myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कई महिलाओं को प्रेगनेंसी के बारे में पूरी जानकारी नहीं होती है। प्रेगनेंसी के बारे में जानकारी ना होने के कारण ही महिलाओं को प्रेग्नेंट होते समय घबराहट होती है। लेकिन इस विषय पर थोड़ी सी जानकारी से आपके मन में उठने वाले सभी सवाल शांत हो जाते हैं। महिलाओं के जीवन से जुड़े पीरियड्स, मासिक धर्म चक्र, ओवुलेशन और प्रेगनेंसी ऐसे ही कुछ मुश्किल सवाल है, जिनके बारे में हर महिला को अवश्य जानकारी होनी चाहिए।

इस लेख में आपको पीरियड्स के कितने दिन बाद ओवुलेशन होता है इसके बारे में बताया जा रहा है। साथ ही आपको मासिक धर्म चक्र की जानकारी देने का प्रयास किया गया है।

(और पढ़ें - ओवुलेशन कितने दिन तक रहता है)

  1. पीरियड के बाद अंडा कब निकलता है - Period ke bad ovulation kab hota hai
  2. पीरियड के कितने दिन बाद ओवुलेशन होता है - Periods ke kitne din baad egg banta hai

पीरियड्स के बाद ओवुलेशन की एक निश्चित प्रक्रिया होती है। इस प्रक्रिया को समझने के लिए आपको मासिक धर्म को समझना होगा। ओवुलेशन में महिला के अंडाशय के द्वारा एक तैयार अंडा फैलोपियन ट्यूब में पहुंचता है। लगभग हर माह महिला के अंडाशय में एक अंडा तैयार होता है। पूरी तरह से तैयार होने के बाद अंडा अंडाशय से फैलोपियन ट्यूब में पहुंचकर स्पर्म का इंतजार करता है। इस समय अंडे के निषेचन के लिए गर्भाशय की परत मोटी हो जाती है। यदि अंडे निषेचित नहीं होते है तो गर्भाशय की परत और रक्त के साथ बाहर आ जाती है। पीरियड्स के दौरान बिना निषेचित हुआ अंडा और गर्भाशय में बनी परत खून के थक्कों के रूप में बाहर निकल आती है।

(और पढ़े - माँ बनने की सही उम्र)

आपने अक्सर सुना ही होगा कि ओवुलेशन आमतौर पर मासिक धर्म चक्र के 15वें दिन होता है, लेकिन आपको बता दें कि यह प्रक्रिया हर महिला में अलग अलग हो सकती है। सामान्यतः यदि 20 से 35 वर्ष की आयु वाली महिला हैं तो मासिक धर्म चक्र 28 से 32 दिनों तक चलता है। ऐसे में महिला का ओवुलेशन मासिक धर्म चक्र के 10 से 19 दिनों के बीच होता है। आसान शब्दों में कहा जाए तो अगले पीरियड्स के 12 से 16 दिनों पहले यह प्रकिया होती है।

(और पढ़े - ओवुलेशन से जुड़े मिथक और तथ्य)

इसलिए यदि आपका मासिक धर्म चक्र 35 दिनों का है तो इस चक्र के 21वें दिन में आपको ओवुलेशन होगा, जबकि 21 दिनों के मासिक धर्म चक्र के दौरान 7वें दिन आपको ओवुलेशन होता है। ओवुलेशन की प्रक्रिया सीधे तौर पर मासिक धर्म चक्र पर निर्भर करती है और यह हर महिला के लिए अलग-अलग हो सकती है। 

(और पढ़ें - अनियमित मासिक धर्म का उपचार)

अनियमित मासिक धर्म चक्र में ओवुलेशन के बारे में सटिक अंदाजा लगाना थोड़ा मुश्किल होता है, लेकिन आप सिर्फ इतना ध्यान रखें कि अगले पीरियड के 14 दिनों पहले यह ओवुलेशन होता है। इस तरह अनियमित पीरिड्स होने पर भी आप गर्भाधारम कर सकती हैं। 

(और पढ़े - गर्भावस्था के महीने)

और पढ़ें ...