myUpchar प्लस+ के साथ पूरेे परिवार के हेल्थ खर्च पर भारी बचत
संक्षेप में सुनें

खसरा (रूबिओला, मोर्बिली, लाल खसरा; measles) श्वसन प्रणाली का एक वायरल संक्रमण है। खसरा एक अत्यंत संक्रामक रोग है जो संक्रमित बलगम और लार के संपर्क के कारण फैलता है। संक्रमित व्यक्ति जब खांसते या छींकते हैं तो संक्रमण हवा में फैल जाता है। यह बचपन में होने वाला एक संक्रमण रोग है। खसरा, जो कि पहले बहुत आम बिमारी थी; अब खसरा वायरस वैक्सीन (टीका) से रोकी जा सकती है।

आमतौर पर संक्रमण लगभग 7 से 10 दिनों में ठीक हो जाता है। खसरा वायरस कई घंटों के लिए सतह पर रह सकता है। चूंकि संक्रमित कण हवा में फ़ैल जातें हैं और सतहों पर होते हैं, इसलिए निकटता वाले व्यक्ति आसानी से संक्रमित हो सकते हैं।

WHO के अनुसार 2016 में भारत में खसरा के कुल 71,726 मामले सामने आये हैं। यूआईपी (universal immunization programme) के तहत खसरा का टीकाकरण 2 खुराक में निर्धारित किया गया है: 
9-12 महीनों में पहली खुराक और 16-24 महीने में दूसरी खुराक।

  1. खसरा के चरण - Stages of Measles (Rubeola) in Hindi
  2. खसरा के लक्षण - Measles (Rubeola) Symptoms in Hindi
  3. खसरा के कारण - Measles (Rubeola) Causes in Hindi
  4. खसरा से बचाव - Prevention of Measles (Rubeola) in Hindi
  5. खसरा का परीक्षण - Diagnosis of Measles (Rubeola) in Hindi
  6. खसरा का इलाज - Measles (Rubeola) Treatment in Hindi
  7. खसरा के जोखिम और जटिलताएं - Measles (Rubeola) Risks & Complications in Hindi
  8. खसरा में परहेज़ - What to avoid during Measles (Rubeola) in Hindi?
  9. खसरा में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Measles (Rubeola) in Hindi?
  10. खसरा होने पर क्या करे
  11. खसरा की दवा - Medicines for Measles (Rubeola) in Hindi
  12. खसरा के डॉक्टर

खसरा के चरण - Stages of Measles (Rubeola) in Hindi

संक्रमण दो से तीन सप्ताह के लिए व अनुक्रमिक चरणों में होता है।

संक्रमण और ऊष्मायन: संक्रमित होने के शुरूआती 10 से 14 दिनों के लिए, खसरा वायरस सेने की प्रक्रिया करता है। आपको इस समय के दौरान खसरे के कोई लक्षण नहीं दिखेंगे।

अनुपयुक्त संकेत और लक्षण: खसरा आमतौर पर हलके व मध्यम बुखार, लगातार खांसी, बहती नाक, आंखों की सूजन (नेत्रश्लेष्मलाशोथ) और गले में खराश के साथ शुरू होता है। यह अपेक्षाकृत हल्की/ सामान्य बीमारी दो से तीन दिन तक रह सकती है।

तीव्र बीमारी और दाने/चक्कतें: दानों में छोटे लाल धब्बे होते हैं, जिनमें से कुछ थोड़ा ऊपर उठे हुए होते हैं। दाने व चक्कतों का समूह त्वचा पर लाल रंग के धब्बे के सामान दिखाई देता है। चेहरे पर पहले फैलता है, विशेष रूप से कान के पीछे और सिर के किनारे की तरफ।
अगले कुछ दिनों में, दाने हाथों व शरीर के ऊपरी भाग पर फ़ैल जाता है और फिर जाँघों व पैरों पर।  इसी समय बुखार भी तेजी से बढ़ जाता है अक्सर 104 से 105.8 डिग्री से भी ज़्यादा होता है। खसरे के दाने धीरे-धीरे चेहरे से लुप्त होना शुरू होते हैं और कम होते जाते हैं।

संप्रेषण योग्य: एक व्यक्ति जिसको खसरा हुआ है वह दूसरों को वायरस लगभग आठ दिनों तक फैला सकता है, जो दाने से चार दिन पहले शुरू होता है और दाने रहने के चार दिनों तक रहता है।

खसरा के लक्षण - Measles (Rubeola) Symptoms in Hindi

वायरस के संपर्क में होने के 10 से 14 दिनों बाद खसरा के लक्षण दिखाई देते हैं। खसरे के लक्षणों में आमतौर पर शामिल हैं:

  1. बुखार। (और पढ़ें – बुखार का घरेलू इलाज)
  2. सूखी खाँसी।
  3. बहती नाक।
  4. गले में खराश।
  5. आँखों में सूजन (नेत्रश्लेष्मलाशोथ; conjunctivitis)।
  6. गाल और मुँह के अंदरूनी हिस्से में लाल सतह पर नीले-सफेद केंद्रों के साथ छोटे सफेद स्पॉट (दाग) - जिसे कोपलिक स्पॉट भी कहते हैं।
  7. त्वचा पर एक प्रकार के चक्कते (दाने) जो कि बड़े और सपाट ददोरे व धब्बों से बनते हैं और अक्सर एक दूसरे में प्रवाह करते हैं। 

खसरा के लक्षण उसके चरण पर भी निर्भर करते हैं। यह जानकारी उपर दी गयी है, कृपया उसे पढ़ें।

खसरा के कारण - Measles (Rubeola) Causes in Hindi

खसरे का कारण एक वायरस होता है (रूबिओला वायरस); जो संक्रमित बच्चे या वयस्क के नाक और गले में प्रतिकृति करता है।

जब कोई खसरे से पीड़ित व्यक्ति खांसी, छींक या वार्ता करता है तो संक्रमित बूंदें हवा में फ़ैल जाती हैं, जिसे दूसरे व्यक्ति सांस लेने के दौरान अंदर ले जाते हैं। संक्रमित बूँदें किसी सतह पर भी आ सकती हैं, जहां वे कई घंटे तक सक्रिय और संक्रामक रहतीं हैं। आप संक्रमित सतह को छूने के बाद अपनी उंगलियों को अपने मुंह या नाक में डालकर, या अपनी आँखें रगड़ कर वायरस से संक्रमित हो सकते हैं।

खसरा से बचाव - Prevention of Measles (Rubeola) in Hindi

  1. सभी बच्चों को खसरा वायरस टीका (measles virus vaccine) टीका लगवाना अंत्यंत आवश्यक है।
  2. चूंकि दाने के टूटने या फटने के चार दिन पहले खसरा बेहद संक्रामक होता है, वे लोग जिन्हे खसरा है इस अवधि के दौरान काम पर न लौटें व अन्य लोगों के साथ संपर्क में न आएं।
  3. जो लोग प्रतिरक्षित नहीं होते हैं (उदाहरण के लिए - भाई या बहन), उन्हें संक्रमित व्यक्ति से दूर रहना चाहिए।

खसरा का परीक्षण - Diagnosis of Measles (Rubeola) in Hindi

आपके डॉक्टर आमतौर पर बीमारी के लक्षणों के आधार पर खसरे का निदान कर सकते हैं। यदि आवश्यक लगे, तो खून का परीक्षण कराएं, जो यह पुष्टि कर सकता है कि यह चक्कते व दाने वास्तव में खसरा हैं या नहीं।

खसरा का इलाज - Measles (Rubeola) Treatment in Hindi

  1. ​बीमारी-उपरान्त टीकाकरण: शिशुओं को व उन लोगों को जिन्हे खसरा वायरस टीका नहीं लगा है उन्हें इस बिमारी के 72 घंटे के भीतर ही टीका लगवा देना चाहिए ताकि वे बीमारी से सुरक्षित रहें। अगर टीके के बाद भी खसरा बढ़ता है तो वो आमतौर पर मामूली, सामान्य व कम समय के लिए होगा। 
  2. प्रतिरक्षा सीरम ग्लोबुलिन: गर्भवती महिलाओं, शिशुओं और कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली वाले लोगों को वायरस की चपेट में आने के बाद एक प्रोटीन (एंटीबॉडी) का इंजेक्शन दिया जा सकता है जिसे प्रतिरक्षा सीरम ग्लोब्युलिन (immune serum globulin) कहा जाता है। वायरस के संपर्क के छह दिनों के भीतर दिए जाने पर, यह एंटीबॉडी खसरा रोक सकती है या लक्षणों को कम गंभीर बना सकती हैं।
  3. बुखार कम् करने वाले स्रोत: पेरासिटामोल (paracetamol), आइबुप्रोफेन (ibuprofen-:एडविल, मॉट्रिन, आदि) या नेपोरोक्सन (naproxen-:एलेव)।
  4. अपनी प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत बनाने के लिए आराम करें।
  5. अधिक से अधिक तरल पदार्थ लें (दिन में छह से आठ गिलास पानी)।
  6. खांसी और गले में खराश व दर्द को कम करने के लिए ह्युमिडिफायर लें। 
  7. विटामिन ए के पूरक लें। 
  8. खुजली और जलन से आराम के लिए कैलामाइन लोशन लगा सकते हैं। (और पढ़ें - खुजली दूर करने के घरेलू उपाय)
    परन्तु किसी भी प्रकार के उपचार के पहले डॉक्टर से संपर्क करें। 

खसरा के जोखिम और जटिलताएं - Measles (Rubeola) Risks & Complications in Hindi

खसरे से निम्नलिखित लोगों को ज़्यादा जोखिम है-:

  1. अटीकाकृत होना-: यदि आपको खसरे का टीका नहीं लगा है, तो आपको यह रोग होने की अधिक संभावना हैं।
  2. अंतरराष्ट्रीय यात्रा-: यदि आप विकासशील देशों की यात्रा करते हैं, जहां खसरा ज़्यादा आम होता है, तो आपको रोग होने का अधिक खतरा होता है।
  3. विटामिन ए की कमी-: यदि आपके आहार में पर्याप्त विटामिन ए नहीं है, तो आपकी खसरा से संक्रमित होने की अधिक संभावनाएं हैं।

खसरे से सम्बंधित जटिलताएं निम्नलिखित हैं-:

  1. कान का संक्रमण-: खसरे के सबसे आम जटिलताओं में से एक बैक्टीरियल कान का संक्रमण है।
  2. श्वसनीशोध, लेरिन्जिटिस या क्रुप (Bronchitis, laryngitis or croup)-: खसरा आपकी आवाज बॉक्स (कंठनली) में सूजन, फेफड़ों (ब्रोन्कियल ट्यूब्स) के मुख्य वायु मार्ग को रेखांकित करने वाली आंतरिक दीवारों में सूजन का कारण बनता है।
  3. निमोनिया (Pneumonia)-: निमोनिया खसरे की एक सामान्य जटिलता है। कमजोर प्रतिरक्षा प्रणालियों वाले लोग एक विशेष रूप से खतरनाक किस्म की निमोनिया को विकसित कर सकते हैं जो कभी-कभी घातक हो सकती है। (और पढ़ें – निमोनिया से बचने के उपाय)
  4. इन्सेफेलाइटिस (Encephalitis)-: खसरे वाले 1,000 लोगों में से 1 को एन्सेफलाइटिस (मस्तिष्क की सूजन) होता है जिसके कारण उल्टी, आक्षेप होता है और गंभीर मामलों में कोमा या मृत्यु भी हो सकती है। एन्सेफलाइटिस खसरे के तुरंत बाद भी हो सकता है या यह महीने बाद भी हो सकता है।
  5. गर्भावस्था की समस्याएं-: यदि आप गर्भवती हैं, तो आपको खसरा से बचने के लिए विशेष देखभाल की आवश्यकता है, क्योंकि यह रोग गर्भपात, पूर्व प्रसव पीड़ा या जन्मे बच्चे के कम वजन का कारण बन सकता है। (और पढ़ें - गर्भधारण करने के तरीके)
  6. प्लेटलेट्स गिनती कम होना (थ्रोम्बोसाइटोपेनिया; thrombocytopenia)-: खसरा प्लेटलेट्स (खून के थक्के के लिए आवश्यक रक्त कोशिकाओं का प्रकार) में कमी का कारण हो सकता है।

खसरा में परहेज़ - What to avoid during Measles (Rubeola) in Hindi?

  1. ​काम से बचें और पूरी तरह आराम करें।
  2. दूसरों के संपर्क में ना आएं क्योंकि यह बीमारी फैल सकती है।
  3. टीवी देखने से बचें जो कि आपकी आंखों के लिए हानिकारक हो सकता है।
  4. बाहर के खाने, जंक फ़ूड, मसाले-दार खाने, व संसाधित खाद्य पदार्थ (जिनमे सोडियम की मात्रा अधिक होती है) से दूर रहें।
  5. कार्बोनेटेड पेय पदार्थ (कोल्ड ड्रिंक्स), कॉफी, तैलीय वसा युक्त भोजन से दूर रहें। 

खसरा में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Measles (Rubeola) in Hindi?

  1. ​खसरे के शुरूआती दिनों में पूरी तरह फल का सेवन करने की सलाह दी जाती है। खासकर कि नींबू व संतरे; जिनमे विटामिन सी और फाइबर होता है, सबसे ज़्यादा फायदेमंद होते हैं। 
  2. रोगी को मुलायम या नरम आहार पर भी रखा जा सकता है। फल जैसे खरबूजा, चकोतरा व अंगूर बेहद फायदेमंद हैं।
  3. बिना मसाले वाला सूप व सम्पूर्ण आहार वाली दलिया भोजन में दी जानी चाहिए।
  4. अधिक से अधिक तरल पदार्थ लें (दिन में छह से आठ गिलास पानी)।
Dr. Jogya Bori

Dr. Jogya Bori

संक्रामक रोग

Dr. Lalit Shishara

Dr. Lalit Shishara

संक्रामक रोग

Dr. Amisha Mirchandani

Dr. Amisha Mirchandani

संक्रामक रोग

खसरा की दवा - Medicines for Measles (Rubeola) in Hindi

खसरा के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

Medicine NamePack SizePrice (Rs.)
BharglobBharglob 10% W/V Injection1149.0
Mr-Vac VaccineMr Vac Injection90.47
Rubella VaccineRubella 1000 Ccid50 Vaccine71.65
R VacR Vac 1000 Ccid50 Injection78.8
Abhay MAbhay M Injection50.0
Measles InjectionMeasles Injection62.85
M VacM Vac Injection65.25

क्या आप या आपके परिवार में किसी को यह बीमारी है? सर्वेक्षण करें और दूसरों की सहायता करें

और पढ़ें ...