शरीर के विभिन्न हिस्सों में पर्याप्त ऑक्सीजन नहीं पहुंच पाता।

(और पढ़ें - मासिक धर्म में देरी, कारण, लक्षण)

हालांकि मेनोरेजिया या अत्यधिक पीरियड्स ब्लीडिंग की वजह से एनीमिया होने का खतरा कई बातों पर निर्भर करता है जिसमें आपकी ओवरऑल सेहत और डाइट भी शामिल है। अगर आपके खून में आयरन और हीमोग्लोबिन दोनों की ही कमी है तो आपको खुद में निम्नलिखित लक्षण दिखेंगे:

मासिक धर्म में हेवी ब्लीडिंग क्यों होती है?
शरीर में हार्मोन्स खासकर प्रोजेस्टेरॉन और एस्ट्रोजेन के लेवल में असंतुलन की वजह से मासिक धर्म में बहुत अधिक ब्लीडिंग की समस्या होने लगती है। इसके अलावा भी कई कारण हैं, जैसे-

हेवी पीरियड्स की वजह से होने वाले एनीमिया का इलाज
मासिक धर्म के दौरान बहुत अधिक ब्लीडिंग होने की वजह से जो एनीमिया की समस्या होती है उसका इलाज उसके कारण पर निर्भर करता है। तुरंत अपने डॉक्टर से संपर्क करें और वे आपको हार्मोनल बर्थ कंट्रोल गोलियां या फिर आयरन सप्लिमेंट्स दे सकते हैं और साथ ही में आयरन से भरपूर चीजें भी खाने की सलाह दे सकते हैं। इसके अलावा कुछ गंभीर मामलों में सर्जरी करवाने की भी जरूरत पड़ सकती है। 

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ