myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

नया कोरोना वायरस (सीओवीआईडी-19) दुनिया के छह महाद्वीपों तक पहुंच चुका है। इस जानलेवा विषाणु ने एशिया, यूरोप, उत्तर अमेरिका, दक्षिण अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के बाद अब अफ्रीका को भी अपनी जद में ले लिया है। खबर है कि नाइजीरिया में कोरोना वायरस के पहले मामले की पुष्टि हो चुकी है। वहीं, नीदरलैंड ने भी अपने यहां दो लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की जानकारी दी है। इसके अलावा युनाइटेड किंगडम (यूके) से जुड़े देश वेल्स में भी दो लोगों के नए कोरोना वायरस से ग्रसित होने की पुष्टि हुई है।

(और पढ़ें- कोरोना वायरस के असर के चलते भारत में पैरासिटामोल की बढ़े दाम)

वेल्स के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर फ्रैंक एथरटोन के मुताबिक, संक्रमित व्यक्ति इटली से यात्रा कर वापस वेल्स पहुंचा था। यहां पहुंचने के बाद उसमें कोरोना वायरस के लक्षण दिखे थे। बाद में जांच में ये पॉजिटिव पाए गए। अधिकारियों का कहना है कि पीड़ित व्यक्ति इटली में ही वायरस के संपर्क में आया था। वहीं, शुक्रवार को इंग्लैंड में दो नए मामले सामने आए। इस तरह अब यूके में कोरोना वायरस से ग्रसित लोगों की संख्या बढ़कर 19 हो गई है।

डब्ल्यूएचओ ने फिर चेताया
नए कोरोनो वायरस के वैश्विक स्तर पर लगातार बढ़ने से विश्व स्वास्थ्य संगठन की चिंता भी बढ़ती जा रही है। बीते 48 घंटों में इस वायरस ने 12 नए देशों को अपनी चपेट में ले लिया है। बताया जा रहा है कि इस वायरस की शुरुआत के बाद से अब तक इतने कम समय में ऐसा व्यापक प्रभाव नहीं देखा गया है। इसके बाद दुनिया के प्रमुख स्वास्थ्य संगठन ने एक बार फिर महामारी की चेतावनी दी है।

खबरों के मुताबिक, विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के निदेशक टेड्रोस अधानोम गेब्रेयेसुस का कहना है, 'हम वास्तव में एक बहुत ही नाजुक और चिंताजनक स्थिति में आ पहुंचे हैं जिसमें कोरोना वायरस का प्रकोप किसी भी दिशा में जा सकता है।' गौरतलब है कि कुछ दिन पहले ही डब्ल्यूएचओ ने कोरोना वायरस को लेकर किसी बड़ी चिंता (महामारी) से इनकार किया था। तब टेड्रोस ने कहा था कि वैश्विक स्तर पर कोरोना वायरस का ज्यादा असर अभी तक देखा नहीं गया है, लिहाजा इसे महामारी घोषित नहीं किया जा सकता। लेकिन अब डब्ल्यूएचओ ने चीन के बाहर बढ़ते वायरस के मामलों को लेकर चिंता जताई है।

(और पढ़ें- क्या बिना लक्षण दिखे भी फैल सकता है कोरोना वायरस)

चीन में वायरस पर काबू
कोरोना वायरस के चलते जहां वैश्विक स्तर पर हालात बिगड़ते जा रहे हैं, वहीं चीन वायरस को फैलने से रोकने में काफी हद तक कामयाबी होता दिख रहा है। यहां वायरस से जुड़े नए मामलों में काफी गिरावट दर्ज की गई है और लगातार हो रही मौतों का आंकड़ा भी अब 50 के नीचे आ गया है। यह खबर लिखे जाने तक (बीते 24 घंटों में) चीन में कोरोना वायरस से जुड़े 335 नए मामले सामने आए, जबकि एक दिन में 44 लोगों की मौत की पुष्टि हुई।

ईरान और साउथ कोरिया में बिगड़ रहे हालात
चीन के बाद कोरोना वायरस से सबसे ज्यादा लोगों की मौत ईरान में हुई है। यहां संक्रमितों की संख्या भी लगातार बढ़ती जा रही है। वहीं, ईरान की सरकार भी कोरोना वायरस को रोकने के साथ बेहतर इलाज देने में नाकाम होती दिख रही है। यही वजह है कि अब तक 388 संक्रमित लोगों में से 34 लोगों की मौत हो चुकी है। खबरों की मानें तो केवल शुक्रवार को वायरस से संक्रमित आठ लोगों के मारे जाने की पुष्टि की गई। दूसरी ओर, साउथ कोरिया में भी कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है। यहां हर दिन 500 से अधिक नए मामले सामने आ रहे हैं। ताजा आंकड़ों की बात करें तो दक्षिण कोरिया में अब तक 2,337 संक्रमितों की पहचान हुई है। इनमें से 13 लोगों की मौत हो चुकी है।

भारत ने ऑन अराइवल वीजा की सेवा की बंद
उधर, भारत सरकार ने शुक्रवार को जापान और दक्षिण कोरिया के नागरिकों के लिए वीजा ऑन अराइवल की सुविधा को अस्थाई रूप से बंद कर दिया। गौरतलब है कि वैश्विक स्तर पर नए कोरोना वायरस से जुड़े मामलों की संख्या 83,877 तक पहुंच गई है। इसमें से 2,867 लोगों की मौत हो चुकी है और 8,091 लोगों की हालत चिंताजनक बनी हुई है।

(और पढ़ें- क्या डेटॉल से खत्म हो सकता है नया कोरोना वायरस)

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें