myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

किसी भी प्रकार का संक्रमण होने पर हम में से अधिकांश एंटीबायोटिक दवाइयां लेते हैं। ऐसा नहीं है कि ये दवाइयां बैक्टीरिया के संक्रमण से सुरक्षा प्रदान नहीं करती है, लेकिन इनसे बहुत सारे साइड इफेक्ट्स भी होते हैं जैसे ब्लोटिंग, दस्त और कब्ज आदि। इसलिए आपको कुछ चीज़ों का ध्यान रखना चाहिए अगर आप एंटीबायोटिक्स ले रहे हैं। तो आइये जानते हैं इनके बारे में –

  1. एंटीबायोटिक लेने पर करें व्यायाम - Do Exercise When Taking Antibiotics in Hindi
  2. एंटीबायोटिक्स करें केवल बैक्टीरियल इन्फेक्शन के लिए उपयोग - Antibiotics Only for Bacterial Infections in Hindi
  3. सेल्फ मेडिकेशन के होते हैं हानिकारक प्रभाव - Harmful Effects of Self Medication in Hindi
  4. मसालेदार खाने से बचें एंटीबायोटिक दवाएं के साथ - Avoid Spicy Foods to Eat While on Antibiotics in Hindi
  5. एंटीबायोटिक के साथ करे दही का सेवन - Eating Yogurt While on Antibiotics in Hindi
  6. एंटीबायोटिक लेने पर करें खूब पानी का सेवन - Drinking Lots of Water While on Antibiotics in Hindi
  7. एंटीबायोटिक दवाओं के साथ लें विटामिन सप्लीमेंट - Take Vitamins with Antibiotics in Hindi

जब आप एंटीबायोटिक दवाओं पर होते हैं तब आप अपने चयापचय को बढ़ावा देने के लिए हल्का व्यायाम या योग कर सकते हैं। इससे न केवल आप सक्रिय महसूस करेंगे बल्कि आपको बीमारी से लड़ने में भी मदद मिलेगी। लेकिन सुनिश्चित करें कि आप उन्हें नियमित रूप से करें।

एंटीबायोटिक्स - 'एंटी' का अर्थ है खिलाफ और 'बायोटिक' का अर्थ है बैक्टीरिया। तो एंटीबायोटिक्स को केवल जीवाणु संक्रमण से निपटने के लिए लिया जाना चाहिए। इनका उपयोग वायरल या फंगल रोगों का इलाज करने के लिए नहीं करना चाहिए।

सामान्य एंटीबायोटिक दवाओं की खुराक की सलाह दिन में 2 - 3 बार की जाती है। लेकिन कभी भी अपनी मर्ज़ी से दवा न लें क्योंकि कुछ अधिक मात्रा में सेवन पाचन संबंधी जटिलताएं पैदा कर सकता है। सबसे महत्वपूर्ण बात, जब आप डॉक्टर द्वारा बताई गई एंटीबायोटिक दवाइयां लेते हैं तो कुछ दिनों बाद बेहतर महसूस करते समय इनका सेवन ना रोकें। अगर आपको लगता है कि आप बेहतर महसूस कर रहे हैं तो अपने डॉक्टर से मिलें। इसके अलावा एंटीबायोटिक्स लेते समय कब्ज या दस्त जैसी पाचन समस्याओं का अनुभव करना काफी सामान्य है। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि आप दवाएं लेना बंद कर दें। अपने डॉक्टर से परामर्श करें और उन्हें इस बारे में सूचित करें। वह दवाओं को बदल सकते हैं।

आमतौर पर, एंटीबायोटिक दवाएं भोजन के बाद ली जाती है। लेकिन कुछ मामलों में आपका चिकित्सक पहले या भोजन के साथ लेने की सलाह दे सकते है। इसलिए मसालेदार भोजन और अल्कोहल से बचें जब आप इन दवाइयों का सेवन करते हैं बेशक आपको दवाई खाने खाने से पहले, साथ में या बाद में लेनी पड़ें। दवा लेने के दौरान, जो भोजन पचाने में आसान और कम नमक वाला हो, उसका सेवन करना अधिक अच्छा होता है क्योंकि इससे आपका पाचन कम प्रभावित होगा। इसके अलावा, तेलयुक्त भोजन से दूर रहें और सुनिश्चित करें कि आप पर्याप्त मात्रा में ही भोजन करते हैं।

एंटीबायोटिक्स भी पेट के बैक्टीरिया पर हमला करते हैं, जो वास्तव में हानिकारक बैक्टीरिया के साथ शरीर के लिए फायदेमंद है। आप अपने भोजन में प्रोबायोटिक्स या दही शामिल करना चाहिए ताकि एंटीबायोटिक दवाओं के हानिकारक प्रभावों को कम किया जा सकें।

जब आप एंटीबायोटिक लेते हैं तो सुनिश्चित करें कि आप हर दिन 2-3 लीटर पानी पीते हैं। एंटीबायोटिक लेने पर अपने शरीर को हाइड्रेट बनाए रखने के लिए आप ताजे फल का रस भी पी सकते हैं क्योंकि यह शरीर से हानिकारक रसायनों को बाहर निकालने में मदद करता है।

एंटीबायोटिक दवाओं पर जब आप एंटासिड और विटामिन सप्लीमेंट ले सकते हैं। लेकिन अधिमानतः दवा लेने के दौरान आयरन सप्लीमेंट लेने से बचें। आप कैल्शियम सप्लीमेंट का सेवन जारी रख सकते हैं।

और पढ़ें ...