myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आपके द्वारा उपभोग किए जाने वाला भोजन आपके स्वास्थ्य को बनाए रखने में एक प्रमुख भूमिका निभाता है। क्या आपने ओल्ड जनरेशन को देखा है? वे कभी भी फास्ट फूड या जंक फूड नहीं खाते हैं। यही उनके अच्छे स्वास्थ्य के पीछे कारण है। आयुर्वेदिक डाइट यह सुनिश्चित करती है कि आपको पर्याप्त मात्रा में सभी आवश्यक पोषक तत्व प्राप्त हो और यह आपके शरीर को स्वस्थ और बीमारियों से मुक्त रखें। आयुर्वेद के पास प्रत्येक रोग के लिए इलाज है। आयुर्वेद के अनुसार यहाँ खाने के लिए कुछ दिशानिर्देश दिए गए हैं:

  1. प्राकृतिक भोजन खाएँ अच्छे स्वास्थ्य के लिए - Eating Natural Foods for Good Health in Hindi
  2. फैड डाइट से बचें अच्छी सेहत के लिए - Avoid Fad Diets in Hindi
  3. अच्छे स्वास्थ्य के लिए खाएँ सब्जियां और फल - Eating Fruits and Vegetables for Health in Hindi
  4. आरोग्य रहने के लिए जब भूख लगे तभी खाएँ - Eating Only When You're Hungry in Hindi
  5. आरामदायक स्थान में भोजन करें अच्छी हेल्थ के लिए - Have Food in Comfortable Surrounding in Hindi
  6. गर्म खाना खाएं फॉर गुड हेल्थ - Eat warm food in Hindi
  7. स्वस्थ रहने के लिए ज़रूरी है पर्याप्त मात्रा में भोजन - Eating the Right Quantity in Hindi
  8. तंदुस्र्स्त रहने के लिए खाते समय ना करें जल्दबाज़ी - Do not Eat too Fast in Hindi
  9. खूब पानी पिएं अच्छे स्वास्थ्य के लिए - Drinking Lots of Water for Good Health in Hindi

जैसा कि आप जानते हैं, अधिकांश खाद्य उत्पादों में अब कीटनाशक होते हैं, या आनुवंशिक रूप से संशोधित सामग्री होती है। ये प्रसंस्कृत खाद्य पदार्थ और परिरक्षकों सहित होते हैं। इन्हें खाने के लिए अयोग्य माना जाता है। तो साबुत अनाज, फलों और सब्जियों के रूप में प्राकृतिक रूप से भोजन किया जाना चाहिए। ये स्वस्थ और पचाने में आसान होते हैं।

आप भोजन या पेय पर विभिन्न रिपोर्ट सुनी होगी जो आपके लिए काम कर सकते हैं। लेकिन ये आपके लिए ऐसा काम नहीं कर सकते हैं जैसा कि दूसरों के लिए किया था। इसलिए, सबसे अच्छा तरीका है कि आप अपने शरीर के लिए उपयुक्त खाद्य पदार्थों को अपने भोजन में शामिल करें। एक आदर्श दोपहर के आयुर्वेदिक भोजन में साबुत अनाज, मसूर, पकाई गई सब्जियां शामिल होती हैं जो सामान्य रूप से मसालेदार होती है। इससे आपको भरपूर पोषक तत्व मिलते हैं जिनकी आपको आवश्यकता होती है। खाद्य वसा और रोलर कोस्टर आहार उतना प्रभावी नहीं हो सकते हैं जितने कि लगते हैं। वे आपको फायदा देने की बजाये नुकसान पंहुचा सकते हैं।

सब्जियां और फल विटामिन, खनिज और एंटीऑक्सिडेंट से भरे हुए होते हैं। तो इनका बड़ी मात्रा में सेवन करें। ये आपके शरीर को शुद्ध करेंगे और विषाक्त पदार्थों को बाहर निकाल देंगे। इससे आप स्वस्थ और युवा दिखेंगे।

आपको भूख तभी लगती है जब आप पहले कर चुके भोजन को अच्छे से पचा चुके हैं। तो आपको भोजन केवल तभी करना चाहिए जब आपको बहुत भूख लगी हों। कभी-कभी आप सोच सकते हैं कि आप भूखे हैं लेकिन उस समय आप केवल निर्जलित हो सकते हैं। हालांकि, सुनिश्चित करें कि आप दिन के 3 भोजन करते हैं और प्रत्येक दिन एक ही समय पर 3 बार भोजन खाने की आदत बनाना बेहतर है। दोपहर के भोजन को दिन का अपना मुख्य भोजन बनाओ और अच्छे पाचन के लिए रात में भारी भोजन खाने से बचें।

सुनिश्चित करें कि जिस स्थान पर आप अपने भोजन के लिए बैठते हैं, वह किसी भी तरह के विकर्षण से दूर है। कभी भी भोजनहोता करते समय टीवी न देखें या किताबें न पढ़िए। अपने भोजन के दौरान आपको फोन, लैपटॉप आदि से भी दूर रहना चाहिए।

गर्म और ताजा पके हुए भोजन का सेवन करें और सीधे फ्रिज से निकाले हुए भोजन से बचें। इस तरह से आपके पाचन एंजाइम ठीक से काम करने में सक्षम होंगे।

प्रत्येक व्यक्ति अलग होता है और इसमें पेट के आकार और चयापचय की गति भी अलग होती है। तो अपने शरीर की बात सुनो और केवल इतना भोजन करे जो आपकी भूख को संतुष्ट करने के लिए पर्याप्त है।

कभी भी जल्दी जल्दी में अपने भोजन को न निगलें। समय लें और अपना खाना चबा कर खाएं। यह भोजन को ठीक से पचाने में मदद करता है। यह भी महत्वपूर्ण है कि जब आप भोजन का उपभोग करते हैं तो आप अपनी सभी 5 इंद्रियों का उपयोग करें। अपने भोजन को देखें, गंध लें, अपने भोजन की बनावट महसूस करें, विभिन्न जायके का अनुभव करें और जब आप अपना खाना बनाते हैं, तो उसकी ध्वनि को सुनें।

कैफीन, शराब और कार्बोनेटेड शीतल पेय से बचना सबसे अच्छा है, जो शरीर के लिए हानिकारक होते हैं। इसके बजाय, पानी पियें जो आपके शरीर से सभी जहरीले विषाक्त पदार्थों को उबाड़ सकता है और अपने शरीर को हाइड्रेट कर सकते हैं। उबला हुआ और ठंडा पानी स्वास्थ्य के लिए सबसे अच्छा है। आप अपनी हीलिंग गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए पीने के पानी में कुछ जड़ी-बूटियों और मसालों को भी मिला सकते हैं। बर्फ के ठंडे पानी के बजाय, गर्म या कमरे के तापमान वाला पानी अच्छा होता है। हर्बल चाय भी स्वास्थ्य के लिए अच्छी होती है।

और पढ़ें ...