दुनिया में मृत्यु के प्रमुख कारणों में से एक हृदय रोग भी है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, हर साल लगभग 17.9 मिलियन (एक करोड़ 79 लाख) लोग हृदय की बीमारियों के कारण अपनी जान गवा देते हैं, यानी दुनिया में होने वाली मौतों का लगभग 31 फीसदी। ऐसे में हमारे लिए यह जानना जरूरी है कि किन आसान तरीकों से हृदय रोग के खतरे को कम किया जा सकता है।
निम्नलिखित कुछ तरीके दिए गए हैं, जिनसे आप हृदय रोगों के जोखिम को कम करने के साथ एक खुशहाल जीवन जी सकते हैं।

परिवार के साथ समय बिताना

ऐसे कई अध्ययन हुए हैं जिनसे पता चला है कि परिवार, दोस्तों या पार्टनर के साथ रहने से हृदय रोगों के जोखिम कम हो सकते हैं। जून 2018 में ब्रिटिश मेडिकल जर्नल में प्रकाशित एक विश्लेषण से पता चला है कि विवाहित लोगों की तुलना में तलाकशुदा, अविवाहित या सिंगल लोगों में दिल की बीमारी होने का खतरा अधिक रहता है। 34 अध्ययनों के आधार पर यह विश्लेषण निकाला गया था, जिसमें पुरुष और महिला दोनों वर्गों से 20 लाख से अधिक प्रतिभागियों ने भाग लिया था। दिलचस्प बात यह रही कि कुछ अध्ययनों में महिलाओं की तुलना में पुरुषों पर यह (परिवार के साथ समय बिताना) तरीका ज्यादा असरदार था।

(और पढ़ें - हृदय रोग से बचने के उपाय)

पालतू जानवर रखना

यदि आपके पास एक पालतू जानवर है, तो आपको अंदाजा होगा कि पालतू जानवर पालने से कितनी खुशी मिलती है। इनकी मौजूदगी में आपको अकेलापन बिलकुल महसूस नहीं होता है और आपका समय भी अच्छे से व्यतीत होता है। वैज्ञानिक रूप से यह सिद्ध हो चुका है कि सभी जानवरों में से डॉग पालना सबसे ज्यादा फायदेमंद रहता है और ये बूढ़े एवं अकेले रहने वाले लोगों के सबसे अच्छे दोस्त होते हैं। डॉग रखने वाले लोग न केवल शारीरिक रूप से फिट और एक्टिव पाए गए बल्कि ये मानसिक रूप से भी मजबूत थे। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन भी हृदय रोगों के जोखिम को कम करने के लिए कुत्ता पालने की सलाह देता है।

(और पढ़ें - पालतू कुत्ता रखने से सेहत को होते हैं कई फायदे)

सेक्स 

ज्यादातर हृदय रोगी अपनी स्वास्थ्य स्थिति के यौन जीवन पर पड़ने वाले प्रभावों को लेकर चिंतित रहते हैं। ऐसे में उनमें सबसे आम सवाल रहता है कि क्या इससे दिल का दौरा पड़ सकता है?

जॉन हॉपकिंस सिस्कारोन सेंटर में क्लीनिकल रिसर्च के निदेशक, माइकल ब्लाहा ने हृदय रोग से बचने के तरीके को आसान तरह से समझाते हुए कहा कि ''अगर आप सीढ़ियां चढ़ने या जॉगिंग करने के लिए फिट और सक्षम हैं तो यह बताता है कि आप सेक्स कर सकते हैं।'' आगे उन्होंने कहा कि ''सेक्स के दौरान हार्ट अटैक पड़ने की संभावना बहुत कम होती है और इसे लेकर आपको डरना नहीं चाहिए। 
ऐसे कई अध्ययन हुए हैं, जिनसे पता चला है कि सप्ताह में दो से तीन बार ऑर्गेज्म पाने से कार्डियोवस्कुलर हेल्थ में वृद्धि हो सकती है। हालांकि, विद्वानों का तर्क है कि ये प्रभाव सेक्स की बजाय खुशहाल जीवन जीने की वजह से हो सकते हैं। लेकिन, यह भी सच है कि हृदय पर सेक्स के सकारात्मक प्रभावों से इनकार नहीं किया जा सकता है।

(और पढ़ें - दिल का दौरा पड़ने पर क्या करें)

छुट्टियों पर जाएं

छुट्टियां किसे पसंद नहीं हैं? छुट्टियों के दौरान मन और शरीर दोनों तरोताजा हो जाते हैं। अमेरिका में स्थित सिरैक्यूज विश्वविद्यालय द्वारा प्रकाशित रिपोर्ट में यह सलाह दी गई है कि हॉलीडे पर जाने से हृदय दुरुस्त रहता है। टेलर एंड फ्रांसिस की पत्रिका 'साइकोलॉजी एंड हेल्थ' में प्रकाशित एक शोध से पता चला है कि छुट्टियों में घूमने से दिल की बीमारी होने के खतरों में कमी आती है।

यह शोध 12 महीने तक चला था, जिसमें 63 कर्मचारियों के छुट्टियों पर घूमने एवं वेकेशन को लेकर व्यवहार व सोच पर ध्यान दिया गया था। इस स्टडी के परिणाम से पता चलता है कि जो लोग ज्यादा और जल्दी-जल्दी वेकेशन पर जाते हैं उनमे मेटाबोलिज्म से संबंधित समस्याएं कम होती हैं और इस वजह से इनमें हृदय रोगों का खतरा भी बहुत कम हो जाता है।

(और पढ़ें - हृदय को स्वस्थ रखने के तरीके)

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ