myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

चोट क्या होता है?

आपके शरीर को किसी भी प्रकार के नुकसान होने को चोट कहा जाता है। घर, ऑफिस या खेल के दौरान एक्सीडेंट और किसी भी तरह के उत्पात, मार-पीट या लड़ाई-झगडे से आपको चोट लग सकती है। नोकीली या शरीर में घुसने वाली वस्तुएं आपको चोट पहुंचा सकती हैं।

सामान्य प्रकार की चोट होती हैं खरोंच, फ्रैक्चर, जोड़ों का अपनी जगह से हिल जाना, मोच, खिंचाव और जलना अदि।

(और पढ़ें - मोच के घरेलू उपाय)

चोट मामूली और गंभीर हो सकती हैं। कुछ मामलों में, दिखने में मामूली लगने वाली चोट अंदर से गंभीर हो सकती है, जिसे तुरंत चिकित्स्कीय इलाज की आवश्यकता होती है।

मामूली चोट को फर्स्ट ऐड (प्राथमिक चिकित्सा) से ठीक किया जा सकता है लेकिन गंभीर चोट के लिए आपातकालीन चिकित्सा की आवश्यकता होती है।

  1. चोट के प्रकार - Types of Injury in Hindi
  2. चोट के लक्षण - Injury Symptoms in Hindi
  3. चोट के कारण और जोखिम कारक - Injury Causes & Risk Factors in Hindi
  4. चोट से बचाव - Prevention of Injury in Hindi
  5. चोट का परीक्षण - Diagnosis of Injury in Hindi
  6. चोट का इलाज - Injury Treatment in Hindi
  7. चोट की जटिलताएं - Injury Risks & Complications in Hindi
  8. चोट लगने पर प्राथमिक उपचार, क्या करना चाहिए
  9. चोट की दवा - Medicines for Injury in Hindi
  10. चोट के डॉक्टर

चोट के प्रकार - Types of Injury in Hindi

चोट के प्रकार क्या होते हैं?

चोट के कुछ सामान्य प्रकार निम्नलिखित हैं -

  • फ्रैक्चर
  1. बंद फ्रैक्चर (Closed fracture) -  जब हड्डी टूट जाती है लेकिन त्वचा के अंदर ही रहती है, तो उसे बंद फ्रैक्चर कहते हैं। (और पढ़ें - पैर में फ्रैक्चर)
  2. खुला फ्रैक्चर (Open fracture) - जब हड्डी टूटने के बाद त्वचा से बाहर आने लगती है, तो उसे खुला फ्रैक्चर कहते हैं। (और पढ़ें - कूल्हे की हड्डी में फ्रैक्चर)
  • जोड़ों की चोट
  1. हड्डियों का अपनी जगह से हिलना।
  2. ज़्यादा इस्तेमाल करने पर "टेंडन" (Tendon: हड्डियों को मासपेशियों से जोड़ने वाले ऊतक) में चोट लगना।
  3. “कार्टिलेज” (Cartilage: घुटनों में मौजूद हड्डियों को जोड़ने वाले मजबूत ऊतक) का फटना।
  • सॉफ्ट टिशू की चोट
  1. मोच - "लिगामेंट" (Ligament: दो हड्डियों या कार्टिलेज को आपस में जोड़ने वाले रेशेदार ऊतक) और मासपेशी या "टेंडन" (Tendon: हड्डियों को मासपेशियों से जोड़ने वाले ऊतक) का खिंचना या फटना।
  2. नील पड़ना - दबाव पड़ने पर रक्तवाहिकाओं का त्वचा के अंदर फट जाना।
  • त्वचा की चोट
  1. कट लगना - किसी नोकीली चीज़ से त्वचा का फटना।
  2. खरोंच या छाला - रगड़ लगने के कारण त्वचा का छ्लिना या छाले होना।

चोट के अन्य सामान्य प्रकार निम्नलिखित हैं -

  1. सिर की चोट
  2. घुटने की चोट
  3. जलना
  4. करंट से लगने वाली चोट

चोट के लक्षण - Injury Symptoms in Hindi

चोट लगने के लक्षण क्या होते हैं?

चोट लगने के बाद कई बार लक्षण उसी समय दिखने लगते हैं लेकिन कभी-कभी लक्षण धीरे-धीरे दिखते हैं और बढ़ते जाते हैं। अगर आप चोट के लक्षणों पर ध्यान नहीं देते व चोट के लिए कोई इलाज नहीं लेते, तो आपको लम्बे समय के लिए समस्याएं हो सकती हैं।

निम्नलिखित लक्षणों को नज़रअंदाज़ न करें -

  • जोड़ों में दर्द
    जोड़ों में दर्द, खासकर घुटनों, टखने, कोहनी और कलाई के दर्द को कभी नज़रअंदाज़ नहीं करना चाहिए क्योंकि इन जोड़ों में मासपेशियां नहीं होती, इसीलिए यहां होने वाला दर्द मांसपेशियों का दर्द नहीं होता। 48 घंटों से ज़्यादा जोड़ों में दर्द होने पर डॉक्टर के पास जाना चाहिए। (और पढ़ें - जोड़ों में दर्द के घरेलू उपाय)
     
  • छूने पर दर्द
    अगर आपको किसी हड्डी, मासपेशी या जोड़ में छूने पर दर्द हो रहा है, तो हो सकता है आपको कोई चोट लगी हो। अगर शरीर के दूसरी तरफ उसी जगह पर छूने में दर्द नहीं हो रहा है, तो अपने डॉक्टर के पास जाएं। (और पढ़ें - मांसपेशियों में दर्द के घरेलू उपाय)
     
  • सूजन
    ज़्यादातर मांसपेशियों की चोट लगने पर सूजन होती ही है। आमतौर पर, सूजन दिख जाती है, लेकिन कुछ मामलों में आपको सूजन दिखाई नहीं देती और ऐसा महसूस होता है जैसे कुछ सूजा हुआ है। दर्द, लालिमा और गर्माहट महसूस होने जैसे लक्षणों के साथ सूजन भी होती है। (और पढ़ें - सूजन कम करने के घरेलू उपाय)
     
  • गतिविधि करने की क्षमता में कमी
    अगर आपको सूजन का पता नहीं चल पा रहा है, तो गतिविधि न कर पाने से आपको चोट का पता चल जाएगा। अगर आपके किसी जोड़ में सूजन है, तो आपको हिलने-डुलने व गतिविधि करने में कठिनाई होगी। ऐसा अनुभव होने पर अपने डॉक्टर के पास जाएं।
     
  • कमजोरी
    अपने दोनों हाथों से वजन उठा कर देखें और दोनों पैरों पर एक-एक कर के अपने शरीर का वजन डालें। अगर आप दोनों हाथों से समान वजन नहीं उठा पा रहे या पैरों से शरीर का वजन नहीं संभाल पा रहे हैं, तो हो सकता है आपको कहीं चोट लगी हो। (और पढ़ें - कमजोरी के लक्षण)

चोट के कारण और जोखिम कारक - Injury Causes & Risk Factors in Hindi

चोट कैसे लगती है?

चोट दो तरह से लग सकती है, बहरी और अंदरूनी कारणों से।

  • बाहरी कारण
  1. एक्सीडेंट, टक्कर या किसी के द्वारा के द्वारा मारे जाने पर आपको बाहरी चोट लग सकती है, जिससे फ्रैक्चर या हड्डियों का अपनी जगह से हिल जाना जैसी समस्याएं हो सकती हैं।
  2. गर्मी के कारण निर्जलीकरण (Dehydration) होने से मांसपेशियों में ऐंठन हो सकती है और ठण्ड से "हायपोथर्मिया" (Hypothermia) होने से आपके अंगों को नुक्सान हो सकता है।
  • अंदरूनी कारण
    अचानक कोई गतिविधि करने से मांसपेशियों और "टेंडन" में मोच आ सकती है और वह फट भी सकती हैं। यह समस्या मांसपेशियों को ज़्यादा इस्तेमाल करने से भी हो सकती है। यह चोट मामूली या गंभीर भी हो सकती है।
     

चोट लगने के जोखिम कारक क्या होते हैं?

चोट लगने के जोखिम कारक निम्नलिखित हैं -

  1. मांसपेशियों की कमजोरी
  2. उम्र का बहुत अधिक या बहुत कम होना।
  3. खेलों में भाग लेना।
  4. मिर्गी और तंत्रिकाओं से सम्बंधित अन्य विकार।
  5. गलत तरह से व्यायाम करना।
  6. वजन ज़्यादा होना। (और पढ़ें - वजन कम करने के लिए डाइट चार्ट)
  7. खेलते समय सुरक्षा के लिए उपकरण (जैसे हेलमेट और पैड) न इस्तेमाल करना।

चोट से बचाव - Prevention of Injury in Hindi

चोट लगने से कैसे बचा जा सकता है?

चोट से बचने के लिए निम्नलिखित उपाय किए जा सकते हैं -

  • एक्सरसाइज करने की सही तकनीक जानें।
  • हलके दर्द के लिए प्रभावित जगह पर बर्फ का उपयोग करें।
  • सूजन कम करने के लिए एंटी-इन्फ्लैमटरी (Anti-inflammatory) दवाएं लें।
  • डिहाइड्रेशन से बचने के लिए पर्याप्त पानी पिएं। (और पढ़ें - कितना पानी पीना चाहिए)
  • एक्सरसाइज करने से पहले वार्म अप करें।
  • खेलते या व्यायाम करते समय हल्के कपडे पहनें ताकि पसीना सूख सके।
  • खेलते और एक्सरसाइज करते समय सुरक्षा करने वाले उपकरण पहनें (जैसे हेलमेट और पैड)।
  • पर्याप्त आराम करें।
  • दर्द, तनाव और असहजता होने जैसे लक्षणों को नज़रअंदाज़ न करें।
  • ऐसी गतिविधियों से दूर रहें जिनसे आपको चोट लग सकती है (जैसे लड़ाई-झगड़े)।
  • एक्सीडेंट से चोट लगने से बचने के लिए यातायात के नियमों का पालन करें और गाड़ी चलाते समय सीट बेल्ट अवश्य पहनें।
  • दुपहिया वाहन चलाते समय हेलमेट पहनें।

चोट का परीक्षण - Diagnosis of Injury in Hindi

चोट का पता कैसे लगाया जाता है?

चोट का पता लगाने के लिए आपके डॉक्टर आपसे लक्षणों के बारे में पूछेंगे और प्रभावित क्षेत्र का शारीरिक परीक्षण करेंगे।

आमतौर पर चोट लगने के कारण से डॉक्टर को चोट के प्रकार का पता चल जाता है।

फ्रैक्चर, "लिगामेंट" की चोट और हड्डियों का अपनी जगह से हिलने का पता लगाने के लिए डॉक्टर आपके इमेजिंग टेस्ट (Imaging test) कर सकते हैं जैसे कि ​एक्स रे, ​एमआरआई स्कैन, ​सीटी स्कैन

चोट का इलाज - Injury Treatment in Hindi

चोट का उपचार कैसे किया जाता है?

1. फ्रैक्चर 

फ्रैक्चर और गंभीर चोट के लिए डॉक्टर के पास जाने की आवश्यकता होती है। ऐसी चोट का इलाज डॉक्टर ही कर सकते हैं। 

हड्डियों के फ्रैक्चर और जोड़ों का अपनी जगह से हिल जाना गंभीर समस्याएं होती हैं, जिनके लिए आपातकालीन स्थिति में डॉक्टर से इलाज लेना चाहिए।

फ्रैक्चर के लिए "प्लास्टर" (Plaster), मजबूत धातु की एक पट्टी (Splint) और सर्जरी की आवश्यकता हो सकती है।

(और पढ़ें - चोट की सूजन कम करने का घरेलू उपाय)

2. मोच या मांसपेशियों में खिंचाव

 मोच या खिंचाव जैसी चोट के लिए प्राथमिक उपचार अपने आप "RICE" तकनीक से किया जा सकता है। "RICE" तकनीक इस प्रकार है -

  • आराम करें (R: Rest)
    चोट लगने के बाद एक्सरसाइज या व्यायाम न करें। कुछ गंभीर चोट लगने के कारण आपको पूरी तरह से आराम करने की आवश्यकता हो सकती है लेकिन अधिकतर मामलों में आपको गतिविधि कम करने और एक्सरसाइज के तरीके को बदलने की आवश्यकता होती है। (और पढ़ें - व्यायाम करने का सही समय)
     
  • बर्फ लगाएं (I: Ice)
    चोट लगने के तुरंत बाद कम से कम 20 मिनट के लिए प्रभावित क्षेत्र पर बर्फ लगाएं, और उसके बाद अगले 48 घंटों के लिए हर चार घंटे में लगाएं। तौलिये में बर्फ लपेटकर लगाना या जमे हुए मटर का पैकेट प्रभावित क्षेत्र पर रखना सबसे उचित होता है। बर्फ से खून बहना और नील पड़ना कम होता है, और इससे दर्द में भी आराम मिलता है। ज़्यादा देर तक बर्फ को सीधे त्वचा पर न रखें, इससे त्वचा जल सकती है। (और पढ़ें - त्वचा पर बर्फ लगाने के फायदे)
     
  • पट्टी लगाएं (C: Compression)
    10 से 20 बार बर्फ लगाने के बाद हो सके तो प्रभावित क्षेत्र पर क्रेप पट्टी लगाएं। इससे खून बहना रुकेगा और सूजन भी कम होगी। यह तरीका हाथ व पैरों में लगने वाली चोट के लिए अधिक प्रभावी होता है।
     
  • हाथ/पैर को ऊपर उठाएँ (E: Elevate)
    प्रभावित हाथ या पैर को ऊपर की तरफ रखने से ऊतक में मौजूद तरल पदार्थ निकल जाता है और सूजन कम होती है, जिससे दर्द में आराम आता है।

प्राथमिक उपचार करने के बाद डॉक्टर को चोट जरूर दिखाएँ। अगर आपको जरा सी भी आशंका है की चोट गंभीर है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाएँ।

चोट की जटिलताएं - Injury Risks & Complications in Hindi

चोट लगने की जटिलताएं क्या होती हैं?

चोट लगने की जटिलताएं निम्नलिखित हैं -

  1. सिर पर और हाथ व पैर पर चोट लगने से मस्तिष्क को गंभीर नुक्सान हो सकता है और अधिक खून बह जाने के कारण मौत हो सकती है।
  2. उम्र के साथ या मांसपेशियों व अन्य अंगों के ज़्यादा उपयोग के कारण लगने वाली अंदरूनी चोट से दीर्घकालिक दर्द और चलने में समस्याएं हो सकती हैं।
  3. बहुत गंभीर चोट लगने के कारण मरीज जीवन भर के लिए बिस्तर पर ही सीमित हो सकता है।

ध्यान रहे कि ऐसी जटिलताएं बहुत की कम होती हैं।  लेकिन फिर भी सुरक्षित रहे और कोशिश करें कि आपको किसी प्रकार की चोट न लगे।

Dr. Giri Prasath

Dr. Giri Prasath

सामान्य चिकित्सा

Dr. Madhav Bhondave

Dr. Madhav Bhondave

सामान्य चिकित्सा

Dr. Sunil Choudhary

Dr. Sunil Choudhary

सामान्य चिकित्सा

चोट की दवा - Medicines for Injury in Hindi

चोट के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
BrufenBrufen 200 Mg Tablet6.0
EndacheEndache Gel59.0
FenlongFenlong 400 Mg Capsule27.0
Ibuf PIbuf P Tablet14.0
IbugesicIbugesic 100 Mg Suspension22.0
IbuvonIbuvon 100 Mg Suspension10.0
Ibuvon (Wockhardt)Ibuvon Syrup12.0
IcparilIcparil 400 Mg Tablet29.0
MaxofenMaxofen Tablet7.0
TricoffTricoff Syrup60.0
AcefenAcefen 100 Mg/125 Mg Tablet29.0
Adol TabletAdol 200 Mg Tablet42.0
BruriffBruriff 400 Mg Tablet5.0
EmflamEmflam 400 Mg Injection7.0
Fenlong (Skn)Fenlong 200 Mg Tablet20.0
FlamarFlamar 400 Mg Tablet32.0
IbrumacIbrumac 200 Mg Tablet4.0
IbuminIbumin Syrup10.0
IbupalIbupal 400 Mg Tablet38.0
Ibuprofen 400 Mg TabletIbuprofen 400 Mg Tablet12.0
IbutasIbutas 200 Mg Tablet403.0
IfenIfen 200 Mg Tablet26.0
NoviganNovigan 400 Mg Tablet10.0
SugafenSugafen 200 Mg Tablet3.0
BruginBrugin Tablet7.0
DolofinDolofin Injection4.0
Fenlong MrFenlong Mr Tablet49.0
Fenlong SFenlong S Tablet50.0
GesicGesic Capsule14.0
Ibubid TrIbubid Tr 300 Mg Capsule8.0
Abhay ToxAbhay Tox 0.5 Ml Injection8.42
BetatnusBetatnus Vaccine11.33
BettBett 0.5 Ml Injection108.06
Bio HibBio Hib 20 Mcg Injection166.37
HiberixHiberix 0.033 Mg Injection299.0
Hib ProHib Pro 0.033 Mg Injection412.5
Tetanus Toxoid VaccineTetanus 1.5 Lf Vaccine11.45
TetglobTetglob 1000 Iu Injection2982.86
Tetvac (Serum)Tetvac 1.5 Mg Injection11.16
Tt (Serum)Tt 1.5 Lf Injection11.45
BeatsBeats 1500 Iu Injection71.71
IgantetIgantet 250 Iu Injection1500.0
Shan TtShan Tt 10 Iu Injection13.36
TetigTetig 250 Mg Injection1530.0
Tt (Cipla)Tt Injection28.65
EnteroshieldEnteroshield Prefilled Syringe1775.0
Silt HibproSilt Hibpro Vaccine170.06
Soframycin CreamSoframycin 1% Cream98.05
SofradermSofraderm Cream25.78
Sofra TuffleSofra Tuffle Bandage150.0
PentavacPentavac 30 Lf/25 Lf Injection638.0
ArthrinArthrin Gel80.0
Abhay TagAbhay Tag Injection17.5
Comvac 3Comvac 3 2520 Lf/57.5 Lf/1520 Ou Injection16.25
TripvacTripvac Injection40.0
Acefenac SpAcefenac Sp Tablet62.5
Adiflam PlusAdiflam Plus 400 Mg/500 Mg Tablet16.18
Anaflam PAnaflam P 100 Mg/125 Mg Suspension29.5
AntidolAntidol 100 Mg/125 Mg Tablet9.96
Antidol KidAntidol Kid Tablet4.14
AntiflamAntiflam 400 Mg/650 Mg Tablet10.63
ArcureArcure 400 Mg/500 Mg Tablet8.83
Arden PlusArden Plus 400 Mg/500 Mg Tablet7.83
BestofenBestofen 400 Mg/325 Mg Tablet12.8
BestophenBestophen 400 Mg/325 Mg Tablet7.8
Bestophen IBestophen I Tablet7.7
Bren PlusBren Plus 100 Mg/162.5 Mg Suspension12.47
BruaceBruace 100 Mg/162.5 Mg Suspension15.3
BrufamolBrufamol 400 Mg/325 Mg Tablet9.8
BrugesicpBrugesicp 100 Mg/125 Mg Syrup11.25
BrumolBrumol 400 Mg/325 Mg Tablet10.78
Brupal KidBrupal Kid 100 Mg/125 Mg Tablet Dt3.9
Bucon PlusBucon Plus 400 Mg/325 Mg Tablet7.7
Bufex KidBufex Kid 100 Mg/125 Mg Tablet3.88
BuflamBuflam 400 Mg/325 Mg Tablet6.73
Buflam PlusBuflam Plus 100 Mg/62.5 Mg Suspension17.0
Buflam TabletBuflam Tablet9.71
CincofenCincofen 400 Mg/325 Mg Tablet28.0
CombiflamCombiflam Cream38.0
DeflamDeflam 400 Mg/400 Mg Tablet22.0
DolomecDolomec Relief Oil66.0
DolomedDolomed 100 Mg/125 Mg Suspension10.96
Dt IbuflamDt Ibuflam 400 Mg/333 Mg Tablet7.56
EbugesicEbugesic Tablet12.92
FenmolFenmol 400 Mg/325 Mg Tablet12.96
FlexonFlexon 400 Mg/500 Mg Tablet16.85
Iben PlusIben Plus 200 Mg/325 Mg Tablet7.44
IbuconIbucon 100 Mg/125 Mg Suspension11.33
Ibucon PlusIbucon Plus 100 Mg/125 Mg Syrup20.5
Ibufen PlusIbufen Plus 400 Mg/325 Mg Tablet24.93
IbuflamIbuflam 400 Mg/500 Mg Tablet7.33
Ibugesic PlusIbugesic Plus 100 Mg/162.5 Mg Suspension22.5
Ibulet KidIbulet Kid 100 Mg/125 Mg Tablet5.0
Ibulet PlusIbulet Plus 100 Mg/125 Mg Syrup19.5
IbunijIbunij 400 Mg/325 Mg Tablet2.82
Ibunij AIbunij A 400 Mg/325 Mg Tablet8.5
Ibu PIbu P 100 Mg/162.5 Mg Suspension11.37
IbutopIbutop 100 Mg/162.5 Mg Suspension17.3
InfanilInfanil 100 Mg/125 Mg Syrup60.5
MobilMobil 400 Mg/500 Mg Tablet178.75
NovaflamNovaflam Syrup20.9
Oxyvon ForteOxyvon Forte 400 Mg/325 Mg Tablet13.21
PabuflamPabuflam Tablet32.5
Paraflam PParaflam P 400 Mg/500 Mg Tablet15.0
P FenP Fen Tablet8.25
Pgi JuniorPgi Junior 100 Mg/125 Mg Tablet7.27
Pinkin PlusPinkin Plus 50 Mg/500 Mg Suspension12.18
Procieder EfProcieder Ef 400 Mg/325 Mg Tablet8.1
Profen (Overseas)Profen 100 Mg/162.5 Mg Syrup11.7
PyreflamPyreflam 400 Mg/325 Mg Tablet8.05
Rubigesic PRubigesic P 400 Mg/325 Mg Tablet39.81
RuparRupar 400 Mg/325 Mg Tablet10.0
Rupar JuniorRupar Junior 400 Mg/325 Mg Syrup32.0
Rupar KidRupar Kid Drops25.0
Takflam PlusTakflam Plus Tablet20.0
TempolTempol Syrup16.91
Tudofen ForteTudofen Forte 400 Mg/325 Mg Tablet56.78
AcugesicAcugesic 400 Mg/325 Mg Injection24.68
AllflamAllflam 400 Mg/500 Mg Tablet8.06
AnswellAnswell 400 Mg/325 Mg Tablet8.54
Arfen CompoundArfen Compound 400 Mg/325 Mg Tablet7.17
Artifen PlusArtifen Plus 100 Mg/125 Mg Suspension11.33
Bruceta ForteBruceta Forte 400 Mg/333 Mg Tablet7.0
BrucetaBruceta 100 Mg/125 Mg Suspension27.13
BrucetBrucet 400 Mg/333 Mg Tablet8.75
BrustanBrustan 400 Mg/325 Mg Tablet8.1
BrustinBrustin 400 Mg/325 Mg Tablet10.54
Calpol PlusCalpol Plus 400 Mg/325 Mg Suspension32.75
CipflamCipflam Tablet11.53
CobimaxCobimax Tablet554.62
CombinamCombinam 400 Mg/325 Mg Tablet25.98
Corflam PlusCorflam Plus Syrup12.83
Corflam S (Abaris)Corflam S Suspension26.0
Cr FlamCr Flam 400 Mg/325 Mg Tablet17.27
Decomb SpDecomb Sp Tablet69.93
DuoflamDuoflam 400 Mg Spray43.02
Emflam PlusEmflam Plus 400 Mg/500 Mg Tablet20.5
Fenceta PlusFenceta Plus 100 Mg/125 Mg Suspension19.0
FencetaFenceta 400 Mg/325 Mg Tablet12.26
GexofenGexofen 400 Mg/325 Mg Tablet11.56
IbuactIbuact 400 Mg/325 Mg Tablet7.37
IbucetIbucet 400 Mg/500 Mg Tablet16.0
Ibuclin JuniorIbuclin Junior 100 Mg/125 Mg Tablet4.71
IbudexIbudex 400 Mg/325 Mg Tablet8.75
IbufenIbufen Syrup13.17
Ibukind PlusIbukind Plus 100 Mg/162.5 Mg Suspension17.35
Ibukind Plus NfIbukind Plus Nf Tablet15.1
IbumolIbumol 400 Mg/500 Mg Tablet7.18
IbunIbun 400 Mg/500 Mg Tablet10.37
IbunolIbunol 400 Mg/500 Mg Tablet9.8
IbuparaIbupara 400 Mg/325 Mg Tablet7.15
IbuparIbupar 400 Mg/325 Mg Tablet5.5
Ibupil ForteIbupil Forte 400 Mg/500 Mg Tablet12.5
Ibupil PlusIbupil Plus 400 Mg/500 Mg Tablet9.5
IbupyrinIbupyrin 400 Mg/333 Mg Tablet14.5
IbusarIbusar Tablet7.13
IbutalIbutal 400 Mg/333 Mg Tablet25.0
IbuwinIbuwin 400 Mg/500 Mg Tablet6.3
ImolImol 100 Mg/162.5 Mg Suspension21.1
Inflagesic PlusInflagesic Plus 400 Mg/325 Mg Tablet27.4
IntaflamIntaflam Syrup11.12
ItinilItinil 100 Mg/125 Mg Suspension14.37
LupiflamLupiflam 400 Mg/325 Mg Tablet5.35
Lupiflam MLupiflam M Tablet6.25
Lupiflam PLupiflam P Tablet10.0
Magadol SuspensionMagadol Suspension31.2
Maxofen PlusMaxofen Plus Tablet7.58
MegadolMegadol Syrup31.16
Megadol KidMegadol Kid Tablet28.57
Megadol NewMegadol New Syrup30.02
Metagesic PlusMetagesic Plus Syrup17.5
MultigonMultigon 100 Mg/125 Mg Suspension9.43
New Artifen PlusNew Artifen Plus 400 Mg/400 Mg Tablet67.0
Norswell PlusNorswell Plus Tablet7.61
Paa KidPaa Kid 100 Mg/125 Mg Tablet4.17
Pd FlamPd Flam 400 Mg/325 Mg Tablet7.42
Primafen PlusPrimafen Plus Tablet6.05
Pyremol IbPyremol Ib 100 Mg/162.5 Mg Suspension15.1
Pyremol Plus IbPyremol Plus Ib 400 Mg/325 Mg Tablet5.91
RegaflamRegaflam 400 Mg/333 Mg Tablet6.25
ReliefRelief Tablet6.25
RenofenRenofen 400 Mg/325 Mg Tablet13.49
RumagesicRumagesic 400 Mg/325 Mg Tablet15.31
Rutek PRutek P 300 Mg/500 Mg Tablet70.0
Simultin PSimultin P 100 Mg/162.5 Mg Suspension14.06
StifnilStifnil Tablet18.38
TolfenTolfen Tablet7.21
ZuparZupar 400 Mg/300 Mg Tablet138.75
AchridAchrid 400 Mg/325 Mg/30 Mg Tablet8.25
Ibutran PlusIbutran Plus 400 Mg/500 Mg/25 Mg Tablet17.13
Imol PlusImol Plus Tablet11.2
IpeceeIpecee 400 Mg/500 Mg/65 Mg Tablet7.71
AcogesicAcogesic Capsule10.86
IbuflexIbuflex 400 Mg/325 Mg/100 Mg Tablet31.0
Novaflam Plus KidNovaflam Plus Kid Tablet3.13
Relifen PlusRelifen Plus 400 Mg/325 Mg/150 Mg Tablet25.0
IpmIpm 400 Mg/325 Mg/100 Mg Tablet8.25
MaximolMaximol 400 Mg/325 Mg/100 Mg Tablet40.0
PaaPaa 400 Mg/325 Mg/100 Mg Tablet27.5
Act HibAct Hib 30 Mcg/10 Mcg Injection345.0
Peda HibPeda Hib 10 Mcg/20 Mcg Injection112.96
AdineAdine 400 Mg/325 Mg/10 Mg Tablet59.0
BuseraBusera 400 Mg/325 Mg/10 Mg Tablet53.46
TriflamTriflam 400 Mg/325 Mg/10 Mg Tablet131.25
CodylexCodylex 4 Mg/10 Mg Linctus0.0
Betaflam ForteBetaflam Forte 400 Mg/65 Mg Capsule22.62
LobainLobain 400 Mg/85 Mg Capsule23.17
Ibruvon ForteIbruvon Forte 400 Mg/65 Mg Capsule21.04
Ibu ProxyvonIbu Proxyvon 400 Mg/65 Mg Capsule80.18
Parvon ForteParvon Forte 400 Mg/65 Mg Capsule13.89
BoostrixBoostrix Injection999.0
InfanrixInfanrix Injection767.05
Easy Five TtEasy Five Tt 7.5 Lf/20 Lf Injection660.0
QuinvaxemQuinvaxem 30 Iu/60 Iu Injection870.0
Sii Td VacSii Td Vac 5 Lf/5 Lf Injection12.48
Pentaxim StdPentaxim Std 30 Mcg/25 Mcg Injection2275.0
Shan 5Shan 5 Injection654.0
Td VacTd Vac Injection13.0
TripacelTripacel 5 Lf/5 Lf Vaccine750.0
Flexon MrFlexon Mr Tablet14.05
Artiflex PlusArtiflex Plus 400 Mg/300 Mg/250 Mg Tablet27.0
Coflam MrCoflam Mr 400 Mg/325 Mg/250 Mg Tablet35.0
Dolomed MrDolomed Mr Tablet11.4
Megaflam M RMegaflam M R 400 Mg/325 Mg/250 Mg Tablet36.8
SpontrelSpontrel Tablet8.1
Sysdol MrSysdol Mr 400 Mg/325 Mg/250 Mg Tablet53.25
OxydinOxydin 400 Mg/325 Mg/32.5 Mg Injection24.0
Volflam DVolflam D 400 Mg/325 Mg/32.5 Mg Tablet19.5
ParaflaxParaflax 400 Mg/250 Mg Tablet27.12
PentaximPentaxim Injection2495.0
Sii HibroSii Hibro 1933 To/10 Mcg Injection360.57
SofradexSofradex Cream29.42
Sofradex FSofradex F Cream25.58
TizapamTizapam 400 Mg/2 Mg Tablet53.0
LumbrilLumbril Tablet20.58
TizafenTizafen 400 Mg/2 Mg Capsule67.92

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...