खुजली - Itching in Hindi

Dr. Ayush PandeyMBBS

June 28, 2017

March 01, 2021

खुजली

खुजली वाली त्वचा एक असहज रूप से होने वाली जलन की अनुभूति है, जिसमें आपको खुजलाने की इच्छा होती है। इसे "प्रुरिटस" (pruritus) के रूप में भी जाना जाता है।

इसे शुष्क त्वचा, चर्म रोग, गर्भावस्था और दुर्लभ रूप से कैंसर सहित कई विकारों के साथ जोड़ा जा सकता है।

यह समस्या वृद्धों में सामान्य है, क्योंकि बढ़ती उम्र के साथ त्वचा शुष्क होने लगती है। (और पढ़ें - रूखी त्वचा के लिए क्रीम)

खुजली एक ऐसी समस्या है, जो हर कोई अनुभव करता है और इसके लक्षण शरीर के एक हिस्से या पूरे शरीर में या कई अलग-अलग हिस्सों में हो सकते हैं। 

आपको खुजली होने के कारण के आधार पर आपकी स्किन सामान्य दिखाई दे सकती है या लाल या खुरदरी हो सकती है या इसपर सूजन या फफोले हो सकते हैं।

बार-बार खुजलाने से त्वचा का वह हिस्सा उभरकर मोटा हो सकता है, उससे खून बह सकता है या वह हिस्सा संक्रमित हो सकता है।

स्व-देखभाल के उपाय, जैसे मॉइस्चराइजिंग, खुजली रोकने वाले उत्पादों का उपयोग करने और ठंडे पानी से नहाने से खुजली में राहत मिलती है।

खुजली वाली त्वचा से लंबे समय के लिए राहत पाने हेतु इसके कारणों की पहचान और उपचार करने की आवश्यकता होती है। खुजलीदार त्वचा के उपचार में दवाएं, क्रीम, गीली पट्टियां और लाइट थेरेपी शामिल हैं।

खुजली के लक्षण - Itching Symptoms in Hindi

खुजली के लक्षण

  1. अंतर्निहित कारणों के आधार पर खुजली अन्य संकेतों और लक्षणों से जुड़ी हो सकती है।
  2. अधिकतर इन संबंधित निष्कर्षों में त्वचा के घाव, जैसे चकत्ते, फफोले, सूजन या प्रभावित हिस्से का लाल होना शामिल होते हैं।
  3. शुष्क त्वचा खुजली का एक सामान्य कारण है।
  4. त्वचा को खुजलाने से उसमें खरोंच भी आ सकती है।
  5. आमतौर पर पूरे शरीर में होने वाली सामान्यीकृत खुजली दीर्घकालिक चिकित्सकीय स्थिति का संकेत हो सकती है, जैसे लिवर रोग। इन स्थितियों में, त्वचा की स्थिति में शायद कोई बदलाव न आये।

खुजली के कारण - Itching Causes in Hindi

खुजली क्यों होती है

खुजली वाली त्वचा के संभावित कारणों में शामिल हैं –

  1. सूखी त्वचा – यदि आप सूजी हुई लाल त्वचा या खुजली वाले हिस्से में कुछ अन्य आकस्मिक परिवर्तन नहीं देखते हैं, तो सूखी त्वचा (एक्सरोसिस) एक संभावित कारण है। शुष्क त्वचा आमतौर पर अधिक आयु या पर्यावरणीय कारकों का परिणाम होती है, जैसे – एयर कंडीशनिंग या सेंट्रल हीटिंग का लम्बे समय तक उपयोग और बहुत अधिक नहाना या कपडे धोना।
  2. त्वचा की स्थिति और चकत्ते खुजली वाली त्वचा की कई स्थितियां, जैसे एक्जिमा, सोरायसिसखाज, जूँ, चिकन पॉक्स और शीतपित्त। खुजली आमतौर पर विशिष्ट हिस्सों को प्रभावित करती है और अन्य लक्षणों के साथ होती हैं, जैसे कि त्वचा का लाल होना और जलन या सूजन और छाले।
  3. आंतरिक रोग – खुजली वाली त्वचा एक अंतर्निहित बीमारी का लक्षण हो सकती है। इनमें लिवर रोग, किडनी खराब होनाएनीमिया, थायराइड की समस्याएं और कैंसर जैसे कि ल्यूकेमिया और लिम्फोमा शामिल हैं। खुजली आमतौर पर पूरे शरीर को प्रभावित करती है। बार-बार खुजलाने वाले हिस्सों को छोड़कर बाकी त्वचा सामान्य दिख सकती है।
  4. तंत्रिका संबंधी विकार – तंत्रिका तंत्र को प्रभावित करने वाली स्थितियां, जैसे कि मल्टीपल स्क्लेरोसिस, डायबिटीज मेलिटस, तंत्रिकाओं का संकीर्ण होना और दाद खुजली पैदा कर सकते हैं।
  5. जलन और एलर्जी – ऊन, रसायन, साबुन और अन्य पदार्थ त्वचा में जलन और खुजली उत्पन्न कर सकते हैं। कभी-कभी पॉइजन आइवी (एक प्रकार की विषैली बेल) या सौंदर्य प्रसाधन एलर्जी का कारण बनते हैं। खाद्य पदार्थों से होने वाली एलर्जी भी त्वचा की खुजली का कारण हो सकती है।
  6. दवाएं – एंटीबायोटिक, एंटी फंगल दवाओं या नारकोटिक दर्द की दवाओं के होने वाले विपरीत प्रभाव से बहुत अधिक चकत्ते और खुजली हो सकती है।
  7. गर्भावस्था – गर्भावस्था के दौरान कुछ महिलाएं त्वचा में खुजली का अनुभव करती हैं, खासकर पेट और जांघों पर। इसके अलावा खुजली वाली त्वचा की स्थिति, जैसे कि डर्मेटाइटिस गर्भावस्था के दौरान गंभीर हो सकती है।

खुजली से बचाव - Prevention of Itching in Hindi

खुजली से बचाव 

खुजली को रोकने का सबसे अच्छा तरीका है– अपनी त्वचा का ख्याल रखना। त्वचा की रक्षा के लिए –

  1. स्किन क्रीम और लोशन का प्रयोग करें। ये आपकी त्वचा को मॉइस्चराइज़ करते हैं और खुश्की को रोकते हैं।
  2. सनबर्न और त्वचा को क्षतिग्रस्त होने से बचाने के लिए नियमित रूप से सनस्क्रीन का उपयोग करें।
  3. नहाने के लिए मुलायम प्रकृति के साबुन का प्रयोग करें। उससे आपकी त्वचा में जलन नहीं होगी।
  4. गर्म पानी की जगह गुनगुने पानी से नहाएं या शावर लें।
  5. ऊनी और सिंथेटिक्स जैसे कपड़ों से बचें। ये त्वचा में खुजली उत्पन्न कर सकते हैं। सूती कपड़े पहनें और बिस्तर पर सूती चादर बिछाएं।
  6. चूंकि गर्म, शुष्क हवा त्वचा को रुखा बना सकती है, इसलिए अपने घर का तापमान कम रखें और एक ह्यूमिडफायर (वायु को नम रखने वाला उपकरण) का इस्तेमाल करें।
  7. खुजली से छुटकारा पाने के लिए खुजलाने के बजाय उस हिस्से पर पर एक गीला कपडा या थोड़ी बर्फ रखें।

आपके डॉक्टर खुजली (प्रुरिटस) के इलाज के लिए दवा लिख सकते हैं, जिसमें एंटीहिस्टामाइन और स्थानिक स्टेरॉयड शामिल हैं। दुर्लभ मामलों में, स्टेरॉयड गोलियां और एंटीबायोटिक दवाओं की भी आवश्यकता हो सकती है।

खुजली का परीक्षण - Diagnosis of Itching in Hindi

खुजली का निदान

डॉक्टर आपका शारीरिक परीक्षण करेंगे और आपके लक्षणों के बारे में कई प्रश्न पूछेंगे, जैसे –

  1. आपको कितने समय से जलन हो रही है?
  2. क्या यह जलन शुरू और बंद होती रहती है?
  3. क्या आप जलन उत्पन्न करने वाले किन्हीं पदार्थों के संपर्क में आये हैं?
  4. क्या आपको किसी प्रकार की एलर्जी है?
  5. खुजली सबसे गंभीर रूप से कहाँ होती है?
  6. आप कौन-सी दवाएं ले रहे हैं (या हाल ही में ली गई हैं)?

अगर डॉक्टर आपके उत्तरों और शारीरिक परीक्षण से आपकी खुजली के कारण को निर्धारित नहीं कर पाते हैं, तो आपको अन्य परीक्षण कराने की आवश्यकता पड़ सकती है। परीक्षणों में शामिल हैं –

  1. रक्त परीक्षण – ब्लड टेस्ट अंतर्निहित स्थिति का संकेत कर सकता है।
  2. थायराइड के कार्यों का परीक्षण – थायराइड टेस्ट थायराइड की समस्याओं का पता लगा सकता है। 
  3. त्वचा परीक्षण – इस परीक्षण के द्वारा यह निर्धारित किया जाता है कि आपको किसी वस्तु से एलर्जी के परिणामस्वरूप ये प्रतिक्रिया हो रही है अथवा नहीं।
  4. आपकी त्वचा की स्क्रैपिंग या बायोप्सी – स्क्रैपिंग या बायोप्सी यह निर्धारित कर सकता है कि आपको संक्रमण है या नहीं।

एक बार जब डॉक्टर को आपकी खुजली का कारण पता चल जाता है, तो आपको इलाज किया जा सकता है। यदि खुजली का कारण एक बीमारी या संक्रमण है, तो आपके चिकित्सक अंतर्निहित समस्या के लिए सर्वोत्तम उपचार का सुझाव देंगे। यदि कारण त्वचा पर है, तो आपके लिए एक क्रीम लिखी जा सकती है, जो खुजली से आराम दिलाने में सहायता करेगी।

खुजली का इलाज - Itching Treatment in Hindi

खुजली का उपचार कैसे करें?

एक बार कारण की पहचान हो जाने पर खुजली वाली त्वचा का उपचार किया जा सकता है। इनमें निम्न शामिल हैं –

दवाएं

  1. कोर्टिकोस्टेरोइड क्रीम – यदि आपकी त्वचा खुजली के कारण लाल हो गयी है, तो आपके चिकित्सक प्रभावित हिस्सों में दवायुक्त क्रीम लगाने का सुझाव दे सकते हैं। वह आपके खुजली वाले हिस्सों को पानी या किसी अन्य घोल में भिगोये गीले सूती कपडे से ढककर रखने का सुझाव दे सकते हैं। गीली पट्टियों की नमी त्वचा को क्रीम को अवशोषित करने में मदद करती है और त्वचा को ठंडक भी देती हैं, जिससे खुजली कम हो जाती है।
  2. कैल्सीन्यूरिन अवरोधक कुछ मामलों में टेक्रोलीमस (प्रोटोपिक) और पिमेक्रोलिमस (इलीडेल) दवाओं का उपयोग कोर्टिकोस्टेरोइड क्रीम के बजाय किया जा सकता है, खासकर अगर खुजली ज़्यादा बड़े हिस्से में नहीं है।
  3. एंटीडिप्रेसेंट – चयनात्मक सेरोटोनिन रिअपटेक इन्हिबिटर्स, जैसे – फ्लुक्सोटाइन (प्रोज़ैक) और सेर्ट्रालीन (ज़ोलॉफ्ट) त्वचा में होने वाली विभिन्न प्रकार की खुजली को कम करने में मदद कर सकते हैं।

अंतर्निहित रोग का उपचार 

यदि एक आंतरिक रोग पाया जाता है यदि यह  गुर्दों की बीमारी, आयरन की कमी या थायराइड की समस्या है – इन बीमारियों का इलाज करने से अक्सर खुजली से राहत मिलती है। खुजली से आराम दिलाने वाले अन्य तरीकों की सिफारिश भी की जा सकती है।

लाइट थेरेपी (फोटोथेरेपी)

फोटोथेरेपी में आपकी त्वचा पर पराबैंगनी प्रकाश की कुछ किरणें डाली जाती हैं। जब तक खुजली को नियंत्रित नहीं किया जाता है, तब तक कई सत्र निर्धारित किये जाते हैं।

वैकल्पिक दवाएं 

ध्यान, एक्यूपंक्चर या योग के माध्यम से आपको तनाव संबंधी खुजली के लक्षणों से कुछ राहत मिल सकती है।

 

खुजली के जोखिम और जटिलताएं - Itching Risks & Complications in Hindi

खुजली से होने वाली अन्य परेशानियां या जटिलताएंं

खुजलीदार त्वचा आपके जीवन की गुणवत्ता को प्रभावित कर सकती है। लंबे समय से होने वाली खुजली और खरोंचों से खुजली की तीव्रता में वृद्धि हो सकती है, जिससे संभवत: हो सकते हैं –

  1. त्वचा की चोट
  2. संक्रमण
  3. घाव का निशान

खुजली में परहेज़ - What to avoid during Itching in Hindi?

इनसे परहेज करें 

  1. खुजली उत्पन्न करने वाली वस्तुओं या परिस्थितियों से बचें – अपने लक्षणों के कारण को पहचानने की कोशिश करें और उससे बचें। ऐसा विशेष रूप से मोटे कपड़े, अत्यधिक गर्म कमरे, बहुत गर्म पानी से स्नान या जलन उत्पन्न करने वाले पदार्थ, जैसे – सुगंधित साबुन या डिटर्जेंट, गहने या एक सफाई उत्पाद के कारण हो सकता है।
  2. जब भी संभव हो, खरोंच से बचें – खुजली वाले हिस्से को खरोंच से बचाने के लिए ढककर रखें। नाखून काटें और रात में दस्ताने पहनें।
  3. तनाव कम करें तनाव खुजली को और गंभीर बना सकता है। परामर्श, व्यवहार संशोधन चिकित्सा, ध्यान और योग तनाव से राहत पाने के कुछ तरीके हैं।

खुजली में क्या खाना चाहिए? - What to eat during Itching in Hindi?

क्या खाएं?

  1. बीफ या चिकन सूप – चिकन सूप हैंगओवर के लिए अच्छा होने के साथ-साथ त्वचा को स्वस्थ बनाने वाला अमीनो एसिड ग्लाइसिन प्रदान करता है।
  2. ओमेगा-3 युक्त मछली के तेल – ये जिलेटिन कैप्सूल रक्तचाप को कम कर सकते हैं तथा त्वचा की खुजली और सूजन को दूर करने में मदद कर सकते हैं। 
  3. केले – पोटेशियम से भरपूर होने के साथ-साथ इनमें हिस्टामाइन की मात्रा को कम करने वाले पोषक तत्व, मैग्नीशियम और विटामिन सी भी होते हैं।
  4. बेरी – आप ज़्यादा मात्रा में बीओफ्लैवेनॉइड युक्त बेरी खाने की कोशिश करें, जैसे कि ब्लूबेरी।
  5. बीज – फ्लैक्स, कद्दूतिल या सूरजमुखी के बीजों में मोजूद आवश्यक फैटी एसिड एक्जिमा (त्वचा की खुजली) को कम करने में मदद कर सकते हैं।
  6. तेलयुक्त मछली – सैल्मन, मैकेरल और सार्डिन को बहुत आवश्यक आहार माना जाता है और रक्तचाप को कम करने व विटामिन डी, प्रोटीन और कुछ बी विटामिन के अच्छे  स्रोत होने के साथ ये त्वचा के लिए फायदेमंद हैं।
  7. ताज़ी सब्ज़ियां – अनेक तरह की ताजी सब्ज़ियां (और फल) खाने से आपके शरीर में पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट का स्तर बेहतर हो जायेगा।    


संदर्भ

  1. Am Fam Physician. [Internet] American Academy of Family Physicians; Pruritis.
  2. American Academy of Allergy, Asthma and Immunology [Internet]. Milwaukee (WI); Scratching the Surface on Skin Allergies
  3. MedlinePlus Medical Encyclopedia: US National Library of Medicine; Itching
  4. Healthdirect Australia. Itchy skin. Australian government: Department of Health
  5. Garibyan L, Rheingold CG, Lerner EA. Understanding the pathophysiology of itch. Dermatol Ther. 2013 Mar-Apr;26(2):84-91. doi: 10.1111/dth.12025. PubMed PMID: 23551365; PubMed Central PMCID: PMC3696473.

खुजली के डॉक्टर

Dr. R.K . Tripathi Dr. R.K . Tripathi डर्माटोलॉजी
12 वर्षों का अनुभव
Dr. Deepak Kumar Yadav Dr. Deepak Kumar Yadav डर्माटोलॉजी
2 वर्षों का अनुभव
Dr. Alpana Mohta Dr. Alpana Mohta डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव
Dr. Garima Dr. Garima डर्माटोलॉजी
3 वर्षों का अनुभव
डॉक्टर से सलाह लें

खुजली की दवा - Medicines for Itching in Hindi

खुजली के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹83.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹35.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹44.56

20% छूट + 5% कैशबैक


₹65.1

20% छूट + 5% कैशबैक


₹18.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹40.73

20% छूट + 5% कैशबैक


₹31.5

20% छूट + 5% कैशबैक


₹43.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹46.58

20% छूट + 5% कैशबैक


₹29.82

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 995 entries

खुजली की ओटीसी दवा - OTC Medicines for Itching in Hindi

खुजली के लिए बहुत दवाइयां उपलब्ध हैं। नीचे यह सारी दवाइयां दी गयी हैं। लेकिन ध्यान रहे कि डॉक्टर से सलाह किये बिना आप कृपया कोई भी दवाई न लें। बिना डॉक्टर की सलाह से दवाई लेने से आपकी सेहत को गंभीर नुक्सान हो सकता है।

दवा का नाम

कीमत

₹125.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹150.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹25.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹118.75

20% छूट + 5% कैशबैक


₹76.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹1217.9

20% छूट + 5% कैशबैक


₹93.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹75.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹180.0

20% छूट + 5% कैशबैक


₹104.5

20% छूट + 5% कैशबैक


Showing 1 to 10 of 88 entries

खुजली की जांच का लैब टेस्ट करवाएं

खुजली के लिए बहुत लैब टेस्ट उपलब्ध हैं। नीचे यहाँ सारे लैब टेस्ट दिए गए हैं:

खुजली पर आम सवालों के जवाब

सवाल लगभग 2 साल पहले

खुजली कैसे करें?

Dr. Haleema Yezdani MBBS , सामान्य चिकित्सा

कहने की जरूरत नहीं है अंग विशेष में इचिंग या खुजली होने पर खुरचने से काफी आराम मिलता है, लेकिन कई बार जोर से खुजली करने से त्वचा चोटिल हो सकती है, जख्म बन सकता है। यहां तक कि चोट में संक्रमण हो जाए तो स्थिति और भी भयावह हो जाती है। बहरहाल जहां तक खुजली करने की बात है तो इसके लिए नाखूनों का इस्तेमाल न करें। इसके बजाय हल्के हाथों से खुजली होने वाली जगह पर सहलाएं, हाथ से हल्की थपकी मारें, जहां खुजली हो उस हिस्से को जोर से दबाएं। आप आहिस्ता से वहां पिंच भी कर सकते हैं।

सवाल लगभग 2 साल पहले

खुजली समस्या कब बनती है?

Dr. Manju Shekhawat MBBS , सामान्य चिकित्सा

यूं तो खुजली होना किसी तरह की समस्या नहीं है। लेकिन अगर आपको  एक ही जगह पर लगातार तीन या इससे ज्यादा दिनों तक खुजली बनी रहती है तो बेहतर है इस संबंध में डाक्टर से मिलें। दरअसल लगातार खुजली किसी अन्य गंभीर बीमारी के लक्षण हो सकते हैं, जैसे थाइरायड, किडनी, लिवर डिजीज और कैंसर।

सवाल लगभग 2 साल पहले

रात में खुजली क्यों होती है?

Dr. Amit Singh MBBS , सामान्य चिकित्सा

जब खुजली सिर्फ रात को हो तो उसे नाक्टर्नल प्रुरिटस कहा जाता है। रात को खुजली होने से आपकी नींद बाधित हो सकती है, जो एक गंभीर समस्या पैदा कर सकता है। ऐसा होने के पीछे प्राकृतिक वजहों से लेकर गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं मौजूद हैं। विशेषज्ञों का मानना है कि रात को खुजली होने के पीछे शरीर का प्राकृतिक तंत्र जिम्मेदार होता है। इसे आप इस तरह समझ सकते हैं, रात के समय शरीर का तापमान और त्वचा में रक्त प्रवाह बढ़ जाता है, जिससे त्वचा गर्म हो जाती है। त्वचा में बढ़ी गर्माहट की वजह से खुजली का अहसास होता है। इसके अलावा रात के समय शरीर कई तरह के तत्व रिलीज करता है, जिससे जलन या खुजली होती है। इन कारकों के अलावा, आपकी त्वचा रात में अधिक पानी खो देती है, जिससे त्वचा में खुजली होने लगती है। ऐसा आमतौर पर शुष्क सर्दियों के महीनों के दौरान महसूस है।

सवाल लगभग 2 साल पहले

क्या खुजली कैंसर का लक्षण है?

Dr. Roshni Poonja MBBS , सामान्य चिकित्सा, आंतरिक चिकित्सा

आमतौर पर बीमारी की जटिलताओं का परिणाम खुजली, परतदार त्वचा, स्किन रैशेज हो सकते हैं। इसके साथ ही कैंसर के कुछ दवाओं के दुष्प्रभाव के रूप में भी ये लक्षण दिखाई देते हैं। ज्यादातर कैंसर जैसे मैलिगनेंट मेलानोमा में आमतौर पर खुजली नहीं होती। लेकिन पॉलीसिथिमिया वेरा , जो कि कैंसर का एक रूप है, में खुजली प्रमुख संकेत है। यह कई रक्त कैंसर में से एक है, जिसे  myeloproliferative disorders कहा जाता है। इस बीमारी से ग्रस्त मरीज को गुनगुने पानी से नहाने के बाद खुजली होती है। लेकिन इस बीमारी के कई लक्षणों में से यह महज एक लक्षण है इसलिए इसके साथ होने वाले दूसरे लक्षणों पर भी जरूर गौर करें।