• हिं

भारत सरकार ने 23 सितंबर, 2018 को रांची (झारखंड) में प्रधान मंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा आयुष्मान भारत - प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेएवाई) के लॉन्च के साथ आम आदमी को सुलभ और किफायती स्वास्थ्य सेवा प्रदान करने की दिशा में एक विशाल छलांग लगाई है।

आयुषमान भारत - प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (एबी-पीएमजेई) पूरे देश में लागू की जाएगी ताकि प्रत्येक नागरिक को स्वास्थ्य देखभाल का उसका उचित हक प्राप्त हो सके। यह अपने आप में एक अद्भुत और अनूठा कार्यक्रम है।

सरकार एक नए महत्वाकांक्षी स्तर पर देश के गरीब परिवारों को स्वास्थ्य देखभाल सुरक्षा प्रदान करने का बीड़ा उठा रही है। यह 50 करोड़ से अधिक लाभार्थियों को लक्षित करने वाला "दुनिया का सबसे बड़ा सरकारी वित्त पोषित स्वास्थ्य सेवा कार्यक्रम" है।

आयुष्मान भारत योजना के तहत लाभार्थी कौन होगा? आयुष्मान भारत योजना लिस्ट ऑनलाइन कैसे देखें? इस लेख को पढ़ने के बाद, आप आयुष्मान भारत लाभार्थी लिस्ट को ऑनलाइन देख सकते हैं। इस लेख में, हम आयुष्मान भारत योजना के बारे में जानकारी के साथ आपके लगभग सभी सवालों के जवाब देने की कोशिश करेंगे।

(हेल्थ इन्शुरन्स प्लान देखें - myUpchar सुरक्षा कवच)

  1. आयुष्मान भारत योजना क्या है - Ayushman Bharat Yojana kya hai in Hindi
  2. प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के फायदे - Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana (PMJAY) benefits in hindi
  3. आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी लिस्ट - Ayushman Bharat Yojana eligibility list in Hindi
  4. आयुष्मान भारत योजना का रजिस्ट्रेशन और लाभ कैसे मिलेगा - Ayushman Bharat Yojana ka labh kaise le in hindi

भारत सरकार की न्यूज एजेंसी प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया (पीटीआई) की रिपोर्ट के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को झारखंड की राजधानी रांची से केंद्र के महत्वाकांक्षी आयुष्मान भारत-राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा मिशन (एबी-एनएचपीएम) की शुरुआत की।

हालांकि, यह योजना अब 25 सितंबर से पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती पर पूरे देश में लागू होगी। पीआईबी (प्रेस सूचना ब्यूरो) द्वारा जारी एक विज्ञप्ति के मुताबिक आयुष्मान भारत योजना, जिसका नाम प्रधानमंत्री जन आरोग्य अभियान (पीएमजेई) किया गया है, का उद्देश्य प्रत्येक परिवार को प्रतिवर्ष 5 लाख रुपये का बीमा कवरेज प्रदान करना है। 10 करोड़ से ज्यादा गरीब परिवारों को इसका लाभ मिलेगा।

यह योजना निरंतर देखभाल के दृष्टिकोण को अपनाती है, जिसमें आपस में जुड़े दो घटक शामिल हैं -

  • राष्ट्रीय स्वास्थ्य सुरक्षा योजना - रोगियों को नकद के बिना उपचार प्रदान करने और प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना (पीएमजेएवाई) के तहत माध्यमिक और तृतीयक देखभाल के लिए गरीब और कमजोर परिवारों को स्वास्थ्य संरक्षण बीमा प्रदान करना।
  • स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र (एचडब्ल्यूसी) - रोगियों को प्राथमिक देखभाल प्रदान करने के लिए सरकार 1,50,000 स्वास्थ्य और कल्याण केंद्रों का निर्माण करेगी जो स्वास्थ्य के देखभाल की सुविधा को लोगों के घरों के करीब लायेंगे।

ये केंद्र व्यापक प्राथमिक स्वास्थ्य देखभाल (सीपीएचसी) प्रदान करेंगे, जिसमें माँ एवं शिशु से जुड़ी स्वास्थ्य सेवाओं और बिना संक्रमण वाली बीमारियों को शामिल किया गया है, इसमें नि: शुल्क आवश्यक दवाएं और बीमारी की जांच और पहचान ​​की सेवाएं शामिल हैं।

स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र पीएमजेएवाई के बारे में जागरूकता पैदा करने, बिना संक्रमण वाली बीमारियों के लिए स्क्रीनिंग, रोगियों के अस्पताल में भर्ती करने लायक मामलों का संज्ञान लेने इत्यादि कार्यों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएंगे। 14 अप्रैल 2018 को छत्तीसगढ़ में बीजापुर के जंगला में प्रधानमंत्री द्वारा पहला स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र शुरू किया गया था।

वास्तव में, सरकार मौजूदा सार्वजनिक स्वास्थ्य केंद्रों को कल्याण केंद्रों में अपग्रेड कर देगी। केंद्र और राज्यों के बीच निर्बाध समन्वय सुनिश्चित करने के लिए सरकार ने कई एजेंसियों को इस कार्य में शामिल किया है।

(और पढ़ें - राष्ट्रीय स्वास्थ्य बीमा योजना)

आयुष्मान भारत- प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना (पीएमजेएवाई) अस्पताल में इलाज के लिए प्रति वर्ष प्रत्येक परिवार को 5 लाख रुपये का बीमा कवर प्रदान करेगी। 10.74 करोड़ से अधिक कमजोर हकदार परिवार (लगभग 50 करोड़ लाभार्थी) इन लाभों के लिए पात्र होंगे।

पीएमजेएवाई अस्पताल में भर्ती व्यक्ति के इलाज में होने वाले व्यय को कम करने में मदद करेगा, जो लोगों को गरीब बनाता है और किसी आपदा की तरह लगने वाली स्वास्थ्य संबंधी दुर्घटना से उत्पन्न होने वाले वित्तीय संकट को कम करने में मदद करेगा।

योजना के लिए पात्र परिवार वित्तीय कठिनाइयों का सामना किए बिना गुणवत्ता युक्त स्वास्थ्य सेवाओं का उपयोग करने में सक्षम होंगे। पूरी तरह लागू हो जाने पर, पीएमजेएवाई दुनिया की सबसे बड़ी पूरी तरह से सरकारी वित्त पोषित स्वास्थ्य संरक्षण योजना बन जाएगी। यह यूनिवर्सल हेल्थ कवरेज (यूएचसी) के एजेंडे को आगे बढ़ाने की दिशा में एक दूरदर्शी कदम है।

यह योजना निम्नलिखित तरह से आपको लाभ प्रदान करती है -

  • सार्वजनिक / निजी हेल्थकेयर प्रदाताओं से नकद दिए बिना उपचार करवा सकते हैं।
  • माध्यमिक और तृतीयक केयर के लिए अस्पताल में भर्ती और उपचार को कवर करती है।
  • प्रति परिवार 5 लाख का बीमा कवर परिवार के सभी सदस्यों को प्रतिवर्ष प्रदान करती है।
  • परिवार के आकार या परिवार के सदस्यों की आयु पर कोई बंधन नहीं है।
  • योजना में शामिल होने के पहले दिन से ही पूर्व-मौजूदा बीमारियों के लिए भी सुरक्षा प्रदान करती है।
  • पूरे भारत भर में किसी भी सूचीबद्ध स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता से सेवा प्राप्त की जा सकती है।
  • निवास के स्थान से अस्पताल तक आवागमन के लिए निश्चित यातायत भत्ता भी दिया जायेगा।
  • आयुष (एलोपैथिक के अलावा अन्य वैकल्पिक चिकित्सा प्रणाली) भी शामिल है।

23 प्रकार की चिकित्सा विशेषताओं के तहत 1,350 पैकेज पेश किए गए हैं जो आयुष्मान भारत योजना के तहत उपलब्ध कराए जाएंगे। सामान्य सर्जरी के तहत 253 पैकेज पेश किए गए हैं जबकि 161 पैकेज यूरोलॉजी के तहत पेश किए गए।

इस पैकेज में कमरे और बिस्तर के शुल्क, नर्सिंग देखभाल, प्रक्रिया लागत और चिकित्सक शुल्क, परामर्श और जाँच से पहले अस्पताल में भर्ती करने का खर्च, दो सप्ताह की दवा, टांके हटाने और छुट्टी के बाद दो सप्ताह तक जाँच की लागत भी शामिल है।

(और पढ़ें - हेल्थ इन्शुरन्स के फायदे)

सीएससी (कॉमन सर्विस सेंटर) और केयर पॉइंट पर लाभार्थियों की पहचान और सत्यापन के लिए लाभार्थी पहचान प्रणाली (बीआईएस) विकसित की गई है। एनएचए ने 10 राज्यों के 80 जिलों में सॉफ्टवेयर का परीक्षण किया है और प्रतिक्रिया के आधार पर सिस्टम को बढ़ाया है। अस्पतालों से लेन-देन की सुविधा के लिए ट्रांसक्शन मैनेजमेंट सिस्टम (टीएमएस) विकसित किया गया है, जैसे पूर्व अनुमति का अनुरोध और दावा जमा करना।

हाल ही में, पात्रता सूची में परिवर्तन किए गए हैं। नवीनतम सामाजिक-आर्थिक जाति जनगणना अर्थात SEC 2011 के डेटा के तहत आने वाले सभी बीपीएल परिवार आयुष्मान भारत योजना के लाभार्थी हैं।

आयुष्मान भारत योजना में लाभार्थियों की लिस्ट अब आधिकारिक वेबसाइट से पीडीएफ फाइल के रूप में डाउनलोड करने के लिए भी उपलब्ध है। यदि आप इस योजना में रूचि रखते हैं और यह जानना चाहते हैं कि आप योग्य हैं या नहीं, तो कृपया इस लेख को पूरा पढ़ें।

5 लाख रुपये के स्वास्थ्य बीमा का लाभ केवल योग्य परिवारों को ही दिया जाएगा। इसलिए, आयुष्मान भारत योजना के लिए आवेदन करने से पहले, आपको यह सुनिश्चित करना होगा कि आप इसके लिए एक योग्य व्यक्ति है।

हाल ही में, संबंधित विभाग द्वारा एक ऑनलाइन सुविधा शुरू की गई है जिसका उपयोग करके आप यह पता लगा सकते हैं कि आप योजना के लिए योग्य है या नहीं। इसकी चर्चा निचे की गयी है। आपकी सुविधा के लिए निचे चित्र में पूरी प्रक्रिया प्रत्येक चरण के साथ दिखाई गयी हैं, आप इसकी भी मदद ले सकते हैं।

लाभार्थियों की पहचान के लिए कॉमन सेवा केंद्र (सीएससी) के साथ एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए हैं और लाभार्थियों की पहचान के लिए 3 लाख से अधिक गांव स्तर के उद्यमियों का उपयोग किया जायेगा।

विशेष पारिवारिक कोड वाले व्यक्तिगत पत्र एडिशनल डेटा कलेक्शन डेटा (एडीसीडी) ड्राइव में पहचाने गए परिवारों को भेजे जाने की प्रक्रिया में हैं। यह लाभार्थियों के बीच जागरूकता पैदा करेगा और जब वे देखभाल पॉइंट या सीएससी केंद्रों पर जाते हैं तो पहचान प्रक्रिया को और आसानी से पूरा किया जा सकेगा।

यह योजना प्रधान मंत्री स्वास्थ्य सेवा पेशेवर (पीएमएएम) नामक प्रमाणित फ्रंटलाइन स्वास्थ्य सेवा पेशेवरों का एक कैडर तैयार कर रही है जो लाभार्थियों के लिए अस्पताल में इलाज का लाभ उठाने में मदद के लिए प्राथमिक बिंदु होंगे और इस प्रकार, स्वास्थ्य सेवा के वितरण को व्यवस्थित करने के लिए एक सहायक प्रणाली के रूप में कार्य करेंगे। 

कृपया अपनी पात्रता की जांच के लिए निम्नलिखित चरणों का पालन करें -

  • सबसे पहले, आयुषमान भारत पीएम जन आरोग्य योजना पात्रता जांच पृष्ठ पर जाएं। फिर आपको प्रदान की गई जगह में अपना मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा, उसके बाद कैप्चा कोड दर्ज करें और "ओटीपी जेनरेट करें" पर क्लिक करें।
  • अब, आपको पिछले चरण में प्रदान किए गए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी मिलेगा। आगे बढ़ने के लिए प्रदान की गई जगह में यह ओटीपी दर्ज करें।
  • इसके बाद, आपको सिस्टम में लॉग इन किया जाएगा। सबसे पहले अपने राज्य का चयन करें।
  • अब, आपको चयन के मानदंड का चुनाव करना होगा। आपको "नाम से खोजें", "मोबाइल नंबर से खोजें", "राशन कार्ड नंबर द्वारा खोजें", "आरएसबीवाई यूआरएन द्वारा खोजें" में से आपकी सुविधा के अनुसार उपलब्ध विकल्प का चयन करना आवश्यक है और फिर “खोजे” पर क्लिक करें।

इसके बाद, आपको पता चल जायेगा कि आपका नाम आयुष्मान भारत योजना की लिस्ट में मौजूद है या नहीं।

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ