myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत

मवाद (पस) क्या है?

मवाद या पस (Pus) एक गाढ़ा द्रव होता है, जिसमें मरे (नष्ट) हुऐ ऊतक, कोशिकाएं और बैक्टीरिया होते हैं। शरीर मवाद को अक्सर तब बनाता है जब यह किसी संक्रमण के खिलाफ लड़ता है, खासकर बैक्टीरिया के कारण होने वाला संक्रमण।

मवाद कई रंगों का हो सकता है, इसका रंग संक्रमण के प्रकार और वह किस जगह हुआ है इस पर निर्भर करता है। यह मुख्य रूप से पीला, हरा और ब्राउन रंगों का हो सकता है। कभी-कभी मवाद से बदबू भी आ सकती है और कभी-कभी यह बिना बदबू वाला भी हो सकता है।

मवाद, गुहा (कैविटी) के अंदर जमा होता है और एक आगे जाकर एक फोड़े के रुप में विकसित होता है। अगर संक्रमण ठीक ना हो पाए और मवाद बाहर ना निकल पाए तो कैविटी का आकार बढ़ता रहता है। मवाद की कुछ खास विशेषताएं संक्रमण पैदा करने वाले एजेंट (कारक) के प्रकार के अनुसार विकसित होती हैं।

मवाद बनना एक सामान्य स्थिति होती है और यह इन्फेक्शन के खिलाफ आपके शरीर द्वारा दी गई प्राकृतिक प्रतिक्रिया का सामान्य परिणाम होता है। कुछ मामूली संक्रमण जैसे खासकर त्वचा की ऊपरी सतह पर होने वाला संक्रमण आमतौर पर बिना उपचार के अपने आप ठीक हो जते हैं। अधिक गंभीर संक्रमण को आमतौर पर इलाज की जरूरत पड़ती है। इलाज में ड्रेनेज ट्यूब (एक ट्यूब या नली द्वारा पस को निकालना) और एंटीबायोटिक आदि शामिल होती हैं।

(और पढ़ें - बैक्टीरियल संक्रमण का इलाज)

  1. मवाद (पस) के लक्षण - Pus Symptoms in Hindi
  2. मवाद के कारण - Pus Causes & Risks in Hindi
  3. मवाद से बचाव - Prevention of Pus in Hindi
  4. मवाद की जांच - Diagnosis of Pus in Hindi
  5. मवाद का इलाज - Pus Treatment in Hindi
  6. मवाद की जटिलताएं - Pus Complications in Hindi
  7. मवाद की दवा - Medicines for Pus in Hindi

मवाद (पस) के लक्षण - Pus Symptoms in Hindi

मवाद या पस आने के क्या लक्षण हो सकते हैं?

शरीर की प्रतिरक्षा प्रणाली किसी प्रकार के संक्रमण के खिलाफ लड़ती है, तो इस प्रक्रिया के परिणामस्वरूप मवाद बनने लगता है।

कुछ लक्षण जो आमतौर पर मवाद बनने के साथ दिखाई देते हैं:

(और पढ़ें - सिर दर्द से बचने के उपाय)

डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

  • यदि आपके लक्षण में सुधार नहीं हो रहा है।
  • यदि घाव के आस-पास की त्वचा सुन्न हो गई है।
  • यदि आपको गंभीर दर्द है।
  • अगर पहले या हाल ही में आपका ऑपरेशन हुआ है और सर्जरी वाली जगह पर मवाद बनने लगा है।
  • अगर मवाद बनने के साथ बुखार और ठंड लगने लगी है, यह प्रणालीगत संक्रमण का संकेत होता है।
  • अगर आपको आपके शरीर के संक्रमित भाग में लाल धारियां दिखाई दे रही हैं।
  • अगर आपको घाव के आस-पास अधिक लालिमा, सूजन या दर्द महसूस हो रहा है।

(और पढ़ें - सर्जरी से पहले की तैयारी)

मवाद के कारण - Pus Causes & Risks in Hindi

मवाद किस कारण से बनता है?

जब बैक्टीरिया या फंगी शरीर के अंदर घुसते हैं तो ये मवाद पैदा करने वाला संक्रमण फैलाने लगते हैं। ये रोगाणु निम्न के माध्यम से शरीर में घुस सकते हैं -

  • त्वचा में खरोंच लगने से
  • खांसी या छींक की बूंदों द्वारा हवा में फैले रोगाणुओं को सांस द्वारा अंदर लेने से
  • उचित स्वच्छता न अपनाने से

कई प्रकार के संक्रमण हैं जो मवाद पैदा करते हैं। बैक्टीरिया से होने वाले संक्रमण विषाक्त पदार्थों को जारी करते हैं। ये पदार्थ ऊतकों को नष्ट करते हैं और मवाद बनाते हैं।

मवाद आमतौर पर फोड़े में विकसित होता है। फोड़ा त्वचा में एक गुहा या रिक्त स्थान होता है, जो ऊतकों के नष्ट होने पर बनता है। फोड़ा आपकी त्वचा की ऊपरी सतह या शरीर के अंदर भी विकसित हो सकता है। 

कुछ अन्य कारण जो मवाद बनने का कारण बनते हैं:

(और पढ़ें - सोरायसिस के घरेलू उपाय)

ज्यादातर फोड़े बैक्टीरियल संक्रमण के कारण ही होते हैं। जब बैक्टीरिया आपके शरीर में प्रवेश करते हैं, तो प्रतिरक्षा प्रणाली संक्रमण से लड़ने वाली सफेद रक्त कोशिकाओं को प्रभावित क्षेत्र में भेजती है। जैसे ही सफेद रक्त कोशिकाएं बैक्टीरिया पर हमला करती हैं तो आसपास के कुछ ऊतक नष्ट हो जाते हैं। ऊतक नष्ट होने से छेद बनने लग जाता है, जिसमें मवाद भरने लगता है और फोड़े का रूप ले लेता है।

(और पढ़ें - परजीवी संक्रमण के लक्षण)

जोखिम कारक

वह सब कुछ जो आपके घावों को ठीक करने की क्षमता को कम करता है, वह आपको संक्रमण होने और मवाद बनने के जोखिम में डाल सकता है। जैसे -

(और पढ़ें - फेफड़े में संक्रमण का इलाज)

मवाद से बचाव - Prevention of Pus in Hindi

मवाद बनने से बचाव कैसे किया जा सकता है?

हालांकि कुछ संक्रमणों से बचाव नहीं किया जा सकता है, लेकिन निम्न तरीकों को अपनाकर मवाद को कम किया जा सकता है।

  • घाव व खरोंच आदि को साफ और सूखा रखें।
  • अपने रेजर (उस्तरा) को किसी के साथ शेयर ना करें और ना ही किसी दूसरे का इस्तेमाल करें।
  • पिंपल, दाने या उनकी पपड़ी को खरोंचे या नोचे नहीं।

(और पढ़ें - पिम्पल्स हटाने के उपाय)

यदि आपको पहले से ही फोड़ा बन चुका है तो निम्न तरीकों से संक्रमण को फैलने से रोका जा सकता है।

  • अपने बिस्तर और तौलिए आदि को किसी के साथ शेयर ना करें।
  • फोड़े को छूने के बाद हाथों को अच्छे से धोएं।
  • स्विमिंग पूल आदि में ना नहाएं।
  • ऐसे उपकरण व सामानों को किसी के साथ शेयर ना करें जो किसी फोड़े के संपर्क में आते हों।

(और पढ़ें - स्विमिंग के दौरान त्वचा की देखभाल)

अन्य सावधानियां:

  • विभिन्न प्रकार के स्वास्थ्यकर खाद्य पदार्थ खाएं जैसे फलसब्जियां, साबुत अनाज ब्रेड, कम वसा वाले डेयरी उत्पादसेम, बिना चर्बी का मांस और मछली आदि। स्वस्थ खाद्य पदार्थ आपको तेजी से ठीक करने में मदद करते हैं। आपको विटामिन और मिनरल लेने की भी आवश्यकता है। विशेष आहार का सेवन करने के लिए अपने डॉक्टर से बात करें। (और पढ़ें - विटामिन की कमी के लक्षण)
  • निर्देशों के अनुसार घाव की देखभाल रखें। अपने घाव को साफ व सूखा रखें। जब आप नहाने जाते हैं तो घाव को कवर कर लें, जिससे यह गीला होने से बच जाता है। घाव को साबुन, पानी या वाउंड क्लीनर (घाव को साफ करने वाले) के साथ जैसे निर्देशों में दिया गया है, वैसे ही साफ करें। यदि निर्देशों में दिया गया हो तो उसके अनुसार साफ करने के बाद हर बार एक नई पट्टी का इस्तेमाल करें। इस बीच अगर पट्टी गीली या गंदी हो गई है तो उसी समय पट्टी को बदल लें।
  • अन्य स्वास्थ्य संबंधी स्थितियों को मैनेज करें। आपने डॉक्टर के निर्देशों का पालन करके अपने स्वास्थ्य की उन स्थितियों को मैनेज करने की कोशिश करें, जो आपके घाव के भरने की गति को धीमा कर रही हैं। उदाहरण के लिए डायबिटीज और हाई ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियां घाव के भरने की गति को धीमा बना देती हैं। (और पढ़ें - डायबिटीज में क्या खाना चाहिए)
  • धूम्रपान ना करें, क्योंकि सिगरेट व बीड़ी में निकोटीन नाम का केमिकल होता है, जो घाव भरने की गति को धीमा कर सकता है। अगर आप सिगरेट या बीड़ी पीते हैं तो उसे छोड़ने के लिए डॉक्टर की मदद भी ले सकते हैं।

(और पढ़ें - सिगरेट पीने के नुकसान)

मवाद की जांच - Diagnosis of Pus in Hindi

मवाद का परीक्षण कैसे करें?

मवाद का परीक्षण इसके अंदरूनी कारणों के आधार पर किया जाताा है। शारीरिक परीक्षण मवाद निकलने वाले स्रोतों की जांच के लिए किया जाता है, मवाद के स्रोतों में दाने, फुन्सी, फोड़े और फोलीकुलाइटिस (Folliculitis) आदि शामिल हैं।

(और पढ़ें - लैब टेस्ट की जानकारी)

मवाद से छुटकारा पाने के लिए निम्न टेस्टों को करना जरूरी होता है -

  • खून टेस्ट -
    संक्रमण की जांच करने के लिए रक्त का परीक्षण (ब्लड टेस्ट) किया जा सकता है। (और पढ़ें - बिलीरुबिन टेस्ट)
     
  • एक्स-रे या सीटी स्कैन
    अंदरूनी ऊतकों में संक्रमण की जांच करने के लिए या फोड़े में किसी बाहरी ऑबजेक्ट का पता करने के लिए एक्स-रे या सीटी स्कैन किए जा सकते हैं। इन टेस्टों के द्वारा ली जाने वाली तस्वीरों की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए मरीज को कॉन्ट्रास्ट द्रव (विशेष प्रकार की डाई) दिया जा सकता है। अगर आपको कॉन्ट्रास्ट द्रव से पहले कभी एलर्जी हुई है, तो इस बारे में डॉक्टर को पहले ही बता दें। (और पढ़ें - एलर्जी टेस्ट कैसे होता है)
     
  • घाव की जांच –
    इस टेस्ट में फोड़े के द्रव से एक सैंपल लिया जाता है। संक्रमण फैलाने वाले रोगाणुओं की जांच करने के लिए इस सैंपल को लेबोरेटरी भेजा जाता है।

(और पढ़ें - सीआरपी ब्लड टेस्ट)

मवाद का इलाज - Pus Treatment in Hindi

मवाद का उपचार कैसे किया जाता है?

त्वचा की सतह पर एक फोड़ा सामान्य रूप से अंत में फट जाता है और जिससे मवाद निकल जाता है। लेकिन, फोड़ा अपने आप फटने तक काफी बड़ा और दर्दनाक हो जाता है। इसलिए सर्जिकल ड्रेनेज (सर्जरी द्वारा फोड़े से मवाद को निकालना) को बेहतर तरीका माना जाता है।

(और पढ़ें - स्तन में गांठ का इलाज)

  • हालांकि एक छोटा फोड़ा अपने आप फट जाता है और बिना उपचार के ठीक भी हो जाता है। लेकिन शरीर के अंदर विकसित हुआ कोई फोड़ा आमतौर पर बहुत गंभीर स्थिति पैदा कर सकता है। यह आपको गंभीर रूप से बीमार कर सकता है और इसके लिए उपचार की आवश्यकता पड़ती है।
  • उपचार का मुख्य काम फोड़े में से मवाद को निकालना होता है। त्वचा के फोड़ों के लिए उपचार में एक छोटा सा ऑपरेशन शामिल होता है, जिसमें फोड़े के ऊपरी हिस्से में छोटा सा कट लगाया जाता है और मवाद को निकाल दिया जाता है। इस आमतौर पर एक लोकल अनेस्थेटिक (उसी जगह को सुन्न करने वाली दवा) दी जा सकती है। त्वचा जैसे ही ठीक होती है फोड़े वाली जगह पर स्कार (निशान) बन जाता है। यदि घाव गहरा है तो मवाद निकालने के बाद उस सुराग में रुई का टुकड़ा (Antiseptic wick) लगा दिया जाता है। रुई का यह टुकड़ा सारा मवाद निकलने और कैविटी के छोटा होने तक सीलिंग को रोकता है। (और पढ़ें - योनि की फुंसी का इलाज)
  • यदि फोड़ा शरीर के अंदर है तो उसमें से मवाद निकालने के लिए और अधिक जटिल ऑपरेशन की आवश्यकता पड़ती है। ऑपरेशन की तकनीक उस जगह पर निर्भर करती है जहां पर फोड़ा विकसित हुआ है। मवाद निकालने के लिए कभी-कभी फोड़े में किये गए सुराग में एक ट्यूब छोड़ दी जाती है।
  • जो फोड़ा अधिक गहरा व बड़ा होता है और जिस तक पहुंचना कठिन होता है, उसके उपचार के लिए दवाओं की मदद भी लेनी पड़ती है। डॉक्टर फोड़े से मवाद को सुई या एक छोटे से चीरे की मदद से निकाल सकते हैं। यदि फोड़ा बड़ा है तो उसके अंदर से द्रव को डॉक्टर ट्यूब के द्वारा या उसे मेडिकेटेड रुई की मदद से निकाला जाता है।
    (और पढ़ें - दांत के फोड़े का इलाज)
  • मरीज के लिए एंटीबायोटिक दवाएं लिखी जाती है खासकर अगर त्वचा में कहीं पर संक्रमण (सेलुलाइटिस) हो गया है।

घरेलू देखभाल:

  • फोड़े का उपचार उसका कारण बनने वाले संक्रमण की गंभीरता के आधार पर किया जाता है। छोटे फोड़ों से मवाद निकालने के लिए उनको नम किया जा सकता है और गर्म चीजों से सिकाई की जाती है। ऐसा दिन में 2 या 3 बार किया जा सकता है।
  • फोड़े को बार-बार दबाने की आदत को कंट्रोल करें। दबाने से आप को महसूस हो सकता है कि आप मवाद से छुटकारा पा रहे हैं। लेकिन, इससे एक नया फोड़ा बन जाता है और एक नई जगह पर भी संक्रमण विकसित हो सकता है।

(और पढ़ें - मुंह के कैंसर का इलाज)

मवाद की जटिलताएं - Pus Complications in Hindi

मवाद बनने से क्या समस्याएं पैदा हो जाती हैं?

संक्रमण होने पर शरीर के अंदर गहराई में भी मवाद विकसित हो सकता है। यह एक गंभीर बैक्टीरियल संक्रमण का संकेत हो सकता है।

मवाद बनने से जुड़ी कुछ गंभीर समस्याएं जिनमें निम्न शामिल हैं:

(और पढ़ें - दांतों में इन्फेक्शन का इलाज)

मवाद की जांच का लैब टेस्ट करवाएं

CULTURE, AEROBIC & SUSCEPTIBILITY, MISCELLANEOUS

20% छूट + 10% कैशबैक

मवाद की दवा - Medicines for Pus in Hindi

मवाद के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
AmpiloxAmpilox 100 Mg/25 Mg Injection15
MegapenMegapen 1 Gm Injection22
Baciclox KidBaciclox Kid 125 Mg/125 Mg Tablet22
P Mox KidP Mox Kid 125 Mg/125 Mg Tablet12
Baciclox PlusBaciclox Plus 250 Mg/250 Mg Capsule30
PolymoxPolymox 250 Mg/250 Mg Capsule34
BacicloxBaciclox 125 Mg/125 Mg Capsule26
StaphymoxStaphymox 250 Mg/250 Mg Tablet24
Bactimox LbBactimox Lb 250 Mg/250 Mg Tablet63
Staphymox KidStaphymox Kid 125 Mg/125 Mg Tablet16
BlucloxBluclox 250 Mg/250 Mg Capsule15
SupramoxSupramox 250 Mg/250 Mg Capsule22
BroadicloxBroadiclox 250 Mg/250 Mg Capsule8
Twiciclox DtTwiciclox Dt 125 Mg/125 Mg Tablet16
Almox CAlmox C 250 Mg/250 Mg Capsule27
CampiloxCampilox 250 Mg/250 Mg Injection10
AmcloAmclo 250 Mg/250 Mg Capsule402
CaroloxCarolox Tablet37
Amocin PlusAmocin Plus 250 Mg/250 Mg Capsule20
Clompic KidClompic Kid 125 Mg/125 Mg Tablet8
Amoxicillin + CloxacillinAmoxicillin 250 Mg + Cloxacillin 250 Mg Capsule33
Clompic NeonateClompic Neonate Injection5
AmycloxAmyclox 250 Mg/250 Mg Capsule2
ClompicClompic 125 Mg/125 Mg Capsule20
AugmentoxAugmentox 250 Mg/125 Mg Tablet91

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

References

  1. Stanford Children's Health [Internet]. Stanford Medicine, Stanford University; Neck Abscess.
  2. National Health Service [Internet]. UK; Causes.
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Surgical wound infection - treatment.
  4. National Health Service [Internet]. UK; Diagnosis.
  5. National Health Service [Internet]. UK; Treatment.
और पढ़ें ...