myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

क्या आप भी हर महीने पीरियड्स के शुरू होते ही परेशान हो जाती हैं? क्या आप भी इस दौरान जब घर से बाहर निकलती हैं तो आपको यही चिंता लगी रहती है कि कहीं आपके कपड़ों पर दाग तो नहीं लग गया है? क्या आप भी बार बार पीछे पलटकर अपने कपड़ों को चेक करती रहती हैं? आप अकेली नहीं हैं क्योंकि यह परेशानी अक्सर कई महिलाओं को होती है। लेकिन इसका भी हल है और वो है एक सुरक्षित सेनेटरी नैपकिन का इस्तेमाल।

  1. सेनेटरी पैड क्या है और इसे कैसे लगाये - What is a Sanitary Napkin and How to Use it in Hindi
  2. कैसे करें सैनेटरी पैड का चुनाव - How to Choose a Sanitary Napkin in Hindi
  3. कितनी बार बदलें सैनिटरी नैपकिन - How Often to Change Sanitary Pads in Hindi
  4. रात को क्यों होती है अलग तरह के नैपकिन की जरूरत - Why Would Need a Different Napkin at Night in Hindi
  5. सही सेनेटरी पैड का चुनाव और उपयोग के डॉक्टर

एक "सैनिटरी नैपकिन" या "सेनेटरी पैड" का अर्थ केवल एक सोखने वाला पैड है जिसे आप मासिक धर्म के रक्त को अवशोषित करने के लिए अपने पीरियड्स के दौरान अपनी पैंटी के अंदर पहनते हैं। आपको आपके मासिक धर्म प्रवाह के आधार पर एक उचित मोटाई, लंबाई और सोखने की क्षमता वाले पैड को चुनना चाहिए।

एक सैनिटरी नैपकिन का प्रयोग करना आसान है। तो आइये जानते हैं कि इसका उपयोग कैसे करें -

  1. पैड के बैकसाइड पर से कागज को निकालें और इसे अपने पैंटी पर रखें।
  2. विंग्स से रिलीज पेपर निकालें। विंग्स को पैंटी के दोनों ओर लपेटें और ज़ोर से दबाएं।
  3. इस्तेमाल के बाद कूड़ेदान में पैड को डालने से पहले इसे कागज में अच्छे से लपेटें।
  4. शौचालय में पैड को डिस्पोज़ न करें क्योंकि यह शौचालय को रोक सकता है। (और पढ़ें - असामान्य मासिक धर्म के लक्षण)

याद रखें, आराम और गंध से बचने के लिए आपको हर कुछ घंटों में पैड को बदलने की ज़रूरत है।

सबसे पहले ये जानें कि पीरियड्स की देखरेख करने का कोई सही या गलत तरीका नहीं होता है। यही कारण है कि यहाँ चुनने के लिए बहुत सारे पैड होते हैं। यहां आपकी शुरुआत के लिए कुछ सुझाव दिए गए हैं। आपका चुनाव इस पर निर्भर करता है कि आपकी व्यक्तिगत पसंद क्या है और आपके शरीर और आपके मासिक धर्म के लिए क्या सबसे उपयुक्त है।

जब आपको पहली बार पीरियड्स आते हैं तो आप नियमित आकार के नैपकिन (पैड) या टैम्पन का उपयोग कर सकते हैं।
यदि नियमित आकार का पैड मासिक धर्म रक्त से बहुत जल्दी भरने लगता है, तो एक लंबे आकार वाले पैड का उपयोग करें।
अगर कुछ घंटों के बाद ऐसा लगता है कि ज्यादा रक्त नहीं है, तो आप नियमित पैड या कम अवशोषण वाले टैम्पन पर स्विच कर सकते हैं।

कुछ लड़कियां दो अलग-अलग प्रकार के पैड का उपयोग करती हैं-एक अपने भारी दिनों के लिए और एक उनके हल्के दिनों के लिए। रात्रि के लिए विशेष पैड भी उपलब्ध हैं। ये पीछे की ओर से अधिक लंबे और चौड़े होते हैं, इसलिए जब आप अपनी नींद में इधर से उधर होते हैं तो ये आपकी पूरी तरह से रक्षा कर सकते हैं। (और पढ़ें - अगर आप भी हैं मासिक धर्म से जुड़ी कुछ जरूरी बातों से अनजान तो ये हाइजीन टिप्स आएँगे आपके काम)

 

सभी चीजों की तरह, यह कई चीजों पर निर्भर करता है। आपको ऐसा लगता है कि मासिक धर्म के दौरान बहुत अधिक रक्तस्राव होता है, लेकिन पीरियड्स के दौरान अधिकांश लड़कियों का आमतौर पर 4 से 12 चम्मच रक्त प्रवाहित होता है, जो वास्तव में बहुत ज़्यादा नहीं होता है।

आप अपने पैड को प्रत्येक 4 घंटों में बदल सकते हैं। हालांकि पीरियड्स की शुरूआत में आपको अधिक भारी रक्तस्राव हो सकता है और आपको प्रत्येक 2 से 3 घंटे में पैड बदलना पड़ सकता है। (और पढ़ें - आपके मासिक धर्म यानी पीरियड्स इन स्वास्थ्य समस्याओं का करते हैं संकेत)

 

सोते समय हम करवट बदलते रहते हैं। इसलिए रात के समय इस्तेमाल किए जाने वाले नैपकिन अधिक लंबे और चौड़े होने चाहिए ताकि आपकी नींद ख़राब ना हो और आपको दाग की भी कोई चिंता ना रहें। (और पढ़ें - पीरियड्स मे क्या खाएं और क्या ना खाएं)

Dr. Pratiksha Mishra

Dr. Pratiksha Mishra

प्रसूति एवं स्त्री रोग

Dr. Deepa Tantry

Dr. Deepa Tantry

प्रसूति एवं स्त्री रोग

Dr. Rashmi

Dr. Rashmi

प्रसूति एवं स्त्री रोग

और पढ़ें ...

References

  1. National Health Service [Internet]. UK; Periods
  2. Autumn Stanley. Mothers and Daughters of Invention: Notes for a Revised History of Technology. Rutgers University Press, 1995
  3. Journal of Textile Science & Engineering. Natural and Sustainable Raw Materials for Sanitary Napkin. OMICS International. [internet]
  4. Center for Young Women's Health. What’s the difference between a panty liner and a pad? Which one is better?. Boston Children's Hospital, US
  5. Nazirah G Mohamed, Nurdiana Z Abidin, Kim S Law, Mika Abe, Megumi Suzuki, Ahmad M Che Muhamed, and Rabindarjeet Singh. The effect of wearing sanitary napkins of different thicknesses on physiological and psychological responses in Muslim females. 2014; 33(1): 28. PMID: 25189184
  6. Michael J DeVito and Arnold Schecter. Exposure assessment to dioxins from the use of tampons and diapers.. 2002 Jan; 110(1): 23–28. PMID: 11781161
  7. TeensHealth. Can I Wear the Same Pad All Day?. The Nemours Foundation.[internet]
  8. University of Missouri. [internet]. Kansas City. https://info.umkc.edu/womenc/2018/02/13/5-reasons-why-you-should-try-reusable-menstrual-pads/
  9. Vydehi Institute of Medical Sciences & Research Center. Menstrual Hygiene – The Present Scenario and Adverse Effects. Rajiv Gandhi University of Health Sciences. [internet].