myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

Patanjali Dashmularistha

उत्पादक: Patanjali Ayurved Limited

6 लोगों ने इस दवा को हाल ही में खरीदा

Patanjali Dashmularistha

उत्पादक: Patanjali Ayurved Limited

6 लोगों ने इस दवा को हाल ही में खरीदा

Patanjali Dashmularistha के प्रकार चुनें

₹105.0

लिक्विड Pack Size: 450 ML

6 लोगों ने इस दवा को हाल में खरीदा

cashback
cashback
cashback
पर्चा अपलोड करके आर्डर करें

पर्चा अपलोड करके आर्डर करें वैध पर्चा कैसा होता है ?

Patanjali Dashmularistha का पैक साइज, कीमत - Patanjali Dashmularistha Price and Pack Size in Hindi

Patanjali Dashmularistha ₹105.0 दवा खरीदें

Patanjali Dashmularistha की जानकारी

दशमूलारिष्ट आयुर्वेद में एक बहुत ही जानी-मानी दवा है। इसमें दशमूल के साथ अन्य बहुत सी जड़ी बूटियों का संयोजन है।

पतंजलि दशमूलारिष्ट का प्रयोग एक टॉनिक के रूप में तथा बहुत से रोगों के उपचार में किया जाता है। यह दवा विशेष रूप से वात रोगों और कफ रोगों के लिए बहुत ही फायदेमंद दवा है। वात रोग जैसे की जोड़ों का दर्द, गठिया, सूजन, ऐंठन, हिचकी, पीठ की जकढन, थकावट, रुक्षता, आदि। दशमूलारिष्ट सब प्रकार की रोग में लाभकारी है। कफ रोग बुखार, खांसी, गैस, उलटी, भूख की कमी, भारीपन, जोड़ों की कमजोरी, अधिक बलगम आदि। दशमूलारिष्ट स्त्रीरोगों के उपचार में लाभदायक है। सभी स्त्रीरोग वात दोष की ख़राबी से उत्पन्न होते हैं और दशमूल, वात रोगों की सबसे अच्छी दवा है। यह सूजन को कम करता है और शरीर का पोषण करता है। दशमूलारिष्ट सूतिका रोग की बहुत अच्छी दवा है। यह एक टॉनिक है जो शरीर की कमजोरी को दूर कर भूख बढाती है। इसके सेवन से बुखार, खांसी, थकावट दूर होते हैं। यह प्रसव के बाद महिलाओं में हुई कमी को पूरा करने में मदद करता है, पोस्ट-डिलीवरी कमजोरी को दूर करता है, गर्भाशय को सामान्य आकार में लाने में मदद करता है।

Patanjali Dashmularistha के लाभ और उपयोग करने का तरीका - Patanjali Dashmularistha Benefits & Uses in Hindi

Patanjali Dashmularistha इन बिमारियों के इलाज में काम आती है -

Patanjali Dashmularistha की खुराक और इस्तेमाल करने का तरीका - Patanjali Dashmularistha Dosage & How to Take in Hindi

12 से 24 मिलीलीटर दिन में दो बार बराबर पानी में मिलाकर भोजन के बाद लें। इसका प्रयोग कई महीनो तक किया जाता है।

Patanjali Dashmularistha की सामग्री - Patanjali Dashmularistha Active Ingredients in Hindi

Patanjali Dashmularistha के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न - Frequently asked Questions about Patanjali Dashmularistha in Hindi

  1. अपनी हालत में सुधार लाने के लिए मुझे पतंजलि दशमूलारिष्ट का उपयोग कितने समय तक करना चाहिए?
    हमारे उपयोगकर्ताओं के अनुसार स्थिति में सुधार लाने के लिए पतंजलि दशमूलारिष्ट का इस्तेमाल दो हफ्तों के लिए करना ज़रूरी है। पर आपकी ज़रूरत फरक हो सकती है तो अवधि भी फरक हो सकती है जो एक डॉक्टर की सलाह से ही पता चल सकती है।

  2. पतंजलि दशमूलारिष्ट को दिन में कितनी बार लेने की आवश्यकता है?
    हमारे उपयोगकर्ता बताते हैं कि पतंजलि दशमूलारिष्ट एक दिन में दो बार लेनी चाहिए। परंतु हर व्यक्ति को अपनी ज़रूरत के हिसाब से डॉक्टर से परामर्श के बाद ही पतंजलि दशमूलारिष्ट कितनी बार लेनी है तैय करना चाहिए।

  3. पतंजलि दशमूलारिष्ट को खाली पेट लेना चाहिए या भोजन से पहले या भोजन के बाद?
    भोजन के बाद पतंजलि दशमूलारिष्ट को लेना ज़यादा उचित माना जाता है। हर व्यक्ति की ज़रूरत फरक होती है, तो अपने डॉक्टर से पनी स्थिति के बारे में परमर्शक करें पतंजलि दशमूलारिष्ट लेने से पहले।

  4. क्या यह दवा आदत या लत बन सकती है?
    अधिकांश दवाएं आदत या लत नहीं बनती हैं। भारत सरकार ने ऐसी दवाओं को अनुसूची H या X में शामिल कर दिया है, जो की नियंत्रित पदार्थों की सूची है। डॉक्टर की सलाह के बिना कोई दवाई ना लें।

  5. क्या पतंजलि दशमूलारिष्ट को लेना एकदम से रोका जा सकता है या इसे धीरे धीरे लेना रोकना चाहिए?
    कई दवाइयों को अचानक लेना बंद कर दें तो विपरीत असर हो सकता है। पतंजलि दशमूलारिष्ट शुरू या बंद करने से पहले डॉक्टर से सलाह ज़रूर करें।

  6. क्या पतंजलि दशमूलारिष्ट का उपयोग गर्भवती महिला के लिए ठीक है?
    हर महिला की स्थिति अलग होती है, इसलिए डॉक्टर से पूछें पतंजलि दशमूलारिष्ट को लेने से पहले।

  7. क्या पतंजलि दशमूलारिष्ट का उपयोग स्तनपान की अवधि के दौरान सुरक्षित है?
    इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए कृपया अपने डॉक्टर से बात करें।

विशेष विवरण

Weight 500 Gm
Number of Contents in Sales Package 500 Gm

क्या आप या आपके परिवार में कोई Patanjali Dashmularistha लेता है ? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें