myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

Divya Madhunashini Vati

उत्पादक: Patanjali Ayurved Limited

सामग्री / साल्ट:

रखने का तरीका: सामान्य तापमान में रखें

136 लोगों ने इसको हाल ही में खरीदा

Divya Madhunashini Vati

उत्पादक: Patanjali Ayurved Limited

सामग्री / साल्ट:

रखने का तरीका: सामान्य तापमान में रखें

136 लोगों ने इसको हाल ही में खरीदा

₹147.0 ₹210.0
30% छूट

120 Vati/Bati in 1 Strip

दवा उपलब्ध नहीं है

136 लोगों ने इसको हाल ही में खरीदा

cashback
cashback
पर्चा अपलोड करके आर्डर करें

تحميل وصفة طبية والنظام ما هي الوصفة الطبية الصالحة؟ الوصفات الطبية الخاصة بك التي تم تحميلها

क्या आप इस प्रोडक्ट के विक्रेता हैं? हमारे साथ जुड़े

[Medicine] معلومات

दिव्य मधुनाशिनी वटी रक्त में ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करने के लिए एक उपयुक्त जड़ी बूटी उपचार है। यह खाद्य पदार्थों में से मिठाई या चीनी के लिए लालसा कम करने में मदद करता है। यह एक सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा है जो रक्त में से शर्करा के स्तर को कम करने में मदद करती है और इसलिए मधुमेह की समस्या को काफी कुशलता से नियंत्रित करती है। यह शरीर में पूर्ण अवशोषण और मधुमेह में शर्करा की मात्रा के उपयोग में मदद करता है जो स्वाभाविक रूप से मधुमेह को नियंत्रण में रखता है। इस दवा के नियमित उपयोग से पूरे स्वास्थ्य में सुधार होता है और तत्रिकाओ , रक्त वाहनियो, आँखो और गुर्दो की सुरक्षा होती है।

  1. [Medicine] के लाभ - Divya Madhunashini Vati Benefits Arabic - Divya Madhunashini Vati ke labh
  2. [Medicine] की खुराक - Divya Madhunashini Vati Dosage in Arabic - Divya Madhunashini Vati ki khurak
  3. Divya Madhunashini Vati تحذيرات ذات صلة - Divya Madhunashini Vati Related Warnings in Arabic - Divya Madhunashini Vati se sabmandhit chetavni
  4. [Medicine] कैसे खाएं - Divya Madhunashini Vati How to take in Arabic - Divya Madhunashini Vati कैसे खाएं

[محتويات [الدوا - Divya Madhunashini Vati Active Ingredients in Arabic - Divya Madhunashini Vati ki samagri

गोखरू
  • ऐसा पदार्थ जिसमें यौन इच्छा को तीव्र करने की क्षमता होती है।

आंवला
  • ये एजेंट प्रतिरक्षा प्रणाली पर प्रभाव डालते हैं और प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्यों को बदलने में मदद करते हैं।

अश्वगंधा
  • चोट लगने के बाद सूजन को कम करने वाली दवाएं।

  • ये तत्व यौन इच्छा को बढ़ाते हैं।

  • ऐसे पदार्थ जो प्रतिरक्षा प्रणाली के कार्य को उत्तेजित करके या कम करके उसे ठीक करता है।

बेल
  • ये दवाएं ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद करती हैं।

  • चोट लगने के बाद सूजन को कम करने वाली दवाएं।

  • मल को मुलायम करके मलत्याग को आसान बनाने वाली दवाएं।

गिलोय
  • वह एजेंट या दवा जो ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रित कर डायबिटीज़ से बचने या इसके इलाज में इस्तेमाल की जाती है।

हल्दी
  • ये दवाएं ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद करती हैं।

  • चोट या संक्रमण के कारण होने वाली सूजन को कम करने वाली दवाएं।

हरीतकी (हरड़)
  • दवाएं जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करके डायबिटीज का इलाज करती हैं।

जायफल
  • ये दवाएं ब्लड शुगर के स्तर को नियंत्रित रखने में मदद करती हैं।

  • ये दवाएं चोट के कारण होने वाली सूजन को कम करती हैं।

  • ये एजेंट मुक्त कणों को साफ करके ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने में मदद करते हैं।

मेंथी
  • खून में ग्लूकोज़ के स्तर को कम करने वाली दवाएं जो डायबिटीज के इलाज में भी उपयोग होती हैं।

  • चोट या संक्रमण के कारण होने वाली सूजन को कम करने वाली दवाएं।

  • वो तत्व जो जीवित कोशिकाओं में मुक्त कणों के ऑक्सीकरण के प्रभाव को रोकता है।

  • पेट की गैस या पट फूलने की समस्या को कम करने वाले एजेंट।

  • बच्चे को दूध पिलाने वाली महिलाओं में दूध का अधिक स्त्राव करने वाले एजेंट।

  • वे दवाएं जो लिवर को संक्रमण से बचाने और उसे बेहतर तरीके से कार्य करने में मदद करती हैं।

नीम
  • ये दवाएं चोट के कारण होने वाली सूजन को कम करती हैं।

बहेड़ा
  • ऐसे एजेंट जो डायरिया के लक्षणों को रोकते हैं और उनसे राहत दिलाते हैं।

  • वो तत्व जो जीवित कोशिकाओं में मुक्त कणों के ऑक्सीकरण के प्रभाव को रोकता है।

  • प्रतिरक्षा प्रणाली को ठीक करने वाले पदार्थ।

करेला
  • ये दवाएं गर्भपात का कारण बन सकती हैं।

गुड़मार
  • दवाएं जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करके डायबिटीज का इलाज करती हैं।

जामुन
  • वह एजेंट या दवा जो ब्‍लड शुगर लेवल को नियंत्रित कर डायबिटीज़ से बचने या इसके इलाज में इस्तेमाल की जाती है।

  • वे घटक जिनका इस्‍तेमाल फ्री रेडिकल्‍स की सक्रियता को कम करने और ऑक्‍सीडेटिव स्‍ट्रेस (मुक्त कणों के बनने और उनके शरीर के प्रति हानिकरक प्रभाव को न रोक पाने के बीच का असंतुलन) को रोकने के लिए किया जाता है।

शिलाजीत
  • ये एजेंट शरीर में होमियोस्टैसिस (किसी अंग या प्रणाली के असामान्य कार्य को ठीक करने के लिए शरीर की प्राकृतिक प्रक्रिया) की स्थिति को बनाए रखने में मदद करते हैं तथा तनाव और कमजोरी के दौरान शरीर के कार्यों को सुचारु रूप से चलाते हैं।

  • चोट या संक्रमण के कारण होने वाली सूजन को कम करने वाली दवाएं।

  • ये एजेंट मुक्त कणों को साफ करके ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने में मदद करते हैं।

चिरायता
  • ये दवाएं चोट के कारण होने वाली सूजन को कम करती हैं।

  • बुखार के उपचार में उपयोग किए जाने वाले एजेंट।

  • वो दवा जो रक्त में ग्लूकोज की मात्रा को कम करने में इस्तेमाल की जाती है। इस तरह यह दवा डायबिटीज के इलाज में उपयोगी है।

बंग भस्म (वंग भस्म)
  • वे दवाएं जो प्रतिरक्षा प्रणाली पर काम कर इम्‍यून की प्रतिक्रिया में सुधार लाती हैं।

लौह भस्म
  • ऐसे घटक जो हीमोग्लोबिन और लाल रक्त कोशिकाओं को बढ़ाते हैं और एनीमिया का इलाज करते हैं।

बबूल
  • वे घटक जिनका इस्‍तेमाल फ्री रेडिकल्‍स की सक्रियता को कम करने और ऑक्‍सीडेटिव स्‍ट्रेस (मुक्त कणों के बनने और उनके शरीर के प्रति हानिकरक प्रभाव को न रोक पाने के बीच का असंतुलन) को रोकने के लिए किया जाता है।

  • डायबिटीज़ को नियंत्रित करने के लिए ब्‍लड शुगर लेवल कम करने में मदद करने वाली दवाएं।

अतीस
  • दवाइयां जो बिना बेहोशी के दर्द को कम करती हैं।

  • वे घटक जिनका इस्‍तेमाल फ्री रेडिकल्‍स की सक्रियता को कम करने और ऑक्‍सीडेटिव स्‍ट्रेस (मुक्त कणों के बनने और उनके शरीर के प्रति हानिकरक प्रभाव को न रोक पाने के बीच का असंतुलन) को रोकने के लिए किया जाता है।

  • ऐसा पदार्थ जो पेट और आंतों से अतिरिक्त गैस को खत्म करता है।

  • पदार्थ या दवा जो लिवर के सामान्य कार्य की रक्षा करने में फायदेमंद है।

[Medicine] के लाभ - Divya Madhunashini Vati Benefits in Arabic - Divya Madhunashini Vati ke labh aur upyog karne ka tarika

Divya Madhunashini Vati يستخدم لعلاج ما يلي

  1. शुगर मुख्य (और पढ़ें - शुगर कम करने के घरेलू उपाय)
  2. इम्यूनिटी बढ़ाना मुख्य
  3. वायरल फीवर
  4. वायरल इन्फेक्शन
  5. डेंगू (और पढ़ें - डेंगू के घरेलू उपाय)
  6. सर्दी जुकाम
  7. मोटापा (और पढ़ें - मोटापा घटाने के घरेलू उपाय)
  8. एंटीऑक्सीडेंट मुख्य
  9. आंखों की बीमारी

[Medicine] की खुराक - Divya Madhunashini Vati Dosage in Arabic - Divya Madhunashini Vati ki khurak

दवाई की मात्र देखने के लिए लॉग इन करें

Divya Madhunashini Vati الآثار الجانبية (تأثيرات مؤذية) - Divya Madhunashini Vati Side Effects in Arabic - Divya Madhunashini Vati ke nuksan, dush prabhav aur side effects

चिकित्सा साहित्य में [Medicine] के दुष्प्रभावों के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है। हालांकि, [Medicine] का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह-मशविरा जरूर करें।

Divya Madhunashini Vati تحذيرات ذات صلة

  • هل Divya Madhunashini Vati استعمال أن يكون مناسبًا للحوامل अज्ञात

  • هل يستخدم [الدواء] للمرأة الحامل؟ अज्ञात

  • [Medicine] का पेट पर क्या असर होता है? सुरक्षित

  • क्या [Medicine] का उपयोग बच्चों के लिए ठीक है? अनुचित

  • क्या [Medicine] का उपयोग शराब का सेवन करने वालों के लिए सही है अज्ञात

  • क्या [Medicine] शरीर को सुस्त तो नहीं कर देती है? नहीं

  • क्या [Medicine] का उपयोग करने से आदत तो नहीं लग जाती है? नहीं

[Medicine] कैसे खाएं - Divya Madhunashini Vati How to take in Arabic - Divya Madhunashini Vati कैसे खाएं

आप [Medicine] को निम्नलिखित के साथ ले सकते है:

  • क्या [Medicine] को दूध के साथ ले सकते है?
  • क्या [Medicine] को गुनगुना पानी के साथ ले सकते है?

Divya Madhunashini Vati السعر وحزمة الحجم - Divya Madhunashini Vati Price and Pack Size in Arabic - Divya Madhunashini Vati ki kimat aur pack size

Divya Madhunashini Vati

दवा उपलब्ध नहीं है

This medicine data has been created by -
Dr. Braj Bhushan Ojha
BAMS, Gastroenterology, Dermatology, Psychiatry, Ayurveda, Sexology, Diabetology
10 वर्षों का अनुभव

संदर्भ

  1. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 5-8
  2. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 35-36
  3. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 53-55
  4. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 60-61
  5. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 62-63
  6. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 69-70
  7. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 2. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1999: Page No - 114 - 115
  8. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 2. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1999: Page No - 131 - 135
  9. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 33 - 34
  10. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 33 - 34
  11. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 2. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1999: Page No 57 - 60
  12. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 98-100
  13. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 29-30
  14. Ministry of Health and Family Welfare. Department of Ayush: Government of India. [link]. Volume 1. Ghaziabad, India: Pharmacopoeia Commission for Indian Medicine & Homoeopathy; 1986: Page No 27-28
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ