myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

कढ़ी पत्ता में कई प्रकार के औषधीय गुण होते हैं, जो कि स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होते हैं। इसे मीठी नीम के नाम से भी जाना जाता है। इसका प्रयोग ज्यादातर दक्षिणी भारत में किया जाता था लेकिन आजकल यह हर रसोई घर में मसाले के रूप में प्रयोग किया जाता है। मीठी नीम का प्रयोग भोजन का स्वाद बढ़ाने के लिए किया जाता है।

कढ़ी पत्ता हमारे खाने के स्वाद को तो बढ़ाता ही है, साथ ही यह हमारे शरीर को कई प्रकार की बीमारियों से भी दूर रखने में मदद करता है। मीठी नीम में लोहा, कैल्शियम, फास्फोरस और कई प्रकार के विटामिन्स होते हैं जो कि शरीर को एनीमिया, हाई बीपी, मधुमेह आदि रोगों से बचाने में मदद करते हैं। इसके अलावा करी पत्ते में विटामिन B2, B6 और B9 की भरपूर मात्रा होती है जिससे हमारे बाल काले, घने और मजबूत बनते हैं।

आगे जानिए कि कैसे कढ़ी पत्ता हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद है -

  1. कड़ी पत्ता बेनिफिट्स इन हिंदी - Kari Patta ke Fayde in Hindi

कड़ी पत्ता फॉर हेयर - Curry Leaves for Hair in Hindi

कड़ी पत्ता बालों के लिए बहुत फायदेमंद होता है। कड़ी पत्ते का प्रयोग हमारे बालों की जड़ो को मजबूत बनाने, काला बनाने, झड़ने से रोकने और बालों को रूसी से बचाने में भी किया जाता है। करी पत्तों से हेयर टॉनिक बनाने के लिए करी पत्तों को इतना उबाल लें कि वह पानी में घुल जाएँ व पानी का रंग हरा हो जाएँ। इस टॉनिक को 15-20 मिनट तक अपने सिर पर लगाएँ। हफ्ते भर में 2 बार इससे बालों की मसाज करने से बालो को काफी फायदा पहुचता है। इसके अलावा, आधा कप करी पत्तों को दही के साथ पीस लें व उस मिश्रण को अपने बालों पर लगाए, व कुछ मिनट के बाद धो लें। 

(और पढ़ें – बालों को लंबा करने के तरीके)

करी पत्ते के लाभ वजन घटाने में - Curry Leaves for Weight Loss in Hindi

ऊपर आपने करी पत्ते के कई स्वास्थ्य लाभों के बारे में जाना लेकिन आपको यह जानकार आश्चर्य होगा कि यह हमारे वजन को भी कम करने में सहायक होता है। करी पत्ते में मौजूद फाइबर की मात्रा, हमारे शरीर में जमा अतिरिक्त वसा और विषाक्त पदार्थो को बाहर निकालने में मदद करती है। हर दिन करी पत्ता खाने से वजन घटता है और कोलेस्ट्रोल कम होता है। इसलिए अगली बार आप प्लेट में करी पत्ता न छोड़कर चबाकर खायें और आसानी से वजन घटायें

(और पढ़ें – वजन कम करने के लिए नाश्ते में क्या खाएं)

मीठी नीम के लाभ त्वचा के लिए - Curry Leaves for Skin in Hindi

पुराने समय में चेहरे की चमक को बढ़ाने के लिए मीठी नीम का उपयोग किया जाता था। इसके इस्तेमाल के लिए पहले इसका फेस पैक बना लें फिर चेहरे पर लगाएं। यह चेहरे की सभी समस्याओं जैसे चेहरे का रूखापन, फाइन लाइन, पिंपल और मुहाँसे जैसी समस्याओं को दूर करने में मदद करता है।

इसका फेस पैक बनाने के लिए सबसे पहले मीठी नीम को सूखा लें और इन्हें पीसकर पाउडर बना लें। अब इस पाउडर में गुलाब जल, नारियल तेल और थोड़ी मुलतानी मिट्टी को मिलाएं। अब इस मिश्रण से बने फेस पैक को अपने चेहरे पर लगाकर 20 मिनट के लिए छोड़ दें। फिर ठंडे पानी से चेहरे को धो लें।

(और पढ़ें – योग से पाइए दमकती त्वचा)

कढ़ी पत्ते के फायदे बचाएं दिल की बीमारियों से - Curry Leaves for Heart in Hindi

कड़ी पत्ते में हमारे शरीर के ब्लड कोलेस्ट्रॉल को कम करने का गुण होता है। जिससे हम दिल की बीमारियों से दूर रह सकते हैं। शायद आप जानते हैं कि शरीर के ऑक्सीडेटिव कोलेस्ट्रॉल, खराब कोलेस्ट्रॉल को बनाने में मदद करते हैं जिससे हार्ट अटैक का ख़तरा बढ़ जाता है। कड़ी पत्ते में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं जो कि कोलेस्ट्रॉल का ऑक्सीकरण होने से रोक देते हैं जिससे शरीर में खराब कोलेस्टरॉल की मात्रा बढ़ नहीं पाती है। इस तरह से यह हमें दिल से जुड़ी परेशानियों से दूर रखने में मदद करता है। 

(और पढ़ें – सेब के फायदे हृदय को स्वस्थ रखने में)

करी पत्ते के फायदे एनीमिया से बचाएं - Curry Leaves for Anemia in Hindi

एनीमिया, शरीर में सिर्फ खून की कमी के कारण नहीं होता है। बल्कि जब शरीर में आयरन को सोखने और इसका सही तरह से इस्तेमाल करने की शक्ति कम हो जाती है तब भी हमें एनीमिया होने का ख़तरा बढ़ जाता है। इस रोग से निजाद पाने के लिए करी पत्ता बहुत ही फायदेमंद होता है। इसमें आयरन और फोलिक एसिड की बहुत अधिक मात्रा पाई जाती है। हमारे शरीर में फोलिक एसिड, आयरन को सोखने में मदद करता है और आयरन खून की कमी को पूरा करता है। इसलिए यदि आप एनीमिया से पीड़ित है तो एक खजूर और 3 करी पत्तों को रोजाना सुबह खाली पेट चबाकर खाएँ। इससे शरीर का आयरन स्तर बढ़ता है और एनीमिया होने का ख़तरा कम होता है।

कड़ी पत्ते के लाभ मधुमेह के लिए - Curry Leaves for Diabetes in Hindi

कड़ी पत्ते में कई प्रकार के एंटी-डायबिटीक एजेंट होते हैं जो कि शरीर में इंसुलिन की गतिविधि को प्रभावित कर ब्लड से शुगर के स्तर को कम करने में मदद करते हैं। इसके अलावा कड़ी पत्ते में मौजूद फाइबर की मात्रा भी शुगर से ग्रस्त रोगियों के लिए फायदेमंद होती है। इसलिए रोजाना सुबह खाली पेट कड़ी पत्ते का सेवन करना शुरू करें और पाएँ डायबिटीज से निजाद।

(और पढ़ें – योग कर सकता है मधुमेह को नियंत्रित, जानिए कैसे)

मीठी नीम के फायदे लिवर में - Curry Leaves for Liver in Hindi

अल्कोहॉल और मछली में पाएँ जाने वाले तत्व पारा (mercury) से हमारे लिवर पर ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस बढ़ता है जिससे लिवर की परेशानी बढ़ जाती है। ऐसे में मीठी नीम, लिवर पर पड़ने वाले ऑक्सीडेटिव प्रभाव से बचाने में मदद करता है। इसके अलावा यदि आपको लिवर से संबंधित कोई भी परेशानी हो तो घर पर बने हुए घी को गर्म कर उसमें एक कप मीठी नीम का जूस मिलाएँ। उसके बाद इसमें थोड़ी सी शक्कर और पिसी हुई काली मिर्च को मिलाएँ। थोड़ी देर तक मिश्रण में उबाल लाएँ और फिर हल्का ठंडा कर इसे पी जाएँ।

(और पढ़ें – लिवर को साफ और स्वस्थ रखने के लिए 10 सर्वोत्तम आहार)

कढ़ी पत्ता के फायदे दस्त में लाभदायक - Curry Leaves for Diarrhea in Hindi

कड़ी पत्ते में मौजूद कार्बैज़ोल की वजह से इसमें एंटीबैक्टीरियल और सूजन को कम करने वाले गुण पाएँ जाते हैं। यह गुण हमारे पेट के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं। कड़ी पत्ता पेट से पित्त को दूर कर, दस्त को दूर करने में मदद करता है। इसके सेवन के लिए कड़ी पत्तों को पीसकर इसके रस को छाछ के साथ दिन में 2 से 3 बार पिएं। आपको जल्द ही दस्त में आराम मिल जाएँगा।

यदि आप भी अपने खाने के स्वाद के साथ-साथ अपने शरीर को स्वस्थ, बालों और त्वचा की देखभाल करना चाहते हैं तो आज से अपने आहार में करी पत्ते का इस्तेमाल करना शुरू करें।

और पढ़ें ...