myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

किसी मेडिकल या मनोवैज्ञानिक समस्‍या के कारण योनि में दर्द हो सकता है। यूटेराइन फाइब्रॉयड या योनि में संक्रमण या सूजन के कारण योनि में दर्द महसूस हो सकता है। इसके अलावा कुछ महिलाओं को संभोग के दौरान भी इस हिस्‍से में दर्द उठ सकता है।

कभी-कभी मासिक चक्र से भी योनि में दर्द का संबंधित देखा जाता है, ऐसा खासतौर पर किशोर लड़कियों में होता है। कई महिलाओं को माहवारी के दौरान दर्द या डिस्मेनोरिया की समस्‍या होती है। मासिक चक्र शुरु होने के शुरुआती दो दिन तक यह दर्द रह सकता है। महिलाओं को संपूर्ण जननांग में चुभन या जलन की वजह से भी योनि में दर्द हो सकता है

तो चलिए इस लेख में जानते हैं योनि में दर्द के प्रकार, लक्षण, कारण और उपचार एवं जांच आदि के बारे में। 

(और पढ़ें - योनि को साफ और स्वस्थ कैसे रखें)

  1. योनि में दर्द के लक्षण - Vaginal pain symptoms in Hindi
  2. योनि में होने वाले दर्द के कारण - Vaginal pain causes in Hindi
  3. योनि दर्द का निदान - Vaginal pain diagnosis in Hindi
  4. योनि में होने वाले दर्द का इलाज - Vaginal pain treatment in Hindi

योनि में दर्द और होने वाली असुविधा के लक्षण अलग अलग कारणों के आधार पर भिन्न भिन्न होते हैं। उदाहरण के लिए, वल्वर वेस्टिब्युलिटिस (Vulvar vestibulitis) एक ऐसी स्थिति है जो योनि पर दबाव पड़ने पर दर्द का कारण बनती है। इसके विपरीत, वल्वोडायनिया (Vulvodynia) एक ऐसी स्थिति है जो लगातार क्रोनिक दर्द का कारण बनती है।

आपकी स्थिति के आधार पर, निम्न लक्षणों में से एक या अधिक लक्षणों का अनुभव आपको योनि में दर्द होने पर हो सकता है:

  1. योनि में जलन
  2. योनि में खुजली
  3. पीड़ा
  4. चुभन
  5. धमक
  6. गीलापन
  7. संभोग के दौरान दर्द

यदि आपकी योनि का दर्द किसी संक्रमण के कारण होता है, तो आपको असामान्य योनि स्राव (Abnormal vaginal discharge) भी हो सकता है। उदाहरण के लिए, यह सामान्य से भिन्न लगेगा या गंध युक्त हो सकता है। जो योनि में बैक्टीरियल संक्रमण या यीस्ट संक्रमण का संकेत हो सकता है।

(और पढ़ें - सेक्स के दौरान या बाद में ऐंठन)

योनि का दर्द आपके योनि क्षेत्र तक ही सीमित होता है या, यह आपकी श्रोणि (Pelvis) से गर्भाशय ग्रीवा की ओर बढ़ता है। यूएनसी स्कूल ऑफ मेडिसिन की रिपोर्ट के अनुसार, योनि में दर्द का सबसे आम कारण संक्रमण होता है, जैसे:

  1. यीस्ट संक्रमण
  2. गोनोरिया
  3. क्लैमाइडिया

योनि में दर्द के अन्य संभावित कारण हैं:

  1. सेक्स, प्रसव, सर्जरी या अन्य चिकित्सा प्रक्रियाओं के कारण हुए घाव। (और पढ़ें - नॉर्मल डिलीवरी कैसे होती है)
  2. रजोनिवृत्ति की वजह से एस्ट्रोजन में आयी कमी के कारण वेजाइनल एट्रॉफी (Vaginal atrophy- इस अवस्था में जननांगों के पास की त्वचा रूखी और पतली हो जाती है)
  3. वल्वर वेस्टिब्युलिटिस - यह सेक्स के दौरान या पीरियड्स में लम्बे समय तक बैठने के कारण होता है।
  4. सर्वाइकल कैंसर (गर्भाशय ग्रीवा का कैंसर)

योनि दर्द का प्रमुख कारण सेक्स के दौरान दर्द होना है जिसे डिस्परेयूनिया (Dyspareunia) कहा जाता है। यह दर्दनाक संभोग के लिए उपयोग किया जाने वाला चिकित्सकीय शब्द है। यह हार्मोनल परिवर्तन या यौन उत्तेजना या कामेच्छा में कमी से सेक्स के दौरान अपर्याप्त लुब्रिकेशन (Lubrication) के कारण होता है।

(और पढ़ें - sex kaise karte hain)

योनि में होने वाला दर्द कई मनोवैज्ञानिक परिस्थितियों से भी संबंधित हो सकता है, जैसे पूर्व में हुआ यौन शोषण आदि।

कुछ मामलों में, डॉक्टर आपके योनि दर्द का सही कारण नहीं समझ पाते। वल्वोडायनिया, क्रोनिक वेजिनल दर्द के लिए उपयोग किया जाने वाला चिकित्सकीय शब्द है जिसका सही कारण अभी तक ज्ञात नहीं है।

सभी उम्र की महिलाओं को योनि में दर्द का अनुभव हो सकता है।

योनि में दर्द होने के जोखिम कारक

कुछ मामलों में, आपका चिकित्सकीय इतिहास इसका जोखिम बढ़ा सकता है। जैसे, गर्भावस्था, रजोनिवृत्ति या हिस्टेरेक्टॉमी (Hysterectomy) द्वारा उत्पन्न किये जाने वाले हार्मोनल परिवर्तन से योनि में दर्द होने का जोखिम बढ़ा सकता है। यदि आपका स्तन कैंसर का इलाज हुआ है, तो भी आपको ये समस्या हो सकती है।

(और पढ़ें - प्रेगनेंट करने का तरीका)

कुछ दवाओं से भी योनि के दर्द का जोखिम को बढ़ सकता है। उदाहरण के लिए, स्टेटिन (Statins) दवाइयां, जो कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करती हैं। इनसे योनि में सूखापन होता है जो योनि में दर्द उत्पन्न कर सकता है।

बढ़ती उम्र भी इसका एक जोखिम कारक है। रजोनिवृत्ति, आपके हार्मोन के स्तर में परिवर्तन और योनि के ऊतकों के पतलेपन का कारण बनती है। यह आपके वेजिनल लुब्रिकेशन को प्रभावित करता है और योनि दर्द की वजह बन सकता है।

(और पढ़ें - हार्मोन्स का महत्व महिलाओं के स्वास्थ्य के लिए)

यदि आप लगातार योनि में दर्द का अनुभव कर रही हैं, तो डॉक्टर के साथ एक अपॉइंटमेंट फिक्स करें वे आपकी योनि में होने वाले दर्द के कारण का पता लगाने में मदद कर सकते हैं। वे संभावित रूप से आपकी शारीरिक जांच करेंगे और यदि आवश्यक हुआ तो एक या अधिक जांच करवाने का आदेश भी दे सकते हैं।

डॉक्टर आपसे स्वास्थ्य सम्बन्धी कुछ सवाल पूछेंगे, जैसे महसूस होने वाले लक्षण, निदान की स्थितियां अर्थात पता कैसे लगा, सर्जरी या आपके द्वारा की गयीं अन्य चिकित्सकीय प्रक्रियाएं जैसे कोई दवा या सुप्प्लिमेंट्स आदि। वे आपके यौन स्वास्थ्य और आदतों के बारे में भी सवाल पूछेंगे।

डॉक्टर आपकी योनि की जांच के दौरान, लालिमा, सूजन, डैमेज या जलन के लक्षणों की जांच करेंगे। वे एक रुई लगे उपकरण की सहायता से योनि में दबाव डालकर दर्द की जांच कर सकते हैं। यदि आपको वल्वोडायनिया है, तो कोई भी दबाव डालने पर आपको गंभीर दर्द अनुभव होगा।

(और पढ़ें - योनी में सूजन और योनी में जलन

वे परीक्षण के लिए आपके योनि डिस्चार्ज का नमूना भी ले सकते हैं। यदि इसमें असामान्य प्रकार के बैक्टीरिया, यीस्ट या वायरस मौजूद होते हैं तो यह एक संकेत है कि आपको संक्रमण के कारण दर्द हो रहा है।

यदि आपको महसूस होने वाला दर्द गंभीर है या डॉक्टर को संदेह है कि आप गंभीर स्थिति जैसे सर्वाइकल कैंसर से ग्रस्त हैं, तो वे आगे की जांचें करने की सलाह दे सकते हैं। इसके लिए गर्भाशय ग्रीवा से ऊतक के नमूने ले लिए जाते हैं।

यदि उन्हें मनोवैज्ञानिक कारणों का संदेह है तो वे आपको जांच के लिए मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ के पास भेज सकते हैं।

(और पढ़ें - योनि के बारे में जानकारी)

योनि के दर्द को दूर करने के लिए, डॉक्टर इसके कारणों को जानकार उनका इलाज करने की कोशिश करते हैं। वे आपको दवाइयां भी लिख सकते हैं या फिर गंभीर स्थिति में सर्जरी की सलाह भी दे सकते हैं।

1. दवाइयां

यदि आपको बैक्टीरिया या फंगल संक्रमण हुआ है, तो आपका इलाज एंटीबायोटिक दवाओं या एंटिफंगल दवाओं द्वारा किया जायेगा। आपको बताई गयी विधि के अनुसार ही दवा लेनी चाहिए भले ही लक्षण उपचार के दौरान खत्म हो जाएं जब तक डॉक्टर न कहें दवा बंद न कीजिये क्योंकि ऐसा करने से संक्रमण लौटने की संभावना कम हो जाती है।

कुछ मामलों में डॉक्टर मलहम की सलाह भी दे सकते हैं, जैसे क्रीम या जेल। वे आपके योनि क्षेत्र को सुन्न भी कर सकते हैं। यह संभोग के दौरान लगातार असुविधा या दर्द में राहत देने में सहायता करता है। स्टेरॉयड क्रीम भी जलन, सूजन और असहजता को कम करने में मदद कर सकती हैं।

ट्राइसाईक्लिक एंटीडिप्रेसेंट या ऐन्टिकन्वल्सेंट (Anticonvulsants) भी क्रोनिक दर्द को कम करने में मदद करती हैं।

(और पढ़ें - एंटीबायोटिक दवा लेने से पहले ज़रूर रखें इन बातों का ध्यान)

2. सर्जरी

बहुत कम मामलों में, डॉक्टर आपकी योनि को सुन्न करने के लिए बेहोश करने वाले इंजेक्शन या नसों को ब्लॉक करके इलाज करते हैं। वे वल्वोडायनिया, वल्वर वेस्टिब्युलिटिस या सर्वाइकल कैंसर के इलाज के लिए सर्जरी करने की सलाह भी दे सकते हैं।

3. घरेलू देखभाल

कुछ घरेलू उपाय और ओवर-द-काउंटर उपचार, योनि के दर्द को कम करने में मदद कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए, योनि क्षेत्र में विच हेज़ल (Witch hazal) पैड लगाने से जलन कम होती है। विच हेज़ल पैड आप दवा की दुकानों से खरीद सकती हैं। वैकल्पिक रूप से, आप विच हेज़ल के घोल में स्वयं पैड को डुबोकर उपयोग कर सकती हैं।

पेशाब के दौरान होने वाले दर्द को दूर करने के लिए, आप शौचालय जाने के बाद योनी पर साफ, गुनगुना पानी डाल कर उस क्षेत्र की सफाई करें। इससे उस जगह को साफ़ करने और दर्द कम करने में मदद मिलेगी।

सेक्स के कारण होने वाले दर्द को दूर करने के लिए, संभोग के दौरान लुब्रीकेंट (Lubricant) का उपयोग करें।

योनि में खुजली कम करने के लिए, ओवर-द-काउंटर एंटीहिस्टामाइन (Antihistamines) दवाइयां मदद कर सकती हैं।

4. वैकल्पिक थेरेपी

यदि आपकी योनि का दर्द क्रोनिक मूत्र पथ संक्रमण (यूटीआई) की वजह से है, तो कैल्शियम सिट्रेट (Calcium citrate) सप्प्लिमेंट्स लेने से यूटीआई के लक्षणों को कम करने में मदद मिलती है जो योनि दर्द का कारण होते हैं। ऑक्‍जेलेट (Oxalates) युक्त भोजन करने से यूटीआई को रोकने में भी मदद मिलती है। इन खाद्य पदार्थों में लीक (Leeks), ओकरा (Okra), रूबर्ब (Rhubarb), गेहूं का चोकर, बादाम, मूंगफली, पेकान (Pecans) और पिस्ता (Pistachios) आदि प्रमुख हैं।

लेकिन किसी भी सप्प्लिमेंट्स को लेने से पहले या अपनी डाइट बदलने से पहले, डॉक्टर से बात करें।

और पढ़ें ...

References

  1. American College of Obstetricians and Gynecologists [Internet] Washington, DC; Dysmenorrhea: Painful Periods
  2. American Pregnancy Association. [Internet]; Stages Of Childbirth: Stage I.
  3. InformedHealth.org [Internet]. Cologne, Germany: Institute for Quality and Efficiency in Health Care (IQWiG); 2006-. Period pain: Overview. 2008 Feb 22 [Updated 2016 Jul 1].
  4. Better health channel. Department of Health and Human Services [internet]. State government of Victoria; Menstruation - pain (dysmenorrhoea)
  5. InformedHealth.org [Internet]. Cologne, Germany: Institute for Quality and Efficiency in Health Care (IQWiG); 2006-. Diary: Premenstrual syndrome (PMS). 2017 Jun 14.
  6. InformedHealth.org [Internet]. Cologne, Germany: Institute for Quality and Efficiency in Health Care (IQWiG); 2006-. Endometriosis: Overview. 2008 Feb 25 [Updated 2017 Oct 19].
  7. UCLA Health. What are Fibroids. California, United States [Internet]
  8. Office on Women's Health [Internet] U.S. Department of Health and Human Services; Pelvic inflammatory disease.
  9. National Center for Advancing and Translational Sciences. Adenomyosis. Genetic and Rare Diseases Information Center
  10. Government of Western Australia. Ectopic pregnancy. Department of Health
  11. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Ectopic pregnancy
  12. National Cancer Institute [Internet]. Bethesda (MD): U.S. Department of Health and Human Services; Gestational Trophoblastic Disease Treatment
  13. Office on Women's Health [Internet] U.S. Department of Health and Human Services; Vaginal infections.
  14. F. A. Taran, E. A. Stewart, S. Brucker. Adenomyosis: Epidemiology, Risk Factors, Clinical Phenotype and Surgical and Interventional Alternatives to Hysterectomy. Geburtshilfe Frauenheilkd. 2013 Sep; 73(9): 924–931. PMID: 24771944
  15. Quality-assessed Reviews [Internet]. York (UK): Centre for Reviews and Dissemination (UK); 1995-. Dyspareunia and quality of sex life after surgical excision of endometriosis: a systematic review.