ईसीजी क्या होता है?

ईसीजी (ECG) एक ऐसा टेस्ट है, जो हृदय की इलेक्ट्रिक (विद्युत) गतिविधियो को दर्ज करता है। हृदय की प्रत्येक धड़कन एक विद्युत आवेग (electrical signal) की वजह से होती है। इस आवेग से हृदय की मांसपेशियां संकुचित हो जाती है और हृदय से रक्त प्रवाहित करती है।

ECG से आपके डॉक्टर को यह पता चलेगा कि क्या -

  • विद्युत आवेग सामान्य, तेज, धीमा या अनियमित है।
  • हृदय सामान्य से बड़ा है या इसे सामान्य से अधिक कार्य करना पड़ रहा है।
  • हृदय की मांसपेशी को दिल के दौरे से नुकसान पंहुचा है या नहीं।
  1. ईसीजी क्यों किया जाता है - What is the purpose of ECG in Hindi
  2. ईसीजी से पहले - Before ECG in Hindi
  3. ईसीजी के दौरान - During ECG in Hindi
  4. ईसीजी के क्या जोखिम होते हैं - What are the risks of ECG in Hindi
  5. ईसीजी के परिणाम और नॉर्मल पैटर्न - ECG Result and Normal Pattern in Hindi
  6. दिल की हर हलचल को बताएगी ये डिवाइस, बीमारी से पहले मिलेगा अलर्ट
  7. इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम और इकोकार्डियोग्राम में क्या अंतर है?
  8. ईसीजी मशीन के आविष्कार का इतिहास - एक कमरे के आकार से आपकी कलाई तक का सफर

इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम आपके दिल की विद्युत गतिविधि की एक तस्वीर को रिकॉर्ड करता है। लेकिन ये केवल उस वक़्त ही हो सकता है जब आपको मॉनिटर किया जा रहा हो। हालांकि, कुछ हृदय की समस्याएं आती-जाती रहती है। इन मामलों में, आपको अधिक देखभाल की आवश्यकता हो सकती है।

स्ट्रेस टेस्ट (Stress Test)

कुछ हृदय समस्याएं केवल व्यायाम के दौरान प्रकट होती हैं। तनाव परीक्षण (स्ट्रेस टेस्ट) के दौरान, व्यायाम करते समय आपका एक ईसीजी होगा। आमतौर इस परीक्षण को करने के लिए आपको ट्रेडमिल पर दौड़ने को कहा जाता है।

हॉल्टेर मॉनिटर (Holter Monitor)

होल्टर मॉनिटर आपके दिल की गतिविधि 24 से 48 घंटों तक रिकॉर्ड करता है। इस दौरान आपको डॉक्टर को अपने लक्षणों के कारण की पहचान करने में मदद करने के लिए अपनी हालत का रिकॉर्ड रखने को कहा जाता है। इलेक्ट्रॉड्स एक पोर्टेबल, बैटरी संचालित मॉनिटर है जिनको आपकी छाती पर लगाया जाता है।

इवेंट रिकॉर्डर (Event Recorder)

ऐसे लक्षण जो अक्सर नजर नहीं आते हैं, उनकी पहचान करने के लिए एक इवेंट रिकॉर्डर की आवश्यकता हो सकती है। यह होल्टर मॉनिटर के जैसा होता है, लेकिन यह आपके दिल की विद्युत गतिविधि उस समय रिकॉर्ड कर लेता है जब लक्षण सामने आते हैं। कुछ इवेंट रिकॉर्डर ऑटोमेटिकली काम करने ला जाता है जब लक्षणों का पता लगाते हैं। अन्य इवेंट रिकॉर्डर में आपको लक्षणों को महसूस करने पर एक बटन दबाना पड़ता है। 

ठंडा पानी पीने या अपने ईसीजी से पहले व्यायाम करने से बचें। ठंडा पानी पीने से बिजली के पैटर्न में परिवर्तन हो सकते हैं। व्यायाम आपकी हृदय गति को बढ़ा सकता है और परीक्षण के परिणाम को प्रभावित कर सकता है।

इलेक्ट्रोकार्डियोग्राम एक जल्दी होने वाला, पीड़ा रहित और हानिरहित टेस्ट होता है। इस टेस्ट के दौरान आपको मेज पर लेटना होगा। हो सकता है कि पुरुषों के सीने के कुछ बाल काटने पड़ें। आपके सीने, टांगों और बाहों पर पैड रखे जाएंगे। पैड्स को ECG मशीन की तारों के साथ जोड़ा जाता है। जब मशीन आपकी हृदय गतिविधियो को दर्ज करती है, तब लगभग 20 सेकंड तक बिना हिले लेटे रहें। इस टेस्ट के दौरान बात नहीं करनी चाहिए। इस टेस्ट के दौरान दर्द नहीं होता है। जब यह टेस्ट पूरा हो जाता है तब तारों को हटा लिया जाता है।

टेस्ट वाले दिन किसी भी प्रकार के लोशन का उपयोग न करें। क्योंकि इससे इलेक्ट्रोड्स नामक चिपकने वाले पैड्स को अच्छी तरह से चिपकने में दिक्क्त हो सकती है। टेस्ट के दौरान ऐसी कपडे पहनने जिसमें पैड आसानी से आपके सीने पर रखा जा सकें। या इसके अलावा आप हॉस्पिटल गाउन भी पहन सकते हैं।

  1. कुछ लोगों को त्वचा पर चकत्ते हो सकते हैं, जहां इलेक्ट्रोड लगाया जाता है।  लेकिन यह आमतौर पर इलाज के बिना ठीक हो जाते हैं।
  2. स्ट्रेस टेस्ट के दौरान दिल का दौरा पड़ने का खतरा हो सकता है, लेकिन यह ईसीजी से नहीं बल्कि व्यायाम से संबंधित है।
  3. ईसीजी बस आपके दिल की विद्युत गतिविधि पर नज़र रखता है। यह बिजली का उत्सर्जन नहीं करता है और पूरी तरह से सुरक्षित है।

इलेक्ट्रिक इक्टीविटी के पैटर्न को समझने के लिए आपके डॉक्टर ईसीजी रिकॉर्ड की जांच करते हैं। इलेक्ट्रिक इक्टीविटी ईसीजी पेपर पर ऊपर-नीचे जाती लहरों के रूप में दिखती हैं।

नॉर्मल रिजल्ट :

ईसीजी में यदि डॉक्टर को नॉर्मल पैटर्न मिलता है तो इसका मतलब है कि आपके दिल की धड़कन और लय नॉर्मल रेंज में है और आपके दिल के इलेक्ट्रिकल सिस्टम में कोई भी अनियमितता नहीं पायी गई है, किसी तरह का कोई नुकसान भी नहीं पहुंचा है।

दिल से संबंधित कई ऐसी बीमारियां हैं, जिनमें ईसीजी रिजल्ट नॉर्मल दिखाता है। इसलिए सिर्फ इलेक्ट्रिकल सिगनल्स को प्रभावित करने वाली समस्या में ही ईसीजी पैटर्न एबनॉर्मल आता है।

एबनॉर्मल रिजल्ट : 

यदि ईसीजी रिजल्ट एबनॉर्मल है तो डॉक्टर किसी बीमारी या पूर्व में रह चुकी दिल से संबंधित समस्या का निदान कर सकते हैं। कई बार उपकरण में किसी तरह की गड़बड़ के कारण भी ईसीजी रिपोर्ट एबनॉर्मल आ सकती है। यही नहीं एथलीटों (खेल-कूद की एक्टिविटी करने वाले लोगों) के ईसीजी पैटर्न भी एबनॉर्मल आ सकते हैं, इसका मतलब यह नहीं कि उन्हें दिल से जुड़ी किसी तरह की समस्या है। 

ईसीजी पैटर्न और अन्य कुछ जांच के जरिए कुछ खास तरह की बीमारियों का निदान हो सकता है -

  • बहुत तेज या धीमी धड़कन
  • अनियमित दिल की धड़कन
  • दिल का दौरा (दिल को रक्त की आपूर्ति करने वाली वाहिकाओं में अचानक रुकावट आने की वजह से दिल का काम करना बंद कर देना)
  • पूर्व में हार्ट अटैक का इतिहास
  • खून में सोडियम और पोटेशियम जैसे खनिजों का असंतुलन
  • किसी दवा का रिएक्शन होना
  • कार्डियोमायोपैथी (विभिन्न कारणों से हृदय की दीवारों का मोटा होना या बढ़ जाना)
  • दिल के वाल्व से जुड़ी समस्या

डॉक्टर किसी बीमारी के निदान के लिए ईसीजी के साथ ही कुछ अन्य जांच की सलाह दे सकते हैं। ईसीजी को लेकर किसी भी तरह के संदेह को दूर करने के लिए डॉक्टर से मिलकर उनसे इस बारे में विस्तार से चर्चा करें, ताकि आपकी हार्ट हेल्थ को बनाए रखा जा सके।

ईसीजी से जुड़े सवाल और जवाब

सवाल एक साल के ऊपर पहले

मैंने अपनी मां का ईसीजी करवाया था जिसकी रिपोर्ट में राइनस रिद्म शॉर्ट पीआर इंटरवल्स सामने आया है। क्या यह रिपोर्ट सही है या किसी तरह कि समस्या का संकेत है?

Dr. Anjum Mujawar MBBS , मधुमेह चिकित्सक

रिपोर्ट के अनुसार ईसीजी नॉर्मल नहीं है, आपकी मां का राइनस रिद्म शॉर्ट पीआर इंटरवल्स नॉर्मल रेंज से कम है (यानि कि उनकी हृदय की गति प्रति मिनट सामान्य से कम है)। उन्हें आप तुरंत डॉक्टर को दिखाएं।

 

सवाल एक साल के ऊपर पहले

मैंने आज अपना ईसीजी टेस्ट करवाया था और रिपोर्ट में इंकम्पलीट राइट बंडल ब्रांच ब्लॉक है। क्या यह कोई बड़ी समस्या है?

Dr. Saurabh Dhamdhere MBBS , ओर्थोपेडिक्स

यह कोई बड़ी समस्या नहीं है। यह नॉर्मल व्यक्ति में भी देखा जा सकता है लेकिन फिर भी एक बार 2डी इको टेस्ट करवा लें।

सवाल एक साल के ऊपर पहले

मैंने अपना ईसीजी करवाया था रिपोर्ट साइनस ब्रेडीकार्डिया, राइट एक्सिस डेविएशन और आर वेव प्रोग्रेशन में प्रॉब्लम आई है। इसका क्या मतलब है?

Dr. Anjum Mujawar MBBS , मधुमेह चिकित्सक

साइनस ब्रेडीकार्डिया यानि आपका हार्ट रेट नॉर्मल से कम है। राइट एक्सिस डेविएशन यानी क्यूआरएस एक्सिस नॉर्मल रेंज से बहुत ज्यादा है और आर वेव प्रोग्रेशन में वेव का साइज नहीं बढ़ पा रहा है। अगर आपको इसे लेकर ज्यादा चिंता हो रही है तो 'इको कार्डियोग्राफी' भी करवा लें।

 

सवाल एक साल के ऊपर पहले

क्या ईसीजी की रिपोर्ट गलत हो सकती है?

Dr. Joydeep Sarkar MBBS , सामान्य चिकित्सा

जी हां, ऐसा हो सकता है। ईसीजी आपको नुकसान नहीं पहुंचाता है, इसमें कभी-कभी असामान्यताएं दिख सकती हैं जो किसी हृदय रोग से संबंधित नहीं होती हैं।

और पढ़ें ...

संदर्भ

  1. Rehman I, Rehman A. Anatomy, Thorax, Heart. [Updated 2019 Feb 10]. In: StatPearls [Internet]. Treasure Island (FL): StatPearls Publishing; 2019 Jan
  2. National Heart, Lung, and Blood Institute: US Department of Health and Human Services; Electrocardiogram, May 2019.
  3. American Heart Association; Electrocardiogram (ECG or EKG), May 2019.
  4. National Health Service [internet]. UK; Electrocardiogram (ECG)
  5. Medline plus [internet]: US National Library of Medicine; Electrocardiogram
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ