myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

फल ना केवल स्वादिष्ट और आसानी से उपलब्ध होते हैं बल्कि ये विटामिन, खनिजों और अन्य पोषक तत्वों का एक शक्तिशाली प्राकृतिक स्रोत भी हैं। इन सुपर फूड को सही समय पर खाने से और सही खाद्य पदार्थों के संयोजन के साथ खाने से यह सुनिश्चित होता है कि आपका शरीर पूरी तरह से सभी विटामिन, फाइबर और स्वस्थ कार्बोहाइड्रेट को अवशोषित कर लेता है जो आपके अच्छे स्वास्थ्य के लिए जरूरी हैं।

  1. फल कब खाना चाहिए - Fal kab khana chahiye in hindi
  2. खाना खाने से पहले फल खाने के नुकसान - Disadvantages of eating fruits before meal in hindi
  3. खाना खाने के बाद फल खाने के नुकसान - Why we should not eat fruits after food in hindi

फलों को खाने का सबसे अच्छा समय सुबह में खाली पेट होता है या फिर सुबह के नाश्ते के दो घंटे बाद और दोपहर के भोजन से एक घंटे पहले इन्हें खा सकते हैं। रात को सोते समय फल खाने से बचना चाहिए क्योंकि फल में मौजूद चीनी आपकी ऊर्जा को बढ़ाती है और आपको जगाए रखती है।

(और पढ़ें – फलों का राजा आम स्वादिष्ट ही नहीं, त्वचा के लिए भी है फायदेमंद)

फलों को अधिक मात्रा में नहीं खाना चाहिए क्योंकि फलों में कैलोरी होती है जो अन्य घने कैलोरी वाले खाद्य पदार्थों के साथ मिलकर शरीर में कैलोरी मात्रा बढ़ा देती है जिसका हानिकारक प्रभाव आपके स्वास्थ्य पर पड़ता है। जैसे अन्य खाद्य पदार्थ फलों को कुशलतापूर्वक पचाने से रोकते हैं, वैसे ही फल-आधारित आहार सब्जी, साबुत अनाज, मांस और कम वसा वाले डेयरी उत्पाद जैसे खाद्य पदार्थों से पोषक तत्वों को अवशोषित करने से रोकते हैं।

(और पढ़ें – संतरे के फायदे और नुकसान)

कच्चे फल फाइबर और सरल शर्करा से समृद्ध होते हैं जिन्हें पचाने और अवशोषित करने के लिए अधिक समय की आवश्यकता होती है। जब अन्य खाद्य पदार्थों के बाद (विशेषकर उन खाद्य पदार्थों के बाद जिन्हें पचने में बहुत समय लगता है) फल का सेवन किया जाता है तो इससे पाचन प्रक्रिया में देरी होती है। इसके कारण पेट फूलना, गैस, सीने में जलन और अन्य पाचन सम्बंधित समस्यांए होती हैं। क्योंकि फल पचाने की प्रतीक्षा के दौरान सड़ते रहते हैं।

(और पढ़ें – पानी की कमी को दूर करने के लिए ज़रूर खाएँ ये फल)

और पढ़ें ...