myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

कोरोना वायरस के चलते चीन के बाहर मौत का पहला मामला सामने आया है। खबरों के मुताबिक फिलीपींस में 44 वर्षीय एक व्यक्ति की इस वायरस से मौत हो गई। फिलीपींस के स्वास्थ्य अधिकारियों ने रविवार को इसकी जानकारी दी। वहीं, अंतरराष्ट्रीय मीडिया में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक चीन ने कोरोना वायरस का सच दुनिया से छिपाया था।

फिलीपींस में चीन से आने वाले विदेशियों पर प्रतिबंध
फिलीपींस के अधिकारियों ने बताया कि मृतक हाल ही में चीन के वुहान शहर से लौटा था। उनके मुताबिक उसके साथ एक महिला भी थी जिसे स्वास्थ्य विशेषज्ञों की निगरानी में रखा गया है। बता दें कि फिलीपींस ने पीड़ित के मरने से कुछ घंटे पहले ही चीन के अनेक शहरों से विदेशियों के आने पर प्रतिबंध लगा दिया था।

(और पढ़ें: कोरोना वायरस संक्रमण)

चीन ने छिपाया कोरोना वायरस का सच
उधर, कोरोना वायरस के फैलने के पीछे कथित रूप से चीन की लापरवाही सामने आई है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक जिस नए कोरोना वायरस ने अब तक हजारों लोगों को अपनी चपेट में ले लिया है, उस पर समय रहते ध्यान दिया गया होता तो शायद इस संकट को रोका जा सकता था।

खबरों की मानें तो चीन के एक डॉक्टर ली वेनलियांग ने बीती 30 दिसंबर को एक ऑनलाइन चैट ग्रुप पर किसी 'रहस्यमय' बीमारी को लेकर अपने सहयोगियों को चेतावनी दी थी। उस समय उनकी बात पर ध्यान नहीं दिया गया। बजाय इसके अधिकारियों ने डॉक्टर को समन जारी कर पूछा कि उन्होंने ऐसी जानकारी क्यों साझा की। तीन दिन बाद उन्हें इस बात पर हस्ताक्षर करने के लिए मजबूर किया गया कि उन्होंने यह चेतावनी देकर 'गैरकानूनी व्यवहार' किया है। हालांकि अब उनकी चेतावनी सच साबित हो चुकी है।

(और पढ़ें: क्या है कोरोना वायरस?)

9 दिनों में तैयार किया 1,000 बिस्तरों वाला अस्पताल
स्वास्थ्य संकट के बीच चीन ने महज 9 दिनों में 1,000 बेडों वाला अस्पताल तैयार कर लिया है। चीन के कैडियन जिले में निर्मित इस अस्पताल का नाम 'होशेंसन हॉस्पिटल' है। इसे बनाने का काम 25 जनवरी को शुरू हुआ था। बताया जा रहा है कि चीन के 7,000 से अधिक श्रमिकों ने मिलकर इस अस्पताल को तैयार किया है। 

खबरों के मुताबिक रिकॉर्ड समय में तैयार किए गए इस अस्पताल में हजार बेडों के साथ 419 वॉर्ड और 30 विशेष उपचार वॉर्ड बनाए गए हैं। अस्पताल चलाने के लिए 4,000 कर्मचारी और करीब 1,000 मशीनों का इंतजाम किया गया है। सोमवार से यहां कोरोना वायरस से पीड़ित मरीजों को लाना शुरू कर दिया गया।

गौरतलब है कि कोरोना वायरस ने अब तक 361 लोगों की जान ले ली है। इनमें से 360 मौतें अकेले चीन में हुई हैं। वहीं, पूरी दुनिया में इससे जुड़े करीब 17,200 मामले सामने आ चुके हैं।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें