myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

कई महिलाओं को मासिक धर्म के दौरान योनि और यहां तक कि गुदा क्षेत्र के आसपास रैशेज का सामना करना पड़ता हैं। इन रैशेज को आमतौर पर पीरियड रैशेज के रूप में जाना जाता है। मासिक धर्म में ऐंठन, ब्लोटिंग और शरीर में दर्द से निपटने के दौरान आपको पीरियड में काफी परेशानी होती है और यदि आप पीरियड रैशेज से पीड़ित है, तो यह परेशानी और भी बढ़ जाती है। तो आइये जानते हैं पीरियड रैशेज से बचने के तरीकों और इलाज के बारे में -

  1. कॉटन सेनेटरी पैड का उपयोग करें रैशेज को कम - Use Cotton Sanitary Pads for Period Rash in Hindi
  2. रैशेज से बचने के लिए कुछ घंटो के बाद बदले सेनेटरी पैड - Changing Sanitary Pad Every few hour For Pad Rashes in Hindi
  3. पीरियड्स के दौरान पहने ढीले कपड़े रैशेज से बचाव के लिए - Wearing Loose Clothes During Period in Hindi
  4. माहवारी के दौरान स्वच्छता बनाए रखें - Maintain Hygiene During Menstruation for Period Rashes in Hindi
  5. पीरियड रैशेज का इलाज कैसे करें - How to Cure Period Rashes in Hindi

यदि आपके सेनेटरी नैपकिन में एक प्लास्टिक की परत है, तो इसे तुरंत उपयोग करना बंद करें। उच्च आर्द्रता के स्तर और लगातार गर्मी के साथ, यह आपकी संवेदनशील त्वचा को उत्तेजित करने के लिए अधिक प्रबल बनाता है। इसके बजाय, ऐसे सैनिटरी नैपकिन ख़रीदे जो विशेष रूप से संवेदनशील त्वचा के लिए तैयार होते हैं। आर्गेनिक या कॉटन पैड भी एक अच्छा विकल्प हैं। (और पढ़ें - आपके मासिक धर्म यानी पीरियड्स इन स्वास्थ्य समस्याओं का करते हैं संकेत)

अपने पैड को दिन में केवल दो बार बदलने की गलती न करें। इसके बजाय, आप अपने साथ अतिरिक्त सैनिटरी नैपकिन रखें और सुरक्षित रहने के लिए चार से पांच घंटे बाद सैनिटरी नैपकिन बदलें।

पीरियड्स के इन दिनों के दौरान, अपनी पसंदीदा स्किनी जीन्स और सेक्सी साटन अंडरवियर को पहनने से बचें। ढीले पैंट और कॉटन अंडरवियर पहनें। इससे यह सुनिश्चित होगा कि आपको ज़्यादा पसीना नहीं आएगा और आपका जननांग क्षेत्र अच्छी तरह से हवादार रहेगा। जो दर्दनाक पीरियड्स रैशेज को रोकने में मदद करेगा। (और पढ़ें - पीरियड्स के समय भी कर सकते हैं आप ये पाँच एक्सरसाइज)

हर बार जब आप शौचालय जाते हैं, तो धीरे-धीरे अपने जननांग क्षेत्र को धोएं और टॉयलेट पेपर के साथ सूखाएं। वैट वाइप्स (wet wipes) का इस्तेमाल बिलकुल न करें क्योंकि उनमें से ज्यादातर में अल्कोहल या अन्य कई सुगंध वाले घटक होते हैं जिससे त्वचा में सूजन हो सकती है। इसके अलावा, बिस्तर पर जाने से पहले एक शॉवर लें और अपने गुप्तांग को हर समय सूखा रखें। (और पढ़ें - योनि में इन्फेक्शन और खुजली के उपाय)

अभी आपने जाना कि पीरियड रैशेस को रोकने के लिए क्या करना चाहिए। लेकिन तब आप क्या करते हैं जब आप महसूस करते हैं कि आपकी जननांग पीरियड रैशेज से ग्रस्त हो गए हैं? इन रशेस को शांत करने के लिए इन सरल चरणों का पालन करें -

  1. प्रभावित क्षेत्र पर साबुन, बॉडी वाश या किसी भी तरह की क्रीम जैसे लैक्टो कैलामाइन या वेसलीन का उपयोग न करें। इनमें से किसी भी चीज को लगाने से दर्द और भी बढ़ जाएगा। यदि आप राहत के लिए कुछ मलहम या जेल लगाना चाहते हैं, तो उससे पहले अपनी त्वचा विशेषज्ञ या स्त्री रोग विशेषज्ञ को फोन करें ताकि आपको पता हो कि आप सही उपयोग कर रहे हैं।
  2. प्रभावित क्षेत्रों पर कुछ गर्म पानी का उपयोग करने से तुरंत राहत में मदद मिलती है। गर्म पानी सूजन और जलन को कम करने में मदद करेगा और रशेस से पसीने और खून से छुटकारा दिलाएगा।
  3. उसके बाद, एक ठंडे संगमरमर या पत्थर की सतह पर बैठो। आप अपनी पैंट पर बर्फ या हीट पैक भी लगा सकते हैं लेकिन इनका त्वचा पर सीधा उपयोग करने से बचें। यदि इन चरणों में से कोई भी राहत प्रदान नहीं करता है, तो यह एक खमीर संक्रमण का लक्षण हो सकता है जिसमें आपको अपने डॉक्टर से मिलना चाहिए। (और पढ़ें - गुड़ और दूध का मिश्रण करें पीरियड्स के दर्द को दूर)
और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें