myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

इंटरनेशनल सिंगर जस्टिन बीबर के प्रशंसकों के लिए एक बुरी खबर है। दरअसल जस्टिन बीबर इन दिनों एक गंभीर संक्रामक बीमारी से ग्रसित हैं। 25 वर्षीय जस्टिन बीबर ने सोशल मीडिया पर एक पोस्ट कर इसकी जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कुछ समय पहले उन्हें एक गंभीर बीमारी (लाइम रोग) का पता चला है।

अमेरिका की नेशनल ब्रॉडकास्टिंग कंपनी यानि एनबीसी में प्रकाशित रिपोर्ट के मुताबिक जस्टिन बीबर ने बताया, बीते कुछ दिनों से कुछ लोग मेरे बारे में बातें कर रहे हैं कि मैं इतना गंदा या खराब क्यों दिख रहा हूं, तो मैं बताना चाहता हूं कि मुझे हाल ही में एक गंभीर लाइम बीमारी का पता चला है और केवल यही नहीं, एक पुरानी बीमारी ने मेरी स्किन, दिमाग और ऊर्जा समेत मेरे पूरे शरीर को प्रभावित किया है।

जस्टिन आगे बताते हैं कि वह इस बीमारी से जुड़ी अन्य चीजों को जल्द ही एक डॉक्यूमेंट्री सीरीज के माध्यम से सोशल मीडिया (यू-ट्यूब) पर शेयर करेंगे, जिससे लोगों को पता चल सकेगा कि वह किस तरह से इस बीमारी से जूझ रहे हैं।

(और पढ़ें - लाइम रोग के कारण और उपचार)

क्या है लाइम रोग?
मायो क्लीनिक के मुताबिक लाइम बेहद ही गंभीर और दुर्लभ बीमारियों में से एक है। टिक-जनित इस बीमारी के चलते जोड़ों में दर्द, शरीर पर चकत्ते, बुखार, ठंड लगना, थकान और न्यूरोलॉजिकल (नसों से संबंधित) समस्याएं आ सकती हैं। एनबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक पिछले साल जब तक बीबर की इस बीमारी की पहचान नहीं हुई थी, तब तक वह डिप्रेशन और अन्य कई समस्याओं का शिकार हो चुके थे।

लाइम रोग बोरेलिया बर्गडोर्फेरी (Borrelia Burgdorferi) नाम के एक बैक्टीरिया के कारण होता है, जो कि एक कीट (ब्लैकलेग्ड) के काटने के बाद होने वाले इंफेक्शन से फैलता है। यह छोटे जीव व्यक्ति की त्वचा से चिपक जाते हैं और कुछ दिनों तक त्वचा से खून चूसते रहते हैं। हैरानी की बात यह है कि इस दौरान व्यक्ति को इसका पता भी नहीं चलता, क्योंकि यह कीट आमतौर पर काफी सूक्ष्म (छोटे) होते हैं और आसानी से दिखाई भी नहीं देते हैं।

क्या हैं इस बीमारी के लक्षण?
किसी कीट के काटने के 3 से 30 दिनों के अंदर लाइम रोग के लक्षण दिखाई देने लगते हैं। इससे आमतौर पर फ्लू के जैसे लक्षण पैदा होते हैं। अगर लाइम रोग का समय पर इलाज ना किया जाए तो यह हृदय, शरीर के जोड़ों और तंत्रिका तंत्र तक भी फैल जाता है। बाकी कई प्रकार के लक्षण हैं जो लाइम रोग के चलते दिखाई देते हैं, जैसे-

(और पढ़ें - कीड़े के काटने के लक्षण)

  • बुखार
  • ठंड लगना
  • हाथ-पैर का सुन्न हो जाना
  • गले में दर्द होना
  • नाड़ी की गति असामान्य होना
  • सिरदर्द होना

लाइम रोग से बचाव और इलाज
जस्टिन बीबर जैसी बड़ी शख्सियत को होने वाली इस बीमारी के बाद यह पता चलता है कि एक सामान्य व्यक्ति आसानी से इस तरह की दुर्लभ बीमारी का शिकार हो सकता है। हालांकि, बीमारी से बचाव ही रोगमुक्त जीवन का आधार है। इसलिए कुछ सावधानियां हैं जो जरूर बरतनी चाहिए, जैसे-

  • ऐसे क्षेत्रों में ध्यान से रहने की जरूरत है, जहां पर कीट अधिक पाए जाते हैं, जैसे छायादार जगह और लंबी घास।
  • बाग और घास आदि के मैदानों में कम जाएं, क्योंकि इनमें भी इस प्रकार के कीट हो सकते हैं।
  • हल्के रंग के कपड़े पहनें, जिससे किसी कीट के प्रभाव को आसानी से देखा जा सके।
  • घास के मैदान में ना बैठें और अगर बैठें है तो ज्यादा वक्त ना बिताएं।
  • घर के बाहर और अंदर कीट आदि की जांच करते रहें।
  • बाहर से आने के बाद अपनी त्वचा की जांच करें और अपने बालों को धो लें।

(और पढ़ें - इंफेक्शन क्या होता है?)

लाइम रोग के शुरुआती चरणों में बेहतर इलाज होता है और इलाज के लिए 14 से 21 दिनों तक एंटीबायोटिक दवाओं का कोर्स चलाया जाता है, जिसकी मदद से इंफेक्शन को शरीर से खत्म करने की कोशिश होती है। इसके अलावा कुछ दवाएं हैं जो इस बीमारी में दी जाती हैं, जैसे

  • वयस्क और 8 साल से अधिक उम्र वाले बच्चों के लिए डॉक्सिसाइक्लिन दवाएं दी जा सकती हैं।
  • वयस्क, छोटे बच्चों और स्तनपान कराने वाली महिलाओं के लिए सेफ्यूरोक्सिम और एमोक्सिसिलिन दवाएं दी जा सकती हैं।

रिपोर्ट के तहत समझा जा सकता है कि लाइम एक दुर्लभ और उसके साथ काफी गंभीर बीमारियों में से एक हो सकती है। इसलिए बचाव के साथ बरती गईं सावधानियां ही आपको लाइम रोग और अन्य कई खतरनाक बीमारियों के संपर्क में आने से बचा सकती हैं। लिहाजा सतर्क रहें और तंदुरुस्त बनें।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें