myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

एक्युप्रेशर के प्राचीन विज्ञान के अनुसार, आपके शरीर के मुख्य अंगों के दबाव अंक (pressure points) आपके पैरों और हथेलियों के तलवों पर हैं। अगर इन दबाव अंकों की मालिश की जाए, तो यह विभिन्न बीमारियों से राहत दे सकते हैं जो इन अंगों को प्रभावित करते हैं। उदाहरण के लिए, दिल के लिए एक्युप्रेशर बिंदु बाएं पैर पर है। इसका मतलब यह है कि इस एक्यूप्रेशर बिंदु पर नर्म मालिश, बिना आधुनिक चिकित्सा के उपयोग के, दिल के रोगों के इलाज में मदद करेगी।

 

आपके अंगों को हर समय सक्रिय रखने के लिए इन दबाव अंकों को नियमित रूप से दबाना चाहिए। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि हम दिन में थोड़ी देर नंगे पांव चलें ताकि इन दबाव अंकों की स्वाभाविक रूप से मालिश हो। हमें हमारे हाथों से कुछ शारीरिक श्रम करने की भी कोशिश करनी चाहिए जैसे कार धोना, जिससे हमारे हाथों के दबाव अंकों की स्वाभाविक रूप से मालिश हो। इससे एक स्वस्थ और मज़बूत शरीर सुनिश्चित होता है। यह तनाव भी कम कर देता है और स्वाभाविक रूप से मांसपेशियों के निर्माण में मदद करता है।

और पढ़ें ...