• हिं

इंसानों की तरह जानवरों को भी साफ सफाई और पूरी देखभाल की जरूरत होती है। अगर आपके घर में पालतू पशु जैसे कुत्ते, बिल्ली आदि हैं तो उनको समय पर नहलाना, साफ-सफाई करना और संवारना बहुत आवश्यक है। कुत्तों के शारीरिक स्वास्थ्य और हाइजीन यानी स्वच्छता के लिए उनकी सही से देखभाल की जानी चाहिए।

आमतौर पर लोगों के पास समय की कमी होती है, जिसके कारण वह अपने पालतू कुत्तों को पेट पार्लर भेज देते हैं। वहां पर प्रशिक्षित लोगों की एक टीम कुत्तों के आंख, कान सहित सभी अंगों की साफ-सफाई कर देते हैं। हालांकि, पेट पार्लर की यह प्रक्रिया काफी महंगी होती है। इसके चलते सभी लोग इस खर्चे को उठा नहीं सकते हैं। इसलिए वह सभी लोग जो कुत्तों को पालने के शौकीन होते हैं, उन्हें रखरखाव की पूरी जानकारी होनी चाहिए। पशु विशेषज्ञों का कहना है कि कुत्तों में बचपन से ही साफ-सफाई और हाइजीन की आदत डालनी चाहिए।

इस लेख में हम आपको कुत्तों की साफ-सफाई से जुड़ी देखभाल के बारे में पूरी जानकारी देंगे। यह टिप्स आपके लिए काफी सुविधाजनक हो सकते हैं।

  1. कुत्तों को संवारने के लिए क्या करें, क्या ना करें? - Dog's ke grooming ke do’s and don'ts
  2. कुत्तों को नहलाने का सही तरीका क्या है - Dog's ko kaise nahlaye?
  3. कुत्तों के बालों की साफ सफाई - Dog's ke baal kaise saaf kre?
  4. कुत्तों के आंखों की साफ सफाई - Dog's ke aankho ko kaise saaf kre?
  5. कुत्तों के कानों की साफ सफाई - Dog's ke kaan kaise saaf kre?
  6. कुत्तों के नाखूनों को काटना और सफाई - Dog's ke Nails kaise kaate aur saaf kre?
  7. कुत्तों के दांतों की साफ सफाई - Dog's ke Daant kaise saaf kre?
  8. कुत्तों के जननांगों की साफ सफाई - Dog's ke genitals kaise saaf kre?

कुत्तों की प्राथमिक देखभाल और स्वास्थ्य का ध्यान रखना आपकी जिम्मेदारी है। इसका मतलब यह है कि आपको न केवल यह सुनिश्चित करना होगा कि आपका कुत्ता साफ और स्वस्थ है, साथ ही उसकी देखभाल में जिन वस्तुओं को प्रयोग में ला रहे हैं, उसके बारे में भी जानकारी होनी चाहिए। शैम्पू, साबुन से लेकर हाइजीन के लिए प्रयोग में लाए जाने वाले सभी सामानों के बारे में आपको पूरी जानकारी होनी चाहिए। निम्न बिंदुओं को ध्यान में रखें, इससे यह समझने में आसानी होगी कि आपको क्या करना है और क्या नहीं।

डॉग ग्रूमिंग के लिए क्या क्या करना चाहिए?

नियमित देखभाल : अपने कुत्ते की आपको नियमित देखभाल करनी होती है। ऐसा नहीं है कि आपने आज साफ-सफाई की और फिर महीने भर के लिए ऐसे ही छोड़ दिया। कुत्तों को हफ्ते में कम से कम एक बार सही से नहलाने और पूर्ण देखभाल की जरूरत होती है। वहीं उनके आंखों और जननांगों की सफाई नियमित रूप से की जानी चाहिए।

धैर्य रखें : कुत्तों को नहलाना, उनके नाखूनों की साफ सफाई और उसे काटना इतना आसान नहीं होता है। बहुत आसानी से कुत्ते आपको ऐसा करने नहीं देते हैं। हां पर एक बात का ध्यान रखें, कुत्ते आपकी भावनाओं को समझ सकते हैं। अगर आप ग्रूमिंग सेशन के दौरान गुस्से में हैं, परेशान हो रहे हैं तो आपका कुत्ता इसे समझ सकता है। ऐसे में उसे नहलाने और अंगों की साफ सफाई के लिए बड़े प्यार से तैयार करना होगा।

सही जगह चुनें : इंसानों की तरह कुत्ते बाथरूम में आसानी से नहीं नहा सकते हैं। खासतौर पर बड़े आकार वाले कुत्तों को ज्यादा जगह की जरूरत होती है। यदि कुत्ते को नहाना पसंद नहीं है तो आपकी मुश्किल और बढ़ जाती है। इसीलिए कुत्तों को नहलाने और साफ करने के लिए सही जगह का चयन करना चाहिए। यह स्थान आपके और आपके कुत्ते दोनों के लिए उपयुक्त होना चाहिए, ताकि आप उसे आराम से साफ सुथरा बना सकें।

सही सामानों का चयन करें : अपने कुत्ते के नस्ल,आकार आदि के हिसाब से ही ब्रश, नेलकटर, कैंची, ट्रिमर जैसे उपकरणों का चयन करें। अच्छी क्वालिटी वाले साबुन, शैम्पू का प्रयोग करें।

कुत्ते के बारे में सही से जान लें : हर नस्ल के कुत्तों की आवश्यकताएं और उनकी देखभाल की जरूरतें अलग होती हैं। किसी भी कुत्ते को लेने यानी एडॉप्ट करने से पहले उसके मालिक से पूरी मेडिकल हिस्ट्री ले लें। इसके साथ ही आप यह भी जान लें कि कुत्ते के देखभाल के लिए आपको किन-किन चीजों की आवश्यकता होगी। उदाहरण के लिए यदि आप रॉटविलर या डोबरमैन कुत्ते खरीद रहे हों, तो संभव है कि उनके पीछे आपको ज्यादा मेहनत करनी पड़े साथ ही उन्हें साफ-सफाई की भी अधिक आवश्यकता होती है। वहीं पग ब्रीड के कुत्तों की आंखें काफी संवेदनशील होती हैं, इसलिए उन्हें ठीक से साफ करने और अधिक देखभाल की आवश्यकता होगी। इन सभी चीजों के बारे में पूरी जानकारी होने से आपको मदद मिलेगी।

प्रशिक्षण की आवश्यकता : अगर आपके पास कुत्तों के बारे में पूरी जानकारी नहीं है तो उनकी देखभाल करना आपके लिए काफी कठिन काम हो जाता है। यदि आप प्रशिक्षित नहीं हैं, तो किसी पशु चिकित्सक से देखरेख संबंधी प्रशिक्षण ले लें।

डॉग ग्रूमिंग : क्या नहीं करना चाहिए?

जल्दबाजी न करें : कुत्तों की साफ-सफाई और उनको संवारने के दौरान आम तौर पर लोग काफी जल्दबाजी करते हैं। ऐसा करने से आपका कुत्ता इसे अपनी दिनचर्या के तौर पर स्वीकार नहीं कर पाता है। जल्दबाजी में कई बार कुत्ते को चोट भी लग सकती है, ऐसे में कुत्ते को नहलाते वक्त जल्दबाजी न करें और सही से साफ-सफाई करें।

बार बार न नहलाएं : कुत्तों को केवल तब ही नहलाना चाहिए, जब वे गंदे दिखें या उनमें कोई संक्रमण जैसा खतरा लगे। ऐसा इसलिए है, क्योंकि कुत्तों की त्वचा प्राकृतिक रूप से तैलीय होती है। बार-बार नहलाने से त्वचा छिल और शुष्क हो सकती है, जिससे संक्रमण और त्वचा संबंधी बीमारियां हो सकती हैं।

ज्यादा समय लगने पर घबराएं नहीं : अपने कुत्ते की नियमित देखभाल और नहलाने आदि में आपका ज्यादा वक्त लग सकता है। इससे आपकी दिनचर्या भी थोड़ी बहुत प्रभावित हो सकती है, लेकिन घबराएं नहीं। कुत्ते की देखरेख में कोई हड़बड़ी न दिखाएं।

अगर कुत्ते को नहाने में मजा आता है तो उसे नहलाना आपके लिए भी मजेदार अनुभव हो सकता है। गर्म जलवायु में रहने वाले अधिकांश कुत्तों को नहाना बहुत पसंद होता है। सर्दियों में कुत्ते को घर के भीतर ही नहलाएं, जिससे कम तापमान के चलते उनके स्वास्थ्य पर कोई असर न पड़े। कुत्तों को नहलाते वक्त इन बातों का भी अवश्य ध्यान रखें।

  • कुत्तों को कब नहलाना है, यह उनकी जरूरतों पर निर्भर करता है। आमतौर पर, कुत्तों को केवल तभी नहलाया जाना चाहिए, जब वे गंदे हों या उनसे बदबू आ रही हो। यदि आप उन्हें बार-बार नहलाएंगे तो एक समय के बाद उनकी त्वचा सूख सकती है, जिससे कई प्रकार के त्वचा रोग हो सकते हैं।
  • कुत्ते के लिए सही शैम्पू का इस्तेमाल करना भी बहुत महत्वपूर्ण है। मनुष्य और कुत्तों के पीएच वैल्यू अलग होते हैं, ऐसे में जो शैम्पू आप प्रयोग करते हैं उसी से कुत्ते को नहीं नहलाना चाहिए। कुत्तों के लिए बाजार में मौजूद विशेष रूप से बनाए गए शैम्पू का ही प्रयोग करें।
  • कुत्तों को नहलाने के लिए पर्याप्त स्थान का चयन करें। जरूरी नहीं है कि सभी के पास पर्याप्त स्थान जैसे बागीचा या खाली मैदान हो। ऐसी स्थिति में नहलाने के लिए बड़े टब का इस्तेमाल भी कर सकते हैं।
  • कुत्ते नहाते वक्त आरामदायक महसूस कर सकें, बचपन से ही ऐसी आदत डालें। नहलाते वक्त उनसे बहुत प्यार से पेश आएं, जिससे वह इसे आसानी से अपनी आदतों में शामिल कर सकें।
  • अपने कुत्ते को स्नान संबंधी उपकरणों के साथ परिचित करें। कुत्ते को टब और चटाई पर बैठने की आदत डालें, जिससे नहलाते वक्त वह आराम से रह सके।

अपने कुत्ते के बालों की सफाई का भी विशेष ध्यान रखें। इससे उनके बाल चमकदार और साफ बने रहें। बालों की नियमित साफ-सफाई के सा​थ यह भी सुनिश्चित करें कि उसके बहुत अधिक बाल तो नहीं गिर रहे। कुत्तों के बालों को संवारने के लिए अलग से ब्रश रखें। बालों को जड़ से लेकर पोरों तक सही से कंघी करें। साथ ही यह सुनिश्चित करें कि उनमें किसी तरह की गंदगी या डैंड्रफ जैसा तो कुछ नहीं है।

बालों की साफ-सफाई और देखभाल के साथ ध्यान दें कि उनके कान के पीछे या पैरों के नीचे किसी प्रकार का कट या जख्म तो नहीं हो रहा है। यदि आपको ऐसा कुछ भी दिखे तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क कर उसकी दवा लें। छोटी समस्याओं को नजरअंदाज करने से दिक्कत बढ़ सकती है।

कुत्तों की आंखें जितनी प्यारी होती हैं, उससे कहीं ज्यादा संवेदनशील। अक्सर कुत्ते खेलते और चहलकदमी करते वक्त धूल और गंदगी में भी बैठ जाते हैं। ऐसे में उनका चेहरा विशेषकर आंखें कई प्रकार के कीटाणुओं के संपर्क में आ जाती हैं। इसीलिए कुत्ते की आंखों पर विशेष ध्यान रखना और उसे अच्छी तरह से साफ करना बहुत महत्वपूर्ण है। आंखों को सफाई करने के लिए आपको किसी विशेष उपकरण की आवश्यकता नहीं है। भीगी हुई रुई की मदद से इसे आसानी से साफ किया जा सकता है। हालांकि, ध्यान रखें आंखों की सफाई के लिए केवल पानी का ही उपयोग करें, किसी अन्य पदार्थ से सफाई न करें। धीरे-धीरे आंखों को चारों तरफ से साफ करें। आंखों की सफाई करते समय कुत्ते के सिर को मजबूती से पकड़कर रखें, लेकिन सुनिश्चित करें कि ऐसा करने से उनके नाक या मुंह को चोट ना पहुंचे।

एक स्वस्थ कुत्ते की आंखें आमतौर पर साफ और चमकदार होती हैं, इसलिए यदि आपको अपने कुत्ते की आंखों में कोई लालिमा, चेरी आई जैसा या आंखों से कुछ निकलता दिखे तो आपको तुरंत पशु चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए।

कुत्तों के कान बहुत संवेदनशील होते हैं, इसलिए इनकी सफाई बहुत सावधानी से की जानी चाहिए। आपको महीने में एक बार अपने कुत्ते के कानों को सफाई जरूर करनी चाहिए। वहीं यदि कुत्ते को कान में कोई समस्या है और चिकित्सक अधिक सफाई रखने की सलाह देते हैं तो आप इसे नियमित रूप से या फिर हफ्ते में दो से तीन बार साफ कर सकते हैं।

कान के बाहरी हिस्से को साफ करने के लिए एक नम या सूती कपड़े का उपयोग करें। यदि आप चाहें तो खनिज तेल में रुई भिगोकर भी कान साफ कर सकते हैं, हालांकि ऐसा करने से पहले एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर ले लें।

कुत्ते के पैरों के नाखूनों को हमेशा छोटा रखने की कोशिश करें। नाखून लंबे होने से कुत्ते को चलने में परेशानी हो सकती है, साथ ही उसमें गंदगी इकट्ठा होने का भी खतरा रहता है। कुत्तों के नाखूनों को काटने के लिए बाजार में विशेष प्रकार के नेलकटर आते हैं, उन्हीं का प्रयोग किया जाना चाहिए। नाखून जब बड़े हो जाते हैं तो चलने के दौरान वह फर्श से टकराते हैं। यदि कुत्ते के चलने के दौरान आपको इस तरह की आवाज सुनाई दे तो समझ जाएं कि अब नाखूनों को काटना चाहिए। इंसानों और कुत्तों के नाखूनों में फर्क होता है, ऐसे में पहली बार कुत्ते के नाखूनों को काटने के लिए अपने पशु चिकित्सक से प्रशिक्षण ले लें। इससे नाखून काटने के दौरान घाव या खून नहीं निकलेगा।

कुत्ते आमतौर पर अपने नाखूनों को कटवाना पसंद नहीं करते हैं, इसलिए सुनिश्चित करें कि नाखूनों को काटते समय घर का कोई सदस्य कुत्ते को अच्छी तरह से पकड़कर रखे। इसके बावजूद भी अगर नाखून काटते समय कहीं कट लग जाए या खून आ जाए तो तुरंत उसपर दवा लगाएं।

कुत्तों के मुंह की सफाई करना भी बहुत आवश्यक है। दांतों को अक्सर साफ किया जाना चाहिए। कुत्तों के लिए विशेष रूप से डिज़ाइन किए गए टूथब्रश और टूथपेस्ट बाजार में उपलब्ध हैं। घरों में प्रयोग होने वाले टूथपेस्ट की बजाय कुत्तों के लिए उपलब्ध टूथपेस्ट का प्रयोग करें।

गीले ब्रश पर थोड़ा सा टूथपेस्ट लगाएं और धीरे से कुत्ते के दांतों को ब्रश करें। यदि कुत्ते को टूथब्रश से ब्रश करने में असुविधा होती है तो दांतों और मसूड़ों की सफाई अपनी उंगलियों से करें। कम उम्र से ही उसे टूथपेस्ट की आदत डालें। उम्र के साथ कुत्तों के दांतों में टार्टर जम जाना सामान्य है, ऐसी स्थिति में अपने पशु चिकित्सक से संपर्क करें।

कुत्ते के जननांगों और गुदा की सफाई करना बहुत महत्वपूर्ण है। कुत्तों को नहलाते समय इसकी सफाई की जानी चाहिए। जननांगों की सफाई अच्छे से करें। बैक्टीरिया के प्रसार से बचने के लिए आगे से पीछे तक अच्छी तरह से पोंछे। चूंकि अक्सर कुत्ते फर्श या जमीन पर बैठते हैं, इसलिए उनके गुप्तांग और गुदा कई प्रकार के सतहों के संपर्क में आते हैं। इसलिए जब भी कुत्ता बाहर से घूम कर आए तो गीले सूती कपड़े की मदद से उसे अच्छी तरह से साफ करें। यदि आपको किसी प्रकार का संक्रमण, लालिमा या डिस्चार्ज जैसे लक्षण दिखाई देते हैं, तो तुरंत पशु चिकित्सक से संपर्क करें।

कुत्ते की गुदा थैली गुदा के किनारों पर स्थित होती है। संक्रमण से बचाने के लिए समय-समय पर इसे खाली किया जाना चाहिए। हालांकि, यह काम पशुचिकित्सक द्वारा ही अच्छे से किया जा सकता है। यदि आपका कुत्ता अपनी गुदा को अक्सर चाटता, खरोंचता या रगड़ते हुए दिखे तो पशु चिकित्सक के पास ले जाएं।

निष्कर्ष -

कुत्ते के अच्छे स्वास्थ्य के लिए हाइजीन बनाए रखना बहुत महत्वपूर्ण है। इसके लिए उसे समय पर नहलाना, बालों को संवारना, नाखूनों को काटना, आंखों, कानों, दांतों, जननांगों और गुदा को साफ करना बिल्कुल न भूलें। हर कोई कुत्तों को पेट पार्लर नहीं भेज सकता है। ऐसे में घर पर ही साफ सफाई का ध्यान कैसे रखें, इस बारे में अपने पशु चिकित्सक से सलाह जरूर ले लें।

लेख में बताए गए उपरोक्त बिंदुओं की मदद से आप कुत्ते की देखभाल घर पर ही आसानी से रख सकते हैं। हां यह जरूरी है कि आप कुत्तों के लिए विशेष रूप से बाजार में उपलब्ध सामान जैसे शैम्पू, साबुन, ब्रश, टूथपेस्ट आदि ले आएं। अगर आप उपरोक्त दिशानिर्देशों का सही तरह से पालन करते हैं तो आप अपने कुत्ते को किसी भी संक्रमण और बीमारी से आसानी से बचा सकेंगे। किसी भी प्रकार के संक्रमण के लक्षण, लालिमा, मरोड़ या दर्द की स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

संदर्भ

  1. People for the Ethical Treatment of Animals [Internet]. Norfolk. Virginia. USA; The Most Important Do’s and Don’ts When Grooming Your Dog at Home
  2. American Kennel Club [Internet]. New York. USA; How to Groom a Dog
  3. American Kennel Club [Internet]. New York. USA; The Dos and Don’ts of Home Dog Grooming and Hygiene
  4. Compend Contin Educ Vet. 2011 Jan;33(1):E1. PMID: 23710522
  5. AC, Maria. et al. Necropsy findings in dogs that died during grooming or other pet service procedures. J Forensic Sci. 2013 Sep;58(5):1189-92. PMID: 23879553
  6. Scheifele, Peter M. et al. Noise impacts from professional dog grooming forced-air dryers. Noise Health. 2012 Sep-Oct; 14(60): 224–226. PMID: 23117536
  7. Wells, DL. Domestic dogs and human health: an overview.. Br J Health Psychol. 2007 Feb;12(Pt 1):145-56. PMID: 17288671
ऐप पर पढ़ें
cross
डॉक्टर से अपना सवाल पूछें और 10 मिनट में जवाब पाएँ