myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच अफवाहों का फैलना भी शुरू हो गया है। सोशल मीडिया पर वायरल एक दावे के मुताबिक, डेटॉल लिक्विड और स्प्रे से हाथ धोने से कोरोना वायरस का खतरा कम हो सकता है। हालांकि, डेटॉल बनाने वाली कंपनी रेकिट बेंकिजर (आरबी) ने इस दावे को सिरे से खारिज दिया है।

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक सोशल साइटों (फेसबुक, ट्विटर और अन्य) पर कुछ लोगों ने डेटॉल स्प्रे की तस्वीर पोस्ट की थी। इसके साथ में लिखा था कि यह स्प्रे 'कोरोना वायरस (2019-nCoV) को खत्म कर सकता है'। वहीं, डेटॉल लिक्विड की बोतल के लेबल पर साफ दिखाया गया कि यह कोल्ड वायरस समेत सांस संबंधी बीमारियों और कोरोना वायरस को नष्ट कर सकता है। इस दावे से लोगों को भ्रमित होते देख आरबी कंपनी को बयान जारी करना पड़ा।

खबरों के मुताबिक कंपनी ने कहा, 'हमारी कंपनी (आरबी) ने अभी तक कोरोना वायरस को लेकर कोई टेस्टिंग नहीं की है। इसलिए हम अभी इसकी कोई पुष्टि नहीं करते हैं। हालांकि हम इस वायरस का इलाज ढूंढने के प्रयासों में अपनी भूमिका निभाते रहेंगे।'

(और पढ़ें- कोरोना वायरस क्या है और कैसे करें बचाव)

कैसे फैली अफवाह?
मीडिया रिपोर्टों की मानें तो ब्रिटेन में कुछ लोगों ने डेटॉल लिक्विड की ऐसी बोतलें देखीं, जिन पर कोरोना वायरस को लेकर जानकारी दी गई थी। बोतल के लेबल पर छपी जानकारी में दावा किया गया था कि डेटॉल के इन प्रॉडक्ट्स को इस्तेमाल करने से कोरोना वायरस का खतरा कम हो सकता है और यह वायरस को नष्ट करता है। इस दावे के सामने आने के बाद बड़ी संख्या में लोगों ने डेटॉल बोतल की तस्वीर शेयर करना शुरू कर दिया था।

कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा 500 के करीब
बहरहाल, तमाम दावों और अफवाहों के बीच कोरोना वायरस से लोगों का बीमार होना और मरना जारी है। इस विषाणु से संक्रमित लोगों की संख्या 24 हजार के पार जा चुकी है। वहीं, मरने वालों का आंकड़ा 490 से ज्यादा हो गया है। चीन के अलावा फिलीपींस और हांगकांग में एक-एक व्यक्ति की मौत हुई है। वहीं, मरीजों की संख्या दुनिया के कई देशों में बढ़ रही है। इनमें जापान, थाइलैंड, सिंगापुर, दक्षिण कोरिया ऐसे देश हैं जहां संदिग्ध और कन्फर्म मामले लगातार बढ़ रहे हैं।

(और पढ़ें-  दुनिया के लिए खतरा बना कोरोना वायरस, बचाव ही एक रास्ता)

कोरोना वायरस के लक्षण
कोरोना वायरस से होने वाले संक्रमण के लक्षण सामान्य सर्दी-जुकाम की तरह होते हैं। यह वायरस मुख्य रूप से श्वसन तंत्र और छाती में संक्रमण पैदा करता है। तकलीफ बढ़ने पर मरीज को निमोनिया भी हो सकता है। मेडिकल विशेषज्ञों के मुताबिक अगर कोई व्यक्ति कोरोना वायरस से संक्रमित है तो उसके अंदर निम्नलिखित प्रकार के लक्षण दिखाई दे सकते हैं-

  • गले में दर्द होना
  • छींक आना
  • नाक बहना
  • लगातार सिरदर्द रहना
  • सूखी खांसी होना
  • बुखार होना
  • कमजोरी महसूस होना
  • बदन दर्द होना

बता दें कि कोरोना वायरस 2019-nCoV का इलाज उपलब्ध नहीं है। ऐसे में बचाव ही सुरक्षित रहने का एकमात्र रास्ता है। ऊपर दिए गए लक्षणों को ध्यान में रखते हुए सावधानी बरत कर इस संकट की रोकथाम में मदद मिल सकती है।

(और पढ़ें- केरल में कोरोना वायरस का तीसरा मामला आया सामने)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें