myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

भारत में कोविड-19 से मारे गए लोगों की संख्या एक लाख 48 हजार के नजदीक पहुंच गई है। वहीं, कोरोना वायरस से संक्रमित हुए लोगों का आंकड़ा एक करोड़ दो लाख के पार चला गया है। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक, रविवार को देशभर में 20,021 लोग कोरोना वायरस की चपेट में पाए गए हैं। इसी दौरान 279 संक्रमितों की कोविड-19 से मौत हो गई है। इस बढ़ोतरी के बाद देश में कोविड-19 से जुड़े मामलों की कुल संख्या एक करोड़ दो लाख 7,871 हो गई है। इनमें से एक लाख 47 हजार 901 मामलों में मरीजों की मौत हो चुकी है। हालांकि 97 लाख 82 हजार से ज्यादा संक्रमितों को बचाया भी गया है। इनमें से 21 हजार 131 मरीजों को रविवार को ही स्वस्थ करार दिया गया है। इस तरह भारत में कोविड-19 का रिकवरी रेट 95.83 प्रतिशत हो गया है, जबकि मृत्यु दर अब भी 1.45 प्रतिशत पर बरकरार है।

इस बीच, कोरोना वायरस संक्रमण से प्रभावित लोगों की पहचान करने के लिए किए जा रहे परीक्षणों की संख्या 16.88 करोड़ से ज्यादा हो गई है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) ने बताया है कि बीते 24 घंटों में देशभर में सात लाख 15 हजार 397 कोविड टेस्ट किए गए हैं। हालांकि यह संख्या डेली टेस्टिंग के लिहाज से भारत की मौजूदा क्षमता से कम है। बहरहाल, आईसीएमआर द्वारा दी गई ताजा जानकारी के मुताबिक, इस बढ़ोतरी से अब तक किए गए ऐसे परीक्षणों की कुल संख्या 16 करोड़ 88 लाख 18 हजार 54 हो गई है। इनमें से 6.04 प्रतिशत पॉजिटिव पाए गए हैं।

(और पढ़ें - कोविड-19 के मरीजों का वैश्विक आंकड़ा आठ करोड़ के पार)

केरल बढ़ते पॉजिटिविटी रेट वाला एकमात्र राज्य
केरल में कोविड-19 के मरीजों की संख्या सात लाख 40 हजार से ज्यादा हो चुकी है। वहीं, मरने वाले लोगों का आंकड़ा 3,000 के करीब पहुंच गया है। पिछले 24 घंटों में केरल में 4,900 से ज्यादा लोग सार्स-सीओवी-2 से संक्रमित पाए गए हैं। इसी दौरान राज्य में 25 मरीज मारे गए हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, इससे केरल में कोरोना वायरस की चपेट में आए लोगों की कुल संख्या सात लाख 40 हजार 517 तक पहुंच गई है, जबकि मृतकों का आंकड़ा 2,977 पर आ गया है। यह संख्या अगले एक-दो दिनों में 3,000 के पार जा सकती है। आंकड़े बताते हैं कि केरल इस समय देश का एकमात्र ऐसा राज्य है, जहां कोरोना वायरस का पॉजिटिविटी रेट कम होने की बजाय बढ़ रहा है। इस महीने की बात करें तो एक दफा केरल में कोविड-19 का पॉजिटिविट रेट दस प्रतिशत तक पहुंच गया था। यानी यहां हर 100 टेस्ट में से दस पॉजिटिव निकल रहे थे। इस समय भी यह दर नौ प्रतिशत से अधिक है। इसके चलते कई जानकार कोरोना संकट के मद्देनजर केरल को 'रेड जोन' मान रहे हैं।

दिल्ली में महज 16 नई मौतें
दिल्ली में कोविड-19 पर नियंत्रण बना हुआ है। रविवार को यहां केवल 16 लोग कोरोना संक्रमण के चलते मारे गए हैं। इसी दौरान राजधानी में 757 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। यानी एक बार फिर दिल्ली में नए मामलों का आंकड़ा 1,000 से नीचे दर्ज किया गया है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, नई अपडेट के जारी होने के बाद दिल्ली में कोरोना वायरस की चपेट में आए लोगों की कुल संख्या छह लाख 22 हजार 851 हो गई है। इनमें से 10 हजार 453 की मौत हो चुकी है। वहीं, बचाए गए मरीजों की संख्या छह लाख 5,685 है, जो कुल मामलों का 97 प्रतिशत से भी अधिक है। बीते दिन दिल्ली में 939 मरीजों को कोरोना संक्रमण से मुक्त करार दिया गया है।

(और पढ़ें - कोविड-19: नए स्ट्रेन से ब्रिटेन में बढ़ सकता है मृतकों का आंकड़ा- अध्ययन)

अन्य राज्यों की बात करें तो महाराष्ट्र में मृतकों की संख्या 49 हजार 255 हो गई है। यहां बीते दिन 66 नई मौतों की पुष्टि की गई है। इसी दौरान राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के 3,314 नए मामले भी सामने आए हैं, जिससे अब तक संक्रमित हुए लोगों की कुल संख्या 19 लाख 19 हजार 550 हो गई है। हालांकि महाराष्ट्र में कोरोना संकट अब काफी हद तक नियंत्रण में दिख रहा है। लेकिन उसे प्रतिदिन दर्ज होने वाले मामलों और मौतों की संख्या को और कम करना होगा, वर्ना अगले कुछ समय में यहां मरीजों का आंकड़ा 20 लाख और मृतकों की संख्या 50 हजार के पार जा सकती है।

महाराष्ट्र में जिस तरह की स्थिति की अपेक्षा है, वह कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु में साफ दिखाई देती है। इन तीनों दक्षिण राज्यों में वायरस को बड़े स्तर पर कंट्रोल कर लिया गया है। कर्नाटक में नौ लाख 16 हजार से ज्यादा लोग वायरस की चपेट में आए हैं। इनमें से 12 हजार 62 की मौत हो गई है, लेकिन संक्रमण को मात देने वाले लोगों का आंकड़ा आठ लाख 91 हजार से ज्यादा हो। यह कर्नाटक में कुल कोरोना मामलों का 97.3 प्रतिशत है। आंध्र प्रदेश में यह दर 98.8 प्रतिशत है, जो संभवतः देश के किसी भी बड़े राज्य से अधिक है और कभी भी 99 प्रतिशत हो सकती है। स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, आंध्र प्रदेश में सार्स-सीओवी-2 ने आठ लाख 81 हजार से ज्यादा लोगों को बीमार किया है। इनमें से 7,094 की मौत हो गई है, लेकिन आठ लाख 70 हजार 342 मरीजों को बचा लिया गया है। वहीं, तमिलनाडु में वायरस को मात देने वाले लोगों की संख्या सात लाख 93 हजार से अधिक है। यह इस दक्षिण राज्य में दर्ज हुए आठ लाख 14 हजार 170 कोरोना मामलों का 97.4 प्रतिशत है। इसके अलावा, इनमें 12 हजार 69 मामलों में संक्रमितों की मौत हो गई है।

(और पढ़ें - कोविड-19: पहली बार धारावी में कोई नया मामला दर्ज नहीं)

तेलंगाना में प्लाज्मा डोनेशन की मांग बढ़ी
तीन लाख संक्रमितों के आंकड़े की तरफ बढ़ रहे तेलंगाना में प्लाज्मा डोनेशन की मांग बढ़ती दिख रही है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, यूके में पाए गए नए कोरोना वायरस स्ट्रेन की खबर सामने आने के बाद इस दक्षिण राज्य में प्लाज्मा थेरेपी की डिमांड में तेजी देखने को मिली है। खबर यह भी है कि हाल में यूके से तेलंगाना लौटे करीब 280 लोगों को प्रशासन ट्रेस नहीं कर पाया है। ऐसे में आम लोगों के बीच नए म्यूटेशन फैलने की आशंका बढ़ गई है। यह भी एक बड़ा कारण हो सकता है कि राज्य में प्लाज्मा की मांग बढ़ रही है। टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक, सोशल मीडिया और अन्य मैसेजिंग प्लेटफॉर्म पर तेलंगाना के लोगों के बीच इस ट्रीटमेंट की डिमांड जोरों पर है।

बहरहाल, तेलंगाना में प्लाज्मा की मांग भले बढ़ रही हो, लेकिन यहां कोरोना संकट पर काफी ज्यादा कंट्रोल कर लिया गया है। आंकड़े बताते हैं कि तेलंगाना में सार्स-सीओवी-2 की चपेट में आकर अब तक दो लाख 85 हजार से ज्यादा लोग कोविड-19 से ग्रस्त हो चुके हैं। इनमें से 1,533 की मौत हो गई है। हालांकि बचाए गए मरीजों की संख्या इससे कहीं ज्यादा दो लाख 77 हजार है। यह दक्षिण राज्य के कुल कोविड मरीजों का 97.2 प्रतिशत है। इसकी तुलना में मृत्यु दर एक प्रतिशत भी नहीं है। प्रतिदिन दर्ज होने वाले आंकड़े भी बताते हैं कि कोविड संकट से निपटने के मामले में तेलंगाना शीर्ष राज्यों में शामिल है। रविवार को यहां केवल 205 नए संक्रमित सामने आए हैं और महज दो नई मौतों की पुष्टि की गई है।

कोविड-19 से जुड़ी अन्य अहम राष्ट्रीय अपडेट्स

  • उत्तर प्रदेश में मृतकों की संख्या 8,300 के पार, मरीजों का आंकड़ा 5.82 लाख के करीब
  • दुनियाभर में कोरोना वैक्सीन के समान वितरण में भारत की भूमिका अहम: फार्मा इंडस्ट्री
  • पश्चिम बंगाल में वायरस से लगभग 9,600 लोगों की मौत, 5.47 लाख मरीजों की पुष्टि
  • तेलंगाना: शोधकर्ताओं ने यूके से लौटे लोगों की जीन सीक्वेंसिंग के परिणाम सबमिट किए 
  • छत्तीसगढ़ में 2.75 लाख से ज्यादा लोग बीमार, मौतों का आंकड़ा 3,300 के पास पहुंचा
  • 2021 में कोविड वैक्सीन के केंद्र के रूप में उभर सकता है हैदराबाद: रिपोर्ट
  • पंजाब में 1.65 लाख से अधिक लोग वायरस से संक्रमित, करीब 5,300 की मौत
  • दिल्ली में 1,000 वैक्सीन पॉइंट बनाए गए, पहले चरण में 51 लाख लोगों को लगेगा टीका
  • हरियाणा में रविवार को केवल 362 मरीजों और नौ नए मृतकों की पुष्टि की गई

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
AlzumabAlzumab Injection5760.72
AnovateANOVATE OINTMENT 20GM70.0
Pilo GoPilo GO Cream52.5
Proctosedyl BdPROCTOSEDYL BD CREAM 15GM54.6
ProctosedylPROCTOSEDYL 10GM OINTMENT 10GM49.7
RemdesivirRemdesivir Injection10500.0
Fabi FluFabi Flu 200 Tablet904.4
CoviforCovifor Injection3780.0
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें