सिनेमा का माहौल हो या फिर गपशप का टाइम, पॉपकॉर्न तो बनता है। टाइम पास और दोस्तों के साथ मस्ती के बीच पॉपकॉर्न, स्नैक्स रूपी खाद्य पदार्थ का पहला उदाहरण हो सकता है। वहीं, सबसे बड़ी बात यह है कि बच्चा हो या फिर कोई बूढ़ा, हर कोई आसानी से पॉपकॉर्न खा सकता है, लेकिन पॉपकार्न के शौकिन और उसका स्वाद लेकर चटकारा लगाने वाले लोगों के लिए पॉपकार्न खाना जानलेवा भी हो सकता है।

हैरान मत होईए, क्योंकि बात हैरानी की नहीं, सजगता की है। यह साबित हो चुका है कि मुंह में मक्खन की तरह घुल जाने वाला पॉपकॉर्न किसी के लिए खतरे से कम नहीं है और इसका ताजा उदारहण ब्रिटेन में देखने को मिला है। जी हां, ब्रिटेन में एक शख्स को पॉपकॉर्न खाने का खामियाजा अस्पताल के बैड पर पहुंचकर चुकाना पड़ा।

(और पढ़ें - हार्ट मर्मर के मिलते हैं कुछ ऐसे संकेत)

कैसे पॉपकॉर्न बना जानलेवा?
आपको सुनने में थोड़ा अजीब जरूर लगेगा, लेकिन पॉपकॉर्न के एक छोटे से टुकड़े के दांत में फंसने की वजह से व्यक्ति को हार्ट की सर्जरी करानी पड़ी। यह पूरा मामला इंग्लैंड का है, जहां करीब 4 महीने पहले यानि सितंबर 2019 में 41 वर्षीय एक व्यक्ति एडम मार्टिन अपने घर में फिल्म देखते वक्त पॉपकॉर्न खा रहे थे। तभी अचानक पॉपकॉर्न का एक टुकड़ा (कठोर हिस्सा) उनके दांत में जा फंसा।

  • इसको निकालने के लिए मार्टिन को काफी जद्दोजहद करनी पड़ी। उन्होंने घर में रखे सामान जैसे- पैन का ढक्कन, टूथपिक, तार का टुकड़ा और स्टील की पिन का इस्तेमाल किया, मगर पॉपकॉर्न का कठोर हिस्सा दांतों के बीच से नहीं निकला।
  • इसके कुछ दिन बाद मार्टिन को दांत में दर्द महसूस होने लगा। इसके बावजदू वह दर्द को सहन करते रहे और डॉक्टर के पास नहीं गए। इसके कारण कुछ समय बाद मार्टिन के शरीर में एक प्रकार का संक्रमण फैल गया, जिसके कुछ लक्षण थे - सिरदर्द, थकान और रात में सोते वक्त पसीना आना।
  • इन परिस्थितियों में जब मार्टिन डॉक्टर के पास पहुंचे तो जांच में पता चलता कि यह इंफेक्शन उनके दिल तक पहुंचा गया था और उन्हें दिल में एक असामान्य आवाज आने की बीमारी हो गई, जिसे हार्ट मर्मर कहते हैं।

क्या है हार्ट मर्मर?
दिल की धड़कनों के साथ-साथ हृदय के अंदर खून की गति से प्रवाहित होने की आवाजों को “हार्ट मर्मर” कहा जाता है। हार्ट वाल्व का काम हृदय के ऊपरी और निचले हिस्‍से (एट्रिया और वेंट्रिकल्स) में खून के बहाव को नियंत्रित करना होता है। इन वाल्‍व में दिक्‍कत होने की वजह से हृदय से मर्मर यानी सरसराहट जैसी आवाज आने लगती है।

(और पढ़ें - एंडोकार्डिटिस का कारण क्या है)

हार्ट मर्मर के चलते अस्पताल में भर्ती हुए मार्टिन
इस बीमारी के चलते अक्टूबर 2019 के आखिर में मार्टिन को अस्पताल में भर्ती होना पड़ा, जहां डॉक्टरों ने पाया कि मार्टिन को वास्तव में एंडोकार्डिटिस (दिल की आंतरिक परत पर होने वाला एक संक्रमण) है और इस संक्रमण ने मार्टिन के हृदय के वाल्व को गंभीर रूप से क्षतिग्रस्त कर दिया था। लिहाजा इस स्थिति में मार्टिन के क्षतिग्रस्त वाल्व को बदलने के लिए 7 घंटे की ओपन-हार्ट सर्जरी करनी पड़ी।

मसूड़ों में हुआ इंफेक्शन बीमारी की वजह?
मायो क्लीनिक के मुताबिक जब बैक्टीरिया रक्तप्रवाह में प्रवेश करते हैं और हृदय में फैल जाते हैं, तो यह एंडोकार्टिटिस होने का कारण बन सकता है। दरअसल मुंह में होने वाली गतिविधियां (जैसे मसूड़ों से खूना आने की स्थिति) के माध्यम या रास्ते से बैक्टीरिया रक्तप्रवाह में प्रवेश करता है।

(और पढ़ें - हृदय वाल्व रोग क्या है)

myUpchar से जुड़ी डॉक्टर जैसमीन कौर बताती हैं कि दांत से खून निकलने की वजह से इंफेक्शन हुआ और इलाज नहीं मिलने की स्थिति में स्टेफीलोकोकस ऑरियस (Staphylococcus aureus) बैक्टीरिया विकसित हुआ है, जो कि सामान्य बैक्टीरिया है। इसके कारण कई प्रकार की बीमारियां फैलने का खतरा होता है। जैसे-

  • मसूड़ों में सूजन
  • हार्ट डिजीज
  • निमोनिया

इस बैक्टीरिया के कारण इंफेक्शन तेजी से फैला और हृदय के वाल्व को नुकसान पहुंचा। डाक्टर बताती हैं कि अगर आपको शरीर में किसी प्रकार का इंफेक्शन फैलने का खतरा दिखाई दे रहा है तो आप डॉक्टर की सलाह पर एंटीबायोटिक का कोर्स शुरू करके उसका जोखिम कम कर सकते हैं।

एंडोकार्डिटिस के लक्षण
एंडोकार्डिटिस धीरे-धीरे या अचानक विकसित हो सकता है और यह इस बात पर निर्भर करता है कि संक्रमण होने का कारण क्या है, क्या दिल से जुडी कुछ अन्य समस्याएं तो नहीं हैं। एंडोकार्डिटिस के लक्षण काफी अलग-अलग होते हैं। जैसे-

  • लगातार खांसी होना
  • टांगों या पेट पर सूजन
  • बेवजह वजन घटना
  • पेशाब में खून आना
  • बुखार आना और ठंड लगना

एंडोकार्डिटिस का इलाज
अगर आपको इस तरह के लक्षण महसूस हो रहे हैं तो आप एंडोकार्डिटिस से पीड़ित हो सकते हैं। इस स्थिति में आपको अस्पताल में इंट्रावेनस IV (intravenous: IV) एंटीबायोटिक की बड़ी खुराक लेने की आवश्यकता हो सकती है।

(और पढ़ें - दिल की बीमारी से बचने के उपाय)

क्या कहते हैं एडम मार्टिन?
सर्जरी के बाद एडम मार्टिन कहते हैं कि मेरा दिल ठीक से काम नहीं कर पा रहा था। मतलब हार्ट लगभग खराब होने की स्थिति में था और दिल में फैले संक्रमण ने हृदय के वाल्व को करीब-करीब नष्ट कर दिया था।

इस रिपोर्ट से पता चलता है कि कैसे व्यक्ति की लापरवाही से छोटी सी परेशानी बाद में एक जानलेवा समस्या बन गई। इसलिए अगर आप भी कभी पॉपकॉर्न खा रहे हैं और दांत में फंस जाए तो उसे निकालने के लिए तुरंत कुल्ला करें या डेंटल फ्लॉस का इस्तेमाल करके उससे निजात पाएं।

cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ