कोरोनावायरस मुख्य रूप से श्वसन तंत्र, गले और नाक को प्रभावित करता है. कोविड से ग्रस्त मरीजों में आमतौर पर बुखार, सांस लेने में तकलीफ, खांसी, नाक बहना, गंध और स्वाद न आना जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं. लेकिन पिछले कुछ समय से कोविड से रिकवर होने के बाद भी कुछ मरीज जोड़ों में दर्द की शिकायत कर रहे हैं. एक रिपोर्ट के मुताबिक कोविड के जिन मरीजों का इलाज स्टेरॉयड, रेमडेसिविर और टोसीलिजुमैब (Tocilizumab) जैसी दवाओं से किया गया था, वह ठीक होने के 60 से 90 दिनों के भीतर जोड़ों और कंधों में दर्द के साथ ही चलने-फिरने में असर्मथता की शिकायत लेकर वापस अस्पताल लौट रहे हैं.

अक्टूबर 2020 में 'द लैंसेट' में छपे एक रिसर्च में पाया गया कि लगभग 15 प्रतिशत मरीजों ने कोविड से रिकवर होने के बाद जोड़ों में दर्द की शिकायत की है. एक्सपर्ट्स के मुताबिक इस संक्रमण की चपेट में आए जो मरीज पहले से ही डायबिटीज, लिवर और किडनी संबंधित बीमारियों से ग्रस्त थे, वह सबसे अधिक जोड़ों और घुटनों में दर्द की शिकायत लेकर अस्पताल पहुंच रहे हैं. उन्हें तेज बुखार के साथ-साथ गंभीर दर्द, सूजन, चलने-फिरने और उठने-बैठने में तकलीफ जैसी समस्याएं हो रही हैं. ऐसे में ये जानना जरूरी है कि कोविड से आखिर क्यों मरीजों को हो रहा है हड्डियों में दर्द की शिकायत.

(और पढ़ें - कोरोना के बाद देखभाल)

कोविड से रिकवरी के बाद क्यों हो रहा मरीजों को हड्डियों में दर्द

हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना कि कोविड से होने वाले दुष्प्रभावों के कारण मरीजों की हड्डियों में उचित मात्रा में खून की सप्लाई नहीं हो पाती, जिसके कारण बोन डेथ (Bone Death) की स्थिति पैदा हो जाती है. यह स्थिति शरीर के एक तरफ के हिस्से को प्रभावित करती है. कुछ लोगों को कूल्हे, जोड़ों और घुटनों में दर्द की समस्या होती है तो कुछ लोग कंधे में तेज दर्द और सूजन की शिकायत कर रहे हैं.

एक्सपर्ट्स की मानें तो कोविड किडनी और फेफड़ों को पूरी तरह से डैमेज कर देता है, लेकिन हड्डियों और जोड़ों को यह स्थायी रूप से नुकसान नहीं पहुंचाता. कोविड से रिकवरी के बाद अगर आपको यह समस्याएं हो रही हैं तो इन्हें बिल्कुल भी नजरअंदाज नहीं करना चाहिए, क्योंकि धीरे-धीरे यह गंभीर रूप ले सकती हैं. कभी-कभी तो व्यक्ति पूरी तरह से चलने-फिरने और दैनिक कार्य करने में भी सक्षम नहीं रह पाते. इसलिए स्वास्थ्य विशेषज्ञ मरीजों को ऐसे लक्षण महसूस होने पर तुरंत डॉक्टर से संपर्क करने की सलाह देते हैं.

अगर आपको जोड़ों में दर्द हो रहा है तो क्या करें

कोविड से रिकवरी के बाद यदि आप घुटनों, कुल्हों और अन्य जोड़ों में दर्द महसूस कर रहे हैं तो सबसे पहले आपको डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. साथ ही जोड़ों के दर्द के इलाज में आप इन विकल्पों की भी मदद ले सकते हैं-

कोरोना के बाद हड्डियों में दर्द के डॉक्टर
Dr. Arun R

Dr. Arun R

संक्रामक रोग
5 वर्षों का अनुभव

Dr. Neha Gupta

Dr. Neha Gupta

संक्रामक रोग
16 वर्षों का अनुभव

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग
8 वर्षों का अनुभव

Dr. Alok Mishra

Dr. Alok Mishra

संक्रामक रोग
5 वर्षों का अनुभव


उत्पाद या दवाइयाँ जिनमें कोरोना के बाद हड्डियों में दर्द है

और पढ़ें ...