संक्षेप में सुनें

कब्ज होने का मतलब है मलत्याग में परेशानी होना या मल का सामान्य से कम आना। कब्ज एक ऐसी स्थिति होती है जिसमें व्यक्ति का पाचन तंत्र खराब हो जाता है, जिसके कारण वह जो भी खाना खाता है उसे पचा नहीं पाता है। यह आमतौर पर गंभीर नहीं है।

कब्ज आँतों के परिवर्तन की वह स्थिति है, जिसमें मल निष्कासन की मात्रा कम हो जाती है, मल कड़ा हो जाता है, उसकी गति घट जाती है या मल निष्कासन के समय अधिक बल का प्रयोग करना पड़ता है। मल त्याग की गति हर व्यक्ति में अलग-अलग होती है। लेकिन सप्ताह में 3 दिन से अधिक तक शौच ना जाना बहुत लंबा हो जाता है। ऐसे में कब्ज की  स्थिति बन जाती है जिसमें मल त्याग में मुश्किल और अधिक कठिनाई होने लगती है। 

  1. कब्ज के लक्षण - Constipation Symptoms in Hindi
  2. कब्ज के कारण - Constipation Causes in Hindi
  3. कब्ज से बचाव - Prevention of Constipation in Hindi
  4. कब्ज का परीक्षण - Diagnosis of Constipation in Hindi
  5. कब्ज का इलाज - Constipation Treatment in Hindi
  6. कब्ज से तुरंत राहत पाने के लिए क्या करना चाहिए
  7. कब्ज के घरेलू उपाय
  8. कब्ज में परहेज, क्या खाएं और क्या न खाएं
  9. कब्ज के लिए योग
  10. कब्ज की दवा - Medicines for Constipation in Hindi
  11. कब्ज की दवा - OTC Medicines for Constipation in Hindi
  12. कब्ज के डॉक्टर

कब्ज में मल सख्त हो जाता है जिसकी वजह से मलत्याग में अधिक बल लगाना पड़ता है।

कब्ज से पीड़ित लोग प्रतिदिन मलत्याग के लिए नहीं जाते हैं जिससे इनकी परेशानी बढ़ जाती है और मलत्याग में अधिक मुश्किल होती है।

ऐसे लोगों की जीभ सफेद या मटमैली हो जाती है और मुंह का स्वाद भी खराब हो जाता है। साथ ही मुंह से बदबू भी आने लगती है।

कब्ज के रोगियों को भूख नहीं लगती है, साथ ही मतली और उलटी की स्थिति बनी रहती है।

बाथरूम जाने के बाद अधूरे मल त्याग की भावना, पेट में सूजन या पेट दर्द आदि भी कब्ज के लक्षणों में आते हैं।

कब्ज तब होती है जब कोलन बहुत अधिक पानी को अवशोषित करता है; यह तब हो सकता है जब कोलन की मांसपेशियां धीरे-धीरे संक्रमित हो जाती है, जिससे शरीर में पानी की कमी होती है और पानी की कमी से आँतो में मल सूखने लगता है जिससे मल त्याग में मुश्किल होती है।

  1. आहार में फाइबर की कमी है कब्ज का कारण - Lack of Fiber Cause Constipation in Hindi
  2. शारीरिक निष्क्रियता हैं कब्ज के कारण - Kabj ke Karan Physical Inactivity in Hindi
  3. कब्ज की समस्या की वजह है दवाईयाँ - Constipation Caused by Medication in Hindi
  4. डेयरी उत्पादों के अधिक सेवन से कब्ज - Constipation Caused by Milk in Hindi
  5. कॉन्स्टिपेशन इन प्रेगनेंसी - Constipation Related to Pregnancy in Hindi
  6. बढ़ती उम्र है कॉन्स्टिपेशन की वजह - Constipation Due to Aging in Hindi
  7. सामान्य रुटीन में बदलाव है कब्ज रोग - Change in Routine Causes Constipation in Hindi
  8. लैक्सेटिव का अधिक इस्तेमाल बढ़ाता है कब्ज का खतरा - Overuse of Laxatives Causing Constipation in Hindi
  9. समय पर शौच ना जाना भी है कब्ज की वजह - Delaying Bowel Movements Cause Constipation in Hindi
  10. निर्जलीकरण है कब्ज होने का कारण - Constipation Caused by Dehydration in Hindi
  11. बिमारियों के कारण भी होती है कब्ज - Constipation Related Diseases in Hindi

1) आहार में फाइबर की कमी है कब्ज का कारण - Lack of Fiber Cause Constipation in Hindi

जिन लोगों के आहार में फाइबर की अच्छी मात्रा शामिल है उनमें कब्ज से पीड़ित होने की संभावना काफी कम होती है।

फल, सब्जियां और साबुत अनाज जैसे फाइबर से समृद्ध पदार्थों का उपभोग करना महत्वपूर्ण होता है। फाइबर आँतो के कार्यों को बढ़ावा देता है और कब्ज को रोकता है। 

(और पढ़ें –कब्ज की समस्या में उपयोगी जूस की रेसिपी)

2) शारीरिक निष्क्रियता हैं कब्ज के कारण - Kabj ke Karan Physical Inactivity in Hindi

अगर कोई भी व्यक्ति शारीरिक रूप से निष्क्रिय होता है तो उसे कब्ज हो सकती है।

ऐसे व्यक्ति जिन्होनें लंबा समय (कई दिनों या हफ्तों के लिए) बिस्तर पर बिताया है तो उनमें कब्ज होने का जोखिम काफी बढ़ जाता है। कुछ विशेषज्ञों का मानना है कि शारीरिक गतिविधि हमारे चयापचय को उच्च रखती है, जिससे हमारे शरीर में प्रक्रियाएं अधिक तेजी से होती है।

बड़ों लोगों का युवाओं की तुलना में जीवन अधिक गतिहीन होता है और इसलिए कब्ज का खतरा उनमें अधिक होता है। शारीरिक रूप से सक्रिय लोगों को निष्क्रिय लोगों की तुलना में कब्ज होने की संभावना काफ़ी कम है।

3) कब्ज की समस्या की वजह है दवाईयाँ - Constipation Caused by Medication in Hindi

सबसे आम दवाएं जो कब्ज पैदा होने का कारण है :

नारकोटिक (Narcotic) दर्दनाशक दवाएं जिनमें कोडेन (codeine), ऑक्सीकोडोन (oxycodone) और हाइड्रोमोरफोन (hydromorphone) शामिल हैं।
एमीड्राप्टीलाइन (amitriptyline) और इपिपीरामिन (imipramine)।
एंटीकनवाल्केट्स जिनमें फेनोटोइन (phenytoin) और कार्बामाज़िपिन (carbamazepine) आइरन की खुराक शामिल होती है।
कैल्शियम चैनल ब्लॉकिंग दवाएं जिनमें डिलटिज़ेम (diltiazem) और निफाइडिपिन (nifedipine) शामिल हैं।

4) डेयरी उत्पादों के अधिक सेवन से कब्ज - Constipation Caused by Milk in Hindi

कुछ लोगों को दूध और डेयरी उत्पादों का अधिक उपभोग करने के बाद कब्ज़ हो सकती है।

5) कॉन्स्टिपेशन इन प्रेगनेंसी - Constipation Related to Pregnancy in Hindi

गर्भावस्था हार्मोनल परिवर्तनों को लाती है जो कि एक महिला को कब्ज के प्रति अधिक अतिसंवेदनशील बना सकती हैं। इसके अलावा गर्भाशय आँतो को संकुचित कर सकता है जिससे भोजन मार्ग धीमा हो सकता है।

(और पढ़ें – गर्भावस्था के दौरान बिल्कुल ना खाएँ यह खाना)

6) बढ़ती उम्र है कॉन्स्टिपेशन की वजह - Constipation Due to Aging in Hindi

जैसे-जैसे हम बड़े होते हैं, हमारे चयापचय धीमा पड़ जाता है, जिसके परिणामस्वरूप आँतो की गतिविधि कम हो जाती है।

(और पढ़ें – अपनी त्वचा से उम्र के प्रभाव को दूर करने के तरीके)

7) सामान्य रुटीन में बदलाव है कब्ज रोग - Change in Routine Causes Constipation in Hindi

जब हम यात्रा करते हैं, तो हमारे सामान्य रुटीन में परिवर्तन होते हैं। जिसका हमारे पाचन तंत्र पर प्रभाव पड़ता है जिससे कभी-कभी कब्ज उत्पन्न होती है। समय पर भोजन ना करना, समय पर सोना या जागना आदि ये सभी परिवर्तन कब्ज के जोखिम को बढ़ा सकते हैं। 

(और पढ़ें – दिन मेँ सोना अच्छा है या नहीं आयुर्वेद के अनुसार)

8) लैक्सेटिव का अधिक इस्तेमाल बढ़ाता है कब्ज का खतरा - Overuse of Laxatives Causing Constipation in Hindi

कुछ लोगों का मानना है कि हमें दिन में कम से कम एक बार शौचालय जाना चाहिए, लेकिन यह सच नहीं है। लेकिन एक बार शौचालय जाने के लिए कुछ लोग लैक्सेटिव का उपयोग करते हैं।

लैक्सेटिव आपकी आँतो के कार्यों में मदद करने के लिए प्रभावी होते है। हालांकि लैक्सेटिव का नियमित रूप से उपयोग शरीर इसका आदी बन जाता है जिससे धीरे धीरे खुराक को बढ़ाने की आवश्यकता होती है। लैक्सेटिव पर निर्भर हो जाने के बाद अगर अचानक से बंद कर दें तो कब्ज होने का खतरा बढ़ जाता है।

9) समय पर शौच ना जाना भी है कब्ज की वजह - Delaying Bowel Movements Cause Constipation in Hindi

जैसे ही मल का वेग (velocity) आता है तुरंत शौच के लिए जाना चाहिए। दिन के समय हमें अचानक मल का वेग आने लगता है उस समय हम अपने कार्य-स्थान में व्यस्त होने के कारण या किसी अन्य कारण से शौच के लिए नहीं जा पाते हैं। लंबे समय तक देरी की वजह से मल सूखने लगता है जिससे बाद में मल त्याग के समय मुश्किल होती है। (और पढ़ें – अमरूद खाने के लाभ देते हैं कब्ज से राहत)

10) निर्जलीकरण है कब्ज होने का कारण - Constipation Caused by Dehydration in Hindi

यदि कब्ज पहले ही मौजूद है, तो अधिक तरल पदार्थ पीने से इससे राहत नहीं मिल सकती है। हालांकि, नियमित रूप से भरपूर पानी पीने से कब्ज का खतरा कम होता है।

कई सोडा और पेय में कैफीन होता है जो निर्जलीकरण पैदा कर सकते हैं जिससे कब्ज ओर अधिक बिगड़ सकता है। शराब भी शरीर को डिहाइड्रेट करता है इसलिए उन व्यक्तियों को शराब के सेवन से बचना चाहिए जो कब्ज के प्रति अतिसंवेदनशील होते हैं। (और पढ़ें – नारियल पानी बेनिफिट्स बचाएं निर्जलीकरण से)

11) बिमारियों के कारण भी होती है कब्ज - Constipation Related Diseases in Hindi

कोलन, मलाशय या गुदा के माध्यम से मल के कार्यों को धीमा करने वाले रोग कब्ज पैदा कर सकते हैं:

जो लोग इरिटेबल बोवेल सिंड्रोम (आईबीएस) से पीड़ित होते हैं, उनको दूसरों की तुलना में अधिक बार कब्ज होती है।

तंत्रिका संबंधी विकार - एमएस (मल्टीपल स्केलेरोसिस), पार्किंसंस रोग, स्ट्रोक, रीढ़ की हड्डी की चोट

एनडोक्राइन और मेटबॉलिक कंडीशन्स - यूरिमिया, मधुमेह, हाइपरलकसेमिया, खराब ग्लाइसेमिक नियंत्रण, हाइपोथायरायडिज्म

सिस्टेमिक डिसीज - ये ऐसे रोग हैं जो कई अंगों और ऊतकों को प्रभावित करते हैं या पूरे शरीर को प्रभावित करते हैं, इनमें लूपस, स्केलेरोद्मा (scleroderma), अमाइलॉइडिसिस (amyloidosis) शामिल हैं।

कैंसर - मुख्य रूप से दर्द वाली दवाओं और कीमोथेरेपी के कारण। 

(और पढ़ें – कैंसर से लड़ने वाले दस बेहतरीन आहार)

यह बहुत दर्दनाक होता है जब मल आपकी आंतो में फंस जाता है और आपकी हर कोशिका को मल बाहर निकालने के लिए बहुत अधिक ज़ोर और ऊर्जा लगानी पड़ती है। और कभी-कभी बहुत दबाव डालने के बाद भी मल नहीं निकलता है। लेकिन अब आपको चिंता करने की ज़रूरत नहीं है, बस आप अपनी आहार और जीवन शैली में परिवर्तन करके कब्ज का स्थायी समाधान कर सकते हैं।

  1. कब्ज से छुटकारा पाने के लिए आहार - Diet Plan for Constipation in Hindi
  2. कब्ज दूर करें व्यायाम से - Exercise Helps in Constipation in Hindi
  3. कब्ज से बचने के लिए रात में देर तक जागने से बचें - Change Sleeping Habits for Constipation in Hindi

1. कब्ज से छुटकारा पाने के लिए आहार - Diet Plan for Constipation in Hindi

कब्ज एक पाचन विकार है और कब्ज के इलाज और रोकथाम के लिए, आहार मुख्य भूमिका निभाता है। नियमित आधार पर पौष्टिक आहार लेने से कब्ज की समस्या को कम या पूरी तरह से समाप्त किया जा सकता है।

कब्ज मिटाने का उपाय है ताजी सब्जियों और फलों का सेवन - Foods to Eat in Constipation in Hindi

अपने आहार में फाइबर का सेवन बढ़ाएं और अपने आप को हाइड्रेटेड रखें। कोलन की सफाई के लिए प्रति दिन 8-10 गिलास पानी पिएं। अपने पाचन तंत्र को समर्थन देने के लिए केवल आसानी से पचने वाला भोजन खाएं। अपने आहार में ताजी सब्जियों और फलों को शामिल करें। अमरूद, संतरे, सेब, पालक, मशरूम, गोभी, मूली आदि कब्ज में बहुत फायदेमंद होते हैं। सलाद को अपने भोजन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा बनाएं। अपने भोजन में जीरा,हल्दी और अजवाइन जैसे मसालों को मिलाएँ।

कब्ज दूर करने के लिए बचें मैदा उत्पादो से - Foods to Avoid in Constipation in Hindi

मैदा उत्पादो के सेवन से बचें क्योंकि मैदा से बनने वाले उत्पाद आपकी कब्ज को ओर अधिक खराब कर देते हैं। अधिक तेल, मसालेदार और भारी मीट खाने से बचें। अपने आहार से कॉफी, शराब और ठंडे पेय को हटा दें। पैस्चराइज़्ड दूध और रेफाइंड स्टार्च कब्ज को बढ़ाता है, इसलिए इनसे बचें। दूध और डेयरी उत्पादों का सेवन कम करें। (और पढ़ें : शरीर में पानी की कमी को दूर करने के उपाय)

2. कब्ज दूर करें व्यायाम से - Exercise Helps in Constipation in Hindi

कब्ज को दूर करने के लिए व्यायाम करना भोजन के जितना ही महत्वपूर्ण है। लंबे समय तक बैठने से बचें और थोड़ा घूमे फिरे। पवन मुक्तासन, धनुरासन, वज्रासना जैसे योगाभ्यास कब्ज के मामले में चमत्कार कर सकते हैं। 

(और पढ़ें - जानिये व्यायाम छोड़ने का क्या होता है आपके शरीर का प्रभाव)

3. कब्ज से बचने के लिए रात में देर तक जागने से बचें - Change Sleeping Habits for Constipation in Hindi

सुबह जल्दी उठे और सैर पर जाएँ। रात में देर तक जागने से बचें और सोने से पहले एक गिलास गर्म पानी पिएं। सुबह में ही शौच जाने की आदत डालें। शौच जाने की इच्छा को लंबे समय तक ना दबाए नहीं तो यह भी कब्ज का कारण बन सकती है। (और पढ़ें - सुबह जल्दी उठाने के फ़ायदें) 

कब्ज को आसानी से आहार और जीवन शैली में परिवर्तन करके रोका जा सकता है। इन परिवर्तनों को अपने जीवन में अपनाएं और कब्ज के खिलाफ अपने पाचन तंत्र के संघर्ष को कम करें। (और पढ़ें - गर्म पानी पीने के फ़ायदें)

किन परीक्षणों से सख्त कब्ज़ का निदान होता है?

मेडिकल इतिहास - सख्त कब्ज़ को जांचने के लिए बहुत तरह के निदान उपलब्ध है। पहले डॉक्टर आपकी मेडिकल इतिहास लेंगे और शारीरिक परिक्षण करेंगे जिससे उन्हें यह पता चल सके कि आपको किस तरह की कब्ज़ है।

शारीरिक परिक्षण - शारीरिक परिक्षण से उन बिमारियों के बारे में पता चल सकता है जिससे कब्ज़ हुई है।

और कई तरह के परिक्षण उन लोगों के लिए उपलब्ध है जिनका किसी भी तरह के इलाज से कोई भी फर्क नहीं पड़ा। जैसे कि -

  1. खून की जांच - खून की जांच से भी आपकी स्थिति के बारे में पता चल सकता है। अधिक विशेष रूप से, खून की जांच थायराइड हार्मोन और कैल्शियम की करने में मदद मिलेगी। (और पढ़ें - महिलाओं में थायराइड लक्षण)
  2. पेट का  एक्स-रे करना - पेट का एक्स-रे कराने से आपके पेट में मौजूद पदार्थ के बारे में पता चलता है, जितना कठोर कब्ज़ होगा उतना ज़्यादा वह एक्स-रे पर दिखाई देगा।
  3. बेरियम एनीमा (Barium enema) - इससे यह पता लगाता है कि आंत्र और मलाशय ठीक तरह से काम कर रहे है या नहीं।
  4. कोलोनिक्स पारगमन अध्ययन (Colonic transit (marker) studies) - कोलोनिक्स पारगमन अध्ययन सरल अध्ययन होते हैं। जिसमें यह पता लगा जाता है कि खाना आंत्र से बाहर आने में कितना समय ले रहा है।
  5. डेफिकोग्र्राफी (Defecography) - डेफिकोग्र्राफी बेरियम एनीमा परिक्षण का उपांतरण है।
  6. एनोरेक्टल गतिशीलता का अध्ययन (Ano-rectal motility studies) - एनोरेक्टल गतिशीलता अध्ययन डेफिकोग्र्राफी का पूरक है, जो गूदे और मलाशय की नस और मांसपेशियों के कार्य के निर्धारण के बारे में बताता है।  
  7. चुंबकीय अनुनाद  इमेजिंग  डेफिकोग्र्राफी (Magnetic resonance imaging defecography) - मल त्यागने की गतिविधि का अध्ययन करने के लिए यह बहुत बढ़िया तरीका है ।

कब्ज़ का उपचार कैसे करें?

लम्बे समय से रहने वाली कब्ज़ का इलाज अक्सर आहार और जीवन शैली में परिवर्तन करने से होता है। जिससे कि कब्ज़ ठीक हो सकें। अगर इन परिवर्तनों से मदद नहीं मिलती, तब डॉक्टर दवाइयां लेने के लिए कहेंगे।और अगर दवाइयों से भी फर्क नहीं पड़ता तो सर्जरी द्वारा कब्ज़ का इलाज किया जाता है।

  1. आहार और जीवन शैली में परिवर्तन  - डॉक्टर निम्नलिखित परिवर्तन करने की सलाह देंगे जिससे कब्ज़ में आराम मिले -

    • आहार में फाइबर की मात्रा बढ़ाना - आहार में फाइबर की मात्रा बढ़ाने से मल का वजन बढ़ जायेगा जिससे कब्ज़ की समस्या ठीक हो जाएगी।
    • व्यायाम करना - शारीरिक गतिविधि हमारे आंत्र की मांसपेशियों की गतिविधि को बढ़ाती है। जितना हो सके उतना रोज़ व्यायाम करने की कोशिश करें।
    • मल रोकना - खुदको मल त्यागने से न रोके।
  2. जुलाब - बहुत तरीकों के जुलाब मौजूद है। हर जुलाब मल त्यागने को आसान बनाने के लिए अलग अलग तरीकों से काम करता है। निम्लिखित विकल्प ओवर द काउंटर मौजूद रहते हैं -

    • फाइबर युक्त जुलाब (Fiber supplement)- फाइबर मल को भारी कर देता है।

    • ऑस्मोटिक जुलाब (Osmotics) - ऑस्मोटिक जुलाब तरल पदार्थ को पेट से बाहर आने में मदद करता है।

    • स्नेहक जुलाब (Lubricant) - स्नेहक जैसे कि खनिज तेल मल को पेट से बाहर निकालने में सहायता देता है।

    • मल को नर्म करने वाले जुलाब (stool softeners) - मल को नर्म करना जैसे कि डोक्यूसेट सोडियम (कोलेस) docusate sodium (Colace) आंत्र से पानी निकालकर मल को गिला कर देता है।

    • एनिमा और सपोजिटरी जुलाब  (suppositories) -  सोडियम फॉस्फेट (फ्लीट) Sodium phosphate (Fleet), से मल नर्म हो जाता है। और मल त्यागने के लिए त्यार कर देता है। ग्लिसरीन से भी मल नर्म हो जाता है।

  3. पेल्विक मांसपेशियों वाले व्यायाम करना - डॉक्टर पेल्विक मांसपेशियों के व्यायाम करवाते हैं, जिससे हमारी पेल्विस की मांसपेशी मजबूत होती है और मल त्यागना आसान हो जाता है।

  4. सर्जरी - जिन लोगों का बाकी सब इलाजों से भी कब्ज़ में फर्क नहीं पड़ा। उनके पास सर्जरी द्वारा पेट का हिस्सा निकालने का विकल्प बचता है। पूरे पेट को सर्जरी द्वारा निकालने की आवश्यकता शायद ही कभी होती है।

  5. वैकल्पिक दवाई - कुछ लोग दवाइयों के साथ-साथ वैकल्पिक उपचार भी करते हैं, जिससे की उनका कब्ज़ ठीक हो सके। प्रोबायोटिक जैसे कि लैक्टोबैसिलस के इस्तेमाल से भी कब्ज़ में आराम मिल सकता है।   

Dr. Sunil Kumar

Dr. Sunil Kumar

सामान्य चिकित्सा

Dr. Mohammad Gufran

Dr. Mohammad Gufran

सामान्य चिकित्सा

Dr. Chandrasekhar Sai

Dr. Chandrasekhar Sai

सामान्य चिकित्सा

कब्ज के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
ColocleanColoclean Powder215.0
EndopegEndopeg Sachet92.0
PegmovePegmove 121.1 Gm Powder165.0
PegredPegred 17 Gm Powder192.0
PegvelPegvel 17 Gm Sachet37.0
ReluxRelux Oral Laxative Liquid190.0
DuphalacDuphalac 3.35 Gm/5 Ml Oral Solution463.0
EvictEvict Syrup92.0
LaxdayLaxday Syrup201.0
LaxilLaxil Solution108.0
LaxiwalLaxiwal Syrup205.0
LaxoseLaxose Solution201.0
LivolukLivoluk Kid Syrup61.0
LoozLooz 10 Gm Syrup Orange368.0
RapiduceRapiduce 3.35 G/5 Ml Suspension87.0
SmulaxSmulax Liquid102.0
BiomazeBiomaze Solution113.0
CadiloseCadilose 10 Gm Solution205.0
CremapilCremapil 10 Gm Syrup36.0
GerolacGerolac 10 Gm Syrup82.0
InluseInluse Syrup244.0
LacrestLacrest Syrup78.0
LactuloseLactulose Syrup121.0
LactusafeLactusafe Syrup198.0
LacxLacx Syrup65.0
LaxanLaxan Solution314.0
Laxat (Guj)Laxat Solution142.0
LaxolinLaxolin Solution57.0
LuxatinLuxatin Syrup129.0
MedilaxMedilax Syrup49.0
MtlacMtlac Syrup98.0
Nulax (Nulife)Nulax Solution149.0
RegutRegut Sachet23.0
RilizRiliz 10 Gm Solution155.0
StulaxStulax Syrup219.0
Bestoloos SyrupBestoloos Syrup166.0
Bowell SachetBowell Sachet15.0
BowleaseBowlease Solution84.0
BulkyBulky Syrup76.0
ConcureConcure Solution73.0
Con StopCon Stop Syrup190.0
DulaxDulax Syrup76.0
EldolucEldoluc 10 Gm Syrup56.0
EmtyEmty Oral Solution102.0
EsivacEsivac Oral Solution185.0
EvalexEvalex Syrup72.0
EzingEzing Solution119.0
FreelaxFreelax Liquid57.0
FreskyFresky Solution159.0
GentaloseGentalose Syrup349.0
Heptulac FiberHeptulac Fiber Solution102.0
KomfylacKomfylac Syrup137.0
LacsanLacsan Syrup54.0
LactolookLactolook Syrup102.0
LactomenLactomen Syrup76.0
LactopilLactopil Syrup79.0
LactudosLactudos Oral Solution306.0
LactulacLactulac 3.325 Gm Syrup220.0
Lactulax (Samarth)Lactulax 3.35 Ml Syrup65.0
LactulinLactulin Solution Orange60.0
LactunetLactunet Syrup105.0
LactusoftLactusoft Syrup158.0
LaxaidLaxaid Sachet8.0
LaxitoseLaxitose Syrup117.0
LaxiumLaxium Liquid178.0
LaxodocLaxodoc Solution83.0
Lose ItLose It 100 Ml Solution113.0
LuxolLuxol 10 Gm Powder140.0
NostipanNostipan Solution114.0
OalooseOaloose Oral Solution132.0
OsolacOsolac 3.32 Gm Syrup68.0
PurolacPurolac Syrup230.0
SacruloseSacrulose Syrup71.0
SafaxSafax Solution79.0
Safex (Zee)Safex Liquid81.0
SwiftolacSwiftolac Syrup155.0
SwilacSwilac Solution50.0
TotalaxTotalax Fiber Solution160.0
Tyulose SyrupTyulose Syrup115.0
SoftdropsSoft Drops Liquigel208.0
AqualubeAqualube 0.5 % W/V/1%W/V Eye Drop190.0
Just TearsJust Tears 0.3% W/W/1% W/W Ointment100.0
LavotearsLavotears 0.3%W/W/1%W/W Eye Ointment95.0
DelcolicDelcolic 10 Mg Injection9.75
AncoolAncool Sf Suspension144.0
Ccs UltraCcs Ultra Eye Drop280.0
Eco FreshEco Fresh Eye Drop250.0
FougFoug Eye Drop199.0
OcumoistOcumoist Eye Drop107.0
Peg TearsPeg Tears Eye Drop301.0
Systane UltraSystane Ultra Eye Drop376.0
MoistaneMoistane Eye Drop319.0
Normo TearsNormo Tears Eye Drop299.0
SensiyesSensiyes Eye Drop295.0
AraAra Eye Drop175.0
Cremalax TabletCremalax 10 Mg Tablet63.5
Dyrset EzeDyrset Eze Tablet22.0
DyrsetDyrset Tablet25.0
LaxecuteLaxecute 10 Mg Tablet49.0
NormalaxNormalax 10 Mg Tablet52.0
NovalaxNovalax Syrup55.0
OslaxOslax 5 Mg Syrup69.85
PiclinPiclin 10 Mg Tablet51.0
Picolax(Sp Pharma)Picolax Tablet30.0
PicsulPicsul 10 Mg Tablet38.5
PixitPixit 5 Mg/5 Ml Syrup75.0
SopilaxSopilax Tablet22.6
UltralaxUltralax 5 Mg Syrup60.47
AlpicnoAlpicno 5 Mg Syrup23.56
ColaxColax 10 Mg Tablet53.0
ColvacColvac 10 Mg Tablet54.0
Coso LaxativeCoso Laxative Syrup45.0
Galdom SpGaldom Sp Syrup53.91
Gerbisa LGerbisa L 5 Mg/5 Ml Syrup132.0
LaxeLaxe Suspension60.0
LaxsureLaxsure 10 Mg Tablet59.17
PicofastPicofast 5 Mg Syrup60.0
PicopilPicopil 5 Mg Syrup65.0
PicowinPicowin 5 Mg Syrup60.0
PicozanPicozan Syrup48.46
ConlaxConlax 10 Mg Suppository41.38
DulcoflexDulcoflex 10 Mg Suppository104.5
GerbisaGerbisa 10 Mg Suppository100.0
IglaxIglax Suspension80.0
JulaxJulax 10 Mg Tablet31.05
KilaxKilax Tablet24.2
LaxLax 10 Mg Tablet16.8
LupiplaxLupiplax Tablet10.5
BaxativBaxativ 5 Mg Suppository53.61
Bisafort TabletBisafort Tablet12.5
BisomerBisomer 5 Mg Tablet4.32
LaxidylLaxidyl Tablet4.35
SwilaxSwilax 5 Mg Tablet5.0
Bisacad TabletBisacad Tablet5.62
ConstezConstez 10 Gm Powder20.0
EncelaxEncelax 10 Gm Powder72.8
EvaqEvaq Syrup195.0
GutclearGutclear Syrup195.45
HapilacHapilac Syrup182.86
LacsyoLacsyo Syrup154.0
LacsypLacsyp Syrup169.0
LactironLactiron 10 Gm Syrup249.0
TorrelaxTorrelax Syrup180.0
Totalax NfTotalax Nf Syrup200.0
AqualacAqualac Syrup180.5
LaxitolLaxitol Powder179.05
OsmitolOsmitol Syrup235.0
ExitolExitol Granules29.5
LacrelaxLacrelax 1000 Mg Granules145.0
LactizipLactizip Syrup94.05
Hallens Glycerin (Adult)Hallens Glycerin (Adult) Suppository70.0
Hallens Glycerin (Pead)Hallens Glycerin (Pead) 75% W/W Suppository66.0
Hgs InfantHgs Infant 75% Suppository70.0
DuestomDuestom Gel Strawberry99.0
Glycerin (Cip)Glycerin Suppository20.83
GlycerineGlycerine Liquid33.0
Glycerin (Zydus)Glycerin 2 Gm Suppository85.0
IbsinormIbsinorm 2 Mg Tablet28.93
Tegaspa(Lup)Tegaspa 6 Mg Tablet55.6
TegibsTegibs 2 Mg Tablet27.0
TegodTegod 6 Mg Tablet55.67
TibsTibs 6 Mg Tablet54.83
Magneon InjectionMagneon 50% Injection10.75
Magnesium Sulphate InjectionMagnesium Sulphate 0.25% Injection2.5
TroymagTroymag 50% Injection210.0
CarbociumCarbocium 10 Mg Tablet57.68
FibotabFibotab 500 Mg Tablet62.0
NormosysNormosys 500 Mg Tablet50.0
Deys Milk Of MagnesiaDeys Milk Of Magnesia 0.311 Gm Tablet5.5
Cotaryl AfCotaryl Af Cream100.0
Liquid ParafinLiquid Parafin68.0
LubowelLubowel 24 Mg Capsule292.5
CastopheneCastophene 0.19 G Tablet318.75
CelemixCelemix Infusion1656.25
LaxiconLaxicon Tablet18.65
FewashFewash 1.2% Liquid129.8
Endolac FortEndolac Fort Capsule125.0
Alkasol PAlkasol P 1000 Mg/125 Mg/50 Mg Liquid169.62
All KlearAll Klear Granules174.0
FiberlactFiberlact 10 Gm/3.5 Gm Syrup160.0
GushGush 10 Gm/3.5 Gm Powder219.5
GutfeelGutfeel 10 Gm/3.5 Gm Granules156.0
LactifiberLactifiber 10 Gm/3.5 Gm Granules294.0
LactihuskLactihusk 10 Gm/3.5 Gm Granules165.0
Laxovel LcLaxovel Lc Powder175.0
OptifiberOptifiber Powder178.0
CardiolaxCardiolax Powder177.5
Ezecor LxEzecor Lx Granules163.9
EzivacEzivac Granules160.0
FreegoFreego Granules317.1
Gudlax NfGudlax Nf 10 Gm/3.5 Gm Granules170.0
Itworks XlItworks Xl Granules205.0
LactigolLactigol Granules178.0
LactinovaLactinova Powder150.47
LactuviaLactuvia Powder178.0
LaispegLaispeg Granules180.0
LaxihuskLaxihusk Granules198.0
Laxitol HuskLaxitol Husk Granules179.05
LaxizaLaxiza Sachet28.47
PioridePioride 15 Mg/1 Mg Tablet53.83
OsmodropsOsmodrops 0.5% W/V/0.9% W/V Eye Drop170.5
Wet MouthWet Mouth 0.5%W/V/30% W/V Liquid43.5
ZonasoftZonasoft 0.05% W/V/0.05% W/V Eye Drop190.0
Osmo TearOsmo Tear Drop100.0
ColikyColiky Drop36.0
CremaffinCremaffin Mf Pink Syrup117.0
Mom PlusMom Plus Liquid82.0
Smuth SuspensionSmuth Suspension65.15
Softylax PlusSoftylax Plus Suspension65.0
LexatinLexatin Syrup27.5
IrrinilIrrinil Eye Drop52.5
NefacoolNefacool Eye Drop45.98
LactihepLactihep Syrup211.0
LactizLactiz 10 Gm/3.5 Gm Granules195.0
CachlaxCachlax Powder240.0
Evict FibreEvict Fibre Granules225.0
Fiber ForteFiber Forte Powder180.0
FiberfosFiberfos Powder219.5
IsablacIsablac Powder180.0
LactilaxLactilax Powder175.0
Livoluk FibreLivoluk Fibre Granules217.8
OsilaxOsilax Powder170.0
LaxarunLaxarun Syrup99.0
Picsul PlusPicsul Plus Syrup115.0
Trulax PlusTrulax Plus 3.33 Mg/1.25 Ml/3.75 Ml Liquid1.25
Gudlax PlusGudlax Plus Syrup70.0
Laxit PlusLaxit Plus Syrup109.71
SafolaxSafolax Suspension60.0
Sofject PlusSofject Plus Suspension118.8
Sp LaxSp Lax 10 Mg Tablet30.05
Picolax (Mmc)Picolax 3.75 Mg/5 Mg Suspension65.0
ZemisolZemisol Infusion100.0
KratolKratol Infusion120.0
NeurogylNeurogyl Infusion156.29
Neurotol (Venus)Neurotol Infusion237.15
AristozymeAristozyme Capsule47.25
DigeneDigene Assorted Tablet15.0
Gelusil MpsGelusil Mps Sachet8.0
K Mac B6K Mac B6 New Solution145.28
PodowartPodowart Paint141.0

कब्ज के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

OTC Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
Himalaya Herbolax CapsulesHimalaya Herbolax Capsules300.0
Himalaya Herbolax TabletHimalaya Herbolax Tablet100.0
Himalaya Triphala SyrupHimalaya Triphala Syrup80.0
Baidyanath Arshoghni BatiBaidyanath Arshoghni Bati125.0
Baidyanath Arshkuthar RasBaidyanath Arshakuthar Ras74.0
Baidyanath Agnitundi BatiBaidyanath Agnitundi Bati90.0
Baidyanath Amalaki RasayanaBaidyanath Amalaki Rasayana92.0
Baidyanath Amar Sundari VatiBaidyanath Amarsundari Batib Combo Pack Of 3150.0
Baidyanath Hingwashtak ChurnaBaidyanath Hingwashtak Churna100.0
Baidyanath Kabja HarBaidyanath Kabja Har Granules 100 Gm Combo Pack Of 2130.0
Baidyanath Kankayan Bati ArshBaidyanath Kankayan Bati Arsh Combo Pack Of 2136.0
Baidyanath Lashunadi BatiBaidyanath Lashunadi Bati90.0
Baidyanath Panchsakar ChurnaBaidyanath Panchsakar Churna100.0
Baidyanath Rajbati (Gandhak Bati)Baidyanath Rajbati (Gandhak Bati)69.0
Zandu PancharishtaZandu Pancharishta110.0
Dabur Nature Care Isabgol PowerDabur Nature Care Isabgol Power Pack Of 2200.0
Dabur Laxirid TabletsDabur Laxirid Tablets150.0
Dabur Laxirid SyrupDabur Laxirid Syrup150.0
Dabur Sat IsabgolDabur Sat Isabgol160.0
Dabur Nature Care RegularDabur Nature Care Regular89.0
Dabur Triphala ChurnaDabur Trifala Churna Pack Of 3135.0
Dabur TrifgolDabur Trifgol93.0
Himalaya Triphala TabletsHimalaya Triphala Tab135.0
Patanjali Bel CandyPatanjali Bel Candy140.0
Hamdard Naunehal Gripe SyrupHamdard Naunehal Gripe Syrup36.0
Hamdard Majun InjeerHamdard Majun Injeer77.0
Divya Saptvisanti GuggulDivya Saptvisanti Guggul50.0
Divya KumaryasavaDivya Kumaryasava75.0
Divya Triphala GuggulDivya Triphala Guggul70.0
Divya AbhyaristhDivya Abhayarishta75.0
Dabur Erand Tail (Castor Oil)Castor Oil Erand Tail By Dabur51.0
Baidyanath Amlapittantak SyrupBaidyanath Amlapittantak Syrup102.0
Baidyanath KumariasavaBaidyanath Kumari Asava116.0
Baidyanath LohasavaBaidyanath Lohasava113.0
Baidyanath PirrhoidsBaidyanath Pirrhoids Tablet175.0
Baidyanath Rogan Badam OilBaidyanath Rogan Badam Oil290.0
Baidyanath BalamritBaidyanath Balamrit Syrup76.0
Dabur Active AntacidDabur Active Antacid Syrup48.75
Dabur Lavan BhaskarDabur Lavan Bhaskar Churna70.0
Divya Amalki RasayanDivya Amalki Rasayan65.0
Baidyanath DraksharishtaBaidyanath Draksharishta Syrup137.0
Zandu Nityam TabletNityam Tablet28.0
Nityam ChurnaNityam Churna Powder30.0
Shree Baidyanath Arshoghani BatiBaidyanath Arshoghani Bati Tablet118.0
Lupin Softovac PowderSoftovac Powder119.0
Baidyanath Sundri SakhiBaidyanath Sundri Sakhi Syrup395.0

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...