myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

खेल के मैदान में मिली चोट, खिलाड़ी को घायल ही नहीं करती है, बल्कि खेल के साथ ही उसके करियर को भी प्रभावित करती है। जब एक छोटी सी चोट की वजह से कोई खिलाड़ी मैदान से बाहर होता है तो वह ना केवल मैदान से बल्कि इसके कारण अपने खेल से भी कुछ वक्त के लिए दूर हो जाता है। वैसे तो भारतीय क्रिकेट टीम में कई दिग्गज खिलाड़ियों को मैच के दौरान चोट लगी है, मगर टीम के उभरते विकटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत इसका ताजा उदाहरण हैं।

ऋषभ पंत भारतीय क्रिकेट टीम में पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के उतराधिकारी की भूमिका निभा रहे हैं। उन पर उम्मीदों का भार है तो बेहतर प्रदर्शन कर टीम को जीत दिलाने की जिम्मेदारी भी। यही कारण है कि ऋषभ लगातार खुद को टीम के लिए साबित करने में लगे हैं, लेकिन कुछ दिनों पहले ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए पहले एकदिवसीय मैच में लगी चोट ने ऋषभ को खेल से दूर कर दिया।

(और पढ़ें - मस्तिष्क की चोट के लक्षण)

कैसे और कहां लगी चोट?
दरअसल 14 जनवरी 2020 को मुंबई के वानखेडे स्टेडियम में खेले गए पहले एक दिवसीय मैच में ऋषभ पंत बल्लेबाजी कर रहे थे। इस दौरान ऑस्ट्रेलियाई गेंदबाज पैट कमिंस की गेंद पंत के हेलमेट पर लगी। इसकी वजह से ऋषभ को सिर में चोट लगी, जिसके कारण उन्हें कंकशन (concussion) की समस्या हुई। इस चोट के चलते ऋषभ को अचानक चक्कर आने (सिर घूमना) लगे, जिसके बाद उन्हें प्राथमिक उपचार दिया गया।

बीसीसीआई की ओर से ट्वीट के जरिए दी गई जानकारी के मुताबिक “ऋषभ पंत को चोट लगने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। फिलहाल उन्हें अस्पताल से छुट्टी तो मिल गई है, लेकिन सिर में लगी चोट के हिसाब से होने वाले किसी प्रकार के इंफेक्शन के खतरे को लेकर ऋषभ को एक विशेषज्ञ डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया। उनकी हालत स्थिर है और उनकी सभी स्कैन रिपोर्ट अच्छे संकेत दे रही हैं। अब वह बेंगलुरु स्थित एनसीए में रिहैबिलिटेशन (शारीरिक और मानसिक स्थिति की जांच) से गुजरेंगे, जिसके बाद ही उनके आखिरी वनडे मैच में खेलने पर फैसला लिया जाएगा”।

क्या होती है कंकशन चोट?
कंकशन (मस्तिष्काघात) एक प्रकार की सिर में लगने वाली वह चोट है जो गंभीर नहीं होती। यह दुनियाभर में पाई जाने वाली सबसे सामान्य मस्तिष्क चोट है। यह आमतौर पर सिर या गर्दन के किसी वस्तु से टकराने पर होती है। फिर चाहे यह खेलते समय हो या किसी सड़क हादसे या गिरने के कारण ही क्यों न लगी हो। वैसे तो कंकशन कुछ समय के लिए मस्तिष्क के कार्यों को प्रभावित कर देता है, लेकिन कुछ समय के बाद यह ठीक हो जाता है।

(और पढ़ें- सिर में चोट लगने पर क्या करें)

कंकशन के लक्षण
सिर पर चोट लगने के बावजूद व्यक्ति को उसी समय कुछ महसूस न हो, ऐसा संभव हो सकता है लेकिन कुछ समय बाद कंकशन के मामले सामने आ सकते हैं। इसके लक्षण कुछ इस प्रकार हो सकते हैं -

  • लगातार सिरदर्द
  • याददाश्त कमजोर होना
  • धुंधला दिखाई देना
  • चक्कर आना
  • संतुलन खोना

किस स्थिति में सिर की चोट से कंकशन की समस्या आ सकती है
myUpchar से जुड़ी डॉक्टर अर्चना निरूला के मुताबिक, हमारा मस्तिष्क एक जगह पर स्थिर होता है और सिर पर लगने वाली चोट के कारण मस्तिष्क थोड़ा हिलकर वापस अपनी जगह पर आ जाता है और यह किसी भी स्थिति में हो सकता है। जैसे- खेलते समय लगने वाली चोट, हादसे के वक्त और गिरते समय पर, क्योंकि इस दौरान चोट से मस्तिष्क के अंदर खून का रिसाव हो सकता है जो कि एक गंभीर स्थिति हो सकती है।

(और पढ़ें - कंकशन का इलाज)

कुल मिलाकर देखा जाए तो कंकशन एक सामान्य चोट हो सकती है, लेकिन ऐसी किसी चोट के बाद डॉक्टर की सलाह जरूरी है, क्योंकि चोट के बाद होने वाले लक्षणों को अनदेखा करना एक गंभीर स्थिति पैदा कर सकता है। इसलिए अगर किसी व्यक्ति को सिर पर चोट लगने के बाद उपरोक्त लक्षण महसूस होते हैं तो वह डॉक्टर से परामर्श जरूर ले।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें