myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

चिंता संबंधी विकार (Anxiety disorders) मानसिक बीमारियों का एक समूह है, इनके कारण जो दिक्कतें पैदा होती हैं वह आपको अपना जीवन सामान्य रूप से व्यतीत करने से रोक सकता हैं। जो लोग एनज़ाइटी (Anxiety) से ग्रस्त होते हैं उन्हें, निरंतर चिंता और भय रहता है, वे अक्षम हो सकते हैं लेकिन सही उपचार के साथ, बहुत से लोग उन भावनाओं को प्रबंधित कर सकते हैं और अपना जीवन सामान्य रूप से जी सकते हैं।

चिंता विकार एक अपने आप हो जाने वाली, अज्ञात या अनियंत्रित बीमारी नहीं है, जो पारिवारिक कारणों या किसी के संपर्क में आने से हो जाए। यह एक निश्चित प्रकार के व्यवहार के कारण होता है।

(और पढ़ें - मानसिक रोग का कारण)

चिंता कोई रोग या बीमारी नहीं है, यह एक शारीरिक, मनोवैज्ञानिक और भावनात्मक स्थिति है जो परिणामस्वरूप हम शंकित व्यवहार करते हैं।

 

  1. चिंता के प्रकार - Types of Anxiety in Hindi
  2. चिंता के लक्षण - Anxiety Symptoms in Hindi
  3. चिंता के कारण और जोखिम कारक - Anxiety Causes & Risk Factors in Hindi
  4. चिंता से बचाव - Prevention of Anxiety in Hindi
  5. चिंता का परीक्षण - Diagnosis of Anxiety in Hindi
  6. चिंता का इलाज - Anxiety Treatment in Hindi
  7. चिंता की जटिलताएं - Anxiety Complications in Hindi
  8. चिंता में परहेज़ - What to avoid during Anxiety in Hindi?
  9. चिंता में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Anxiety in Hindi?
  10. चिंता की आयुर्वेदिक दवा और इलाज
  11. 5 हर्ब्स जो आपकी मदद करेंगी चिंता और तनाव को ख़त्म करने में
  12. चिंता दूर करने के घरेलू उपाय
  13. चिंता दूर करने के लिए योगासन
  14. चिंता की दवा - Medicines for Anxiety in Hindi
  15. चिंता की दवा - OTC Medicines for Anxiety in Hindi
  16. चिंता के डॉक्टर

चिंता के प्रकार - Types of Anxiety in Hindi

कुछ प्रकार के चिंता विकार -

  1. सामान्यकृत चिंता विकार (Generalized anxiety disorder (GAD)) में रोग ग्रस्त व्यक्ति किसी स्पष्ट कारण के बिना अत्यधिक चिंता करता है। जीएडी का निदान तब किया जाता है जब कुछ चीजों के बारे में अत्यधिक चिंताएं छह महीने या उससे अधिक समय तक रहती हैं।
     
  2. सामाजिक चिंता विकार (Social anxiety disorder) सामाजिक परिस्थितियों का सामना करने में लगने वाला भय और दूसरों के द्वारा अपमानित होने का गंभीर सामाजिक भय है।  इसमें रोगी अकेला और शर्मिंदा महसूस हो सकता है।
     
  3. पोस्ट-ट्रोमैटिक तनाव विकार (PTSD) - यह तब विकसित होता है जब आप कुछ दर्दनाक अनुभव करते  हैं। इसके लक्षण तुरंत नज़र आ सकते हैं या कुछ समय बाद नज़र आने शुरू हो सकते हैं इसके कारणों में युद्ध, प्राकृतिक आपदाएं या शारीरिक हमले शामिल हैं।
     
  4. जुनूनी-बाध्यकारी विकार (Obsessive-compulsive disorder (OCD)) भी एनज़ाइटी का एक प्रकार है। OCD से ग्रस्त लोग बार-बार कोई विशेष प्रकार का कार्य करने की इच्छा से अभिभूत होते हैं जैसे की बार बार हाथ धोना, सफाई करना, गणना करना आदि।
     
  5. फोबिया (Phobia) भी एनज़ाइटी का ही प्रकार है उदहारण के तौर पर तंग बंद स्थान से डर (claustrophobia) और ऊंचाइयों (acrophobia) से डर शामिल हैं। इस स्थिति में भयग्रस्त वस्तु या स्थिति से बचने की तीव्र इच्छा होती है।
     
  6. पैनिक विकार (Panic disorder) के कारण, पैनिक अटैक होता है जो गहन चिंता और डर का कारण बनता है। इसके शारीरिक लक्षणों में अनियमित दिल की धड़कनें, घबराहट, छाती में दर्द और सांस लेने में तकलीफ शामिल हैँ। ये किसी भी समय हो सकता है। किसी भी प्रकार की एनज़ाइटी से ग्रस्त लोगों को पैनिक अटैक हो सकते हैं। 

चिंता के लक्षण - Anxiety Symptoms in Hindi

सभी चिंता विकारों के कु सामान्य लक्षण हैं:

  1. घबराहट, भय और बेचैनी
  2. नींद सम्बंधित समस्याएं
  3. शांत और स्थिर रहने में अक्षमता 
  4. हाथ या पैर का ठंडा पड़ना, पसीने आना, सुन्न या झुनझुनाहट 
  5. सांस लेने में दिक्कत 
  6. शुष्क मुँह
  7. जी मिचलाना
  8. ऐंठी हुई मांसपेशियां
  9. चक्कर आना
  10. तेजी से श्वास लेना, या हाइपरवेन्टीलेशन (Hyperventilation)
  11. ज़्यादा पसीने आना 
  12. कमजोरी और सुस्ती
  13. जिस चीज के बारे में आप चिंतित हैं उसके अलावा किसी और चीज के ऊपर स्पष्ट रूप से ध्यान देने या सोचने में कठिनाई
  14. पाचन या जठरांत्र संबंधी समस्याएं

चिंता के कारण और जोखिम कारक - Anxiety Causes & Risk Factors in Hindi

चिंता के कारण

शोधकर्ताओं को ठीक से नहीं पता है कि वास्तव में एनज़ाइटी का क्या कारण होता है। मानसिक विकारों के अन्य रूपों की तरह, ये भी कुछ चीज़ों के संयोजन से होता है, जिनमें आपके मस्तिष्क और पर्यावरण में बदलाव, तनाव और आनुवंशिकता भी शामिल हैं।

हालाँकि ऐसा माना जाता है की शंकित व्यवहार, जैसे आकुलता, चिंता का कारण बनता है।चिंता एक विकार में बदल जाती है जब आकुलता और चिंता सामान्य जीवन शैली में हस्तक्षेप करते हैं। चिंता से हमें डरने की आवश्यकता नहीं है। यह मानना सामान्य है कि कुछ चीज़ हमें नुकसान पहुंचा सकती है। वास्तव में, डरना, शरीर के अस्तित्व तंत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। हम डर जाते हैं जब हमें यह लगता है कि हमें या किसी व्यक्ति या किसी चीज़ जिसकी हम परवाह करते हैं, को हानि पहुँच सकती है।

समस्या यह है कि ज़्यादा चिंतित रहने वाले व्यक्तिओं को उन लोगों की तुलना में खतरा ज़्यादा होता है जो कम चिंतित रहते हैं। बहुत अधिक चिंतित व्यवहार हमारे जीवन में चिंता विकार का कारण बनता है।

चिंता के जोखिम कारक

निम्नलिखित कारकों से चिंता विकार होने के जोखिम में वृद्धि हो सकती है -

  1. आघात - जिन बच्चों ने आघात या कोई दर्दनाक घटनाओं का सामना किया होता है, उन्हें अपने जीवनकाल में चिंता विकार होने का उच्च जोखिम होता है। इसी प्रकार बड़ों में भी कोई दर्दनाक घटना का अनुभव करने पर चिंता विकारों का विकास हो सकता है।
  2. बीमारी के कारण तनाव - बीमारी की स्थिति या गंभीर बीमारी से आपको आपके उपचार और भविष्य के मुद्दों पर चिंता हो सकती है।
  3. तनाव निर्माण - कोई बड़ी घटना या छोटी तनावपूर्ण जीवन परिस्थितियों का निर्माण बहुत ज़्यादा चिंता पैदा कर सकता है। उदाहरण के लिए - परिवार में एक मौत, काम के तनाव और किसी समस्या के बारे में चिंता होना।
  4. व्यक्तित्व - कुछ विशेष व्यक्तित्व के प्रकार के लोग दूसरों की तुलना में चिंता विकारों से ग्रस्त होते हैं।
  5. अन्य मानसिक स्वास्थ्य विकार - अन्य मानसिक स्वास्थ्य संबंधी विकारों वाले लोग, जैसे कि अवसाद, चिंता विकार का कारण बनता है।
  6. ड्रग्स या अल्कोहल - ड्रग्स या अल्कोहल का उपयोग या दुरुपयोग करने से चिंता विकार हो सकता है या उसके लक्षण बिगड़ सकते हैं।

चिंता से बचाव - Prevention of Anxiety in Hindi

चिंता विकार से बचने के लिए निम्नलिखित उपाय कर सकते हैं -

  1. तनाव प्रबंधन
    यदि आपको चिंता होती है, तो आपके जीवन में तनाव को कम करना महत्वपूर्ण है। आराम करने के तरीके ढूंढें। व्यायाम तनाव को दूर करने का एक अच्छा तरीका है। व्यायाम के अलावा, अपने नियमित काम से ब्रेक लें या छुट्टी की योजना बनाएं। यदि आपको किसी विशेष चीज़ का शौक है, तो उसके लिए समय निकालें। ऐसी चीजें करें जो आपको बेहतर महसूस करवाती हैं।
     
  2. अच्छे से खाएं
    एक स्वस्थ आहार खाने से आप शारीरिक और मानसिक दोनों रूप से बेहतर महसूस कर सकेंगे। कोशिश करें जब भी संभव हो, फल, सब्जियां और पूरे अनाज शामिल करें। चिकना, मीठा, उच्च वसा, संसाधित खाद्य पदार्थों का उपभोग न करें।
     
  3. हिसाब रखें
    अपने तनाव और चिंता वाली मनोदशा का हिसाब रखें। इन चीज़ों का हिसाब रखने से आपको याद रहेगा की किस कारण से आपको चिंता या तनाव होते हैं।
     
  4. अस्वस्थ पदार्थों से बचें
    तम्बाकू, ड्रग्स और शराब को अक्सर तनाव काम करने वाले पदार्थ माना जाता है लेकिन इनका उपयोग शरीर को वास्तव में नुकसान पहुंचाता है, जिससे तनाव और चिंता का सामना करना मुश्किल हो जाता है। कैफीन से भी चिंता विकार हो सकता है या उसे बढ़ा सकता है। सामान्य तौर पर, जो चीज़ें आपको स्वस्थ बनाती हैं वह आपको तनाव और चिंता से निपटने में मदद भी करती हैं।

चिंता का परीक्षण - Diagnosis of Anxiety in Hindi

यदि आपको चिंता विकार के लक्षण हैं, तो आपके डॉक्टर आपकी जांच करेंगे और आपके मेडिकल इतिहास की मांग करेंगे। वह आपके मानसिक विकार से सम्बंधित कुछ परिक्षण कर सकते हैं।
हालांकि, चिंता विकार का निदान करने के लिए कोई विशेष परिक्षण नहीं है

  1. यदि आपके डॉक्टर को कोई मेडिकल कारण नहीं मिल रहा है, तो वह आपको एक मनोचिकित्सक, मनोवैज्ञानिक या किसी अन्य मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ के पास जाने की सलाह दे सकते हैँ। ये डॉक्टर आपसे सवाल पूछेंगे और उपकरण एवं परीक्षण का इस्तेमाल करके पता लगाने का प्रयास करेंगे कि आपको चिंता विकार है या नहीं।
  2. आपका डॉक्टर आपका निदान करते समय आपके लक्षणों की अवधि और तीव्रता पर विचार करेंगे। वह यह भी देखेंगे कि क्या इसके लक्षणों के कारण आपको अपनी सामान्य गतिविधियों को पूरा करने में समस्या हो रही हैं या नहीं।

चिंता का इलाज - Anxiety Treatment in Hindi

चिंता विकार का इलाज दवा, मनोचिकित्सा या संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी (Cognitive behavioral therapy) के साथ किया जा सकता है। अक्सर, उपचार का सबसे अच्छा तरीका एक या दो प्रक्रियाओं का संयोजन होता है। चिंता विकारों का उपचार दीर्घकालिक रूप में किया जाना चाहिए। ज्यादातर मामलों में, इसका इलाज सफल होता है।

  1. दवा
    कई एन्टीडिप्रेसेन्ट दवाएं चिंता विकारों के इलाज में काम आ सकते हैं।
     
  2. मनोचिकित्सा (Psychotherapy)
    यह एक प्रकार की काउन्सलिंग है जो मानसिक बीमारी के लिए भावनात्मक प्रतिक्रिया को संबोधित करता है। एक मानसिक स्वास्थ्य विशेषज्ञ आपको आपके चिंता संबंधी विकार के बारे में समझाने और उससे निपटने के बारे में वार्तालाप के ज़रिये मदद करता है।
     
  3. संज्ञानात्मक व्यवहार थेरेपी (Cognitive behavioral therapy)
    यह एक प्रकार की मनोचिकित्सा है जिसमे आपको आपके सोचने के पैटर्न और व्यवहार में बदलाव जिनसे एनज़ाइटी होती है उनकी पहचान करना सिखाया जाता है।

चिंता की जटिलताएं - Anxiety Complications in Hindi

चिंता विकार होने से आपको निम्नलिखित जटिलताएं हो सकती हैं -

  1. अवसाद (जो अक्सर चिंता विकार के साथ होता है) या अन्य मानसिक स्वास्थ्य विकार।
  2. मादक द्रव्यों का सेवन करने की इच्छा।
  3. नींद आने में परेशानी (अनिद्रा)। (और पढ़ें - नींद ना आने के उपाय)
  4. पाचन या आंत्र की समस्याएं।
  5. सिरदर्द और लम्बे समय तक रहने वाला दर्द। (और पढ़ें - सिर दर्द के घरेलू उपाय)
  6. सामाजिक अलगाव।
  7. जीवन की खराब गुणवत्ता।
  8. आत्महत्या के विचार आना।

चिंता में परहेज़ - What to avoid during Anxiety in Hindi?

चिंता विकार में निम्नलिखित खाद्य पदार्थों का सेवन न करें -

  1. कॉफी
    कॉफी आपके शरीर में कोर्टिसोल के स्तर को बढ़ाता है जिससे आपको चिंता महसूस हो सकती है, इसीलिए चिंता विकार होने पर कॉफी के सेवन से बचें। (और पढ़ें - कॉफी पीने के फायदे और नुकसान)
  2. शराब
    हो सकता है कि चिंता विकार में आपको शराब पीने का मन करे परन्तु ऐसा करने से आपके लक्षण और बिगड़ सकते हैं।
     
  3. चीनी
    शराब की तरह ही चिंता विकार में आपको मीठे पदार्थ खाने का मन कर सकता है परन्तु ऐसा करने से आपके लक्षण और खराब हो सकते हैं। (और पढ़ें - मीठे की लत से छुटकारा पाने के लिए सरल तरीके)

चिंता में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Anxiety in Hindi?

चिंता विकार में निम्नलिखित खाद्य पदार्थों का सेवन लाभदायक हो सकता है -

  1. ओमेगा 3 फैटी एसिड युक्त खाद्य पदार्थ।
  2. प्रोबायोटिक वाले खाद्य पदार्थ।
  3. खूब सारा पानी।
  4. एंटीऑक्सीडेंट युक्त खाद्य पदार्थ।
  5. मैग्नीशियम वाले खाद्य पदार्थ।
  6. विटामिन बी युक्त पदार्थ।
Dr. Saurabh Mehrotra

Dr. Saurabh Mehrotra

मनोचिकित्सा

Dr. Om Prakash L

Dr. Om Prakash L

मनोचिकित्सा

Dr. Anil Kumar

Dr. Anil Kumar

मनोचिकित्सा

चिंता की दवा - Medicines for Anxiety in Hindi

चिंता के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
AnxitAnxit 0.125 Mg Tablet12
Libotryp TabletLibotryp 12.5 Mg/5 Mg Tablet72
AlpraxAlprax 0.25 Mg Tablet14
Amitar Plus TabletAmitar Plus Tablet18
SycodepSycodep 25 Mg/2 Mg Tablet0
NeuroxetinNeuroxetin 20 Mg/0.5 Mg Capsule37
EsnaEsna 10 Mg Tablet69
PlacidoxPlacidox 10 Mg Tablet19
Amitop PlusAmitop Plus 25 Mg/10 Mg Tablet29
ToframineToframine 25 Mg/2 Mg Tablet8
Rejunuron DlRejunuron Dl 30 Mg/750 Mg Capsule52
Es OkEs Ok 10 Mg Tablet47
ValiumValium 10 Mg Tablet60
Amitril PlusAmitril Plus 12.5 Mg/5 Mg Tablet14
TrikodepTrikodep 2.5 Mg/25 Mg Tablet0
Dulane MDulane M 20 Mg/1.5 Mg Tablet81
EsopamEsopam 10 Mg Tablet55
AlzepamAlzepam 10 Mg Tablet8
Amitryn CAmitryn C 12.5 Mg/5 Mg Tablet24
Trikodep ForteTrikodep Forte 5 Mg/50 Mg Tablet0
Dumore MDumore M Capsule103
EsopramEsopram 10 Mg Tablet52
BioposeBiopose 5 Mg Tablet2
Amitryn C PlusAmitryn C Plus 25 Mg/10 Mg Tablet37

चिंता की दवा - OTC medicines for Anxiety in Hindi

चिंता के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Baidyanath Brain TabletsBaidyanath Brain Tablets132
Baidyanath Brahmi Bati BuddhivardhakBaidyanath Brahmi Bati (Buddhivardh88
Dabur AshwagandharishtaDABUR ASHWAGANDHARISHTA SYRUP 680ML184
Dabur StresscomDabur Stresscom528
Baidyanath Yakuti RasBaidyanath Yakuti (Smkay)324
Divya AshwagandharishtaDivya Ashwagandharishta80
Baidyanath Jawahar Mohra No1Baidyanath Javahar Mohra No1364
Dabur AshwagandharishtaDabur Ashwagandharishta Syrup149
Baidyanath Chaturbhuj RasBaidyanath Chaturbhuja Ras(Say)1245
Dabur Vrihat Vatchintamani Ras TabletDABUR VRIHAT VATCHINTAMANI RAS WITH GOLD AND PEARL TABLET 30S2023
Baidyanath Chandraprabha VatiBaidyanath Chandra Prabha Bati88
Baidyanath Dimag Poushtik RasayanBaidyanath Dimag Poushtik Rasayan Tablet135

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. American Psychological Association [internet] St. NE, Washington, DC. Anxiety.
  2. National Health Service [Internet]. UK; Generalised anxiety disorder in adults
  3. National Institute of Mental Health [Internet] Bethesda, MD; Anxiety Disorders. National Institutes of Health; Bethesda, Maryland, United States
  4. Anxiety and Depression Association of America [internet] Silver Spring, Maryland, United States. Physical Activity Reduces Stress.
  5. National Alliance On Mental Illness [Internet] Virginia, United States; Find Support.
  6. Davidson JR, Wittchen HU, Llorca PM, et al. Duloxetine treatment for relapse prevention in adults with generalized anxiety disorder: a double-blind placebo-controlled trial. Eur Neuropsychopharmacol. 2008;18:673-681. PMID: 18559291
  7. National Institute of Mental Health [Internet] Bethesda, MD; Generalized Anxiety Disorder: When Worry Gets Out of Control. National Institutes of Health; Bethesda, Maryland, United States
और पढ़ें ...