myUpchar प्लस+ सदस्य बनें और करें पूरे परिवार के स्वास्थ्य खर्च पर भारी बचत,केवल Rs 99 में -

Cita S Plus

Cita S Plus की जानकारी

Clonazepam - क्लॉनाज़ेपैम

Clonazepam का उपयोग चिंता, मिरगी और शराब प्रत्याहार (withdrawal) के उपचार में किया जाता है।

Escitalopram - ऐसीटेलोप्राम

Escitalopram का उपयोग अवसाद, चिंता विकार, भय, सदमे के बाद होने वाला तनाव विकार (post traumatic stress disorder) और मनोग्रसित-बाध्यता विकार (obsessive-compulsive disorder) में किया जाता है।

Cita S Plus के लाभ और उपयोग करने का तरीका - Cita S Plus Benefits & Uses in Hindi

Cita S Plus इन बिमारियों के इलाज में काम आती है -

Cita S Plus की खुराक और इस्तेमाल करने का तरीका - Cita S Plus Dosage & How to Take in Hindi

Clonazepam - क्लॉनाज़ेपैम

Clonazepam GABA, जो की एक रसायन है, के असर को बढ़ाता है। GABA आम तौर से मस्तिष्क में तंत्रिका कोशिकाओं की असामान्य और अत्यधिक गतिविधि को दबाता है।

Escitalopram - ऐसीटेलोप्राम

Escitalopram मस्तिष्क में एक रासायनिक संदेशवाहक सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाता है। यह अवसाद में मूड और शारीरिक लक्षणों और आकस्मिक भय (panic) और जुनूनी विकारों (obsessive disorders) के लक्षणों को बेहतर करता है।

यह अधिकतर मामलों में दी जाने वाली Cita S Plus की खुराक है। कृपया याद रखें कि हर रोगी और उनका मामला अलग हो सकता है। इसलिए रोग, दवाई देने के तरीके, रोगी की आयु, रोगी का चिकित्सा इतिहास और अन्य कारकों के आधार पर Cita S Plus की खुराक अलग हो सकती है।

दवाई की खुराक बीमारी और उम्र के हिसाब से जानें

दवाई की मात्र देखने के लिए लॉग इन करें

Cita S Plus की सामग्री - Cita S Plus Active Ingredients in Hindi

Clonazepam
Escitalopram

Cita S Plus के नुकसान, दुष्प्रभाव और साइड इफेक्ट्स - Cita S Plus Side Effects in Hindi

रिसर्च के आधार पे Cita S Plus के निम्न साइड इफेक्ट्स देखे गए हैं -

  1. ऊंघना
  2. असमन्वित शारीरिक गतिविधियां
  3. अस्पष्ट (लड़खड़ाते हुए) बोलना
  4. चक्कर आना सौम्य (और पढ़ें - चक्कर आने पर करें ये घरेलू उपाय)
  5. थकान सौम्य
  6. याददाश्त से संबंधित समस्याएं
  7. चिड़चिड़ापन
  8. सिरदर्द सौम्य (और पढ़ें - सिर दर्द के घरेलू उपाय)
  9. मुंह सूखना सौम्य
  10. डिप्रेशन कठोर (और पढ़ें - डिप्रेशन के घरेलू उपाय)
  11. कब्ज मध्यम (और पढ़ें - कब्ज के घरेलू उपाय)
  12. वजन बढ़ना
  13. धुंधली दृष्टि
  14. वर्टिगो सौम्य
  15. खांसी सौम्य (और पढ़ें - खांसी के लिए घरेलू उपाय)
  16. एलर्जी
  17. आत्मघाती व्यवहार
  18. प्रगाढ़ बेहोशी
  19. मतली या उलटी
  20. दस्त
  21. अनिद्रा सौम्य
  22. स्खलन विकार
  23. राइनाइटिस
  24. झुनझुनी, गुदगुदी, चुभन, सुन्नता या जलन
  25. पेट दर्द सौम्य

Cita S Plus से सम्बंधित चेतावनी - Cita S Plus Related Warnings in Hindi

क्या Cita S Plus का उपयोग गर्भवती महिला के लिए ठीक है?

प्रेेग्नेंट महिलाओं के शरीर में Cita S Plus के विपरीत प्रभाव भी हो सकते है। इसलिए इसको लेने से पहले दवा के बारे में डॉक्टर से पूरी तरह जानकारी लेना जरूरी होता है।

क्या Cita S Plus का उपयोग स्तनपान करने वाली महिलाओं के लिए ठीक है?

स्तनपान कराने वाली महिलाओं को Cita S Plus लेने के बाद कई तरह के विपरीत प्रभावों का भी सामना करना पड़ता है। इसीलिए डॉक्टर से परामर्श लेेने के बाद ही आपको इसका सेवन करना चाहिए।

Cita S Plus का प्रभाव गुर्दे पर क्या होता है?

Cita S Plus का हानिकारक प्रभाव बहुत कम है, इसलिए इसे बिना डॉक्टर की सलाह के भी ले सकते हैं।

Cita S Plus का जिगर (लिवर) पर क्या असर होता है?

Cita S Plus आप ले कर सकते हैं। इसका विपरीत असर आपके लीवर पर बहुत कम पड़ता है।

क्या ह्रदय पर Cita S Plus का प्रभाव पड़ता है?

दिल पर Cita S Plus के हानिकारक प्रभाव काफी कम देखे गए हैं।

Cita S Plus का निम्न दवाइयों के साथ नकारात्मक प्रभाव - Severe Interaction of Cita S Plus with Other Drugs in Hindi

Cita S Plus को इन दवाइयों के साथ लेने से गंभीर दुष्प्रभाव या साइड इफेक्ट्स हो सकते हैं -

इन बिमारियों से ग्रस्त हों तो Cita S Plus न लें या सावधानी बरतें - Cita S Plus Contraindications in Hindi

अगर आपको इनमें से कोई भी रोग है तो, Cita S Plus को न लें क्योंकि इससे आपकी स्थिति और बिगड़ सकती है। अगर आपके डॉक्टर उचित समझें तो आप इन रोग से ग्रसित होने के बावजूद Cita S Plus ले सकते हैं -

Cita S Plus के बारे में अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न - Frequently asked Questions about Cita S Plus in Hindi

क्या Cita S Plus आदत या लत बन सकती है?

नहीं, लेकिन फिर भी आप Cita S Plus को लेने से पहले डॉक्टर से जरूर पूछें।

क्या Cita S Plus को लेते समय गाड़ी चलाना या कैसी भी बड़ी मशीन संचालित करना सुरक्षित है?

किसी मशीन के अलावा वाहन को चलाने में दिमागी सक्रियता की बेहद जरूरत होती है। लेकिन Cita S Plus को खाने से आपको नींद व थकान होने लगती है। इसलिए इन कामों को करने से बचें।

क्या Cita S Plus को लेना सुरखित है?

हां, परंतु इसको लेने से पहले डॉक्टर से परामर्श लेना जरूरी है।

क्या मनोवैज्ञानिक विकार या मानसिक समस्याओं के इलाज में Cita S Plus इस्तेमाल की जा सकती है?

हां, मस्तिष्क के विकार में यह Cita S Plus काम आती है।

Cita S Plus का भोजन और शराब के साथ नकारात्मक प्रभाव - Cita S Plus Interactions with Food and Alcohol in Hindi

क्या Cita S Plus को कुछ खाद्य पदार्थों के साथ लेने से नकारात्मक प्रभाव पड़ता है?

खाने के साथ Cita S Plus को लेना आपकी सेहत को नुकसान नहीं पहुंचाता है।

जब Cita S Plus ले रहे हों, तब शराब पीने से नकारात्मक प्रभाव पड़ता है क्या?

Cita S Plus व शराब का सेवन आपके स्वास्थ्य के लिए घातक सिद्ध हो सकता है।

Cita S Plus से जुड़े सवाल और जवाब

सवाल 8 महीना पहले

क्‍या Cita S Plus के कारण नींद आती है?

Dr. Mayank Yadav MBBS, सामान्य चिकित्सा

जी हां, Cita S Plus के कारण सुस्‍ती, चक्‍कर आना और बेहोशी की समस्‍या हो सकती है। ये इस दवा का सामा‍न्‍य हानिकारक प्रभाव है क्‍योंकि Cita S Plus मस्तिष्‍क की असामान्‍य क्रिया को रोकती है। Cita S Plus लेने के बाद गाड़ी या कोई भारी उपकरण ना चलाएं।

सवाल लगभग 1 साल पहले

Cita S Plus कैसे काम करती है?

Dr. Anjum Mujawar MBBS, मधुमेह चिकित्सक

Cita S Plus संदेशवाहक रसायन गामा एमिनोबुट्रिक एसिड की गतिविधि को बढ़ाकर मस्तिष्‍क की नर्व कोशिकाओं की असामान्‍य क्रिया को रोकने का काम करती है और शरीर की मांसपेशियों को आराम देती है। इस तरह Cita S Plus मरीज़ को अनिद्रा और तनाव से राहत दिलाती है।

सवाल 7 महीना पहले

क्‍या Cita S Plus के कारण मुंह में सूखापन हो सकता है?

Dr. Bharat MBBS, सामान्य चिकित्सा

जी हां, Cita S Plus के कारण मुंह में सूखापन हो सकता है। ये इस दवा का सामान्‍य दुष्‍प्रभाव है। अगर Cita S Plus लेने के बाद मुंह में सूखापन ज्‍यादा हो रहा है तो डॉक्‍टर से परामर्श करें और उनके निर्देशों का पालन करें।

सवाल 10 महीना पहले

क्‍या Cita S Plus के कारण बीमारी के लक्षण वापिस आ सकते हैं?

Dr. Sangita Shah MBBS, सामान्य चिकित्सा

बीच में Cita S Plus का सेवन बंद करने से बीमारी के लक्षण वापिस आ सकते हैं। पहली बार या तेज दौरे पड़ना, जो चीज़ें अस्‍तित्‍व में ना हों उनका दिखना या सुनाई देना, व्‍यवहार में बदलाव, पसीना, शरीर के किसी हिस्‍से का कांपना, पेट या मांसपेशियों में ऐंठन, तनाव और नींद आने में दिक्‍कत होने जैसे लक्षण वापिस आ सकते हैं।

सवाल 6 महीना पहले

क्‍या Cita S Plus के कारण ब्‍लडप्रेशर लो हो सकता है?

Dr. Sameer Awadhiya MBBS, पीडियाट्रिक

Cita S Plus की नियमित खुराक के कारण ब्‍लडप्रेशर लो नहीं होता है। हालांकि, Cita S Plus की अधिक खुराक लेने की वजह से ब्‍लडप्रेशर लो हो सकता है। अगर Cita S Plus लेने के बाद ब्‍लडप्रेशर लो हो रहा है तो बिना कोई देरी किए डॉक्‍टर से संपर्क करें।

This medicine data has been created by -
Md Saadullah
M.Pharma, Pharmacy
3 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर प्रोफाइल देखें
Vikas Chauhan
B.Pharma, Pharmacy
2 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर प्रोफाइल देखें

क्या आप या आपके परिवार में कोई Cita S Plus लेता है ? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. US Food and Drug Administration (FDA) [Internet]. Maryland. USA; Package leaflet information for the user; Klonopin (clonazepam)
  2. KD Tripathi. [link]. Seventh Edition. New Delhi, India: Jaypee Brothers Medical Publishers; 2013: Page No 418
  3. April Hazard Vallerand, Cynthia A. Sanoski. [link]. Sixteenth Edition. Philadelphia, China: F. A. Davis Company; 2019: Page No 330-332
  4. US Food and Drug Administration (FDA) [Internet]. Maryland. USA; Package leaflet information for the user; Lexapro® (escitalopram oxalate)
  5. KD Tripathi. [link]. Seventh Edition. New Delhi, India: Jaypee Brothers Medical Publishers; 2013: Page No 461
  6. April Hazard Vallerand, Cynthia A. Sanoski. [link]. Sixteenth Edition. Philadelphia, China: F. A. Davis Company; 2019: Page No 520-522
कोरोना मामले - भारतx

कोरोना मामले - भारत

CoronaVirus
4281 भारत
226आंध्र प्रदेश
10अंडमान निकोबार
1अरुणाचल प्रदेश
26असम
32बिहार
18चंडीगढ़
10छत्तीसगढ़
523दिल्ली
7गोवा
144गुजरात
84हरियाणा
13हिमाचल प्रदेश
109जम्मू-कश्मीर
4झारखंड
151कर्नाटक
314केरल
14लद्दाख
165मध्य प्रदेश
748महाराष्ट्र
2मणिपुर
1मिजोरम
21ओडिशा
5पुडुचेरी
76पंजाब
274राजस्थान
571तमिलनाडु
321तेलंगाना
26उत्तराखंड
305उत्तर प्रदेश
80पश्चिम बंगाल

मैप देखें