myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

आपके पीरियड्स हर महीने आते हैं और जाते हैं, लेकिन पीरियड्स के बारे में बात करना सबसे प्रतिबंध विषयों में से एक माना जाता है। खैर, अब इसके बारे में खुले तौर पर बात करने का वक्त है।

अक्सर, महिलाओं को लगता है कि उनके पीरियड्स केवल ये संकेत देते हैं कि वे गर्भवती हैं या नहीं। ऐंठन, सूजन, भारी प्रवाह (heavy flow) और पीठ दर्द को अक्सर पीरियड्स के एक भाग के रूप में माना जाता है जो कि बस सहन किया जाना चाहिए। लेकिन पीरियड्स आपके स्वास्थ्य के बारे में इससे कहीं अधिक जानकारी प्रकट कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - असामान्य मासिक धर्म के लक्षण)

नियमितता (regularity) से लेकर प्रवाह (flow) तक पीरियड्स पर ध्यान देने से प्रमुख स्वास्थ्य समस्याओं से बचा सकता है। यहां कुछ स्वास्थ्य समस्याएं बताई गई हैं जिन्हें आपके पीरियड्स के द्वारा इंडिकेट किया जा सकता है -

  1. फाइब्रॉएड भी है अत्यधिक रक्तस्राव का कारण - Excessive Bleeding Due to Fibroids in Hindi
  2. मासिक धर्म अनियमित होने का कारण है पोलिसिस्‍टिक ओवरी सिंड्रोम - Irregular Periods Caused by PCOS in Hindi
  3. तनाव है पीरियड्स में ब्लड कम आने का कारण - Light Flow During Period Due to Stress in Hindi
  4. मधुमेह है अनियमित मासिक चक्र की वजह - Irregular Menstrual Cycle Due to Diabetes in Hindi
  5. मासिक धर्म में ऐंठन का कारण है एंडोमेट्रियोसिस - Period Cramping Due to Endometriosis in Hindi
  6. सर्वाइकल कैंसर है अनियमित वेजाइनल ब्लीडिंग का कारण - Abnormal Vaginal Bleeding Due to Cervical Cancer in Hindi
  7. अचानक मासिक धर्म के रुकने की वजह है निम्न बॉडी मास इंडेक्स - Sudden Absence of Menstrual Cycle May Indicate Low BMI in Hindi
  8. थायरॉयड हो सकता है मासिक धर्म में अचानक बदलाव - Early or Delayed Puberty Caused by Thyroid in Hindi

फाइब्रॉयड (fibroid) एक मांसपेशी की परत होती है जो हार्मोनल की सक्रियता की वजह गर्भाशय की दीवारों पर जमने लगती हैं, जो कि आपके मासिक धर्म चक्र को प्रभावित कर सकती है और जिसके कारण अत्यधिक या लंबे समय तक ब्लीडिंग हो सकती है। जिसकी वजह से यह बाद में यह टयूमर बन जाता है और इलाज ना होने पर यह कैंसर का कारण बनता है।

2012 में बीएमसी महिला स्वास्थ्य में प्रकाशित एक अध्ययन में, शोधकर्ताओं ने आठ देशों में 21,499 महिलाओं का सर्वेक्षण किया। निष्कर्षों में, गर्भाशय फाइब्रॉएड के निदान के साथ महिलाओं ने 

(और पढ़ें - बैक्टीरियल वेजिनोसिस के लक्षण)

अन्य महिलाओं (जिन्हें फाइब्रॉएड की समस्या नहीं थी) की तुलना में भारी रक्तस्राव (59.8% बनाम 37.4%), लंबे समय तक रक्तस्राव (37.3% बनाम 15.6%) और रक्तस्राव अवधि (33.3% बनाम 13.5%) की सूचना दी।

महिला स्वास्थ्य के इंटरनेशनल जर्नल में 2014 में प्रकाशित एक और अध्ययन ने निष्कर्ष निकाला है कि फाइब्रॉएड से पीड़ित महिलाओं में भारी और लंबे समय तक रक्तस्राव सबसे ज्यादा दर्ज लक्षण है।

यदि अचानक से आप सामान्य से अधिक पीरियड्स आ रहे हैं, तो उसके पीछे का कारण जानने के लिए अपने चिकित्सक से संपर्क करें।

यद्यपि आप अनियमित पीरियड्स के लिए खुश हो सकते हैं, लेकिन यह निश्चित रूप से आपके शरीर के लिए एक अच्छा संकेत नहीं है।

मोटापा, अत्यधिक चेहरे और शरीर पर बाल, बालों के झड़ने और मुँहासे जैसे अन्य लक्षणों के साथ अनियमित मासिक धर्म एक मजबूत संकेत है कि आप पोलिसिस्‍टिक ओवरी सिंड्रोम (पीसीओएस) से पीड़ित हो सकते हैं। पीसीओएस में, शरीर में अतिरिक्त टेस्टोस्टेरोन की गतिविधि के कारण ओवरी में अल्सर हो जाता है। ये अल्सर पूरे मासिक धर्म प्रक्रिया को प्रभावित करता है, जिसके कारण पीरियड्स छूटने लगते हैं।

मानव प्रजनन 2014 में प्रकाशित एक अध्ययन यह पुष्टि करता है कि टीनेज वर्षों के दौरान अनियमित मासिक धर्म भविष्य में पीसीओएस और बांझपन के साथ सकारात्मक रूप से जुड़े हुए हैं।

चाहे आपके पीरियड्स पहली बार चुके है या यह यह एक आम प्रवृत्ति बन गई है, इसे गंभीरता से लें और अपने डॉक्टर से परामर्श करें। 

(और पढ़ें - पीसीओएस का घरेलू इलाज)

उन महिलाओं में हल्का रक्त प्रवाह आम है जो रजोनिवृत्ति में प्रवेश कर रही है या जो हार्मोनल बर्थ कंट्रोल विधियों का उपयोग करती है। हालांकि, यदि आपको पिछले मासिक धर्म की तुलना में अचानक हल्के प्रवाह का सामना करना पड़ता है, तो यह अत्यधिक तनाव या शरीर में हार्मोनल परिवर्तन के कारण हो सकता है।

आपके पीरियड्स हल्के हो सकते हैं यदि आपको बहुत कम या दो दिन से कम समय तक ब्लीडिंग होती है। आपकी ब्लीडिंग को बहुत हल्का माना जाता है जैसे कि स्पॉटिंग, यदि आप एक या अधिक रेग्युलर-फ्लो पीरियड्स को मिस करते हैं।

एक बार जब आपका तनाव का स्तर नियंत्रण में हो जाता है तो आपके पीरियड्स वापस सामान्य आ जाने चाहिए। अगर आपको तनाव महसूस हो रहा है, तो पीरियड्स के अधिकतर दिनों में व्यायाम करने की कोशिश करें, मेडिटेशन का अभ्यास करें और अपने तनाव के स्तर को कम करने के लिए टॉक थेरेपी की तलाश करें।

असामान्य रूप से लंबे, बेहद अनियमित मासिक धर्म को इंसुलिन प्रतिरोध और टाइप 2 मधुमेह के जोखिम से जोड़ा जा सकता है।

वास्तव में, अधिक वजन वाली महिलाओं के अनियमित माहवारी चक्र को शायद टाइप 2 मधुमेह से पीड़ित माना जाता है। इंसुलिन प्रतिरोध भी अंडाशय को प्रभावित करता है, जो बदले में मासिक धर्म चक्र को प्रभावित करता है।

अमेरिकन मेडिकल एसोसिएशन के जर्नल 2001 में प्रकाशित एक अध्ययन ने 100,000 से अधिक महिलाएं को फॉलो किया गया जिन्होंने 18 से 22 वर्ष की उम्र के मासिक धर्म चक्र को सामान्य बताया था। 10-वर्षीय के अध्ययन की अवधि पूरी होने के बाद, यह पाया गया कि सामान्य चक्र वाले महिलाओं की तुलना में टाइप 2 डायबिटीज विकसित होने की संभावना लंबे या अत्यधिक अनियमित माहवारी चक्र (40 दिन या उससे अधिक) वाली महिलाओं की संख्या दोगुनी थी।

सामान्य चक्र वाले लोगों की तुलना में बहुत कम चक्र (21 दिन या उससे कम) वाली महिलाओं को मधुमेह होने की 1.5 गुना अधिक संभावना है।

माहवारी के दौरान असहनीय और बेहद दर्दनाक ऐंठन से पता चलता है कि आप एंडोमेट्रियोसिस से पीड़ित हैं।

एंडोमेट्रियोसिस तब होता है जब एंडोमेट्रियल ऊतक (जो गर्भाशय के अंदर की रेखाएं) गर्भाशय के बाहर बढ़ता है। ऊतक तब पैल्विक क्षेत्र और निचले पेट में 'फंस' जाता है, जिससे सूजन हो जाती है और अत्यधिक दर्द होता है।

पीरियड्स के दौरान, एंडोमेट्रियम प्रोस्टाग्लैंडीन पैदा करता है, प्रोस्टाग्लैंडीन एक हार्मोन है जो सूजन और दर्द को उत्पन्न करता है। योनागो एक्टा मेडिका में प्रकाशित एक 2013 के अध्ययन में, जापानी शोधकर्ताओं ने पाया कि शरीर एंडोमेट्रियोसिस में प्रोस्टाग्लैंडीन की एक उच्च और असामान्य मात्रा पैदा करता है।

इस तरह की दर्द सामान्य अवधि के दर्द से अलग होती है और आम तौर पर याद दर्द पीरियड्स से पहले और भी खराब हो जाता है। पेट में दर्द अक्सर पीठ या पैल्विक दर्द के साथ होता है। 

(और पढ़ें - माहवारी में दर्द के लिए करें लेग लिफ्ट्स व्यायाम)

अनियमित वेजाइनल ब्लीडिंग गर्भाशय ग्रीवा के कैंसर का सबसे आम लक्षण है, जो अमेरिकी महिलाओं के लिए कैंसर की मौतों का प्रमुख कारण था। हालांकि, इसे रोकने और इलाज करने के लिए अब सबसे आसान महिला कैंसर माना जाता है।

अनियमित वेजाइनल ब्लीडिंग मासिक धर्म या सेक्स के बाद हो सकती है। कभी-कभी, यह ब्लड-स्ट्रीक्ड वेजाइनल डिसचार्ज के रूप में दिखाया जाता है, जिसे स्पॉटिंग (हल्के हल्के दाग - spotting bleeding) के रूप में बताया गया है।

(और पढ़ें - sex karne ka tarika)

संभोग के शुरू होने के बाद सभी उम्र की महिलाएं सर्वाइकल कैंसर को विकसित करने का जोखिम रखती हैं और वेजाइनल ब्लीडिंग पोस्टमेनियोपौसम महिलाओं में भी हो सकती है।

अपने चिकित्सक से तुरंत संपर्क करें यदि आप मासिक धर्म चक्र या यौन संभोग के बीच रक्तस्राव अनुभव करते हैं। 

(और पढ़ें – कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार)

जब आपका बॉडी मास इंडेक्स (बीएमआई) 18 या 19 से नीचे आता है, तो आपको बहुत कम बॉडी फैट के कारण पीरियड्स मिस होने का सामना करना पड़ सकता है।

एस्ट्रोजेन बनाने के लिए शारीरिक वसा महत्वपूर्ण है, जो आपके मासिक धर्म चक्र को नियंत्रित करता है। कम बॉडी फैट शरीर को एक आपातकालीन मोड में डालता है, जहां इसका मुख्य लक्ष्य केवल सबसे महत्वपूर्ण और जीवन-निरंतर कार्य करने पर होता है।

नियमित पीरियड्स के लिए और गर्भ धारण करने में सक्षम होने के लिए, आपका बीएमआई कम से कम 22 होना चाहिए।

यदि आपके पीरियड्स अनियमित आ रहे हैं, तो अपने बीएमआई की जांच करें। नियमित और स्वस्थ मासिक धर्म चक्रों को बढ़ावा देने के लिए अपनी बीएमआई को सामान्य सीमा में रखने का लक्ष्य बनाएँ।

(और पढ़ें - अपना बीएमआई जानने के लिए यहा देखें)

चूंकि आपका मासिक धर्म हार्मोन से संचालित होता है और हार्मोन उत्पादन और विनियमिट करने में आपका थायरॉयड बड़ी भूमिका निभाता है इसलिए पहली बार मासिक धर्म का समय से पहले या बहुत बाद में शुरू होना थाइरोइड की समस्या का संकेत हो सकता है।

साथ ही मासिक धर्म में अचानक बदलाव जैसे कि हल्का या भारी प्रवाह थायरॉयड की समस्या का संकेत हो सकता है।

भारी, अधिक बार, लंबे और अधिक दर्दनाक पीरियड्स को अक्सर हाइपोथायरायडिज्म (hypothyroidism) से जोड़ा जाता है, जबकि कम, लाइटर या अनुपस्थित पीरियड्स हाइपरथायराइडिज्म (hyperthyroidism) से जुड़ी हुई है।

यदि आप अपनी अवधि में थोड़ा बदलाव देख रहे हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से परामर्श करने और अपने थायरॉयड के स्तर की जाँच करने की आवश्यकता है। 

(और पढ़ें – धनिया का पानी फॉर थाइरोइड)

और पढ़ें ...