प्राकृतिक घरेलू उपचार ऐसे इलाज हैं जो घर में आसानी से उपलब्ध वस्तुओं से तैयार होते हैं, जैसे कि फल, सब्जियां, घास, मसालों और जड़ी बूटियों इत्यादी से। ये पदार्थ ऐसी चीजें हैं जो आम तौर पर रोज़ाना हमारे सामने आती हैं।

आम बीमारियों से निपटने के लिए इस प्रकार के उपचार हमारी रसोई में उपलब्ध वस्तुओं से तैयार करना आसान है। ऐसी वस्तुओं के कुछ सामान्य उदाहरण हैं - ऐप्पल का सिरका, लहसुन, दही, एलो वेरा, बोरिक एसिड, फोलिक एसिड, टमाटर, कच्चे प्याज, चाय के पेड़ का तेल, बादाम, दालचीनी, नींबू का रस, नट्स, अंडे, हल्दी, हरी चाय, बेकिंग सोडा, प्राकृतिक शहद इत्यादि।

घरेलू उपचार का उपयोग किसके लिए किया जाता है?

घरेलू उपचारों की एक आम विशेषता यह है कि आमतौर पर उन्हें एक सामान्य व्यक्ति द्वारा भी उपयोग किया जा सकता है। इसके लिए किसी विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं होती हैं, बशर्ते उपयोग की उचित विधि का ज्ञान प्राप्त किया गया हो।

उपचार की विधि के लिए आपको कोई रॉकेट साइंस पढ़ने की जरुरत नहीं हैं, आपको जो बीमारी ठीक करनी है उसका उपचार इस वेबसाइट पर उपलब्ध विस्तृत घरेलू उपचार शृंखला में देखिए और उसका इस्तेमाल कीजिए।

यह सुविधा आपको अद्वितीय और आनंददायक लगती है क्योंकि आप अपने आप को ठीक करने में सक्षम हैं। इनमें कुछ औषधीय गुण हैं इसलिए इनका सामान्य बीमारियों के उपचार में इस्तेमाल किया हैं।

कुछ सामान्य बीमारियों का इलाज किया जा सकता है जैसे - मुँहासे और अन्य त्वचा की स्थितियाँ जैसे खुजली और दाद, रूसी, बालों का झड़ना, यीस्ट संक्रमण, सिरदर्द, पेट दर्द, बुखार, श्वसन संक्रमण जैसे कि आम सर्दी और फ्लू, गठिया, कब्ज, अवसाद, मोटापा, दस्त आदि।

घरेलू उपचार किस प्रकार अपना कार्य करते हैं?

अधिकांश घरेलू उपचार में निहित सामग्री विभिन्न तरीकों से जीवों के कारण होने वाले रोगों का निवारण करती है जैसे कि :-

  1. ये उपचार सूक्ष्म जीवों को मारते हैं या इनके गुणन को रोकते हैं।
  2. वे महत्वपूर्ण प्रक्रियाओं को ब्लॉक या उनमें हस्तक्षेप करते हैं, जो सूक्ष्मजीवों के अस्तित्व को जन्म दे सकती हैं उदाहरण के लिए, वे कवक में सेल दीवार के निर्माण को रोक देते हैं जिससे यीस्ट संक्रमण हो सकता है।
  3. वे सूक्ष्म जीवों के जीवित रहने के लिए अनुकूल वातावरण नहीं बनने देते हैं।
  4. वे प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करके भी शरीर को सूक्ष्म जीवों से लड़ने में सक्षम बनाते हैं।

घरेलू उपचार के फायदे

हाल के दिनों में, विशेष रूप से इंटरनेट के आ जाने से, प्राकृतिक उपचार अधिक आसानी से घर बैठे उपलब्ध तथा लोकप्रिय हो गए हैं। घरेलू उपचार के कई फायदे हैं, इसी कारण सदियों से हमारी दादी नानी के नुस्खों के रूप में ये घरेलू एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी तक पहुंचते रहे हैं। कुछ प्रमुख फायदे निम्नलिखित हैं :-

  1. घरेलू उपचार का प्रयोग करना और तैयार करना सरल है। किसी विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं है। कोई भी उन्हें तैयार कर सकता है और प्रभावी ढंग से उनका उपयोग कर सकता है।
  2. घरेलू उपचार के कम दुष्प्रभाव हैं और यदि हैं भी तो ये बहुत हल्के होते हैं।
  3. घरेलू उपचार सामान्यतया कोई ऐसा रसायन नहीं होता जो शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है।
  4. घरेलू उपचार सस्ते और आसानी से मिलते हैं। वे किसी के किचन, खेत में या सस्ती दरों पर आसानी से बाजार से लें सकते हैं।
  5. कई बीमारियों में घरेलू उपचार अधिक प्रभावी होते हैं।
  6. एक ही घरेलू उपचार का कई प्रकार की बीमारियों के इलाज के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।


आंखों के काले घेरे हटाने के ...

सम्पादकीय विभाग

शेयर करें

तिल हटाने के तरीके और घरेलू ...

सम्पादकीय विभाग

शेयर करें

मोतियाबिंद (सफेद मोतिया) के ...

सम्पादकीय विभाग

शेयर करें

टीबी के घरेलू उपाय

सम्पादकीय विभाग

शेयर करें

पेचिश के घरेलू उपाय

सम्पादकीय विभाग

शेयर करें

हर्निया का घरेलू उपाय

सम्पादकीय विभाग

शेयर करें
• 3 महीना

mere bal jhad rahe h
kaun sa oil use karu
kaun sa shampoo ya fir kuchh aur
aap hi kuchh bataye.

• 3 महीना

प्रमोद कुमार जी, बालों के लिए घरेलू नुस्खें ज़्यादा लाभदायक होते हैं। इसलिए आप ये नुस्खा अपना कर देखिए बहुत जल्द बाल टूटने बंद हो जाएंगे।
आप आंवला और मेथी को पीस कर, दोनों को मिलाकर एक पाउडर बना लें और रात को एक लोहे के बर्तन में 2 से 3 चम्मच भिगो दें। सुबह इससे बाल धोएं एक से दो महीने में आपको फर्क महसूस होने लगेगा। और आप इसके अलावा सुबह उठ कर रोज़ाना शीर्षासन भी कर सकते हैं, इससे हमारे सिर में रक्त प्रवाह अच्छा होता है, जिससे बालों का झड़ना कम होता है। इसके अलावा बाज़ार के उत्पाद का इस्तेमाल करना बंद करें.

• 3 महीना

Suger level बहुत है क्या करे

Dr Razi Ahsan • 3 महीना

ब्रजेश जी, यदि शु...पूरा पढ़ें

• 3 महीना

Meta bal bahut toot raha hai ???

और पढ़ें ...