एंटासिड सीने में जलन (यह अपच का ही एक रूप है) के इलाज के लिए सबसे अधिक उपयोग में लिए जाने वाले उत्पाद हैं। एंटासिड सीने में जलन पैदा करने वाले पेट के एसिड को निष्क्रिय कर देते हैं, जिससे जलन तुरंत खत्म हो जाती है। और क्योंकि वे चंद सेकंड में असर शुरू कर देते हैं इसलिए इस प्रकार के लक्षणों से राहत का वे सबसे तेज़ उपाय है।

(और पढ़े - सीने में जलन के घरेलू उपाय)

कई एंटासिड आप बिना डॉक्टर की पर्ची के किसी भी मेडिकल स्टोर से खरीद सकते हैं। क्योंकि अधिकांश एंटासिड ओटीसी के रूप में उपलब्ध हैं। एंटासिड का लिक्विड रूप अधिक जल्दी अपना काम शुरू करता है लेकिन आपको एंटासिड गोलियां पसंद हो सकती है क्योंकि उन्हें लेना आसान होता है। अधिकांश एंटासिड की कीमत बहुत कम होती हैं इस कारण भी ये अधिक पॉपुलर उत्पाद हैं।

(और पढ़े - गर्भावस्था में एसिडिटी)

सभी एंटासिड समान रूप से कार्य करते हैं लेकिन उनके साइड इफेक्ट्स अलग-अलग हो सकते हैं। अगर आप अक्सर एंटासिड का उपयोग करते हैं और आपको साइड इफेक्ट्स की परेशानी है तो अपने डॉक्टर से बात करें। आपकी जानकारी बढ़ाने में मदद करने के लिए इस लेख में हमने विस्तार से बताया है कि एंटासिड क्या है? एंटासिड गोली, सिरप, जेल का उपयोग कैसे करते हैं? इसके क्या फायदे और नुकसान हैं?

  1. एंटासिड क्या है - Antacids kya hai in hindi
  2. एंटासिड का प्रयोग - Antacids ka upyog in hindi
  3. एंटासिड के फायदे - Antacids ke fayde in hindi
  4. एंटासिड के नुकसान - Antacids ke nuksan in hindi
  5. एंटासिड के उपयोग में सावधानियां - Antacid precautions in hindi
एंटासिड क्या है, फायदे, नुकसान के डॉक्टर

एंटासिड्स दवाओं की एक श्रेणी है जो पेट द्वारा उत्पादित एसिड के कारण पैदा होने होने वाली परेशानियों का इलाज करने के लिए उपयोग की जाती है। वे पेट में जमा होने वाले अतिरिक्त एसिड के कुछ लक्षणों के इलाज के लिए इस्तेमाल किए जा सकते हैं जैसे कि -

  • एसिड रिफ्लक्स - एसिड रिफ्लक्स एक ऐसी स्थिति है जिसमे पेट में पैदा होने वाला एसिड भोजन नली में वापस आ जाता है। इसके लक्षणों में कड़वा स्वाद, लगातार सूखी खांसी, लेटने पर दर्द और निगलने में परेशानी शामिल होते हैं।
  • सीने में जलन - एसिड रिफ्लक्स के कारण आपके सीने या गले में जलन होती है।
  • अपच या बदहजमी -  बदहजमी वह स्थिति है जिसमें आपकी ऊपरी आंत में दर्द होता है जो गैस या सूजन (ब्लोटिंग) की तरह महसूस हो सकता है। (और पढ़े - बदहजमी के घरेलू उपाय)

एंटासिड्स पेट में पैदा होने वाले अतिरिक्त एसिड को बेअसर करने में मदद करता है। एंटासिड्स एसिड कम करने वाले अन्य एसिड रिड्यूसर जैसे एच 2-रिसेप्टर ब्लॉकर्स या प्रोटॉन पंप इनहिबिटर से अलग तरह से काम करते हैं, ये पेट के एसिड के स्राव को कम करने या रोकने का काम करते हैं जबकि एंटासिड उसे निष्क्रिय करने का काम करते हैं।

(और पढ़े - एसिडिटी का इलाज)

एंटासिड्स आमतौर पर निम्नलिखित रूपों में उपलब्ध होते हैं -

  • लिक्विड रूप में।
  • चबाने योग्य गम या टैबलेट के रूप में।
  • कुछ ऐसी टैबलेट के रूप में आते हैं जिनको आप पानी में घोल कर पी सकते हैं।

एंटासिड कई अलग-अलग नामों के साथ उपलब्ध हैं। कुछ अपने ब्रांड नाम के अंतर्गत बेचे जाते हैं और कुछ का नाम उनके मुख्य घटक के नाम पर रखा जाता है। भारत में उपयोग किए जाने वाले कुछ लोकप्रिय एंटासिड्स के उदाहरण हैं - अलकैने एमपीएस (Alcaine mps) सिरप, अल्जीफ्लक्स (Algiflux) सिरप और एलसीड (Alcid), एसिजेन (Acigene), डिग्यूसिल एमपीएस (Digusil Mps) जैसे टैबलेट इत्यादि।

अलग-अलग प्रकार के एंटासिड्स में मुख्य रूप से निम्नलिखित तत्व शामिल हो सकते हैं -

  • एल्यूमीनियम हाइड्रोक्साइड
  • मैग्नीशियम कार्बोनेट
  • मैग्नीशियम ट्राइसिलिकेट
  • मैग्नीशियम हाइड्रॉक्साइड
  • कैल्शियम कार्बोनेट
  • सोडियम बाइकार्बोनेट

कुछ एंटासिड्स में अन्य तरह की दवाएं भी हो सकती है जैसे - एक अलजीनेट (alginate, जो आपकी भोजन नली पर एक सुरक्षात्मक परत चढ़ा देती है) और सीमेटिकोन (simethicone, जो पेट का फूलना कम कर देती है)।

(और पढ़े - पेट में गैस के लिए क्या खाएं)

पेट में प्राकृतिक रूप से हाइड्रोक्लोरिक एसिड का स्राव होता है जो प्रोटीन को तोड़ने में मदद करता है। यह एसिड पेट की सामग्री के अम्लीय प्रकृति के होने का कारण बनता है, जिसका मान 2 या 3 पीएच (पीएच पेट में अम्लता के स्तर को मापने का मानक है - जीतनी कम पीएच संख्या होती है उतनी अधिक अम्लता) होता है जब एसिड स्राव सक्रिय होता है।

(और पढ़े - एसिडिटी के घरेलू उपाय)

हमारा पेट, पाचनांत्र और अन्नप्रणाली कई सुरक्षात्मक तंत्र के द्वारा एसिड से सुरक्षित रहते हैं। लेकिन जब बहुत ज्यादा एसिड हो जाता है या सुरक्षा तंत्र अपर्याप्त साबित होता है तो पेट, पाचनांत्र और अन्नप्रणाली की परत एसिड से क्षतिग्रस्त हो सकती है, इससे पेट सूजन और छाले हो सकते है, इस तरह ये उल्टी, पेट दर्द और सीने में जलन (गैस्ट्रो एसोफैगल रिफ्लक्स बीमारी या जीईआरडी के कारण) के रूप में विभिन्न गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षण को जन्म देते हैं।

(और पढ़े - पाचन तंत्र को मजबूत करने के उपाय)

एंटासिड्स आपके पेट में एसिड का प्रतिकार (निष्क्रिय) करने का काम करते हैं। वे ऐसा इसलिए करते हैं क्योंकि एंटासिड्स में पाए जाने वाले रसायन बेस (क्षार) हैं जो एसिड से विपरीत स्वभाव के होते हैं। एसिड और बेस के बीच की प्रतिक्रिया (रिएक्शन) को न्यूट्रलाइज़ेशन (निष्क्रिय या बेअसर करना) कहा जाता है। यह रिएक्शन पेट की सामग्री को कम क्षरण करने वाला बनाता है। यह अल्सर से जुड़े दर्द और एसिड रिफ्लक्स से होने वाली जलन से छुटकारा पाने में मदद कर सकता है।

(और पढ़े - पेट के अल्सर के घरेलू उपाय)

जब एंटासिड पेट के एसिड पर काम करते हैं, तो वे पेट में गैस उत्पन्न कर सकते हैं जो पेट फूलने का कारण बन सकता है। सिमेटिकोन इस फोमिंग (फूलना) प्रभाव को रोकने में मदद करता है और कभी-कभी एंटासिड दवाओं के भीतर भी सिमेटिकोन  शामिल किया जा सकता है।

(और पढ़े - पेट की गैस दूर करने के घरेलू उपाय)

कई आम एंटासिड्स में अलजीनेट भी शामिल होता हैं। अधिकांश अलजीनेट एक जेल बनाने का काम करते हैं जो पेट की सामग्री के ऊपर तैरता है। यह जेल पेट के एसिड से एसोफैगस को होने वाली परेशानी से रोकने के लिए एक सुरक्षात्मक बाधा के रूप में कार्य करता है।

एंटासिड्स सीने की जलन के लिए एक अच्छा उपचार है जो कभी-कभी होती रहती है। भूखे पेट या खाने के एक घंटे बाद या जब आपको सीने में जलन होती है तब एंटासिड लें। यदि आप उन्हें रात में लक्षणों के लिए ले रहे हैं, तो उन्हें भोजन के साथ न लें।

यदि आपको निम्नलिखित में से कोई परेशानी है तो अपने डॉक्टर से बात करने के बाद ही एंटासिड लें -

यह भी ध्यान रखे कि एंटासिड्स अधिक गंभीर समस्याओं का इलाज नहीं कर सकते हैं, जैसे एपेंडिसाइटिस, पेट में अल्सर, गॉल स्टोन या आंत्र की समस्याएं इत्यादि। यदि आपको ऐसी कोई समस्या होती है तो अपने डॉक्टर से इलाज करवाएं।

एंटासिड्स उन लोगों के लिए एक अच्छा विकल्प हो सकता है जिनको केवल कभी-कभी एसिड रिफ्लक्स या सीने में जलन की परेशानी होती है। वे सीने में जलन के खिलाफ एक बहुत ही प्रभावी इलाज हैं और आम तौर पर तेजी से कार्य करते हैं तथा तत्काल दर्द से राहत प्रदान कर सकते हैं।

एसिड रिफ्लक्स के आपके विशिष्ट मामले का इलाज करने के लिए सबसे प्रभावी एंटासिड का चयन करना बहुत महत्वपूर्ण है। प्रत्येक एंटीसिड अलग-अलग काम करता है, लेकिन वे सभी एसोफैगस, पेट और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल (जीआई) ट्रैक्ट के पीएच संतुलन को बहाल करने के लिए उपयोग किए जाते हैं।

(और पढ़े - पेट की गैस के लिए जूस)

हालाँकि, आपके लिए यह पता लगाना कि कौन सा एंटासिड आपके रिफ्लक्स के लिए सबसे प्रभावी होगा, मुश्किल हो सकता है, खासतौर पर क्योंकि कई प्रकार के अलग-अलग ओटीसी एंटासिड उपलब्ध हैं। इसके लिए आप अपने डॉक्टर की मदद ले सकते हैं।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि कभी-कभी या छोटी अवधी के लिए, एंटासिड लेने से आमतौर पर कोई जोखिम नहीं होते हैं, लेकिन अधिक लेने पर कभी-कभी वे मदद करने की तुलना में अधिक समस्याएं पैदा कर देते हैं। क्योंकि उनमें विभिन्न प्रकार के सक्रिय तत्व होते हैं, जो अलग-अलग व्यक्ति को अलग-अलग तरीकों से प्रभावित कर सकते हैं।

उदाहरण के लिए, यदि केवल अस्थायी तौर पर राहत मिली है तथा सीने में जलन एक घंटे के भीतर फिर से और पहले से अधिक हो जाती है तो दर्द के इस दोहराव का कारण एसिड रिबाउंड हो सकता है। डॉक्टर्स के मुताबिक, यह स्थिति कभी-कभी तब होती है जब एंटासिड में कैल्शियम कार्बोनेट या सोडियम बाइकार्बोनेट की अधिक मात्रा होती है।

यदि इलाज नहीं किया जाता है, तो सीने में यह पुरानी जलन अंततः एसोफैगस में अल्सर और रक्तस्राव, सांस लेने में परेशानी और यहां तक ​​कि एसोफैगल कैंसर का कारण बन सकती है।

(और पढ़ें - एसिडिटी में क्या खाना चाहिए)

यदि गलत उपयोग न किये जाएं तो एंटासिड से साइड इफेक्ट या नुकसान होने की आशंका बहुत कम होती हैं। हालांकि, कुछ नुकसान तब भी हो सकते हैं जब आप निर्देशों के अनुसार उनका उपयोग करते हैं।

अधिकांश अन्य दवाओं की ही तरह, एंटासिड भी दूसरी दवाओं के साथ रिएक्शन करते हैं। जब ऐसा होता है, तो एक या दोनों दवाओं के प्रभाव बदल सकते हैं या दुष्प्रभावों का जोखिम अधिक हो सकता है। इसलिए यदि आप कोई अन्य दवा ले रहे हैं, तो एंटासिड लेने से पहले अपने डॉक्टर या फार्मासिस्ट से बात कर लें।

एंटासिड मूल रूप से 3 प्रकार की सामग्रियों से बनते हैं। यदि आपको किसी एक ब्रांड से समस्याएं हैं, तो किसी अन्य ब्रांड के उत्पाद को आज़माएं। एंटासिड के मूल तत्वों से आपको निम्नलिखित समस्याएं हो सकती हैं -

एंटासिड आपके शरीर के अन्य दवाइयों को अवशोषित करने के तरीके को बदल सकता है। इसलिए एंटासिड लेने के 1 घंटे पहले या 4 घंटे बाद ही किसी अन्य दवा को लेना अच्छा रहता है।

मैग्नीशियम और एल्यूमीनियम दोनों से युक्त एंटासिड इनके प्रभावों (दस्त और कब्ज) को संतुलित कर सकते हैं और इसलिए दस्त या कब्ज जैसे दुष्प्रभावों की आशंका को कम कर सकते हैं।

(और पढ़े - कब्ज के घरेलू उपाय)

एंटासिड ज्यादातर लोगों के लिए आम तौर पर सुरक्षित होते हैं। हालांकि, कुछ मेडिकल स्थितियों वाले लोगों को एल्यूमीनियम हाइड्रोक्साइड और मैग्नीशियम कार्बोनेट युक्त कुछ एंटासिड लेने से पहले अपने डॉक्टरों से बात करनी चाहिए।

उदाहरण के लिए, हार्ट फेलियर वाले लोगों में लिक्विड के निर्माण को कम करने में मदद के लिए सोडियम की मात्रा पर प्रतिबंधित हो सकता है। इन एंटासिड में अक्सर बहुत सारे सोडियम होते हैं। इसलिए इन लोगों को एंटासिड का उपयोग करने से पहले अपने डॉक्टर से पूछना चाहिए।

किडनी फेलियर वाले लोगों में इन उत्पादों से एल्यूमीनियम के निर्माण की समस्या विकसित हो सकती है। इससे एल्यूमीनियम विषाक्तता हो सकती है। किडनी फेलियर वाले लोगों को इलेक्ट्रोलाइट असंतुलन की समस्याएं भी होती हैं। सभी एंटासिड में इलेक्ट्रोलाइट्स होते हैं, जो इलेक्ट्रोलाइट संतुलन की समस्या को अधिक गंभीर कर सकते हैं।

अपने बच्चे को एंटासिड देने से पहले बच्चे के डॉक्टर से बात करें। बच्चों में आमतौर पर पेट में अतिरिक्त एसिड के लक्षण विकसित नहीं होते हैं, इसलिए उनके लक्षण किसी अन्य स्थिति से भी संबंधित हो सकते हैं।

यद्यपि एंटासिड आपके सीने की जलन के लक्षणों से जल्दी राहत देने के लिए बहुत अच्छे हैं, लेकिन आमतौर पर वे उन स्थितियों का इलाज नहीं करते हैं जो उन्हें पैदा कर सकती हैं। इसलिए यदि आप दो हफ्तों से अधिक समय तक सीने की जलन से पीड़ित हैं, तो अपने डॉक्टर से बात करें।

(और पढ़े - पेट में गैस के लिए योग)

Dr. Abhay Singh

Dr. Abhay Singh

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
1 वर्षों का अनुभव

Dr. Suraj Bhagat

Dr. Suraj Bhagat

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव

Dr. Smruti Ranjan Mishra

Dr. Smruti Ranjan Mishra

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
23 वर्षों का अनुभव

Dr. Sankar Narayanan

Dr. Sankar Narayanan

गैस्ट्रोएंटरोलॉजी
10 वर्षों का अनुभव

और पढ़ें ...
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ