myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

नाखून अंदर की ओर बढ़ना क्या है?

नाखून अंदर की ओर बढ़ना एक सामान्य स्थिति है, जिसमें नाखून त्वचा की ओर मुड़ने लगता है। इसकी वजह से दर्द, लालिमा, सूजन और कभी-कभी संक्रमण हो जाता है। आमतौर पर यह समस्या अंगूठे में होती है। इस स्थिति का ध्यान आप घर पर ही खुद रख सकते हैं, लेकिन अगर तेज दर्द हो रहा है या दर्द फैल रहा है तो डॉक्टर इसे और बढ़ने से रोकने में आपकी मदद कर सकते हैं। यदि आपको डायबिटीज या अन्य कोई विकार है जिसमे पैरों में रक्त का प्रवाह कम होता है तो आपमें इस समस्या का खतरा ज्यादा है।

नाखून अंदर की ओर बढ़ने के लक्षण

नाखून अंदर की ओर बढ़ने की स्थिति के निम्न लक्षण हैं:

  • नाखून के एक या दोनों तरफ दर्द और छूने पर दर्द होना
  • नाखून के आसपास लालिमा
  • नाखून के आसपास सूजन
  • नाखून के आसपास के ऊतक में संक्रमण

नाखून अंदर की ओर बढ़ने के कारण

नाखून अंदर की ओर बढ़ने के कारण नीचे बताए गए हैं:

  • ऐसे जूते पहनना जिससे नाखून को नुकसान पहुंचे
  • नाखून को बहुत छोटा काटना
  • नाखून पर चोट लगना
  • नाखून असामान्य रूप से मुड़ा हुआ होना
  • नाखून का आकार ठीक न होना
  • नाखूनों की सही से सफाई न करना

नाखून अंदर की ओर बढ़ने का इलाज

अगर स्थिति ज्यादा गंभीर नहीं है तो इसे घर पर ही ठीक किया जा सकता है। गर्म पानी में लगभग 15 से 20 मिनट तक प्रतिदिन तीन से चार बार प्रभावित नाखून को भिगोएं। दर्द के लिए एसिटामिनोफेन (टाइलेनॉल) जैसी ओवर-द-काउंटर (डॉक्टर के प्रिस्क्रिप्शन के बिना मिलने वाली दवा) दवा का उपयोग कर सकते हैं। संक्रमण को रोकने के लिए एंटीबायोटिक पॉलीमैक्सीन, नियोमाइसिन या स्टेरॉयड क्रीम लगा सकते हैं।

यदि नाखून अंदर की ओर बढ़ने की स्थिति गंभीर रूप ले चुकी है तो डॉक्टर निम्नलिखित ट्रीटमेंट दे सकते हैं:

  • नाखून उठाना:
    अगर नाखून हल्का-सा बढ़ा (लालिमा और दर्द हो, लेकिन मवाद न हो) हो तो डॉक्टर सावधानी से प्रभावित नाखून को उठाने की कोशिश करते हैं और उसके नीचे रूई, डेंटल फ्लॉस या स्प्लिंट या रूई लगा सकते हैं। यह नाखून को सही तरीके से बढ़ने में मदद करता है। 
  • प्रभावित नाखून को निकालना:
    अधिक गंभीर (लालिमा, दर्द और मवाद) मामले में, डॉक्टर खराब नाखून को काट या निकाल सकते हैं।

कई बार नाखून के अंदर की ओर बढ़ने पर सर्जरी की सलाह भी दी जाती है। इस प्रक्रिया को पार्शियल नेल रिमूवल कहा जाता है जिसमें स्किन के अंदर घुसे नाखून के हिस्से को निकाल दिया जाता है। इस दौरान डॉक्टर प्रभावित उंगली को सुन्न कर देते हैं। आंशिक रूप से नाखून के प्रभावित हिस्से को काटा जाता है, ताकि नाखून का किनारा पूरी तरह से सीधा हो सके।

इसके अलावा जब नाखून मोटे होने से यह स्थिति उत्पन्न हुई है तो इसके लिए डॉक्टर पूरा नाखून निकाल सकते हैं। इस दौरान दर्द से बचने के लिए इंजेक्शन देते हैं और फिर पूरे नाखून को निकाल देते हैं। इस सर्जरी को मैट्रिक्सटेकॉमी कहते हैं।

  1. इन्ग्रोन टोनेल्स के घरेलू उपाय

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...