myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

भारत में नए कोरोना वायरस (सीओवीआईडी-19) के कुल मामलों की संख्या 30 हो गई है। मीडिया में आई ताजा अपडेट्स के मुताबिक, दिल्ली-एनसीआर के तहत आने वाले गाजियाबाद में एक व्यक्ति में कोरोना वायरस के पॉजिटिव लक्षण पाए गए हैं। बताया जा रहा है कि मध्यम आयु का यह पीड़ित हाल ही में ईरान की यात्रा कर भारत लौटा है। यहां बताते चलें कि देश में कोरोना वायरस के अधिकतर मामलों का संबंध इटली और ईरान से है।

बहरहाल, कोरोना वायरस का असर अब भारत पर साफ दिख रहा है। खबर है कि गाजियाबाद में सीओवीआईडी-19 के 30वें केस की पुष्टि के बाद दिल्ली सरकार ने शहर के सभी प्राइमरी स्कूलों को 31 मार्च तक बंद करने के निर्देश दिए हैं। दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कुछ देर पहले ये निर्देश दिए हैं। वहीं, दिल्ली सरकार ने अपने दफ्तरों में बायोमेट्रिक अटेंडेंस पर भी रोक लगा दी है। उधर, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने भी ट्वीट कर बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी खुद हालात पर नजर बनाए हुए हैं। वहीं, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में दिल्ली सरकार ने एक टास्क फोर्स गठित की है जो शहर में कोरोना वायरस से निपटने के सभी कामों की निगरानी करेगी।

(और पढ़ें - इटली में कोरोना वायरस से मरने वालों का आंकड़ा सौ के पार, भारत में मरीजों की संख्या बढ़ी)

हालात दूसरे राज्यों में भी चिंताजनक दिखाई पड़ रहे हैं। तेलंगाना में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद वहां की मेडिकल दुकानों और आयुष केंद्रों के बाहर लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है। आंध्र प्रदेश से खबर है कि वहां पांच संदिग्धों में कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई दिए हैं। ये सभी हाल ही में मलेशिया, सिंगापुर और बहरीन से लौटे हैं। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि इन सभी को स्वास्थ्य अधिकारियों की देखरेख में रखा गया है।

कोरोना संकट का नया केंद्र बन रहा ईरान
वहीं, विदेश मंत्रालय ने आज बताया कि देश में 495 ईरानी यात्री ऐसे हैं जिन्हें अभी तक ट्रेस नहीं किया जा सका है। विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने आज एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि ईरानी दूतावास से इस बारे में अभी तक कोई जानकारी साझा नहीं की गई है। बता दें कि ईरान नए कोरोना वायरस का नया केंद्र बनता दिख रहा है। बीते कुछ घंटों में यहां नए मरीजों और मौतों दोनों में जबर्दस्त इजाफा हुआ है। अंतरराष्ट्रीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, ईरान में कोरोना वायरस से मरने वालों की संख्या 92 से बढ़ कर सीधे 107 हो गई है। वहीं, 591 नए मरीजों के साथ कुल मामलों का आंकड़ा 3,000 से सीधे साढ़े तीन हजार के पार चला गया है। ईरान के हालात देखते हुए पूरी दुनिया से मेडिकल विशेषज्ञों की टीमें वहां भेजी जा रही हैं। इस सिलसिले में भारत ने भी डॉक्टरों और मेडिकल विशेषज्ञों का एक दल ईरान के शहर कोम भेजा है। गौरतलब है कि ईरान में सीओवीआईडी-19 के सबसे ज्यादा मरीज इसी शहर से सामने आए हैं।

(और पढे़ं - भारत में कोरोना वायरस के मामले बढ़ने के बाद प्रधानमंत्री की लोगों से अपील)

स्विट्जरलैंड में पहली मौत
वहीं, दुनिया के बाकी हिस्सों में भी कोरोना वायरस का जबर्दस्त असर देखने को मिल रहा है। खबर है कि स्पेन में कोरोन वायरस की संख्या 250 के करीब पहुंच गई है। इस जानलेवा विषाणु से यहां तीन लोगों की मौत भी चुकी है। इसके अलावा स्विट्जरलैंड ने अपने यहां कोरोना वायरस से पहली मौत होने की पुष्टि की है। यहां कुल मरीजों की संख्या 93 हो गई है जो जल्दी ही सौ के पार जा सकती है। चीन के बाद कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा प्रभावित दक्षिण कोरिया की बात करें तो यहां बीते कुछ घंटों में सात नई मौतें दर्ज की गई है। बता दें कि यहां कुल मामलों की संख्या 5,700 से ज्यादा है।

चीन, दक्षिण कोरिया और ईरान के बाद सीओवीआईडी-19 का सबसे ज्यादा असर इटली में दिख रहा है। बीते कुछ घंटों में यहां कोई नया मामला सामने नहीं आया है। लेकिन इटली से भारत पहुंचे कुछ यात्रियों में कोरोना वायरस पाया गया है। यहां बताते चलें कि इटली में 3,000 से ज्यादा लोग कोरोना वायरस के संक्रमण से पीड़ित पाए गए हैं। इनमें से 107 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 295 की हालत गंभीर बनी हुई है।

(वीडियो देखें - जानें, कोरोना वायरस के लक्षण और बचने के तरीके)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें