myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

नया कोरोना वायरस 'सीओवीआईडी-19' अब चीन के अलावा दुनिया के कई ताकतवर देशों के लिए चुनौती बन गया है। अमेरिका में इस जानलेवा वायरस के मरीजों की संख्या सौ के पार चली गई है। वहीं, मरने वालों का आंकड़ा छह हो गया है। सोमवार को हुई चार मौतों ने अमेरिका समेत पूरी दुनिया को चिंता में डाल दिया है। गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों से अमेरिकी मेडिकल विशेषज्ञ सरकार को चेतावनी दे रहे थे कि अमेरिका में कोरोना वायरस चिंताजनक स्थिति पैदा कर सकता है। अब उनकी चेतावनी सही साबित होती दिख रही है।

(और पढ़ें - भारत में कोरोना वायरस के दो नए मामलों की पुष्टि)

कोरोना वायरस से दुनियाभर में हालात बिगड़ते देख विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने एक बार फिर सभी सरकारों को इस संकट को लेकर चेताया है। हालांकि, उसने यह भी कहा कि सीओवीआईडी-19 को रोका जा सकता है और ऐसा करना सभी सरकारों की सबसे बड़ी प्राथमिकता होनी चाहिए। जेनेवा में एक प्रेस ब्रीफिंग देते हुए डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक टेड्रोस अधानोम ग्रेब्रेयेसुस ने कहा कि दक्षिण कोरिया, जापान, इटली और ईरान के हालात चिंताजनक हैं। इस संबंध में डब्ल्यूएचओ ने मेडिकल राहत सामग्री के साथ कुछ विशेषज्ञों को ईरान भेजा है।

दक्षिण कोरिया में चर्च के सदस्यों पर हत्या के आरोप के तहत जांच
दक्षिण कोरिया में नए कोरोना वायरस के मामलों की संख्या 4,800 से ज्यादा हो गई है। वहीं, मरने वालों का आंकड़ा 26 से बढ़ कर 34 हो गया है। सोमवार को दक्षिण कोरियाई राष्ट्रपति मून जे इन ने अपने नागरिकों से कहा कि उनका देश कोरोना वायरस के खिलाफ 'युद्ध' की स्थिति में आ गया है।

(और पढ़ें - नए कोरोना वायरस से अब अमेरिका में दहशत)

स्थानीय खबरों के मुताबिक, दक्षिण कोरिया में हालात ऐसे हैं कि सरकार ने एक चर्च के नेताओं पर हत्या के स्तर पर होने वाली जांच का आदेश दिया है। स्थानीय मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, दक्षिण कोरिया के डाएगो शहर स्थित इस चर्च के सदस्य कुछ समय पहले चीन के वुहान शहर गए थे। जब वुहान में कोरोना वायरस से हालात बिगड़ने लगे तो दक्षिण कोरिया में सरकार ने वहां से लौट रहे लोगों की जांच शुरू की। बताया गया है कि चर्च के सदस्यों ने इस जांच से इनकार कर दिया था। अब खबरें हैं कि इस चर्च से 370 से ज्यादा लोग वायरस के संक्रमण से पीड़ित पाए गए हैं। इस बारे में कोरियाई सरकार के अधिकारियों का कहना है कि अगर इन लोगों ने शुरू में ही जांच से इनकार नहीं किया होता तो संभवतः मरीजों की संख्या इतना नहीं होती।

डब्ल्यूएचओ की टीम ईरान पहुंची, इटली में 2,000 मामलों की पुष्टि
उधर, ईरान में कोरोना वायरस से हालात अनियंत्रित होते देख विश्व स्वास्थ्य संगठन की एक टीम सोमवार को वहां पहुंच गई। बता दें कि ईरान में कोरोना वायरस से होने वाली मौतों की दर चीन, दक्षिण कोरिया और इटली से ज्यादा है, जबकि वहां के मामलों की संख्या इन देशों के मुकाबले कम है।

(और पढ़ें - कोरोना वायरस के चलते ईरान में सौ से ज्यादा भारतीय मछुआरे फंसे)

ताजा रिपोर्टों के मुताबिक, ईरान में अब तक कोरोना वायरस के 1,500 से ज्यादा केसों की पुष्टि हो चुकी है। इनमें से 66 लोगों की मौत हो गई है। यह संख्या चीन में मारे गए लोगों की संख्या के बाद सबसे ज्यादा है। ईरान से आ रही खबरों के मुताबिक, वहां कोरोना वायरस से वीआईपी लोग भी नहीं बच पा रहे हैं। रिपोर्टों की मानें तो सोमवार को ईरान के सर्वोच्च नेता अयातुल्लाह अली खेमेनेई की परिषद के एक सदस्य की सीओवीआईडी-19 से मौत हो गई।

वहीं, यूरोपीय देशों में सबसे ज्यादा खराब हालात इटली में देखने को मिल रहे हैं। यहां सीओवीआईडी-19 के मामलों की संख्या 2,000 और मरने वालों की संख्या 50 के पार चली गई है। इसके अलावा 166 लोगों की हालत अभी भी गंभीर बनी हुई है।

(और पढ़ें - नए केसों के मामले में अब चीन से आगे दक्षिण कोरिया)

सौ से ज्यादा मामलों वाले देशों की संख्या बढ़ी
कोरोना वायरस के चलते कई देशों में मरीजों की संख्या सौ से ऊपर पहुंच गई है। कुछ समय पहले तक इस सूची में चीन, जापान, दक्षिण कोरिया शामिल थे। लेकिन अब इस फहरिस्त में इटली, ईरान और जापान के बाद फ्रांस (191), जर्मनी (165), स्पेन (120), सिंगापुर (108), अमेरिका (103) और हांगकांग (100) का नाम भी आ गया है। इनमें जापान में छह, अमेरिका में छह, फ्रांस में तीन और हांगकांग में दो लोगों की मौत हुई है।

इसके अलावा, सीओवीआईडी-19 से प्रभावित देशों की संख्या भी 70 से ज्यादा हो गई है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, सोमवार को लातविया, सऊदी अरब, सेनेगल और मोरोक्को में पहले मामलों की पुष्टि की गई। इसके साथ ही इस विषाणु से प्रभावित देशों की संख्या 76 हो गई है।

चीन में नए मामलों में कमी जारी
कोरोना वायरस के चलते अब पूरी दुनिया में डर का माहौल है। हालांकि, जहां से इस वायरस की शुरुआत हुई थी, वहां अब नए केसों की संख्या लगातार कम हो रही है। चीन से आ रही ताजा मीडिया रिपोर्टों की मानें तो सोमवार को वहां केवल 125 नए मामले सामने आए। इससे पहले रविवार को 202 नए केसों की पुष्टि हुई थी। वहीं, नई मौतों का आंकड़ा सोमवार को 32 रहा। इसके बाद चीन में सीओवीआईडी-19 से मरने वालों की तादाद 2,940 से ज्यादा हो गई है। बता दें कि पूरे चीन में अब तक 80,000 से ज्यादा केस सामने आ चुके हैं। इनमें 6,800 से ज्यादा लोगों की हालत नाजुक बनी हुई है। हालांकि 47,000 से ज्यादा लोगों को बचा लिया गया है।

(और पढ़ें : सरकार ने फार्मा कंपनियों से दवाओं के स्टॉक का ब्योरा मांगा

और पढ़ें ...
ऐप पर पढ़ें