myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

आज के दौर में लोग सामान्य और संतुलित आहार से ज्यादा जंक फूड और फास्ट फूड को अधिक पसंद करते हैं। बाहर का खाना खाने से पेट खराब होना या पेट फूलना एक आम समस्या हो गई गई है। अगर आपका पेट फूला हुआ है, तो यह जरूरी नहीं कि आप मोटे हों। मोटे पेट के साथ आपको थोड़ी असहजता और भावनात्मक रूप से परेशानी महसूस हो सकती है। जब आप अपने पेट को देखते हैं, तो आपको लगता है कि आप मोटे हो गए हैं यानि पेट में वसा की अतिरिक्त मात्रा बढ़ गई है, जबकि यह पेट में सूजन भी हो सकती है, जिसकी वजह से आपका पेट फूला हुआ है।

पेट में वसा की मात्रा अधिक होना या पेट का फूलना दोनों ही अलग-अलग तरह समस्याएं हैं, जिनके कारण भी अलग-अलग हो सकते हैं और इनसे होने वाली स्वास्थ्य समस्याएं भी अलग-अलग हो सकती हैं

अगर आपका पेट मोटा है, तो जरूरी नहीं कि इसमें अतिरिक्त वसा बन रही हो। इसलिए आपको दोनों के बीच के फर्क को जानना होगा, तो चलिए जानते हैं कि अगर पेट मोटा है, तो क्या सच में आपका वजन बढ़ गया है और आप मोटे हो गए हैं या फिर यह आपका बस एक वहम है। हमने नीचे कुछ तरीके बताए हैं जिनसे आप पता लगा सकते हैं कि आप मोटे हैं या आपका सिर्फ पेट फूला हुआ है।

(आगे पढ़ें - पेट में सूजन के लक्षण)

मोटापा सिर्फ पेट या शरीर के अन्य भागों में होना
सबसे पहले आप अपने शरीर की जांच करें और देखें कि मोटापा सिर्फ आपके पेट में ही दिख रहा है या यह आपके शरीर के किसी दूसरे हिस्सों में भी है। अगर यह सिर्फ आपके पेट में है, तो सूजन की वजह से आपका पेट फूला हुआ है। अगर आपको पेट के साथ शरीर के अन्य हिस्से या विशेष रूप से जांघों, कूल्हों और नितम्ब पर अतिरिक्त उभार दिखाई देता है, तो इसका मतलब है कि इन हिस्सों में अतिरिक्त वसा बन रही है।

(आगे पढ़ें - वजन बढ़ाने और मोटा होने के उपाय)

पेट के मोटापे का कठोर या लचीला होना
सबसे पहले आप पेट और पेट के आस पास जिन हिस्सों में उभार हुआ है, वहां अपना ध्यान केंद्रित करें। अब इस हिस्से को दबाएं। सामान्य रूप से पेट में वसा होने के कारण उस पर दवाब से पेट लचीला और स्पंजी लगेगा, जबकि ब्लोटिंग (फूला हुआ पेट) पर दवाब डालने से आपको टाइट और कठोर महसूस होगा। अगर पेट में दवाब डालने से आपकी उंगली एक इंच तक अंदर चली जाती है, तो इसका मतलब है कि आपके पेट में वसा की मात्रा अतिरिक्त है।

पेट के मोटापे का लगातार बढ़ना या कभी-कभी बढ़ना
पेट के मोटापे की अवधि इसके मूल कारण को बता सकती है, क्योंकि वसा की कोशिकाएं समय के साथ बनती हैं और यह लगातार बनती रहती हैं। इसके विपरीत, फूले हुए पेट की स्थिति में मोटापा रुक-रुककर बढ़ता है, जिसका मतलब है कि प्रतिदिन आपके पेट के आकार में उतार-चढाव हो सकता है।

(आगे पढ़ें - पेट में छाले के लक्षण)

पेट में मोटापे के साथ दर्द होना 
सबसे महत्वपूर्ण इस बात को जानना है कि आपको पेट में मोटापे के साथ दर्द होता है या नहीं। अगर आपका पेट फूला हुआ है, तो आपको लगभग हमेशा पेट में थोड़ा दर्द महसूस होता है, जबकि अतिरिक्त वसा किसी शारीरिक समस्या का कारण नहीं बनती है। अगर गैस की वजह से आपके पेट में सूजन हो जाती है, तो शरीर में अतिरिक्त गैस पेट में सूजन का एक लक्षण भी है।

अब तो आप जान गए होंगे कि अगर आपका पेट मोटा है, तो जरूरी नहीं कि आप मोटापे के शिकार हैं। यह समस्या पेट में गैस से बनने वाली सूजन के कारण होती है। इसलिए डाइट में संतुलित आहार लें, हाइड्रेटेड रहें, अधिक मात्रा में पानी पिएं, रोजाना एक्सरसाइज करें और कार्बोहाइड्रेट व नमक का सेवन कम मात्रा में करें।

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें