myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

अगर आपका बच्चा टीवी देखने, फोन में गेम खेलने और कंप्यूटर को ज्यादा इस्तेमाल करने का आदि है तो आपको सतर्क होने की जरूरत है। एक नए अध्ययन के मुताबिक, दो से तीन साल की उम्र के जो बच्चे दिन में तीन घंटे से ज्यादा का समय टैबलेट और टीवी देखने में बिताते हैं, वे पांच-छह साल की उम्र में शारीरिक रूप से कम एक्टिव होते हैं। वहीं, उनकी तुलना में एक घंटे या उससे कम समय तक टीवी देखने से बच्चों में यह लक्षण तुलनात्मक रूप से कम दिखाई देते हैं।

क्या कहता है रिसर्च?
जानी-मानी पत्रिका 'लांसेट' में प्रकाशित अध्ययन से पता चला है कि बच्चों में टीवी या मोबाइल की अत्याधिक लत से कई तरह की गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं आ सकती हैं। इनमें मोटापा और बौद्धिक अक्षमता जैसी समस्याएं शामिल हैं। इस बारे में डॉक्टरों का कहना है कि देश में माता-पिता का कामकाज में बहुत अधिक व्यस्त होना इस समस्या को और अधिक बढ़ाता है। इस कारण बच्चे टीवी, कंप्यूटर और मोबाइल में ज्यादा वक्त खर्च करते हैं।

(और पढ़ें- कैसे पहचानें कि लग गई है फोन की लत)

मानसिक स्वास्थ्य भी होता है प्रभावित
डब्ल्यूएचओ पहले ही मोबाइल और कंप्यूटर में गेम खेलने की लत को मेंटल हेल्थ डिसऑर्डर (मानसिक स्वास्थ्य विकार) का कारण बता चुका है। उसने इस बारे में निर्देश भी दिए हैं कि बच्चों की टीवी और मोबाइल की आदत को लेकर सीमा निर्धारित की जाए। संस्थान ने कहा है कि दो से पांच साल की उम्र के बीच के बच्चों में इस आदत को कम करके उनके स्वास्थ्य को बेहतर बनाया जा सकता है।

(और पढ़ें- लगातार मोबाइल के इस्तेमाल से हो सकता है इन बीमारियों का खतरा)

बच्चों की आदत को कैसे सुधारें
हमने इस विषय पर myUpchar से जुड़ीं डाक्टर जैसमीन कौर से बात की। उनके मुताबिक बच्चे की इस लत को सुधारने के लिए कुछ विकल्प हैं जो आजमाएं जा सकते हैं, जैसे-

  • अपने बच्चे को ज्यादा समय दें
  • बच्चे के साथ एक वक्त का खाना जरूर खाएं
  • बच्चे के साथ परिवार के सभी सदस्यों के साथ इकट्ठा बैठें
  • अपने बच्चे से बात करें और उसकी स्कूल लाइफ के बारें में पूछें
  • कोशिश करें कि बच्चे को बाहर खेलने के लिए ले जाएं
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें