हर कोई सुंदर, घने और लंबे बालों की चाहत रखता है। बाल हमारी पर्सनैलिटी को बढ़ाने और आकर्षक बनाने में भी अहम भूमिका निभाते हैं। जब भी खूबसूरती और सौंदर्य की बात आती है तो चेहरे की दमक के बाद लहराती जुल्फों की चमक का ही जिक्र होता है, लेकिन मौजूदा समय में  टूटते बालों की समस्या बढ़ती जा रही है।

तमाम तरह के शैम्पू और हेयर प्रोडक्ट्स इस्तेमाल करने के बावजूद यह समस्या बनी रहती है। गिरते-टूटते बालों की कम होती संख्या के बीच उनमें आई सफेदी आज आम समस्या होने के साथ-साथ कई लोगों के लिए परेशानी का सबब बन चुकी है।

एक वक्त था जब बालों में सफेदी को बुढ़ापे का लक्षण माना जाता था, लेकिन आज हमारे सिर पर लहराती जुल्फें झड़ने या सफेद होने के लिए किसी उम्र की मोहताज नहीं रही हैं। लिहाजा कई युवाओं के बाल समय से पहले सफेद हो रहे हैं। इसके कई कारण हो सकते हैं, मगर तनाव यानी स्ट्रेस उन सभी कारणों में से सबसे प्रमुख है। कैसे आइए आपको बताते हैं।

(और पढ़ें - जानें क्यों उम्र से पहले सफेद हो रहे बाल)

बालों के सफेद होने की वजह है तनाव

जरनल नेचर में प्रकाशित एक ताजा रिपोर्ट के मुताबिक शोधकर्ताओं ने पाया कि तनाव उस हिस्से की नसों को सक्रिय कर देता है जो फ्लाइट-एंड-फाइट प्रतिक्रिया (स्ट्रेस लड़ने या हार मान लेने के भाव) का हिस्सा होती हैं।

स्ट्रेस हेयर फॉलिकल में पिगमेंट को पुनर्जीवित करने वाली स्टेम सेल्स को हमेशा के लिए नुकसान पहुंचा देता है।

इस अध्ययन के वरिष्ठ लेखक और अमेरिका की हार्वर्ड यूनिवर्सिटी से जुड़े या-चीह हसू का कहना है कि “अगर ऊपर बताई गई बात सच है तो हम यह समझना चाहते थे कि तनाव कैसे विविध ऊतकों में बदलाव लाता है।"

कैसे की गई रिसर्च?

चूंकि, तनाव के कारण पूरा शरीर प्रभावित होता है, इसलिए शोधकर्ता पहले ये जानना चाहते थे कि स्ट्रेस के चलते बालों के सफेद होने के लिए कौन सी शारीरिक प्रणाली जिम्मेदार है।

ये रिसर्च चूहों पर की गई थी। शोधकर्ताओं की टीम ने पहले अनुमान लगाया है कि तनाव की वजह से पिगमेंट बनाने वाली कोशिकाओं पर प्रतिरक्षा तंत्र अटैक करने लगता है। हालांकि, इम्यून कोशिकाओं की कमी वाले चूहों में अभी भी बाल सफेद दिखाई दे रहे थे।

हसू ने कहा कि चूंकि तनाव हमेशा शरीर में कोर्टिसोल नामक हार्मोन के स्तर को बढ़ाता है, इसलिए हमने अनुमान लगाया कि कोर्टिसोल बाल सफेद होने में अहम भूमिका निभा सकता है।

(और पढ़ें - तनाव दूर करने के लिए करें योग)

तनाव को दूर करने के लिए क्या करें?

वैसे तो तनाव दूर करने के लिए कई तरह के विकल्प मौजूद हैं, जैसे - व्यायाम, धूम्रपान न करना, पौष्टिक आहार लेना। मगर इसके अलावा और भी कुछ उपाय हैं जिन्हें अपनाकर आप स्ट्रेस को दूर या कम कर सकते हैं, जैसे कि -

  • लैवेंडर ऑयल मूड को तुरन्त अच्छा करने में मदद करता है। आप तनाव को कम करने और शरीर को आराम देने के लिए इस तेल से शरीर की मालिश करें।
  • कैमोमाइल चाय में एपिजेनिन और ल्यूटोलिन होता है, जो तनाव को बहुत हद तक दूर करने में मदद करता है। ये चाय पीने से मानसिक स्वास्थ्य काफी अच्छा रहता है।
  • शहद और नींबू के साथ ग्रीन टी का एक कप एक भी आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित हो सकता है। यह शरीर को स्वस्थ रखने के साथ-साथ स्ट्रेस को भी दूर करती है।
  • रिलैक्स महसूस करने का एक शानदार तरीका मसाज भी है। अच्छी नींद लाने और तनाव को कम करने के लिए पैरों की मालिश करें। इससे आपको काफी हद तक तनाव दूर करने में मदद मिलेगी।

(और पढ़ें - तनाव दूर करने के घरेलू उपाय)

कुल मिलाकर देखें तो तनाव कई तरह से हमारे जीवन और शरीर को प्रभावित करता है। इसकी वजह से बाल भी सफेद होते हैं और आज कई युवा इस समस्या से परेशान हैं। लिहाजा, अगर आप भी तनावपूर्ण जिंदगी से जूझ रहे हैं तो उपरोक्त विकल्पों को आजमा कर भविष्य में होने वाली परेशानियों को कम कर सकते हैं।

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ